Whether it is not corruption that entitled students are deprived from scholarship arbitrarily through corruption

आवेदन का विवरण
शिकायत संख्या
40019918008802
आवेदक कर्ता का नाम:
शिवम वर्मा
आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:
8687094297,8687094297
विषय:
तेवारी की संपत्ति की जाच हो और प्रार्थी को सूचित किया जाय क्यों की पैंडोरा बॉक्स खुलने का समय गया है| एक क्लर्क के पास अकूत का पैसा हो क्या कहा जाएगा शहर में तीन तीन जमीने खरीदी गई देवीपुर ग्राम में भी जमीन खरीदी गई चुकी सगे सम्बन्धियों के नाम खरीद लेते है इसलिए सरकारी एजेंसिया पकड़ नही पाती ग्राम में पक्का मकान पूरा कार्यकाल होम डिस्ट्रिक्ट मिर्ज़ापुर में अधिकतम कार्यकाल गुजर गया और गुजर रहा है वही कुछ समय के लिए गोरखपुर रहे | सारी गड़बड़ी लोकल स्टाफ कर रहे है| पैसा खुदा नही तो खुदा से कुछ कम भी नही आवेदन का विवरण,शिकायत संख्या-40019918007282,
आवेदक कर्ता का नाम शिवम् वर्मा, आवेदक कर्ता कामोबाइल न० 8687094297 पूर्व में कहा गया की हम सुधार नही कर सकते और यह भी कहा गया की सुधार विद्यार्थी द्वारा किया जा सकता था वह भी ०२फ़रवरी२०१८ से पूर्व तो फिर उपरोक्त तिथि के पश्चात राम कुमार मौर्या का सुधार कैसे कर दिया | प्राईवेट स्कूलों से आप की अच्छी साठ गाठ है उनके लिए हर नियम ख़त्म हो जाते है| श्री मान जी दिनांक 13042018को फीडबैकश्री मान जी बार बार आप ही एक बात को दुहरा रहे है प्रार्थी द्वारा हर पत्र में नयेप्रमाण और नये तर्क प्रस्तुत किये गये है | श्री मान जी अब भी तो आप ही स्वीकार कर रहे है की राम कुमार मौर्या कासंशोधन हुआ और वह भी निश्चित तिथि के बाद हुआ | श्री मान राम कुमार मौर्या का सशोधन नही हुआ है क्यों कीसंशोधन होता तो अब भी डाटा सस्पेक्ट होता | प्रस्तुत प्रकरण में आप ने अति बल प्रयोग किया है और खुद ही उनमनको की धज्जिया उड़ाई जिनकी आप खुद बात कर रहे है | जिस प्रकार राम कुमार मौर्या के डाटा को बिना शुद्ध कियेही शुद्ध मान लिए और उनके खाते में छात्रवृत्ति स्थानंतरित कर दिए उसी प्रकार आप डाटा मत शुद्ध करिए बल्किप्रार्थी के सही खाते पैसा भेजिए | मै भरी गई एंट्री को बदलने के लिए नही कह रहा हु मै सिर्फ सही खाते में छात्रवृत्ति कापैसा भेजने को कह रहा हु | इस बार रिपोर्ट के तौर पर राम कुमार मौर्या का प्रार्थना पत्र और जिला छात्रवृत्ति समिति केनिर्णय की कॉपी लगाइए गा | क्योकि मै जानता हु की उन्होंने कोई प्रार्थना पत्र नही दिया है | और ही समिति द्वाराकोई निर्णय लिया गया है | और यदि लिया भी गया है तो भी वह इललीगल है क्यों की आप के अनुसार कोई भीपरिवर्तन निश्चित
तिथि के बाद नही होता तो फिर यह परिवर्तन कैसे हुआ इससे सम्बंधित परिपत्र की कॉपी लगाये | आप जो कह रहे है वह सच तब तक नही है जब तक आप उससे सम्बंधित प्रमाण नही उपलब्ध कराते |
इस बात कोहमेशा दिमाग में रखियेगा यह लोकतंत्र है जनता मालिक है और आप नौकर है चाहे आप किसी पोस्ट पर हो | हमअपनी सीमा में है और आप आप भी अपनी सीमा में रहे | किसी भी बात को कहने से पहले उसका प्रमाण दीजिए जिससे जनता का विश्वास जो की ख़त्म हो चूका है कुछ बने |आप दो शब्द लिख दिए वही नियम हो गया जिसका कोईप्रमाण नही है |
नियत तिथि:
30 – Apr – 2018
शिकायत की स्थिति:
निस्तारित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
