Whether Govt. transfer policy is followed by its functionaries uniformly in U.P. ?

 

Grievance Status for registration number : GOVUP/E/2019/41509

Grievance Concerns To
Name Of Complainant –Yogi M. P. Singh
Date of Receipt –29/12/2019
Received By Ministry/Department –Uttar Pradesh
Grievance Description
On behalf of Rishabh Dubey, Village panchayat-Lalganj, Block-Lalganj, PIN Code-231211, District-Mirzapur, Uttar Pradesh, Mobile number-7388002308 under article 51 A of the constitution of India.
The matter is concerned with the transfer policy of officers of the Government of Uttar Pradesh. Ms Priyanka Niranjan was transferred in the district Mirzapur on 8 Mai 2017 thus she has spent 2 years 8 months in the district Mirzapur. It is most unfortunate that no C.D.O. rank officers stay in the district for more than 2 years but this lady officer is entertaining more than two and a half years i-e. near about three years even when several complaints have been made against this Lady officer and it is most unfortunate that the government of Uttar Pradesh is overlooking the grievances of the citizenry of the state. Whether it is justified whether it is not a mockery of the law of land if the government itself has formulated transfer policy but not acting in accordance with the spirit of it if really for transparency and accountability then it must act in accordance with the spirit of the transfer policy. If it will not help public and UP government will not act in accordance with its spirit how other will comply the directions of the government at least government must respect its transfer policy if the complaint has been made against the Priyanka Niranjan CDO Mirzapur then she must not be allowed in the district Mirzapur any more as there is large scale resentment against this lady officer of the government. The matter concerned with deep-rooted corruption is put under the carpet by this lady officer. Think about the matter of A.D.O. Panchayat Chhanbey caught red-handed taking bribe in the name of senior rank officers and still, no action has been taken against him despite numerous complaints by public-spirited individuals and she is head of development building of Mirzapur.
Grievance Document
Current Status –Grievance received Date of Action –29/12/2019
Officer Concerns To  Forwarded to –Uttar Pradesh
Officer Name –Shri Arun Kumar Dube
Officer Designation –Joint Secretary
Contact Address –Chief Minister Secretariat U.P. Secretariat, Lucknow
Email Address Contact Number -05222215127
0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
7 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Rishabh Dubey
Rishabh Dubey
10 months ago

Goverment is only procasnating on my grievance…
माननीय महोदय ये काफी शर्म की
बात है कि आज कल अधिकारी राज चल रहा है जो जी मे आ रहा
है वो अधिकारी कर रहा हैशर्म आती है ऐसे सरकार पर जो कि
देखते हु की हम पिछले 2 साल से ल रहे है और चिल्ला चिल्ला
कर कहते रहने पर की हमारे पास ऐसे ऐसे सबूत है जिनसे हम इन
भरस्टाचारी अधिकारी की सारी काली करतूत और मनमानी को दिखा
देंगे बस जांच का आदेश मिलने के साथ हम उस अधिकारी को यह
सब दिखा गे पर सरकार अभी तक सो रही है 04112019 को
हम प्रात 11:26 AM पर विकास भवन मिर्ापुर पहुँचे और
CDO मैंम का इंतार करने लगे करीब 1 बज ग थे लेकिन मैंम नही
आई लेकिन DPRO से भेंट हुई उन्होंने खुद ही हमको बुलाया
और शिकायत पूछी फिर हमने उन से अपने गावँ लालगंज में हो रहे
भ्रस्टाचार से अवगत कराया और कहा कि आपके पास जांच का
आदेश आया है क्या आपने कोई करवाई की तो उन्होंने जवाब दिया
कि तुमने इंग्लिश में प्लीकेशन और स्टाम्प लगाकर दिया है जिस
पर कोई जांच नही होगी जाओ हिंदी में लिख कर आओ यह काफी
शर्म की बात है कि DPRO मिर्ापुर के अधिकारी ने ये बात बोली
और फिर जब हमने उनको इंडियन ऑफिसियल langauage के
बारे में बताया तो बोले कि ठीक है जाओ लो और अपने पिताजी को
इंसाफ दिलाओ और कहा कोर्ट तक जाना ऐसे corrupted
officers के ऊपर अभी तक कोई करवाई सरकार नही कर रही यह
काफी शर्म की बात है फिर काफी इंतेार के बाद CDO मैंम आयी
और मीटिंग किया फिर जब हम शिकायत के लि ग तो उन्हनो हमको
नजरअंदाज कर दिया और थोा सा complaint सुनकर चल दी
करीब 5 घंटे इंतेार के बाद भी उन्होंने कुछ नही सुना और उठ कर
चल दी इससे मालूम होता है कि उनको आम जनता का सुनने को
बिल्कुल भी वक्त नही है यह काफी शर्म की बात है कि ये अधिकारी
किस लि नियुक्त किये जाते है लूटने के लि या जनता का दर्द सुनने
के लि काफी शर्म की बात है कि सरकार अभी तक सो रही है और
अधिकारी मनमानी कर रहे है हमारा करीब 5 घंटे खराब करने पर भी
कोई हल नही निकाला शर्म आती है ऐसे अधिकारी के ऊपर और
सरकार के ऊपर जो अभी तक कोई करवाई नही की
अत हम फिर से कहते है कि क बार जांच का आदेश दिया जा और के
ईमानदार अधिकारी को भेजा जा बाकी हम दिखा गे कि कितना
भरस्टाचार फैला है हमारे समाज में कृपया जांच का आदेश दिया
जा
Complaint Type
Department: पंचायती राज विभाग Grievance Catego

