Under cleanly drive mission of P.M. Narendra Modi sir corruption is quite rampant as list of 75 but 70 only

आवेदन
का विवरण
शिकायत
संख्या
40019919023550
आवेदक कर्ता का
नाम:
Rishabh Dubey
आवेदक कर्ता का
मोबाइल न०:
7388002308,7388002308
विषय:
आवेदन का विवरण​ शिकायत संख्या​-​40019919021734​ आवेदक कर्ता का नाम:​-​rishabh dubey आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:7388002308​ विषय:​-​माननीय जिला पंचायत राज अधिकारी और
हमारे लालगंज के ADO और VDO आप ने हमको रातो रात करोड़पति बनाया है जो
की आप
pmo को प्रस्तुत प्रत्यावेदन में कहे है, मतलब
आपने कहा है कि हमारी कुल सम्पति
1 करोड़
से अधिक है तो हमारी आप से हमारी विनती है कि आप हमारी इन सारी संपत्ति को लेकर
हमको
50 प्रतिशत ही देकर फायदा उठा
लीजिये ।​महोदय आप ने अभी तक मेरे प्रस्ताव पर विचार नहीं किया
| ५० लाख रूपये मुझे दिलवा कर शेष फायदा आप ले लीजिए हम भी मिर्ज़ापुर शहर
में बसना चाहते है
| अब आइए टॉपिक पर
आप ने २०१७१८ की
सूची उपलब्ध कराई है
जो प्रत्यावेदन के साथ संलग्न है
| आप ने
उपरोक्त वित्तीय वर्ष में ७५ शौचालय पूर्ण दिखाया है किन्तु आप ने
सिर्फ ७०
लोगो को
ही शौचालय अनुदान दिया है अर्थात प्रथम दृष्टया आप ने
शौचालय के धन
का गबन किया है
| ​ आप द्वारा जिनके पास पक्का मकान है वे
सभी अपात्र है किन्तु इस सूची में सर्वाधिक लोगो के
पास पक्का मकान है
इसलिए वे
सभी अपात्र इसलिए आप
ने सरकारी धन का
मनमानी पूर्वक खुद की
जेब भरने के लिए उपयोग किया | श्री मान जी अब
यही अच्छा होगा की
किसी जिला स्तरीय अधिकारी को पंचायती राज अधिनियम के तहत जांच अधिकारी नामित करके अब तक
निर्मित स्वच्छ भारत मिशन के तहत निर्मित शौचालयो की जांच कराई जाय जिससे दूध का दूध
पानी का पानी हो जाय
| प्रार्थी द्वारा जिला पंचायत द्वारा अपेक्षित समस्त शर्तो को पूरा करने के लिए तैयार है |
नियत तिथि:
25 – Jun – 2019
शिकायत की स्थिति:
लम्बित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
फीडबैक की स्थिति:

आवेदन
का
संलग्नक

अग्रसारित विवरण

क्र..
सन्दर्भ
का प्रकार
आदेश
देने वाले अधिकारी
आदेश
दिनांक
अधिकारी
को प्रेषित
आदेश
आख्या
दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या
रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन
सन्दर्भ
18 – Jun – 2019
सहायक विकास अधिकारी लालगंज,जनपदमिर्ज़ापुर,पंचायती राज विभाग
अनमार्क

