Prime minister avas scheme is culminated into corrupt scheme of the government of India

.

 Status for Grievance registration number: PMOPG/E/2020/0908346

Grievance Concerns To
Name Of Complainant
सुदर्सन मौर्या
Date of Receipt
11/10/2020
Received By Ministry/Department
Prime Minister Office
Grievance Description
प्रार्थी द्वारा प्रस्तुत सन्दर्भ कुछ इस प्रकार है – सेवा में जिलाधिकारी मिर्ज़ापुर जिला –मिर्ज़ापुर, उत्तर प्रदेश विषय –मंगला प्रसाद दूबे गैर जनपद स्थानांतरण के सम्बन्ध में सम्बंधित प्राधिकारी उस लेखपाल का स्थानांतरण बसही से तरकापुर कर दिये जो की और मलाई दार पोस्ट है और घर और तहसील दोनों नजदीक हो गयी प्रार्थी अपनी माता राजकुमारी के डूडा से मिलने वाले आवास के सम्बन्ध में जानकारी चाहता है किन्तु वे किसी भी जानकारी को देने के बजाय उन शब्दों का इस्तेमाल किये जो प्रार्थी लिखने में ही मर्यादा विरुद्ध समझता है सन्दर्भ संख्या:- 40019920016968 में लेखपाल द्वारा गोलमटोल मनमाना जवाब दिया गया जिसे तहसीलदार सदर और उपजिलाधिकारी सदर द्वारा स्वीकार किया गया किन्तु हद तो तब हो गयी जब प्रार्थी द्वारा आपत्ति की गयी तो भी लेखपाल द्वारा वही आख्या पुनः संलग्न की गयी जो की अनुशासन हीनता की कोटि में आता है श्री मान जी प्रार्थी द्वारा अपनी माता राजकुमारी के डूडा से मिलने वाले आवास के सम्बन्ध में जानकारी चाहता है जो की संलग्नको से स्पस्ट है जो आरोप लगे है वे स्वतः सिद्ध है उनके तानाशाही रवैये से
प्रार्थी द्वारा निम्न दो शिकायते जनसुनवाई पोर्टल पर प्रस्तुत की गई
जनसुनवाई समन्वित शिकायत निवारण प्रणाली, उत्तर प्रदेश सन्दर्भ संख्या:- 40019920016968 नाम सुदर्सन मौर्या पिता/पति का नाम ब्रिजलाल मौर्या मोबइल नंबर 9455024500

जनसुनवाई समन्वित शिकायत निवारण प्रणाली, उत्तर प्रदेश सन्दर्भ संख्या:- 40019920019428 नाम-सुदर्सन मौर्या पिता/पति का नाम ब्रिजलाल मौर्या मोबइल नंबर 9455024500
श्री मान जी पोर्टल फीडबैक नही ले रहा है इसलिए आवेदन को नया करने की आवश्यकता है प्रार्थी द्वारा प्रस्तुत सन्दर्भ कुछ इस प्रकार है – सेवा में जिलाधिकारी मिर्ज़ापुर जिला –मिर्ज़ापुर, उत्तर प्रदेश विषय –मंगला प्रसाद दूबे गैर जनपद स्थानांतरण के सम्बन्ध में प्रार्थी अपनी माता राजकुमारी के डूडा से मिलने वाले आवास के सम्बन्ध में जानकारी चाहता है किन्तु वे किसी भी जानकारी को देने के बजाय उन शब्दों का इस्तेमाल किये जो प्रार्थी लिखने में ही मर्यादा विरुद्ध समझता है तहसीलदार सदर द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट कुछ इस प्रकार है तहसील सदर द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट मनमाना है और विषय वस्तु से हट कर है यह प्रकरण भ्रष्टाचार और लेखपाल के कदाचार से सम्बंधित है प्राथी के प्रत्यावेदन को गलत ढंग से निस्तारित किया गया है जो की अन्याय पूर्ण है महोदय प्रार्थी का अनुरोध है की तहसीलदार सदर को कारण बताओं नोटिस जारी किया जाय क्योकि उनका जवाब अमर्यादित और भ्रष्टाचार पूर्ण है संदर्भ संख्या : 40019920016968 , दिनांक – 16 Sep 2020 तक की स्थिति आवेदनकर्ता का विवरण :शिकायत संख्या:-40019920016968 आवेदक का नाम- सुदर्सन मौर्या विषय- सेवा में जिलाधिकारी मिर्ज़ापुर जिला –मिर्ज़ापुर, उत्तर प्रदेश विषय –मंगला प्रसाद दूबे गैर जनपद स्थानांतरण के सम्बन्ध में महोदय आप को ज्ञात हो की मगला प्रसाद दूबे जी अपने जनपद मिर्ज़ापुर में कई वर्षो से जमे हुए है और गुट बंदी करते है तृतीय श्रेणी के कर्मचारी लेकिन जीवनशैली अधिकारयों के मात देने वाली है संपत्ति इतनी की पड़ोसी इर्ष्या के कारण सो नही पाता है श्री मान सामान्य बातचीत में भी साथ चल रहे दलाल मारपीट करने पर उतारू हो जाते है महत्वपूर्ण तथ्य यह है खुद दूबे जी उन लोगो से मना नही करते और किसी भी बात का समुचित उत्तर नही देते है उनकी कार्यशैली जनपद में बहुत ही संदिग्ध है महोदय उनका गैर जनपद स्थानांतरण बहुत जरुरी है क्योकि उन्होंने प्रार्थी का अपमान किया है और प्रार्थी के साथ असंसदीय भाषा का प्रयोग किया जो की उचित नही है प्रार्थी अपनी माता राजकुमारी के डूडा से मिलने वाले आवास के सम्बन्ध में जानकारी चाहता है किन्तु वे किसी भी जानकारी को देने के बजाय उन शब्दों का इस्तेमाल किये जो प्रार्थी लिखने में ही मर्यादा विरुद्ध समझता है लेखपाल महोदय प्रति आवास ३००० रुपये लेते है रिपोर्ट लगाने के लिए किन्तु जो नही देता उसमे रिपोर्ट ही नही लगता और उनकी सूची डूडा पहुचती ही नही श्री मान जी मामले की जांच उच्च स्तरीय अधिकारी द्वारा कराया जाय और जांच में पारदर्शिता बरती जाय जिससे की जवाबदेही तय हो और इनकी जनपद मिर्ज़ापुर में तैनाती / पोस्टिंग का विवरण की समीक्षा उत्तर प्रदेश सरकार की नई स्थानान्तरण नीति के अनुसार आख्या प्रार्थी को उपलब्ध कराया जाय लेखपाल लिस्ट

Grievance Document
Current Status
Case closed
Date of Action
27/10/2020
Remarks
अधीनस्थ अधिकारी के स्तर पर निस्तारित अधीनस्थ अधिकारी के स्तर पर निस्तारित आख्या अपलोड कर सेवा में सादर प्रेषित
Reply Document
Rating
Poor
Rating Remarks
Sudarsan Maurya enquired regarding the prime minister avas scheme but DUDA staff Mirzapur misled him. Which caused him physical harassment with mental torture because of half a dozen representations he submitted to know the precise information. Here this question arises that why did DUDA staff mislead the Sudarsan Maurya, although matter was no more connected with the Tahsil Sadar. Here this question arises that whether the government will fix the accountability of the DUDA staff who are tackling the matter of the prime minister avas scheme so negligently?
I prove here one thing that there is no transparency and accountability in the implementation of the prime minister avas scheme ipso facto from the attached report.
If the government functionaries concerned are honest, then they must fix the accountability of the DUDA staff concerned.
Our motive is good governance which we can ensure by promoting transparency and accountability but failed because of rampant corruption in
Officer Concerns To
Officer Name
Shri Arun Kumar Dube
Officer Designation
Joint Secretary
Contact Address
Chief Minister Secretariat U.P. Secretariat, Lucknow
Email Address
sushil7769@gmail.com
Contact Number
0522 2226349
5 6 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
5 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Arun Pratap Singh
17 days ago

Here this aspect of the matter is drawing attention that why DUDA did not respond properly to the aggrieved aspirant. That is the root cause of concern.

Yogi
Admin
17 days ago

Undoubtedly there must be transparency and accountability in the dealings of public authority dealing implementation of the prime minister avas scheme. Unacceptable behaviour of DUDA staff is only implying mysterious and cryptic dealings promoting corruption..

God Man
God Man
17 days ago

Undoubtedly it is the bitter truth of the Prime Minister Aawas scheme launched by the the great Prime Minister Mr Narendra Damodar Modi and this failure itself reflecting the lawlessness and Anarchy in the implementation of the public welfare schemes in the Government of Uttar Pradesh but this Anarchy is not visible to our great Prime Minister.

God Man
God Man
16 days ago

Think about the gravity of situation that those drawing huge salary from the public exchequer are indulged in the deep rooted corruption which is the reflection of the greed of the public functionaries in this largest democracy in the world. There is no public office in this largest democracy in the world where bribe is not taken.