दिनांक 19/04/2018को फीडबैक:- विषय –श्री मान जी क्या पिछड़ा वर्ग छात्रवृत्ति वितरण समाज कल्याण अधिकारी का क्षेत्र है क्यों की समाज कल्याण विभाग को तो अनुसूचित जाति सामान्य जाति की छात्रवृत्ति का क्षेत्राधिकार प्राप्त है इस सम्बन्ध में जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी
इलाहाबाद, इन्द्रसेन सरोज का दिनांक ११/०४/२०१८ का पत्र देखे जिसके अनुसार पिछड़ा वर्ग का अधिकारी ही पिछड़े वर्ग के छात्र का आवेदन पत्र निस्तारित कर कोई निर्णय ले सकता है | किसी भी सामान्य जाति या अनुसूचित जाति के छात्र का छात्रवृत्ति सम्बन्धी शिकायत का निस्तारण समाज कल्याण अधिकारी ही कर सकते है |इसी प्रकार पिछड़े वर्ग के छात्र की छात्रवृत्ति सम्बन्धी प्रकरण का निस्तारण जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी मिर्ज़ापुर ही करेंगे| श्री मान जी जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी का पत्रांक २७६ पत्र दिनांक १६फ़रवरी२०१८ दिव्या शुक्ला जी का जो की जिला विद्यालय निरीक्षक मिर्ज़ापुर को संबोधित है जिसके अनुसार उपरोक्त
अधिकारी से १२७०८ संदिग्ध डाटा वाले छात्रो की सूची जिनका डाटा निक डॉट इन के कंप्यूटर द्वारा सस्पेक्ट पाया गया पुनर जांच करा के सत्यापन हेतु दिया गया अर्थात सत्यापन की जिम्मेदारी जिला विद्यालय निरीक्षक की थी |उपरोक्त कार्य संपादन की अंतिम तिथि २०फ़रवरी२०१८ तय की गई थी | श्री मान जी कृष्णावती निजी औद्योगिक संसथान के प्रधानाचार्य दिनांक २६फ़रवरी२०१८ को समाज कल्याण अधिकारी मिर्ज़ापुर को संबोधित पत्र लिखा है की जिला विद्यालय निरीक्षक या आप को संबोधित अर्थात उनका पत्र अनुसूचित जाति या सामान्य जाति से सम्बंधित था की पिछड़ी जाति से |पत्र की स्कैन्ड कॉपी संलग्न है जिसका अवलोकन करे |श्री मान जी आप द्वारा तय समय सीमा भी समाप्त हो चूका था | समाज कल्याण अधिकारी
को संबोधित पत्र जिसमे कही भी राम कुमार मौर्या का नाम नही है और नियमानुसार हो भी नही सकता क्या आप प्रार्थी को गुमराह नही कर रहे है | श्री मान जी संलग्न संस्तुति प्रमाण पत्र में किसी दिनांक का जिक्र नही है एक जिला स्तरीय समिति का निर्णय आपसी विचार मंथन के उपरांत होता है आप द्वारा प्रस्तुत दस्तावेज संगत नही है और संस्तुति प्रमाण पत्र में किसी भी अधिकारी का जैसे जिला विद्यालय निरीक्षक या जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी का हस्ताक्षर नही है अर्थात विश्वसनीय नही है | कोई भी निर्णय वह भी समिति द्वारा तिथि बिना नही हो सकती है क्यों की समिति के सदस्य निश्चित तिथि को उपस्थित हो कर ही निर्णय लेंगे और उस तिथि का जिक्र और समिति के सदस्यों का हस्ताक्षर होना चाहिए |
फीडबैक की स्थिति:
फीडबैक प्राप्त
आवेदन का संलग्नक
अग्रसारित विवरण
क्र..
सन्दर्भ का प्रकार
आदेश देने वाले अधिकारी
आदेश दिनांक
अधिकारी को प्रेषित
आदेश
आख्या दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन सन्दर्भ
15 – Apr – 2018
जिलाधिकारीमिर्ज़ापुर,
18/04/2018
आख्या अपलोड है
निस्तारित
2
आख्या
जिलाधिकारी ( )
15 – Apr – 2018
जिला पिछडा वर्ग कल्याण अधिकारीमिर्ज़ापुर,पिछड़ा वर्ग कल्‍याण विभाग
नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें आख्या अपलोड है
18/04/2018
कृपया संलग्नक के अनुसार निस्तारित करने का कष्ट करें
निस्तारित