आवेदन
का विवरण
शिकायत
संख्या
40019919021734
आवेदक कर्ता का
नाम:
rishabh dubey
आवेदक कर्ता का
मोबाइल न०:
7388002308,0
विषय:
माननीय जिला पंचायत राज अधिकारी और हमारे लालगंज के
ADO और VDO आप ने हमको रातो रात करोड़पति बनाया है जो
की आप
pmo में कहे है, मतलब आपने कहा है कि हमारी कुल
सम्पति
1 करोड़ से अधिक है तो हमारी आप से
विनीत है कि आप हमारी इन सारी संपत्ति को लेकर हमको
50 ही देकर फायदा उठा लीजिये । आपने
कहा है कि हम
incometax
भी जमा करते है
तो कृपया हमारा डिटेल incometax
के द्वारा लेकर देने का कष्ट करे ताकि हमको भी
मालूम चले की हम
अपने देश के विकास के लिए कुछ अनुदान तो कर
रहे है। ये सोचने वाली बात है कि
जो आदमी करोड़पति होगा वो टवु व्हीलर से
कभी चलेगा। अरे सर
हम दो
वक़्त की
रोटी खाकर गुजर बसर कर रहे है हमको इतना बड़ा आदमी बता कर आप
क्या कहना चाहते है
।हम आप
की इन
बातों की
बहुत निंदा करते है
, ये
सोचने वाली बात है कि आप को हमारा
Rs 12,000 देने के लिए कितना पापड़ बेलना पड़
रहा है
और कितना झूठ पे
झूठ बोलना पड़ रहा है।कृपया हमारे इस डील को सहमति दे और
आप के
हिसाब से
जो 1 करोड़ की हमारी संपत है इसको लेकर हमको 50 हिस्सा देकर आप
भी खुश हो जाईये और हमको भी खुश कर दीजिए और इसके बाद हम
वादा करते है कि
हम आपको टॉयलेट का
पैसा भी
नहीं मांगेंगे। कृपया अब
तो शर्म करिये की
एक मिडिल क्लास के
लोगो को
करोड़पति बना कर आप
क्या बताना चाहते है
आप तो
अब सेंट्रल गवर्मेंट से
भी नही डर रहे है उनको झूठ पे
झूठ बोल जा रहे है ।हमको ये तो
पहले से
ही मालूम था कि
DPRO आप से मिला है और
हमारे उप
मुख्यमंत्री अभी सो रहे है तो
अब आप
लोग और
किसको किसको झूठ बोलेगे। हम दावे के साथ कहते है
अगर आप
के हिसाब से जितनी संपत्ति बोले है अगर उसका 15 हिस्सा भी दिखा दीजिये तो हम
बाकी के
साथ ये
हिस्सा भी
आपको अपने तरफ से
भेंट स्वरुप दे देंगे और आप
से टॉयलेट का भी
पैसा नहीं लेंगे। हम
जानते है
कि आप
हमसे बहुत ही क्रोधित है क्योंकि हम आपकी पोल खोलना
चाहते है लेकिन इसका ये मतलब थोड़ी नहीं है कि आप जो मन में आया वही लिख कर इतना
हाईलाइट कर देंगे और रातो
रात
करोड़पति बना देंगे। कृपया हाथ जोड़ कर निवेदन है कि हमको इतना बड़ा बनाने की
चेष्ठा न करिये । जब हम अपने दम पर होंगे तो तब आप ये शब्द बोल भी नहीं पाएंगे।
हम एक युवा नवजवान लड़के है आप की इतनी भ्रस्टाचारी को देख कर इसकी कड़ी निदा करते
है कृपया अब तो शर्म करिये। हम अब भी कहते है अगर आज तक हमने जो भी कुछ कहा है
आप को लेकर अगर एक भी गलत साबित हो जाए तो हम आपको एक ईमानदार
officers में से एक
में मानगे।इतना ही नहीं अगर आपने आज तक
जो भी
हमारे बारे में अनाब सनाब कहा है उसे सच साबित करये तो
जाने कृपयाअब तो शर्म करिये हमारे लिए नही तो कम
से कम
एक गाँव का नेतृत्व जो आपने सपथ के
दौरान लिया था उसे पूरा करने के लिए उसे ही
याद करके।आप हमारे लालगंज के भरस्टाचारी प्रधान के
बातो में आकर अपनी छवि भी
ख़राब कर
रहे है।
नियत तिथि:
02 – Jun – 2019
शिकायत की स्थिति:
निस्तारित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
दिनांक 07/06/2019को फीडबैक:- माननीय हमारे ग्राम विकास अधिकारी और प्रधान अंजलि जी
आज फिर आप एक
कहावत याद दिलाई है
अंधो में काना राजा वाली आपको तो पूरी कहावत याद तो होगी
ही। इसका अर्थ हम बताते है क्योंकि हमारी सरकार सो रही है और उसको जनता से लेना
देना नही है और हमारे अधिकारी आपके मिलीभगत में शामिल है तो वे कुछ बोलेंगे ही
नही और इसी मौके का फायदा उठा कर आप जो जी मे आ रहा है उसे बोल रहे है। अरे अब
तो सच सच बोलिये हमे तो अपने आप पर शर्म आती है कि हमने कैसे प्रधान को चुना और
अधिकारी तो पहले ही भरस्टाचारी के काम मे अवल रहते है । अरे सोचनेवाली बात है
अगर हम पात्र नही थे तो क्या आप
LGD कोड देते समय क्या आंखों में पट्टी बांध कर आये थे या
उस समय हमारा दो
मंजिला मकान नही दिखा अरे अब तो
शर्म करिये इतना लड़ाई लड़ रहे है आप
हमसे कृपया एक बार भी सच
बोलने का रिकॉर्ड अपने नाम कर ही
लिया था
अब गिनीज बुक में नाम दर्ज कराने की
इच्छा है
आपको। आपने फ़ोटो तो
काफी अच्छा खींचा है
लेकिन क्या उसमे ये
बताया कि
ये कितने भाइयो के
हिस्से की
जमीन है
और कितने लोग का
बंटवारा हो
चुका है? आप हमको जितनी बाते कही है
जैसे कई
motarcycle है अगर इसको साबित करिये तो जाने ,आपने कहा है
कि हैम इनकम टैक्स भरते है
अगर साबित करिये तो
जाने। अरे आप क्या साबित करे गे जिनको करने को
वो तो
मौज ले
रहा है
और जनता परेशान हो
रही है। आज ये
बात तो
सिद्ध हो
गयी कि
आप जैसा भरस्टाचार कोई नही होगा। आपने अब
2012 के प्रधान को
बीच मे
लाकर बचने का प्रयाश अच्छा किया है जो
कि एक
बकवाश कहानी है जो
आपने बतया है और हैम इससे ज्यादा क्या बोले आप
खुद जानते है कि
जब आपको हैम कमीशन नही दिए तो कैसे पैसा आप
देंगे। अरे आप यही बताइये की कितने
लोगों को आप लोगो ने पैसा दिया है जिनके पास पक्का दो मंजिला मकान नही है और
पात्र है। अरे आप सरकार को मूर्ख बना सकते है पर हमको नही। आप ये मत समझिये गा
की हम चुप हो जाये गे हैम तब तक लड़ेंगे जब तक इंसाफ न मिल जाये चाहे
5 साल लगे या 10 साल बस ऐसी ही कहानी बना बना कर
रख लीजिए और हर बार देने को तैयार रहिये गा। एक युवा पीढ़ी को आप की इन शर्मनाक
हरकतों के लिए एक सल्यूट । आप यही संदेश आगे देते रहिये गया कि आगे हम भी आप के
पथ को एक बेमिशाल किस्सा के रूप में सब को बताये।
फीडबैक की स्थिति:
फीडबैक
प्राप्त

