Whether in good governance, matters concerned with serious allegations of corruption are dealt negligently

Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com>
Daily one Lakh revenue loss is occurred to the roadways because of the unauthorised private vehicles plying on the roads from illegal private stands.
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com> 27 July 2019 at 15:40

To: pmosb <pmosb@pmo.nic.in>, presidentofindia@rb.nic.in, supremecourt <supremecourt@nic.in>, urgent-action <urgent-action@ohchr.org>, cmup <cmup@up.nic.in>, hgovup@up.nic.in, csup@up.nic.in, uphrclko <uphrclko@yahoo.co.in>, lokayukta@hotmail.com, RTO Mirzapur <rtomi-up@nic.in>, atce-up@nic.in, cctco-up@nic.in, dtclegal-up@gov.in, dtcva-up@nic.in, tc-up@nic.in

Hon’ble Sir be apprised with the fact that following is the feedback in regard to the complaint 

शिकायत संख्या-60000190065015  आवेदक कर्ता का नाम:Yogi M. P. Singh as it was disposed of by the concerned public authority through its usual bogus report dated 04-July-2019 which can be perused as below. It is most unfortunate that when I made efforts in order to submit feedback as the grievance was disposed of but message displayed on the screen of the computer that feedback would be taken after the disposal of the grievance but I know that this message only restrained me from submitting feedback as the matter is concerned with the deep rooted corruption. 

श्री मान जी रोड वेज़ परिसर के पास तीन चार स्टैंड अवैध ढंग से संचालित हो रहे है जिनकी वीडियो ग्राफी करा के रोडवेज़ के प्रबंधक ने कार्यवाही की मांग की किन्तु मामले में कोई कार्यवाही नहीं की गई | सहायक सड़क परिवहन अधिकारी मिर्ज़ापुर का कहना है की १०३ गाड़ियों का परमिट है जब की अकेले इन तीन अवैध स्टैंडो से १५० से अधिक बिना परमिट की गाड़ियों का सञ्चालन हो रहा है | रिपोर्ट में दो यात्री कर अधिकारिओं को इन मार्गो पर चौकसी वरतने के लिए | श्री मान जी पहले भी तो ये अधिकारी चौकसी वरत रहे थे और जिले में भारी संख्या में बिना परमिट के गाड़ियों का संचालन धड़ल्ले से जारी था | मैंने तो सोचा था शासन में बैठे उच्च पदस्थ अधिकारी जान कर आश्चर्य चकित होंगे और कारण बताओं नोटिस जारी करेंगे किन्तु ऐसा प्रतीत होता है की  भारी संख्या में बिना परमिट के गाड़ियों का संचालन सभी के संज्ञान में है इसी लिए तो महज औपचारिकता पूरी करने वाला रिपोर्ट लगा कर मामले से इतिश्री कर ली गई क्यों की इन गाडिओं के चलने से पिछले दरवाजे से होने वाले आय में वृद्धि होती है | वैसे योगी जी ने कई सड़क परिवहन अधिकारिओं पर शिकंजा कसा है लेकिन वह तो ऊट के मुँह में जीरा जैसा रहा | गरीबो बेरोजगारों को न्याय तभी संभव है जब काली कमाई पर अंकुश हो और समस्त धन का प्रवाह लोक खजाने की ओर हो | लगभग महीना बीतने को है पूछिए रोड वेज़ बस प्रबंधक से एक लाख पर डे का लॉस  रुका यदि नहीं तो क्यों | 

