Swachchh Bharat Mission is an ambitious scheme of great prime minister but misuse of fund on large scale

आवेदन का विवरण
शिकायत संख्या
40019918036049
आवेदक कर्ता का नाम:
Rishabh Dubey
आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:
7388002308,7388002308
विषय:
सोचिये तीन दिन के बजाय पांच महीने बीत गये अभी तक अनिल मिश्र जी फोटो फीड करा के भुगतान कर ही रहे है | क्या सरकारी आश्वासन इसी तरह होता है जो सरकार की विश्वसनीयता को तार तार कर दे | The matter is concerned with the application of Rishabh Dubey who is still deprived of the justice because of the lackadaisical approach of concerned staffs of the government. आवेदन का विवरण शिकायत संख्या 40019918017770 आवेदक कर्ता का नाम Rishabh Dubey. Endorsement with the following direction. Parakaran C catagri me hai, atah baiduwar aakhya uplaod karen. ok refer to attach file(अवगत कराना है की सहायक विकास अधिकारी को अवशयक कार्यवाही हेतु निदेशित किया गया है| Whether anyone will ask DPRO Mirzapur what file he has attached in order to seek the disposal of the grievance? Whether it is not the mockery of the rule of law by the DPRO Mirzapur who is attaching the same copy in order to seek the disposal of submitted grievances on the august portal Jansunwai of the government of Uttar Pradesh which monitored directly by Chief Minister office. The entire district knows that how the ten million rupees public fund remained dump concerned with the Swachchh Bharat Mission as exposed by the D.M. Mirzapur but no action was taken against any wrongdoers. Sir all the information fed on the internet concerned with SBM is sheer fake and merely a concocted stories nothing else. Sir if they are honest why they had not provided the sought information under the Right to Information Act 2005 and moreover no enquiry was ordered on allegations of corruption made by the applicant. The applicant is ready to face any action if found wrong but it is concerned public functionaries who are not interested in the enquiry on the application of the applicant.
नियत तिथि:
22 – Dec – 2018
शिकायत की स्थिति:
लम्बित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
फीडबैक की स्थिति:
आवेदन का संलग्नक
अग्रसारित विवरण
क्र..
सन्दर्भ का प्रकार
आदेश देने वाले अधिकारी
आदेश दिनांक
अधिकारी को प्रेषित
आदेश
आख्या दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन सन्दर्भ
15 – Dec – 2018
सहायक विकास अधिकारी लालगंज,जनपदमिर्ज़ापुर,पंचायती राज विभाग
अनमार्क

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
3 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh

सोचिये तीन दिन के बजाय पांच महीने बीत गये अभी तक अनिल मिश्र जी फोटो फीड करा के भुगतान कर ही रहे है | क्या सरकारी आश्वासन इसी तरह होता है जो सरकार की विश्वसनीयता को तार तार कर दे | The matter is concerned with the application of Rishabh Dubey who is still deprived of the justice because of the lackadaisical approach of concerned staffs of the government. आवेदन का विवरण शिकायत संख्या 40019918017770 आवेदक कर्ता का नाम Rishabh Dubey. Endorsement with the following direction. Parakaran C catagri me hai, atah baiduwar aakhya uplaod karen. ok refer to attach file(अवगत कराना है की सहायक विकास अधिकारी को अवशयक कार्यवाही हेतु निदेशित किया गया है|

Mahesh Pratap Singh Yogi M. P. Singh

ये बोलते है कि ये पात्र नहीं है, ये जनसुनवाई पोर्टल कोई आपके घर की खेती है क्या की बार बार अपनी ही बात से पलट कर हमको और सरकार को चूतिया बना रहे है । कृपया अगर नहीं देना है तो उससे पहले RTI का जवाब तो दे दोजिये जो हमने लगाया था। कृपया ये सोचिये की इससे हमारी सरकार की ही बेज्जती होगी क्योंकि हम greivance की हर रिपोर्ट को पूरे देश को gmail, blog ,और अन्य कई तरीकों से सबको दिखाते रहते है और आपके हर जवाब पे सब जनता देख कर यही सोचे गी की हमारे मुख्यमंत्री जी अपनी जनता को आप लोग से ही चुना लगवा रही है। कृपया हमारे मंत्री जी का मजाक मत बनने दीजिये। अतः आपसे निवेदन है कि हमारे greivance का यही उत्तर दे दीजिए की अगर नहीं देना था तो अपने ये सारी फॉर्मेलिटीज क्यों की । आप बस यही समझ लीजिए की हमें जब तक इन्साफ नहीं मिल जाता तब तक हम लड़ते रहेंगे। आपको हम हमारा पैसा लेके बैठने बही देंगे।
फीडबैक की स्थिति: फीडबैक प्राप्त
आवेदन का संलग्नक
संलग्नक देखें
अग्रसारित विवरण-
क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी आदेश दिनांक अधिकारी को प्रेषित आदेश आख्या दिनांक आख्या स्थिति आख्या रिपोर्ट
1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 15 – Dec – 2018 सहायक विकास अधिकारी -लालगंज,जनपद-मिर्ज़ापुर,पंचायती राज विभाग — 24/12/2018 sachiv dwara likhit rup se avagat karaya gaya hai sikayat karata apatrata ki sreni me ata hai es liye inhe toilet ki dhan rashi nhi di ja sakati hai

Arun Pratap Singh
1 year ago

Whether the staffs of the government is not understanding the submitted feedback which reflects the sheer lawlessness and anarchy. We want justice but who will provide justice when entire system is rotten and its functionaries are sheer corrupt.
फीडबैक : दिनांक 24/12/2018को फीडबैक:- माननीय महोदय कृपया आप बताये गे की आप सरकार को और हमको इतना मुर्ख क्यों बना रहे है । हम आपके ही हिसाब से सोचे तो अगर देना नहीं था तो सबसे पहले तो आप हमारा family id क्यों बनाये और यहां तक की उन सारी formalities को भी पूरा किया जो की होता है। आप कब तक हमको मुर्ख बनाये गे आप यही सोच लीजिये की पहले तो आप बोलते है कि अनिल मिश्र जी ने जाँच पूरी कर ली है और तीन दिन के अंदर पैसा दे दिया जायेगा और बाद में देरी करते है और फिर बाद में शिकायत करने पर ये बोलते है कि ये पात्र नहीं है, ये जनसुनवाई पोर्टल कोई आपके घर की खेती है क्या की बार बार अपनी ही बात से पलट कर हमको और सरकार को चूतिया बना रहे है ।