Whether jammed road for one months is not failure of administrative machinery in the district Mirzapur?

Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com>
Whether jammed road for one months is not failure of administrative machinery in the district Mirzapur?
1 message
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com> 1 February 2019 at 23:05
To: pmosb <pmosb@pmo.nic.in>, supremecourt <supremecourt@nic.in>, presidentofindia@rb.nic.in, cmup <cmup@up.nic.in>, hgovup@up.nic.in, csup@up.nic.in, uphrclko <uphrclko@yahoo.co.in>, urgent-action <urgent-action@ohchr.org>, lokayukta@hotmail.com

Almost every day for one month, National Highway 7 remains jammed and district administration remained failed in tackling the problem of the people but still, they are claiming good governance. This jam has made the lives of residents of this district hell. The distance between district headquarters and Lalganj Tahsil is merely 25 kilometre but people are reaching in 4-5 hours from the city to Lalganj. Polytechnic, Bathua, Sheetala Mandir and Sabaree are daily facing jams. This message sent by an aggrieved student Akash Seth who had to reach Lalganj from Mirzapur at 8:43 PM I…am..still… in…..mzp. Since 5:30 he was making efforts to reach at home Lalganj but up to 9 O clock in this bitterly cold night he remained in the Mirzapur city because of the carelessness of the staffs of the government whether it is good governance?
Most revered Sir –Your applicant invites the kind attention of Hon’ble Sir with due respect to following submissions as follows.
1-It is submitted before the Hon’ble Sir that following is news widely circulated through almost every dailies time and again who have time to pay attention to such news concerned with the miseries of the common people.
मिर्जापुर-रीवां मार्ग पर जाम ने व्यवस्थाओं की खोली पोल

वाराणसी ब्यूरो Updated Tue, 29 Jan 2019 12:10 AM IST

 लालगंज। राष्ट्रीय राजमार्ग –पर जाम में घंटों लोग परेशान रहे। कुंभ मेले में जाने वाले वाहनों की अधिकता के चलते यातायात व्यवस्था चरमरा गई है। चौबीस घंटे से लगे जाम से पैदल और बाइक सवार परेशान हो गए हैं। सड़क के दोनों पटरियों पर लगी ट्रकों की लंबी कतारें दुकानदारों को भी परेशान किए हुए हैं। पैदल आवागमन भी कठिन हो गया है।
जाम के कारण प्रतिदिन नौकरी पेशा में लगे लोगों को मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। लोग पैदल ही चलकर किसी तरह कार्यालय पहुंच रहे हैं। मिर्जापुर-रीवां मार्ग पर वाहन में बैठे यात्रियों की परेशानी बढ़ती जा रही है। बसो में बैठे छोटे बच्चे परेशान हो रहे हैं। जाम में फंसे रोगी अस्पताल तक नहीं पहुंच पा रहे हैं। मरीज दयाल सिंह 60 वर्ष का कहना है कि इलाज के लिए बीएचयू पहुंचना है। जाम के कारण आगे तक नहीं पहुंच पा रहे हैं। इसी तरह माल वाहन चालकों कहना है कि दो दिन से ट्रक खड़ी है। कच्चा माल वाहन पर लदा हुआ है। समय से गंतव्य स्थान तक न पहुंचा तो खराब होने का डर सता रहा है। जाम के कारण सड़क के दोनों तरफ लोगों में सिर्फ बेबसी और लाचारी नजर आ रही है। जाम के कारण लोग घरों से नहीं निकल पा रहे हैं। आए दिन यहां वाराणसी और रीवां की यात्रा करना किसी चुनौती से कम नहीं। जाम के कारण इलाकाई थाना पुलिस को घंटो मशक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।
2-It is submitted before the Hon’ble Sir that undoubtedly road was jammed in the other governments but such a longer duration it is the first time in the regime of those who are self-claimed well-skilled administrators but local people is facing problems two times than usual and now people are rethinking about electoral rights as the parliamentary elections are quite closed.
3-It is submitted before the Hon’ble Sir that how can a nation be developed from developing if the job which is to be performed in half an hour will consume five-six hours. If the government in the state whose obligation is to maintain law order in the state is not vigilant to miseries of its people, what is its solution as the election in the state will be held after four years.
 This is a humble request of your applicant to you Hon’ble Sir that how can it be justified to withhold public services arbitrarily and promote anarchy, lawlessness and chaos in an arbitrary manner by making the mockery of law of land? There is need of the hour to take harsh steps against the wrongdoer in order to win the confidence of citizenry and strengthen the democratic values for healthy and prosperous democracy. For this, your applicant shall ever pray you, Hon’ble Sir.                Yours sincerely
Date-01-02-2019              Yogi M. P. Singh, Mobile number-7379105911, Mohalla- Surekapuram, Jabalpur Road, District-Mirzapur, Uttar Pradesh, Pin code-231001.
0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
3 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh

पैदल आवागमन भी कठिन हो गया है।
जाम के कारण प्रतिदिन नौकरी पेशा में लगे लोगों को मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। लोग पैदल ही चलकर किसी तरह कार्यालय पहुंच रहे हैं। मिर्जापुर-रीवां मार्ग पर वाहन में बैठे यात्रियों की परेशानी बढ़ती जा रही है। बसो में बैठे छोटे बच्चे परेशान हो रहे हैं। जाम में फंसे रोगी अस्पताल तक नहीं पहुंच पा रहे हैं। मरीज दयाल सिंह 60 वर्ष का कहना है कि इलाज के लिए बीएचयू पहुंचना है। जाम के कारण आगे तक नहीं पहुंच पा रहे हैं। इसी तरह माल वाहन चालकों कहना है कि दो दिन से ट्रक खड़ी है। कच्चा माल वाहन पर लदा हुआ है। समय से गंतव्य स्थान तक न पहुंचा तो खराब होने का डर सता रहा है। जाम के कारण सड़क के दोनों तरफ लोगों में सिर्फ बेबसी और लाचारी नजर आ रही है। जाम के कारण लोग घरों से नहीं निकल पा रहे हैं। आए दिन यहां वाराणसी और रीवां की यात्रा करना किसी चुनौती से कम नहीं।

Preeti Singh
1 year ago

Undoubtedly the matter is serious concern for the local people but not for the administrative personnel. If it was the concern of the administrative personnel then steps were taken in order to find out a solution but who cares if common citizenry is suffering.

Mahesh Pratap Singh Yogi M. P. Singh

What a definition of the development that everywhere roads are jammed and concerned accountable public functionaries only crying and the public platforms that there is development everywhere in the country and electorates of the country may exercise their franchise in the favour of them, Whether it is not precarious situation that citizenry is being misled by the political Masters so that they mislead them.