आवेदन
का
संलग्नक

अग्रसारित विवरण

क्र..
सन्दर्भ
का प्रकार
आदेश
देने वाले अधिकारी
आदेश
दिनांक
अधिकारी
को प्रेषित
आदेश
आख्या
दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या
रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन
सन्दर्भ
26 – May – 2019
सहायक विकास अधिकारी लालगंज,जनपदमिर्ज़ापुर,पंचायती राज विभाग
06/06/2019
sachiv dwara likhit rup se avagat karaya gaya hai ki SBMG ke
antragat bes line sarve 2012 me tatakal pradhan and sachiv dwara sarave me
name dala gaya tha jo ki sr 8 par ankit hai labharthi shrimati rekha dev
patni ravindra ka name mis karate samay dhanrashi dhikana avashyak hota hai
jisake karan dhanrashi 12 truti vash ankit hai kintu inke toilet ka photo
apaloding nhi kiya gaya hai jo online ankit hai sikayat karata ko suchi
dekhane me yaha ashanka hai ki mere name par sarakari dhan pradhan and sachiv
dwara aharit kar li gayi hai jabaki photographi na hone par svatah spast hota
hai ki inke name ka dhanrashi nhi nikali gayi hai or sikayat karata ka pakka
makan or kapade ki dukan hai jisaka photo sath me lagi hai or sikayat karata
ke name se pradhan dwara paisa nhi nikala gaya hai
निस्तारित

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
3 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Yogi
1 year ago

आइए टॉपिक पर -आप ने २०१७-१८ की सूची उपलब्ध कराई है जो प्रत्यावेदन के साथ संलग्न है | १-आप ने उपरोक्त वित्तीय वर्ष में ७५ शौचालय पूर्ण दिखाया है किन्तु आप ने सिर्फ ७० लोगो को ही शौचालय अनुदान दिया है अर्थात प्रथम दृष्टया आप ने ५ शौचालय के धन का गबन किया है | ​ ​२-आप द्वारा जिनके पास पक्का मकान है वे सभी अपात्र है किन्तु इस सूची में सर्वाधिक लोगो के पास पक्का मकान है इसलिए वे सभी अपात्र इसलिए आप ने सरकारी धन का मनमानी पूर्वक खुद की जेब भरने के लिए उपयोग किया |

