Whether in the government of Saffron party, a student can’t change a paper not reflection of dictatorship.

आवेदन का विवरण
शिकायत संख्या
40019917005108
आवेदक कर्ता का नाम:
Satyjeet
आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:
9129762059,9129762059
विषय:
Whether a student cant pray to his principal to change one of subjects by easy one Hon’ble Sir It seems that as the time is passing, this August education imparting institution of district-Mirzapur not only facing the crunch of talent but also lowering dignity because of its incompetent staffs who dont understand even the contents of the submitted grievances of students How much surprising is that administrative head not only proved lack of administrative skills but lack of public spirit in regard to miseries of students belonging to remote villages Grievance of your applicant is merely based on the fact that your applicant wants to change one of the subjects chemistry into Military science but it is unfortunate the neither headmistress nor her assistant currently nominated as coordinator of admission committee set up for admission of students at graduate level took the perusal of grievance In grievance, your applicant alleged non cooperating approach of concerned principal and questioned her short-tempered approach to his request and scolding him for such nonsense request which is reflecting arrogance and tantamount to misconduct Honble Sir, your applicant never said in the grievances that he had not applied for physics, chemistry and mathematics but he made a request to concerned that he belongs to remote socially backward village and had no knowledge and experience regarding the choice of subject so he had opted for all three tough subjects but now wants to change chemistry into Military science as the admission is still under process because 33 percents seats are increased by the Vice-chancellor concerned Whether to request his principal for justified work with etiquette and manners is illegal and unconstitutional Honble Principal Madam may explain- 1- What is false in the submitted grievance 2- What is misleading in the submitted grievance 3- What is irrelevant in the submitted grievance 4- What is out of context in the submitted grievance Whether the process of admission is not under practice The core point is, why chemistry cant be substituted by military science because your applicant belongs to weaker section
नियत तिथि:
17 – Oct – 2017
शिकायत की स्थिति:
निस्तारित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
दिनांक 13/10/2017को फीडबैक:- जनसुनवाई समन्वित शिकायत निवारण प्रणाली, उत्तर प्रदेश सन्दर्भ संख्या:-40019917005562 Matter is concerned with Principal KBPG Mirzapurसेवा में जिलाधिकारी जनपद मिर्ज़ापुर , उत्तर प्रदेश विषयप्रार्थी द्वारा अब कभी भी केमिस्ट्री को मिलिट्री साइंस में बदलने के लिए नही कहा जाएगा | महोदयआज प्रिसिपल मैडम ने प्रार्थी को केमिस्ट्री क्लास से बुलवाया और कहने लगी की तुम हमारे खिलाफ आवेदन दिए हो | हम तुम्हारा नाम अभी काट कर निकाल रहे है | इसलिए हमने आप को जितने भी आवेदन रसायन शास्त्र को रक्षा विज्ञानं में बदलने के लिए दिए है वापस ले रहे है क्यों की उस समय वहा बैठे शिक्षको से इतना भय ग्रस्त हो गया की अभी भी उससे बाहर नही पाया हु | श्री मान जी मैडम ने जो भी कहा मैंने वह उन्हें लिख कर दिया किन्तु अब भी विश्वास नही है चू की प्रार्थी के भविष्य का सम्बन्ध है मैडम विद्वान है पावरफुल है वह कुछ भी कर सकती है | प्रार्थी बहुत्त छोटी कास्ट और गरीब और दबा कुचला है | उसकी हैसियत ही नही है वह उनसे बात करे पत्र लिखने कीबात तो बहुत दूर की है | श्री मान जी इस शिकायत और शिकायत संख्या 40019917005108 Complaint No-40019917005108 को तुरंत ख़त्म कर दिया जाय | किसी प्रकार केमिस्ट्री पढ़ लूगा ऐसी तनाव देने वाला मिलिट्री साइंस नही चाहिए जिससे प्रिंसिपल कालेज से बाहर कर दे |
फीडबैक की स्थिति:
फीडबैक प्राप्त
आवेदन का संलग्नक
अग्रसारित विवरण
क्र..
सन्दर्भ का प्रकार
आदेश देने वाले अधिकारी
आदेश दिनांक
अधिकारी को प्रेषित
आदेश
आख्या दिनांक
आख्या
नियत दिनांक
स्थिति
आख्या रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन सन्दर्भ
02 – Oct – 2017
जिलाधिकारीमिर्ज़ापुर,
13 – Oct – 2017
आख्या अपलोड है
निस्तारित
2
आख्या
जिलाधिकारी ( )
03 – Oct – 2017
मुख्य विकास अधिकारीमिर्ज़ापुर,ग्राम्‍य विकास विभाग
नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें आख्या अपलोड है
13 – Oct – 2017
Letter Attached
निस्तारित