Rishabh Dubey
Rishabh Dubey
10 months ago

One more best example of this corrupted government
आवेदनकता का विवरण :शिकायत संया:-40019919038877आवेदक का नाम-Rishabh Dubeyवषय-ीमानजी कपया ये बताइये क या आप लोग कालरशप दना चाहते है या खुद लेकर बैठना चाहते है। हमारा नाम-RISHABH DUBEY, रजशननो-690030521900309 है और आपने suspect म लखा है क- 1.Income not matched with Revenue data base. 2. UPICSE boardHigh school Roll.no not matched. कपया ये बताइये क अगर हमारा इनकम सटफकट अगर वैध नही होता तो या दोन साल हमको कॉलरशपमलती? लेकन हम तो मली है। और मने तो दोन साल फट डवीज़न से अपने कॉलेज म पास कया है। और न ही कोई बैक या इूवमट का पेपर दया हैऔर मेरा ये कालरशप फॉम रयूअल म चलता चला आ रहा है फर कसे आप हमारा कालरशप रोक सकते है? यहाँ तक क जब हमने फर से UPICSEबोड का रोल नंबर का सपेट दखतो उसे नकलवाकर फर से कॉलेज म जमा कर दया। अगर इसक बाद भी आप हम लोगो को बना कसी गलती ककालरशप नही दगे तो हम लोगो का टडट union आपक खलाफ शकायत तो करेगा ही उसक साथ- साथ हम आपक खलाफ ऊपर तक करवाई क लएजाएगे। आपक इन हरकत से तो यही लगता है क आप अपना जेब भरने क लए कछ भी कर सकते है। हमारा कॉलरशप तीनो साल से सही भरा रहा हैऔर उसक साथ साथ पछले दोन साल मुझे कालरशप भी मली ।हमरा दोन साल Bsc म 1st डवीज़न रहा लेकन अगर फर आप हमारा कालरशपकसे रोक सकते है? कपया आपसे वनती है क जद से जद उस सपेट को सुधारे और हमे हमारा कॉलशप दान करे। हमे आपसे अछ तया कउमीद रहेगी।वभाग -समाज क याण वभागशकायत ेणी -नयोजत तारीख-13-01-2020शकायत क थत-तर -जनपद तरपद -जला समाज कयाण अधकारीात रमाइडर-ात फडबैक -फडबैक क थत -संलनक दख -Click hereनोट- अंतम कॉलम म वणत सदभ क थत कॉलम-5 म अंकत अधकारी क तर पर यी कायवाही दशाता है!.स.सदभकाकारआदश दनेवालेअधकारीआदश/आपदनांकआदश/आपआया दनेवाले अधकारीआयादनांकआयाथतसंलगनक
1″ “अंतरतनतारत ऑनलाइन सदभ 29-122019जला समाज कल्याण अधकारी-मीरज़ापुर,समाज कल्याण वभाग 31122019 छा अपने छावृ आवेदन–पत्र के साथ समाज कयाण कायालयवकास भवन म उपथत होकर जानकारी ात करना सुनत कर।””

Rishabh Dubey
Rishabh Dubey
10 months ago

Registration Number DPTPR/A/2019/60002
Name Rishabh Dubey
Date of Filing 09/12/2019
Status FIRST APPEAL APPLICATION RETURNED TO APPLICANT as on 27/12/2019
Remarks :- Please refer to DOPT OM no. 10/2/2008-IR dated 12/06/2008, wherein it has been clarified that If a person makes an application to a public authority for some information which is the concern of a public authority under any State Government or the Union Territory Administration, the Central Public Information Officer (PIO) of the public authority receiving the application should inform the applicant that the information may be had from the concerned State Government/UT Administration. Application, in such a case, need not be transferred to the State Government/UT Administration.Moreover, the instructions on the home page of the portal clearly indicate viz. Please do not file RTI applications through this portal for the public authorities under the State Governments, including Govt. of Uttar Pradesh. If filed, the application would be returned, without refund of amount.Accordingly, your RTI application, which is the concern of a public authority under any State Government, is returned herewith.You may file the same before the concerned public authority under the State Government.
Nodal Officer Details
Telephone Number 9454411776
Email-ID panchyatiraj1@gmail.com

Beerbhadra Singh
Beerbhadra Singh
8 months ago

This question arises that whether Rishabh Dubey has got justice if not why? Think about the gravity of situation that money issued for the toilet was taken by the concerned gram pradhan and secretary and thus Dubey family was deprived of the public aid and he made complaints from top to bottom but no one paid attention to his grievances.

Preeti Singh
7 months ago

How much deep rooted is corruption in this largest democracy in the world? Corrupt can stay at the same place for the long time but honest is transferred again and again. Not a single R.T.I. Application is entertained by the public functionaries in the state of Uttar Pradesh because of corruption. There is only cryptic dealings in the public offices.