Whether this is good governance as advocated by few people on public platforms.

logo जनसुनवाई
समन्वित शिकायत निवारण प्रणाली, उत्तर प्रदेश
Complaint No:-40019917000500
APPLICANT DETAILS :
Name : Jayprakash Dubey Father Name : Aditya Narayan EDubey  Gender : MALE
Mobile-1 : 9559426255 Mobile-2 : 9559426255 Email : yogimpsingh@gmail.com
Area : Rural State : उत्तर प्रदेश District : मिर्ज़ापुर
Tehsil : सदर Block : छानवे Gram Panchayat : नीबी गहरवार
Thana : विन्ध्याचल Address : Gram Panchayat-NIBI GAHARWAR, Block-CHHANVEY, Tahsil-Sadar, District-Mirzapur
GRIEVANCE AREA DETAILS :
Area : Rural State : उत्तर प्रदेश District : मिर्ज़ापुर
Tehsil : सदर Block : छानवे Gram Panchayat : नीबी गहरवार
Village : नीबी गहरवार Thana : विन्ध्याचल
APPLICATION DETAILS :


Application Detail : सेवा में श्री मान पुलिस अधीक्षक महोदय जिला –मिर्ज़ापुर उत्तर प्रदेश विषय –शपथ 
पत्र प्रस्तुत करने के वास्ते | महोदय –प्रार्थी शपथ पूर्वक बयान करता है की –
 १-शिकायत संख्या-40019917000228 , शिकायत संख्या-40019917000237 और
 शिकायत संख्या-40019917000279 में प्रस्तुत थाना अध्यक्ष की रिपोर्ट के अनुसार प्रार्थी द्वारा मड़हा
हटवाया गया जो पूर्ण रूप से मन गढ़न्त है मैंने कभी किसी को मड़हा हटाने के लिए नही कहा |
२-श्री मान जी को ज्ञात हो की आज थाना अध्यक्ष विन्ध्याचल श्री रविन्द्र प्रताप सिंह लगभग ९४० सुबह
प्रार्थी के दरवाजे पर आये | ३ -श्री मान जी को ज्ञात हो की श्री मान थानाध्यक्ष महोदय प्रार्थी से परिचय
पूछने के उपरांत कहने लगे की आप की शिकायत आप के चाचा सूर्य नारायण व उनकी पत्नी सरोज देवी
 ने की है आप क्या घर बनवा रहे है | प्रार्थी ने जवाब दिया आप के सामने है जब से पुलिश मना करके गयी
है एक भी ईटा नही रखा | ४ -श्री मान जी को ज्ञात हो की थानाध्यक्ष महोदय ने कहा की एक भी ईटा रखे तो
तो उसी ईटा से दबा कर मार दालुगा पहले तुम लोग समझौता कर लों तब मकान बनाना | प्रार्थी द्ववारा स्टे
 का कागज मागे जाने पर कहने लगे वह थानेपर ही छूट गया है बिपक्षी से दिलवाने की बात पर कहे उनके
पास कोई कागजात नही है सारा कागजात ठाणे पर है | 5 -श्री मान जी को ज्ञात हो की प्रार्थी के पिता के कुछ
बोलने पर कहने लगे बूढ़े चुप हो जा नही तो जिन्दगी भर जेल की चक्की का आटा खाओगे उसके बाद
पांच मिनट तक भद्दी भद्दी गालिया बके फिर बिपक्षी को अपनी मोटर सायकिल पर बैठा कर घर छोड़े |
क्या श्री मान जी यह पुलिश का अत्याचार नही है | ६–श्री मान जी को ज्ञात हो की श्री मान जी दैनिक जागरण
 के २८-सितम्बर -२०१६ का अंक देखे जो वाराणसी से प्रकाशित है प्रार्थी का मकान पानी से गिर गया है पेपर
 कटिंग संलग्न है क्रपया अवलोकन करे यदि कोई अन्यथा घटना होगी तो उसके लिए पुलिश जिम्मेदार होगी
 | ७- श्री मान जी को ज्ञात हो की श्री मान जी प्रार्थी को आप की पुलिश चार बार उठाई और हर बार एक एक
हजार ले कर छोड़ी जब की एक बार भी प्रार्थी को न तो स्टे का कागजात दिखाया गया और नही कोई नोटीस
 तामील कराई गई यदि कोई अन्यथा आदेश हो तो प्रार्थी पूरी निष्ठा से उसका पालन करेगा लेकिन अभी
सिर्फ दबंगई देखने को मिल रही है | श्री मान जी से सविनय अनुरोध है की प्रार्थी को आधार बना कर
 विन्ध्याचल पुलिस दो भाइयों को लड़ाने का काम कर रही है जो सर्वथा अनुचित है | प्रार्थी
तारीख -२२-०३-२०१७ जयप्रकाश दुबे पुत्र आदित्य नारायण दुबे चल भाष -९५५९४२६२५५ ग्राम व पोस्ट
नीबी गहरवार पुलिश थाना –विन्ध्याचल डिस्ट्रिक्ट –मिर्ज़ापुर उत्तर प्रदेश |