आवेदन का विवरण
शिकायत संख्या
60000190065015
आवेदक कर्ता का नाम:
Yogi M. P. Singh
आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:
7379105911,
विषय:
Matter is concerned with the transport department, Government of Uttar Pradesh which is spreading wide spread corruption causing huge revenue loss one Lakhs per day. Whether corruption has overshadowed on the morale of the accountable public functionaries of the department of transport in the government of Uttar Pradesh quite obvious from the published news story in the widely circulated Local Hindi daily Amar Ujala in the today edition.
नियत तिथि:
06 – Jul – 2019
शिकायत की स्थिति:
निस्तारित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
फीडबैक की स्थिति:
आवेदन का संलग्नक
अग्रसारित विवरण
क्र..
सन्दर्भ का प्रकार
आदेश देने वाले अधिकारी
आदेश दिनांक
अधिकारी को प्रेषित
आदेश
आख्या दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या रिपोर्ट
1
अंतरित
लोक शिकायत अनुभाग -3( मुख्यमंत्री कार्यालय )
06 – Jun – 2019
अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव/सचिव परिवहन विभाग
कृपया शीघ्र नियमानुसार कार्यवाही किये जाने की अपेक्षा की गई है।
04/07/2019
अधीनस्थ अधिकारी के स्तर पर निस्तारित
निक्षेपित
2
अंतरित
अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव/सचिव (परिवहन विभाग )
06 – Jun – 2019
आयुक्त परिवहन
नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें 
04/07/2019
अधीनस्थ अधिकारी के स्तर पर निस्तारित
निक्षेपित
3
अंतरित
आयुक्त (परिवहन )
06 – Jun – 2019
सम्भागीय परिवहन अधिकारी मण्डल मिर्ज़ापुर,परिवहन विभाग
पृष्ठांकित
04/07/2019
यात्रीकर अधिकारियों को उक्तk मार्ग पर कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया
निस्तारित

On Tue, 4 Jun 2019 at 16:34, Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com> wrote:
Whether corruption has overshadowed on the morale of the accountable public functionaries of the department of transport in the government of Uttar Pradesh quite obvious from the published news story in the widely circulated Local Hindi daily Amar Ujala in the today’s edition.

Most revered Sir –Your applicant invites the kind attention of Hon’ble Sir with due respect to the following submissions as follows.

1-It is submitted before the Hon’ble Sir that undoubtedly the department of transport District-Mirzapur has Pandora’s Box which must be opened in the interest of people of the state but it is unfortunate that when the matter is raised then accountable public functionaries instead of taking solid and strong action against wrongdoers and ascertaining accountability of the staffs put screen on the wrongdoings by misusing their wide extensive power.

2-It is submitted before the Hon’ble Sir that according to verdict delivered by the Apex court of India, private commuter’s vehicles must not be allowed to ply their business activities within perimeter of one Kilometer but in this city there is sheer violation of the apex court order why?

रोडवेज के पास चल रहे अवैध स्टैंड बस, प्रतिदिन एक लाख का घाटा
वाराणसी ब्यूरो Updated Tue, 04 Jun 2019 12:32 AM IST  
मिर्जापुर। परिवहन विभाग और कटरा कोतवाली पुलिस की लापरवाही से रोडवेज परिसर के पास अवैध स्टैंडों पर बिना परमिट की गाड़ियां संचालित हो रही हैं। इससे रोडवेज को प्रतिदिन एक लाख का घाटा हो रहा है। रोडवेज के क्षेत्रीय प्रबंधक ने परिवहन विभाग के अधिकारियों और पुलिस अधीक्षक को कई बार मामले से अवगत कराया पर दोनों में से किसी विभाग ने अवैध स्टैंडों से चलने वाले वाहनों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की।
क्षेत्रीय प्रबंधक सीबी राम ने बताया कि राष्ट्रीय कृत मार्गो पर मिर्जापुर से सोनभद्र, मिर्जापुर से वाराणसी, इलाहाबाद, हनुमना मार्ग पर प्राइवेट वाहन बिना परमिट के चल रहे है। चुनार रामनगर रुट पर 10 बसों का परमिट है। बाकी अन्य राष्ट्रीयकृत मार्गो पर बिना परमिट के प्राइवेट वाहन चल रहे है। बताया कि सुप्रीम कोर्ट का आदेश है कि रोडवेज परिसर के पास एक किमी के दायरे में किसी भी प्राइवेट स्टैंड का संचालन हो। इसके बाद भी रोडवेज परिसर के पास तीन से चार अवैध स्टैंड का संचालन हो रहा है। जहां बस, जीप, अन्य वाहन मिलाकर डेढ़ सौ से अधिक है। बस वाले तो रोडवेज के दक्षिणी गेट के पास तिराहे पर गाड़ी खड़ा कर सवारियों को बैठाते है। इन गाड़ियों का नंबर नोट करके पुलिस और परिवहन विभाग को जानकारी दी गई। इसके बाद भी इनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। तो पुलिस विभाग कोई कार्रवाई कर रहा है ही परिवहन विभाग ही इनके परमिट आदि की जांच कर रहा है। अवैध और बिना परमिट वाले वाहनों के संचालन से रोडवेज का एक लाख रुपया प्रतिदिन का घाटा हो रहा है।
3-It is submitted before the Hon’ble Sir that when the regional manager of the Roadways made repeated complaints to the accountable officers of the department of transport of Vindhyachal Mirzapur division and they overlooked the request of a responsible officer willfully is itself a matter of great concern. Here are many staffs including senior rank staffs who are posted in this office by making the mockery of the new transfer policy of the government on the flimsy ground is a matter of great concern and it is confirmed that if they will not lessen the corrupt activities and state functionaries will remain mute spectators of it, then applicant will have not option except to open the Pandora’s Box which will expose the each corrupt officer of the department of Transport, District-Mirzapur. Promotion at the same place or some other cunning tricks may not be allowed as blocked of application of new transfer policy or making its provisions inert. Bad games may not be played with the spirit of the new transfer policy adopted in order to weaken the roots of deep rooted corruption.