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
3 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh

Matter is concerned with Principal KBPG Mirzapurसेवा में जिलाधिकारी जनपद मिर्ज़ापुर , उत्तर प्रदेश विषय-प्रार्थी द्वारा अब कभी भी केमिस्ट्री को मिलिट्री साइंस में बदलने के लिए नही कहा जाएगा | महोदय-आज प्रिसिपल मैडम ने प्रार्थी को केमिस्ट्री क्लास से बुलवाया और कहने लगी की तुम हमारे खिलाफ आवेदन दिए हो | हम तुम्हारा नाम अभी काट कर निकाल रहे है | इसलिए हमने आप को जितने भी आवेदन रसायन शास्त्र को रक्षा विज्ञानं में बदलने के लिए दिए है वापस ले रहे है क्यों की उस समय वहा बैठे शिक्षको से इतना भय ग्रस्त हो गया की अभी भी उससे बाहर नही आ पाया हु | श्री मान जी मैडम ने जो भी कहा मैंने वह उन्हें लिख कर दिया किन्तु अब भी विश्वास नही है चू की प्रार्थी के भविष्य का सम्बन्ध है मैडम विद्वान है पावरफुल है वह कुछ भी कर सकती है | प्रार्थी बहुत्त छोटी कास्ट और गरीब और दबा कुचला है | उसकी हैसियत ही नही है वह उनसे बात करे पत्र लिखने कीबात तो बहुत दूर की है | श्री मान जी इस शिकायत और शिकायत संख्या 40019917005108 Complaint No-40019917005108 को तुरंत ख़त्म कर दिया जाय | किसी प्रकार केमिस्ट्री पढ़ लूगा ऐसी तनाव देने वाला मिलिट्री साइंस नही चाहिए जिससे प्रिंसिपल कालेज से बाहर कर दे |

Arun Pratap Singh
3 years ago

Such practice is not only immoral but also violating the human rights of student. I don't think that there is any illegal if a student is requesting to change one of its papers. Since the subordinates of principal tormented the student by terrorising him so it is offence and action must be taken against those who indulged in the such immoral and illegal act.

Preeti Singh
3 years ago

Undoubtedly if they are considering the feedback, then it is praiseworthy but they must take a solid decision instead of shielding the wrongdoer through procrastination.
फीडबैक : दिनांक 13/10/2017को फीडबैक:- जनसुनवाई समन्वित शिकायत निवारण प्रणाली, उत्तर प्रदेश सन्दर्भ संख्या:-40019917005562 Matter is concerned with Principal KBPG Mirzapurसेवा में जिलाधिकारी जनपद मिर्ज़ापुर , उत्तर प्रदेश विषय-प्रार्थी द्वारा अब कभी भी केमिस्ट्री को मिलिट्री साइंस में बदलने के लिए नही कहा जाएगा | महोदय-आज प्रिसिपल मैडम ने प्रार्थी को केमिस्ट्री क्लास से बुलवाया और कहने लगी की तुम हमारे खिलाफ आवेदन दिए हो | हम तुम्हारा नाम अभी काट कर निकाल रहे है | इसलिए हमने आप को जितने भी आवेदन रसायन शास्त्र को रक्षा विज्ञानं में बदलने के लिए दिए है वापस ले रहे है क्यों की उस समय वहा बैठे शिक्षको से इतना भय ग्रस्त हो गया की अभी भी उससे बाहर नही आ पाया हु | श्री मान जी मैडम ने जो भी कहा मैंने वह उन्हें लिख कर दिया किन्तु अब भी विश्वास नही है चू की प्रार्थी के भविष्य का सम्बन्ध है मैडम विद्वान है पावरफुल है वह कुछ भी कर सकती है | प्रार्थी बहुत्त छोटी कास्ट और गरीब और दबा कुचला है | उसकी हैसियत ही नही है वह उनसे बात करे पत्र लिखने कीबात तो बहुत दूर की है | श्री मान जी इस शिकायत और शिकायत संख्या 40019917005108 Complaint No-40019917005108 को तुरंत ख़त्म कर दिया जाय | किसी प्रकार केमिस्ट्री पढ़ लूगा ऐसी तनाव देने वाला मिलिट्री साइंस नही चाहिए जिससे प्रिंसिपल कालेज से बाहर कर दे |
फीडबैक की स्थिति: फीडबैक विचाराधीन