Whether justice is available to women and girls in this largest democracy in world or born to suffer?

Fwd: तलाक के संदर्भ में शिकायत हेतु

Inbox
x

Ravi Tripathi ravit.rec.tripathi2@gmail.com

20:09 (22 hours ago)

to me
माननीय योगी जी

मेरा नाम  रवि त्रिपाठी है मुझे अपनी बड़ी बहन सुनीता त्रिपाठी के संदर्भ में आपसे मदद चाहिए मेरी बहन को उनके पति ने दहेज की वजह से दूसरी शादी कर ली और जो हमारा दहेज का पैसा और सामान था उसको भी उन्होंने ना तो वापस किया और ना ही गुजारा भत्ता देने की किसी भी प्रक्रिया को मानने से इनकार कर रहे हैं शादी में 2500000 से अधिक हमारा खर्चा हुआ था जो कि उन्होंने सारा पैसा अपने पास रख लिया कुछ टाइम तक तो सब कुछ ठीक चलता रहा उसके बाद बहाने से उन्होंने मेरी बड़ी बहन को हमारे घर छोड़कर चले गए उसके बाद छोड़ने की धमकी देने लगे बोलने लगे हमें और पैसे चाहिए तभी हम आपकी बहन को ले जाएंगे हमारे पास पैसे नहीं है जब हमने यह बताया तो उन्होंने दूसरी शादी कर ली इसलिए हमें इंसाफ चाहिए इस संदर्भ में मैंने माननीय मोदी जी को भी पत्र लिखा था जिसमें वहां से आपके सरकारी दफ्तर का पता और फोन नंबर दिया हुआ था उस पर हमने कई बार फोन करने का प्रयास किया लेकिन कोई भी उस नंबर को उठाता नहीं है आपसे निवेदन है कि आप मुस्लिम महिलाओं के लिए तो कभी कुछ करते हैं तो हमारे हिंदुओं के लिए भी कुछ करिए मेरी बहन की शादी नाना सुकुल का पुरवा गांव कुंडा प्रतापगढ़ उत्तर प्रदेश में हुई थी उनके पति का नाम विनय शुक्ला है पिता का नाम रमाकांत शुक्ला है मेरी बहन की जेठानी के साथ भी उन्होंने ऐसा ही किया है उनको भी घर से निकाल दिया और उनके भी सारे पैसे रखिए और उनको भी पैसे के लिए प्रताड़ित कर करते थे हम तथा उन्होंने घर छोड़ दिया इन लोगों का यह धंधा है लड़कियों से शादी करके उनसे पैसे वसूल लेना और उसके बाद उनको छोड़ देना आप से निवेदन है कि इस पर कुछ कार्यवाही करिए हमारे पास इतने पैसे नहीं है कि हम मुकदमा लड़ आ क्योंकि मुकदमा में पैसे और टाइम दोनों ही चाहिए होते हैं 
 इसलिए आप ही का सहारा बसता है
धन्यवाद
रवि त्रिपाठी
खैराती नगर बागू विजय नगर गाजियाबाद उत्तर प्रदेश
मोबाइल नंबर
8860841788
8076805707
5 1 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
3 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh

यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवता:।
यत्रैतास्तु न पूज्यन्ते सर्वास्तत्राफला: क्रिया:।

Yatra naryastu pujyante ramante tatra Devata,
yatraitaastu na pujyante sarvaastatrafalaah kriyaah

Where Women are honoured, divinity blossoms there, and where ever women are dishonoured, all action no matter how noble it may be, remains unfruitful.
Undoubtedly our deterioration and degradation is because continuous insult women and girls. We are not pursuing our cultural heritage.

Arun Pratap Singh
3 years ago

No justice is available to women in our system. Women and girls have been too much vulnerable in our society. We are running away from our culture which worships women like goddess and adopting demoniac culture.

Preeti Singh
5 months ago

माननीय योगी जी

मेरा नाम रवि त्रिपाठी है मुझे अपनी बड़ी बहन सुनीता त्रिपाठी के संदर्भ में आपसे मदद चाहिए मेरी बहन को उनके पति ने दहेज की वजह से दूसरी शादी कर ली और जो हमारा दहेज का पैसा और सामान था उसको भी उन्होंने ना तो वापस किया और ना ही गुजारा भत्ता देने की किसी भी प्रक्रिया को मानने से इनकार कर रहे हैं शादी में 2500000 से अधिक हमारा खर्चा हुआ था
Whether any help was done on the part of Yogi Aditynath ji or his office to the aggrieved person? Think about the gravity of situation, police will not take any action in the matter.Where is the rule of law?