Address To Officer  पुलिस 
अधीक्षक / वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक
Department Name : पुलिस
Relief Type : Complaint
Category Name : भ्रष्टाचार / वित्तीय अनियमितता/कार्यों-विभागीय योजनाओं में लापरवाही/जांच

आवेदन
का विवरण
शिकायत
संख्या
40019917000500
आवेदक कर्ता का नाम:
Jayprakash
Dubey
आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:
9559426255,9559426255
विषय:
सेवा में श्री मान पुलिस अधीक्षक महोदय जिला मिर्ज़ापुर उत्तर प्रदेश विषय शपथ पत्र प्रस्तुत करने के वास्ते | महोदय प्रार्थी शपथ पूर्वक बयान करता है की शिकायत संख्या-40019917000228 , शिकायत संख्या-40019917000237 और शिकायत संख्या-40019917000279 में प्रस्तुत थाना अध्यक्ष की रिपोर्ट के अनुसार प्रार्थी द्वारा मड़हा हटवाया गया जो पूर्ण रूप से मन गढ़न्त है मैंने कभी किसी को मड़हा हटाने के लिए नही कहा
| श्री मान
जी को ज्ञात हो की आज थाना अध्यक्ष विन्ध्याचल श्री रविन्द्र प्रताप सिंह लगभग ९४० सुबह प्रार्थी के दरवाजे पर आये
| श्री मान जी को ज्ञात हो की श्री मान
थानाध्यक्ष महोदय प्रार्थी से परिचय पूछने के उपरांत कहने लगे
की आप की शिकायत आप के चाचा सूर्य नारायण उनकी पत्नी सरोज देवी ने की है आप क्या घर बनवा रहे है | प्रार्थी ने जवाब दिया आप के सामने है जब से पुलिश मना करके गयी है एक भी ईटा
नही रखा
| श्री मान जी को ज्ञात हो की थानाध्यक्ष महोदय ने कहा
की एक भी ईटा रखे
तो तो उसी ईटा से दबा कर मार
दालुगा पहले तुम लोग
समझौता कर लों तब मकान बनाना | प्रार्थी द्ववारा स्टे का कागज मागे जाने पर कहने लगे वह थानेपर ही छूट
गया है बिपक्षी से दिलवाने की बात
पर कहे
उनके पास
कोई कागजात नही है सारा कागजात ठाणे पर है | 5 –श्री मान जी को ज्ञात हो की प्रार्थी के पिता के कुछ
बोलने पर कहने लगे बूढ़े चुप हो जा नही तो जिन्दगी भर जेल
की चक्की का आटा
खाओगे उसके बाद पांच मिनट तक भद्दी भद्दी गालिया बके फिर
बिपक्षी को अपनी मोटर सायकिल पर बैठा कर घर छोड़े | क्या श्री मान
जी यह पुलिश का अत्याचार नही है | श्री मान
जी को ज्ञात हो की श्री मान जी दैनिक जागरण के २८सितम्बर २०१६ का अंक देखे जो वाराणसी से प्रकाशित है प्रार्थी का मकान पानी से गिर गया है पेपर कटिंग संलग्न है क्रपया अवलोकन करे
यदि कोई
अन्यथा घटना होगी तो उसके लिए पुलिश जिम्मेदार होगी | श्री मान
जी को ज्ञात हो की श्री मान जी प्रार्थी को आप की पुलिश चार
बार उठाई और हर बार एक एक हजार ले कर छोड़ी जब की एक बार भी प्रार्थी को तो स्टे का कागजात दिखाया गया
और नही
कोई नोटीस तामील कराई गई यदि
कोई अन्यथा आदेश हो तो प्रार्थी पूरी निष्ठा से उसका पालन करेगा लेकिन अभी
सिर्फ दबंगई देखने को मिल रही है | श्री मान जी से सविनय अनुरोध है की प्रार्थी को आधार बना कर विन्ध्याचल पुलिस दो भाइयों को लड़ाने का काम
कर रही
है जो सर्वथा अनुचित है | प्रार्थी तारीख २२०३२०१७ जयप्रकाश दुबे पुत्र आदित्य नारायण दुबे चल भाष ९५५९४२६२५५ ग्राम पोस्ट नीबी गहरवार पुलिश थाना विन्ध्याचल डिस्ट्रिक्ट मिर्ज़ापुर उत्तर प्रदेश |
नियत तिथि:
06
– Apr – 2017
शिकायत की स्थिति:
लम्बित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
आवेदन का संलग्नक
अग्रसारित विवरण
क्र..
सन्दर्भ
का प्रकार
आदेश
देने वाले अधिकारी
आदेश
दिनांक
अधिकारी
को प्रेषित
आदेश
आख्या
दिनांक
आख्या
नियत
दिनांक
स्थिति
आख्या
रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन
सन्दर्भ
22
– Mar – 2017
वरिष्ठ /पुलिस अधीक्षकमिर्ज़ापुर,पुलिस
लंबित