Arun Pratap Singh
1 year ago

फीडबैक : दिनांक 24/06/2019को फीडबैक:- माननीय महोदय कृपया ये बताइये की जब 75 टॉयलेट बना था और 70 को ही पैसा दिया गया है तो जो हमारे पास 75 टॉयलेट की लिस्ट है उसमें सबका पेमेंट कॅश successful क्यो दिख रहा है ! आप कब तक हमको और सरकार को मूर्ख बनाये गे। आप कहते है कि हम हवाई फायर मार रहे है अरे हवाई फायर तो आप मार रहे है और सरकार को चूतिया बनाने की कोसिस कर रहे है ताकि जांच न हो पाए और आप की पोल ना खुले। हमे तो आप की बात पर हंसी आ रही है आप ने तो अब बच्चो वाली बाते कहना सुरु कर दिया है और कहते है कि हमारी प्रधान से दुश्मनी है अरे आप ये बताइए कि हमारा पैसा आप भी लेकर बैठे है तो क्या हमारी आप से भी दुश्मनी है।यहां जो जो हमारा फीडबैक पढ़ रहा है कृपया आप भी सोचिये क्या हम इस जनसुनवाई पोर्टल को कोई मनोरंजन का केंद्र समझे है कि हवाई फायर मार रहे है। हम आज भी चैलेंज के साथ कह रहे है कि आज तक जो भी कुछ हैम कहे है सब सत्य है और इसका प्रमाण भी हमारे पास है जो कि हम जांच कराने के दौरान पेश करेंगे। कृपया आप से निवेदन है कि सरकार का ध्यान हटाने की कोसिस न करके जांच के लिए एक जिला स्तरीय अधिकारी का गठन किया जाए और तब हैम आप की एक एक पोल खोलेगे। इन बच्चो वाली बात कर के आप कब तक बच सकते है।हम तब तक चैन से नही बैठे गए जब तक जांच के लिए कोई अधिकारी नही आ जाता। आप ये मत सोचिये गा की कुछ भी अनाब सनाब बोल कर बच सकते है।अगर इतना ही सच्चाई है आप मे तो एक बार जांच होने दे उसमे आप क्यो हिचकिचा रहे है। अतः हैम पुनः निवेदन करते है कि DPRO और सरकार जल्द से जल्द जांच का आदेश दे फिर अगर हम गलत साबित हुए तो सरकार का जो फैसला होगा हमे स्वीकार्य होगा। और हा आपने हमको करोड़पति भी बताया है जो कि एक हवाई फायर आप के द्वारा था इसको भी आप सिद्ध करिये और अगर सही साबित हुए तो 50 फीसदी ले लीजिए गा। कृपया सरकारी पोर्टल को कोई खेलवाड़ न समझिये नही तो जिस दिन सरकार सो कर उठे गी और आप की ये हरकत देखे गी तो आप के लिए ही हानिकारक साबित होगा। अभी तक सरकार के द्वारा कोई भी करवाई न होने का मतलब है कि सरकार सो रही है कृपया जागिये और जनता का समाधान कीजिये। आप ने हमको गलत RTI प्रदान की है और इसके साथ ही साफ सुथरा भी नही दिया जिसके कारण कई अछर साफ नही दिख रहे इसके लिए भी आगे के करवाई के लिए तैयार रहिये गा। आप ये मत सोचिये गा की हम आपके अनाब सनाब बातो को सुन कर शांत हो जाये गे हैम पिछले 1 वर्षो से ऐसे ही शांत होने के लिए नही बैठे है हमे जब तक इंसाफ नही मिल जाता तब तक शांत नही बैठे गे ।
फीडबैक की स्थिति: फीडबैक प्राप्त

Beerbhadra Singh
1 year ago

Undoubtedly matter is serious and concerned with deep rooted corruption in the government machinery moreover our responsible public functionaries are mute spectators of this wide spread corruption in the government machinery. Think about the gravity of situation that when the agreement denied to pay the bribe to concern corrupt public functionaries then they deprived the aggrieved of the government aid. If our public functionaries who are responsible I am really interested to curb the corruption from the government machinery then they will have to take action against the Evil doers at any cost otherwise there were only beating the drum top of honesty.