Whether our government is really serious in regard to protection of consumer rights of citizenry?

Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com>
Whether our government is really serious in regard to protection of consumer rights of citizenry?
2 messages
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com> 11 August 2018 at 12:22
To: pmosb <pmosb@pmo.nic.in>, presidentofindia@rb.nic.in, supremecourt <supremecourt@nic.in>, urgent-action <urgent-action@ohchr.org>, cmup <cmup@up.nic.in>, hgovup@up.nic.in, csup@up.nic.in, uphrclko <uphrclko@yahoo.co.in>, ncdrc@nic.in, up-sforum@nic.in, confo-mi-up@nic.in
श्री मान जी आप उत्तर प्रदेश स्टेट कंस्ट्रक्शन एंड इंफ्रास्ट्रक्चर का बोर्ड देखे जो की संलग्नको के रूप में प्रत्यावेदन के साथ संलग्न है | जिसमे सुस्पस्ट अक्षरों में लिखा है उपभोक्ता फोरम जनपद मिर्ज़ापुर स्वीकृत लागत ९० लाख २० हजार कार्यदायी संस्था -उत्तर प्रदेश स्टेट कंस्ट्रक्शन एंड इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कारपोरेशन लिमिटेड मिर्ज़ापुर पूर्ववर्ती उत्तर प्रदेश समाज कल्याण निगम लिमिटेड |
प्रार्थी का मकसद आप को यह बताना नही की उसे किस कार्यदायी संस्था ने बनवाया है या उसमे कितना भ्रस्टाचार हुआ है क्यों अब हम लोग आदी हो चुके है इस भ्रस्टाचार को देखते देखते |
श्री मान जी ९० लाख २० हजार के बने उस भवन में जो की कई वर्षो से वीरान है आप का कौन उपभोक्ता अदालत को कार्यवाही संपन्न होती है | श्री मान जी मिर्ज़ापुर उपभोक्ता अदालत शहर से बाहर बीराने में चलती है जब की इसका भवन कई वर्षो से बन कर तैयार है और अब पक्षियों का बसेरा बन चुका है देखने से प्रतीत होता है जैसे कभी झाडू ही नही लगता है अर्थात भूत बंगला दीखता है |समस्त तस्वीर संलग्न है कृपया संलग्नको का परिशीलन करे |
An enquiry under article 51 A of the constitution of India as a step towards the betterment of the Society. 
 Most revered Sir –Your applicant invites the kind attention of Hon’ble Sir with due respect to following submissions as follows.
1-It is submitted before the Hon’ble Sir that  51A. Fundamental duties It shall be the duty of every citizen of India (a) to abide by the Constitution and respect its ideals and institutions, the National Flag and the National Anthem;(h) to develop the scientific temper, humanism and the spirit of inquiry and reform;
(i) to safeguard public property and to abjure violence;
(j) to strive towards excellence in all spheres of individual and collective activity so that the nation constantly rises to higher levels of endeavour and achievement

.

2-It is submitted before the Hon’ble Sir that   Right to Information. The right to information is defined as ‘the right to be informed about the quality, quantity, potency, purity, standard and price of goods or services, as the case may be so as to protect the consumer against unfair trade practices’ in the Consumer Protection Act of 1986. Please tell me why concerned adopted a lackadaisical approach in regard to the aforementioned building.

This is a humble request of your applicant to you Hon’ble Sir that It can never be justified to overlook the rights of the citizenry by delivering services in an arbitrary manner by floating all set up norms. This is sheer mismanagement which is encouraging wrongdoers to reap the benefit of loopholes in the system and depriving poor citizens of the right to justice. Therefore it is need of the hour to take concrete steps in order to curb grown anarchy in the system. For this, your applicant shall ever pray you, Hon’ble Sir.
     Date-11/08/2018                                                            Yours sincerely
                                                                                  Yogi M. P. Singh Mobile number-7379105911
Mohalla-Surekapuram, Jabalpur Road District-Mirzapur, Pin code-231001, Uttar Pradesh, India.
0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
2 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh

श्री मान जी आप उत्तर प्रदेश स्टेट कंस्ट्रक्शन एंड इंफ्रास्ट्रक्चर का बोर्ड देखे जो की संलग्नको के रूप में प्रत्यावेदन के साथ संलग्न है | जिसमे सुस्पस्ट अक्षरों में लिखा है उपभोक्ता फोरम जनपद मिर्ज़ापुर स्वीकृत लागत ९० लाख २० हजार कार्यदायी संस्था -उत्तर प्रदेश स्टेट कंस्ट्रक्शन एंड इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट कारपोरेशन लिमिटेड मिर्ज़ापुर पूर्ववर्ती उत्तर प्रदेश समाज कल्याण निगम लिमिटेड |
प्रार्थी का मकसद आप को यह बताना नही की उसे किस कार्यदायी संस्था ने बनवाया है या उसमे कितना भ्रस्टाचार हुआ है क्यों अब हम लोग आदी हो चुके है इस भ्रस्टाचार को देखते देखते |
श्री मान जी ९० लाख २० हजार के बने उस भवन में जो की कई वर्षो से वीरान है आप का कौन उपभोक्ता अदालत को कार्यवाही संपन्न होती है | श्री मान जी मिर्ज़ापुर उपभोक्ता अदालत शहर से बाहर बीराने में चलती है जब की इसका भवन कई वर्षो से बन कर तैयार है और अब पक्षियों का बसेरा बन चुका है देखने से प्रतीत होता है जैसे कभी झाडू ही नही लगता है अर्थात भूत बंगला दीखता है |समस्त तस्वीर संलग्न है कृपया संलग्नको का परिशीलन करे |

Preeti Singh
2 years ago

I have seen on the internet that address of consumer forum Mirzapur is Ramaipatti, behind police club, so there is confusion in regard to address of consumer forum.Undoubtedly government is insensitive to consumer interest of the countrymen.