Such practice is quite common in the university Mahatma Gandhi Kashi Vidya Pith Varanasi.

आवेदन
का विवरण
शिकायत
संख्या
40019916000845
आवेदक कर्ता का नाम:
Yogi
M. P. Singh
आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:
7379105911,7379105911
विषय:
Higher education is the central subject as it is in centre
list and Governor is the chancellor of state universities consequently
accountability of central government in regard to failure and anarchy may not
be overlooked Whether trauma of your applicant will forgive the concerned as
their dereliction caused this havoc in the life of your applicant Matter is
concerned with the Sunita Devi, DO Mr Khattan Yadav, Mother’s name –Vairagi
Devi Name of institution college-407 Kamla Arya Kanya PG College Mirzapur
Mobile number-7398714759 Appeared in BA second year exam in the year 2016
conducted by Mahatma Gandhi Kashi Vidya Pith University Varanasi With due
respect your applicant wants to draw the kind attention of the Honble Sir to
the following submissions as follows 1-It is submitted before the Honble Sir
that your applicant appeared in the exam of each paper but in the result your
applicant was shown absent in the first paper of sociology Hon’ble Sir may be
pleased to take a glance of attached documents with this representation 2-It
is submitted before the Honble Sir that your applicant is girl student and
whether it is justified that staffs university may discriminate your
applicant on the ground of sex as your applicant is vulnerable enough to
raise the issue of injustice done with her by deliberately showing your
applicant in the sociology first paper absent even when she appeared in the
paper 3-It is submitted before the Honble Sir that with this representation
question paper of first paper of sociology had been provided to your
applicant in the examination hall is attached on which roll number of
applicant is filled up at the place of roll number As well as attendance
sheet and other concerned documents may be summoned from the exam centre
which will prove the authenticity of the claim of your applicant This is
humble request of your applicant to you Honble Sir that It can never be
justified to overlook the rights of citizenry by delivering services in
arbitrary manner by floating all set up norms This is sheer mismanagement
which is encouraging wrongdoers to reap benefit of loopholes in system and
depriving poor citizens from right to justice Therefore it is need of hour to
take concrete steps in order to curb grown anarchy in the system For this
your applicant shall ever pray you Honble Sir Yours sincerely Yogi M P Singh
on behalf of Sunita Devi Mobile number-7379105911 Mohalla-Surekapuram,
Jabalpur Road District-Mirzapur , Uttar Pradesh ,India
नियत तिथि:
18
– Aug – 2016
शिकायत की स्थिति:
लम्बित
रिमाइंडर :
प्राप्त अनुस्मारक
क्र..
अनुस्मारक
प्राप्त दिनांक
1
यह जनशिकायत समय सीमा के अंतर्गत निस्तारित होने के कारण आपके स्तर पर डिफाल्टर होकर लंबित है| जनशिकायत के अधिक समय तक लंबित रहने की स्थिति संतोषजनक नहीं है| कृपया प्रकरण का तत्काल नियमानुसार निस्तारण किया जाना अपेक्षित है | – मुख्यमंत्री कार्यालय
08 Mar 2017
2
यह जनशिकायत समयसीमा के अंतर्गत निस्तारित होने के कारण आपके स्तर पर डिफाल्टर होकर लंबित है| जनशिकायत के अधिक समय तक लंबित रहने की स्थिति संतोषजनक नहीं है| कृपया प्रकरण का तत्काल नियमानुसार निस्तारण किया जाना अपेक्षित है | —मुख्यमंत्री कार्यालय
30 Jan 2017
फीडबैक :
आवेदन का संलग्नक
अग्रसारित विवरण
क्र..
सन्दर्भ
का प्रकार
आदेश
देने वाले अधिकारी
आदेश
दिनांक
अधिकारी
को प्रेषित
आदेश
आख्या
दिनांक
आख्या
नियत
दिनांक
स्थिति
आख्या
रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन
सन्दर्भ
03
– Aug – 2016
अपर
मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव/सचिव उच्‍च शिक्षा विभाग
कार्यलय
से सम्बंधित नहीं

2 comments on Such practice is quite common in the university Mahatma Gandhi Kashi Vidya Pith Varanasi.

  1. प्राप्त अनुस्मारक –
    क्र.स.
    अनुस्मारक
    प्राप्त दिनांक
    1
    यह जनशिकायत समय सीमा के अंतर्गत निस्तारित न होने के कारण आपके स्तर पर डिफाल्टर होकर लंबित है| जनशिकायत के अधिक समय तक लंबित रहने की स्थिति संतोषजनक नहीं है| कृपया प्रकरण का तत्काल नियमानुसार निस्तारण किया जाना अपेक्षित है | – मुख्यमंत्री कार्यालय
    08 Mar 2017
    2
    यह जनशिकायत समयसीमा के अंतर्गत निस्तारित न होने के कारण आपके स्तर पर डिफाल्टर होकर लंबित है| जनशिकायत के अधिक समय तक लंबित रहने की स्थिति संतोषजनक नहीं है| कृपया प्रकरण का तत्काल नियमानुसार निस्तारण किया जाना अपेक्षित है | –मुख्यमंत्री कार्यालय
    30 Jan 2017

  2. रिमाइंडर : प्राप्त अनुस्मारक –
    क्र.स. अनुस्मारक प्राप्त दिनांक
    1 यह जनशिकायत समय सीमा के अंतर्गत निस्तारित न होने के कारण आपके स्तर पर डिफाल्टर होकर लंबित है| जनशिकायत के अधिक समय तक लंबित रहने की स्थिति संतोषजनक नहीं है| कृपया प्रकरण का तत्काल नियमानुसार निस्तारण किया जाना अपेक्षित है | – मुख्यमंत्री कार्यालय 08 Mar 2017
    2 यह जनशिकायत समयसीमा के अंतर्गत निस्तारित न होने के कारण आपके स्तर पर डिफाल्टर होकर लंबित है| जनशिकायत के अधिक समय तक लंबित रहने की स्थिति संतोषजनक नहीं है| कृपया प्रकरण का तत्काल नियमानुसार निस्तारण किया जाना अपेक्षित है | –मुख्यमंत्री कार्यालय 30 Jan 2017
    फीडबैक :
    आवेदन का संलग्नक
    संलग्नक देखें
    अग्रसारित विवरण-
    क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी आदेश दिनांक अधिकारी को प्रेषित आदेश आख्या दिनांक आख्या नियत दिनांक स्थिति आख्या रिपोर्ट
    1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 22 – Jun – 2017 रजिस्ट्रार -महात्मा गाँधी काशी विद्यापीठ, वाराणसी — लंबित

Leave a Reply

%d bloggers like this: