Scholarship money is flowing to private schools is paving the way of more irregularities.

logo जनसुनवाई
समन्वित शिकायत निवारण प्रणाली, उत्तर प्रदेश
सन्दर्भ संख्या:-40019918004619
आवेदनकर्ता का विवरण :
नाम : Yogi M P Singh पिता/पति का नाम :   लिंग :
मोबाइल नंबर-1 : 7379105911 मोबाइल नंबर-2 : 7379105911 ईमेल : yogimpsingh@gmail.com
क्षेत्र : नगरीय प्रदेश : उत्तर प्रदेश जनपद : मिर्ज़ापुर
तहसील : सदर ब्लाक : —- ग्राम पंचायत : —-
थाना : कोतवाली कटरा Address : तहसील-सदर, जिला-मिर्ज़ापुर
शिकायत/सुझाव क्षेत्र की जानकारी :
क्षेत्र : नगरीय प्रदेश : उत्तर प्रदेश जनपद : मिर्ज़ापुर
तहसील : सदर ब्लाक : ग्राम पंचायत : —-
ग्राम : 0 थाना : कोतवाली कटरा
आवेदन का विवरण :
आवेदन पत्र का विवरण :
सन्दर्भ का प्रकार : शिकायत अधिकारी : जिलाधिकारी विभाग : पिछड़ा वर्ग कल्‍याण विभाग
सन्दर्भ श्रेणी : भ्रष्टाचार / वित्तीय अनियमितता/कार्यों-विभागीय योजनाओं में लापरवाही/जांच
संलग्नक : है

आवेदन का विवरण
शिकायत संख्या
40019918004619
आवेदक कर्ता का नाम:
Yogi
M P Singh
आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:
7379105911,7379105911
विषय:
श्री मान पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी जनपद –मिर्ज़ापुर , उत्तर प्रदेश विषय –छात्र वृत्ति वितरण में गवर्नमेंट शासकीय सहायता प्राप्त विद्यालयों की अनदेखी और प्राइवेट विद्यालयों को तरजीह दिए जाने के सम्बन्ध में | महोदय Most revered Sir Your applicant invites the
kind attention of Hon’ble Sir with due respect to following submissions as
follows 1-It is submitted before the Hon’ble Sir that
प्रार्थी को कुछ चीजे समझ में नही रही है | विभाग द्वारा प्राइवेट विद्यालयों को ज्यादा छात्र वृत्ति फण्ड उपलब्ध कराया जा रहा है जब की इस तरह के विद्यालय जनसूचना अधिकार के तहत तो सूचनाए उपलब्ध कराते है और नही उनके कार्यशैली में कोई पारदर्शिता होती है | श्री मान जी आजमगढ़ में हुए छात्र वृत्ति घोटाले से सीख लेते हुए पुनः इस प्रकार के शर्मनाक प्रकरणों की पुनरावृत्ति रोकनी चाहिए | श्री मान जी प्राइवेट विद्यालयों में पढने वाले बच्चे गरीब नही होते यदि वे गरीब होते तो इतनी भरी भरकम फीस कहा से अदा करते आप की छात्रवृत्ति तो बाद में मिलती है | श्री मान जी से कृपया अनुरोध है जन सूचना अधिकार की धारा बी के तहत विद्यालयवार छात्र वृत्ति धनराशी का प्रकाशन कराया जाय जिससे नागरिक सही स्थिति से अवगत हो | और इस तरह का डाटा आप के पास हो जिसे जन सूचना अधिकार के तहत प्राप्त किया जा सके | This is a humble request of your applicant to you Hon’ble Sir
that how can it be justified to withhold public services arbitrarily and
promote anarchy, lawlessness, and chaos in an arbitrary manner by making the
mockery of law of land This is need of the hour to take harsh steps against
the wrongdoer in order to win the confidence of citizenry and strengthen the
democratic values for healthy and prosperous democracy For this, your
applicant shall ever pray you, Hon’ble Sir Yours sincerely Yogi M P Singh,
Mobile number-7379105911, Mohalla-Surekapuram, Jabalpur Road District-
Mirzapur, Uttar Pradesh, Pin code-231001
नियत तिथि:
24
– Mar – 2018
शिकायत की स्थिति:
लम्बित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
फीडबैक की स्थिति:
आवेदन का संलग्नक
अग्रसारित विवरण
क्र..
सन्दर्भ का प्रकार
आदेश देने वाले अधिकारी
आदेश दिनांक
अधिकारी को प्रेषित
आदेश
आख्या दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन सन्दर्भ
09 – Mar – 2018
जिलाधिकारीमिर्ज़ापुर,
अनमार्क

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
2 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh

प्रार्थी को कुछ चीजे समझ में नही आ रही है | विभाग द्वारा प्राइवेट विद्यालयों को ज्यादा छात्र वृत्ति फण्ड उपलब्ध कराया जा रहा है जब की इस तरह के विद्यालय जनसूचना अधिकार के तहत न तो सूचनाए उपलब्ध कराते है और नही उनके कार्यशैली में कोई पारदर्शिता होती है | श्री मान जी आजमगढ़ में हुए छात्र वृत्ति घोटाले से सीख लेते हुए पुनः इस प्रकार के शर्मनाक प्रकरणों की पुनरावृत्ति रोकनी चाहिए | श्री मान जी प्राइवेट विद्यालयों में पढने वाले बच्चे गरीब नही होते यदि वे गरीब होते तो इतनी भरी भरकम फीस कहा से अदा करते आप की छात्रवृत्ति तो बाद में मिलती है |

Arun Pratap Singh
2 years ago

श्री मान जी आप को कई पत्र लिखे गये और सभी में आप से खाता संख्या सुधारने की प्रार्थना की गयी किन्तु आप गोल मटोल जवाब दे कर टाल जाते है कभी आप निक डॉट इन कंप्यूटर सिस्टम की बात करते है और कभी बैंक की परन्तु कभी भी आप अपनी जिम्मेदारी और रोल की बात नही करते | श्री मान जी क्या बैंक और निक डॉट इन के कंप्यूटर जिस चीज के लिए हरी झंडी देंगे उसे आप आँख मूद कर मान लेंगे और माने भी और माने भी जिसका जीता जागता उदाहरण आजमगढ़ का १५० करोड़ का छात्रवृत्ति घोटाला है कितु बैंक मनेजर साहब भी योगी सरकार द्वारा जेल भेजे गये और आप के भाई बंधू भी गये | इसका मतलब सरकार पात्रता व अपात्रता देखती है | इसलिए पुरानी शैली को छोडिये और हमारे मुख्यमंत्री परम आदरणीय योगी आदित्य नाथ जी के मनः स्थिति को समझिये | यदि मै पात्र हु तो छात्र वृत्ति दीजिये बैंक और कंप्यूटर का नाम लेकर प्रार्थी को गुमराह मत करिए नही तो योगी जी से डायरेक्ट जनता दर्शन में मिलूंगा |