                  
This is a humble request of your applicant to you Hon’ble Sir that how can it be justified to withhold public services arbitrarily and promote anarchy, lawlessness, and chaos in an arbitrary manner by making the mockery of law of land? This is the need of the hour to take harsh steps against the wrongdoer in order to win the confidence of citizenry and strengthen the democratic values for healthy and prosperous democracy. For this, your applicant shall ever pray you, Hon’ble Sir.                                                         
Date-04/06/2019                            Yours sincerely
                                              Yogi M. P. Singh, Mobile number-7379105911, Mohalla- Surekapuram, Jabalpur Road, District-Mirzapur, Uttar Pradesh, Pin code-231001

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
3 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Yogi
1 year ago

सहायक सड़क परिवहन अधिकारी मिर्ज़ापुर का कहना है की १०३ गाड़ियों का परमिट है जब की अकेले इन तीन अवैध स्टैंडो से १५० से अधिक बिना परमिट की गाड़ियों का सञ्चालन हो रहा है | रिपोर्ट में दो यात्री कर अधिकारिओं को इन मार्गो पर चौकसी वरतने के लिए | श्री मान जी पहले भी तो ये अधिकारी चौकसी वरत रहे थे और जिले में भारी संख्या में बिना परमिट के गाड़ियों का संचालन धड़ल्ले से जारी था |

Arun Pratap Singh
1 year ago

Undoubtedly matter is concerned with the deep rooted corruption but ipso facto obvious that senior rank officers are blindly supporting the corruption in the department which is unprecedented and precarious.
फीडबैक की स्थिति: आयुक्त द्वारा दिनाक 24/07/2019 को कार्यवाही संतोषजनक श्रेणीकृत कर दी गयी है आवेदन का संलग्नक संलग्नक देखें अग्रसारित विवरण-
क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी आदेश दिनांक अधिकारी को प्रेषित आदेश आख्या दिनांक आख्या स्थिति आख्या रिपोर्ट
1 अंतरित लोक शिकायत अनुभाग -3( मुख्यमंत्री कार्यालय ) 06 – Jun – 2019 अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव/सचिव -परिवहन विभाग कृपया शीघ्र नियमानुसार कार्यवाही किये जाने की अपेक्षा की गई है। 04/07/2019 अधीनस्थ अधिकारी के स्तर पर निस्तारित निक्षेपित
2 अंतरित अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव/सचिव (परिवहन विभाग ) 06 – Jun – 2019 आयुक्त -परिवहन नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें 04/07/2019 अधीनस्थ अधिकारी के स्तर पर निस्तारित निक्षेपित
3 अंतरित आयुक्त (परिवहन ) 06 – Jun – 2019 सम्भागीय परिवहन अधिकारी मण्डल -मिर्ज़ापुर,परिवहन विभाग पृष्ठांकित 04/07/2019 यात्रीकर अधिकारियों को उक्तk मार्ग पर कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया निस्तारित

Beerbhadra Singh
1 year ago

Whether Divisional Commissioner Vindhyachal division has been awarded medal of honesty, how it can be true that those bus stands causing huge loss to the public exchequer if not displaced from their positions then how can be it justified the Stand of the Divisional Commissioner which implies that there is tacit understanding between the private bus owners and the Divisional Commissioner.