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
2 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh

श्री मान जी क्या पिछड़ा वर्ग छात्रवृत्ति वितरण समाज कल्याण अधिकारी का क्षेत्र है क्यों की समाज कल्याण विभाग को तो अनुसूचित जाति व सामान्य जाति की छात्रवृत्ति का क्षेत्राधिकार प्राप्त है इस सम्बन्ध में जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी इलाहाबाद, इन्द्रसेन सरोज का दिनांक ११/०४/२०१८ का पत्र देखे जिसके अनुसार पिछड़ा वर्ग का अधिकारी ही पिछड़े वर्ग के छात्र का आवेदन पत्र निस्तारित कर कोई निर्णय ले सकता है | किसी भी सामान्य जाति या अनुसूचित जाति के छात्र का छात्रवृत्ति सम्बन्धी शिकायत का निस्तारण समाज कल्याण अधिकारी ही कर सकते है |इसी प्रकार पिछड़े वर्ग के छात्र की छात्रवृत्ति सम्बन्धी प्रकरण का निस्तारण जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी मिर्ज़ापुर ही करेंगे|

Arun Pratap Singh
2 years ago

श्री मान जी आप द्वारा तय समय सीमा भी समाप्त हो चूका था | समाज कल्याण अधिकारी को संबोधित पत्र जिसमे कही भी राम कुमार मौर्या का नाम नही है और नियमानुसार हो भी नही सकता क्या आप प्रार्थी को गुमराह नही कर रहे है | श्री मान जी संलग्न संस्तुति प्रमाण पत्र में किसी दिनांक का जिक्र नही है एक जिला स्तरीय समिति का निर्णय आपसी विचार मंथन के उपरांत होता है आप द्वारा प्रस्तुत दस्तावेज संगत नही है और संस्तुति प्रमाण पत्र में किसी भी अधिकारी का जैसे जिला विद्यालय निरीक्षक या जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी का हस्ताक्षर नही है अर्थात विश्वसनीय नही है | कोई भी निर्णय वह भी समिति द्वारा तिथि बिना नही हो सकती है क्यों की समिति के सदस्य निश्चित तिथि को उपस्थित हो कर ही निर्णय लेंगे और उस तिथि का जिक्र और समिति के सदस्यों का हस्ताक्षर होना चाहिए |
फीडबैक की स्थिति: फीडबैक विचाराधीन
आवेदन का संलग्नक
संलग्नक देखें
अग्रसारित विवरण-
क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी आदेश दिनांक अधिकारी को प्रेषित आदेश आख्या दिनांक आख्या स्थिति आख्या रिपोर्ट
1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 15 – Apr – 2018 जिलाधिकारी-मिर्ज़ापुर, — 18/04/2018 आख्या अपलोड है निस्तारित
2 आख्या जिलाधिकारी ( ) 15 – Apr – 2018 जिला पिछडा वर्ग कल्याण अधिकारी -मिर्ज़ापुर,पिछड़ा वर्ग कल्‍याण विभाग नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें आख्या अपलोड है 18/04/2018 कृपया संलग्नक के अनुसार निस्तारित करने का कष्ट करें निस्तारित