2 comments on Whether this is good governance as advocated by few people on public platforms.

  1. सेवा में श्री मान पुलिस अधीक्षक महोदय जिला –मिर्ज़ापुर उत्तर प्रदेश विषय –शपथ पत्र प्रस्तुत करने के वास्ते | महोदय –प्रार्थी शपथ पूर्वक बयान करता है की – १-शिकायत संख्या-40019917000228 , शिकायत संख्या-40019917000237 और शिकायत संख्या-40019917000279 में प्रस्तुत थाना अध्यक्ष की रिपोर्ट के अनुसार प्रार्थी द्वारा मड़हा हटवाया गया जो पूर्ण रूप से मन गढ़न्त है मैंने कभी किसी को मड़हा हटाने के लिए नही कहा | २-श्री मान जी को ज्ञात हो की आज थाना अध्यक्ष विन्ध्याचल श्री रविन्द्र प्रताप सिंह लगभग ९४० सुबह प्रार्थी के दरवाजे पर आये |

  2. आवेदन का विवरण
    शिकायत संख्या 40019917000500
    आवेदक कर्ता का नाम: Jayprakash Dubey
    आवेदक कर्ता का मोबाइल न०: 9559426255,9559426255
    विषय: सेवा में श्री मान पुलिस अधीक्षक महोदय जिला –मिर्ज़ापुर उत्तर प्रदेश विषय –शपथ पत्र प्रस्तुत करने के वास्ते | महोदय –प्रार्थी शपथ पूर्वक बयान करता है की – १-शिकायत संख्या-40019917000228 , शिकायत संख्या-40019917000237 और शिकायत संख्या-40019917000279 में प्रस्तुत थाना अध्यक्ष की रिपोर्ट के अनुसार प्रार्थी द्वारा मड़हा हटवाया गया जो पूर्ण रूप से मन गढ़न्त है मैंने कभी किसी को मड़हा हटाने के लिए नही कहा | २-श्री मान जी को ज्ञात हो की आज थाना अध्यक्ष विन्ध्याचल श्री रविन्द्र प्रताप सिंह लगभग ९४० सुबह प्रार्थी के दरवाजे पर आये | ३ -श्री मान जी को ज्ञात हो की श्री मान थानाध्यक्ष महोदय प्रार्थी से परिचय पूछने के उपरांत कहने लगे की आप की शिकायत आप के चाचा सूर्य नारायण व उनकी पत्नी सरोज देवी ने की है आप क्या घर बनवा रहे है | प्रार्थी ने जवाब दिया आप के सामने है जब से पुलिश मना करके गयी है एक भी ईटा नही रखा | ४ -श्री मान जी को ज्ञात हो की थानाध्यक्ष महोदय ने कहा की एक भी ईटा रखे तो तो उसी ईटा से दबा कर मार दालुगा पहले तुम लोग समझौता कर लों तब मकान बनाना | प्रार्थी द्ववारा स्टे का कागज मागे जाने पर कहने लगे वह थानेपर ही छूट गया है बिपक्षी से दिलवाने की बात पर कहे उनके पास कोई कागजात नही है सारा कागजात ठाणे पर है | 5 -श्री मान जी को ज्ञात हो की प्रार्थी के पिता के कुछ बोलने पर कहने लगे बूढ़े चुप हो जा नही तो जिन्दगी भर जेल की चक्की का आटा खाओगे उसके बाद पांच मिनट तक भद्दी भद्दी गालिया बके फिर बिपक्षी को अपनी मोटर सायकिल पर बैठा कर घर छोड़े | क्या श्री मान जी यह पुलिश का अत्याचार नही है | ६–श्री मान जी को ज्ञात हो की श्री मान जी दैनिक जागरण के २८-सितम्बर -२०१६ का अंक देखे जो वाराणसी से प्रकाशित है प्रार्थी का मकान पानी से गिर गया है पेपर कटिंग संलग्न है क्रपया अवलोकन करे यदि कोई अन्यथा घटना होगी तो उसके लिए पुलिश जिम्मेदार होगी | ७- श्री मान जी को ज्ञात हो की श्री मान जी प्रार्थी को आप की पुलिश चार बार उठाई और हर बार एक एक हजार ले कर छोड़ी जब की एक बार भी प्रार्थी को न तो स्टे का कागजात दिखाया गया और नही कोई नोटीस तामील कराई गई यदि कोई अन्यथा आदेश हो तो प्रार्थी पूरी निष्ठा से उसका पालन करेगा लेकिन अभी सिर्फ दबंगई देखने को मिल रही है | श्री मान जी से सविनय अनुरोध है की प्रार्थी को आधार बना कर विन्ध्याचल पुलिस दो भाइयों को लड़ाने का काम कर रही है जो सर्वथा अनुचित है | प्रार्थी तारीख -२२-०३-२०१७ जयप्रकाश दुबे पुत्र आदित्य नारायण दुबे चल भाष -९५५९४२६२५५ ग्राम व पोस्ट नीबी गहरवार पुलिश थाना –विन्ध्याचल डिस्ट्रिक्ट –मिर्ज़ापुर उत्तर प्रदेश |
    नियत तिथि: 06 – Apr – 2017
    शिकायत की स्थिति: लम्बित
    रिमाइंडर :
    फीडबैक :
    आवेदन का संलग्नक
    अग्रसारित विवरण-
    क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी आदेश दिनांक अधिकारी को प्रेषित आदेश आख्या दिनांक आख्या नियत दिनांक स्थिति आख्या रिपोर्ट
    1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 22 – Mar – 2017 वरिष्ठ /पुलिस अधीक्षक-मिर्ज़ापुर,पुलिस — लंबित

Leave a Reply

%d bloggers like this: