डी.एल. एड. की जीर्ण शीर्ण वेबसाइट पाच पाच सौ बार फॉर्म भरने पर भी नही ले रही है क्यों क्यों OTP मोबाइल पर नही भेजा

Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com>
Why OTP is not being sent on the Mobile Number.
1 message
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com>
22 May 2018 at 23:30
To: updeled@gmail.com, pmosb <pmosb@pmo.nic.in>, presidentofindia@rb.nic.in, supremecourt <supremecourt@nic.in>, urgent-action <urgent-action@ohchr.org>, cmup <cmup@up.nic.in>, hgovup@up.nic.in, csup@up.nic.in, uphrclko <uphrclko@yahoo.co.in>
Most revered Sir –Your applicant invites the kind attention of Hon’ble Sir with due respect to following submissions as follows.
1-It is submitted before the Hon’ble Sir that नीलम मिश्रा का पाच सौ बार भरा गया किन्तु डी.एल. एड. की जीर्ण शीर्ण वेबसाइट ले ही नही रही है इसी प्रकार बेबी भरद्वाज का भी पाच सौ भरा गया और 
 डी.एल. एड. की जीर्ण शीर्ण वेबसाइट ले ही नही रही है| क्या इसी को सुशासन कहते है | अरे चार सौ रुपये पर अभ्यर्थी ले रहे हो और सुबिधा के नाम पर शून्य और कोई एंट्रंस परीक्षा भी नही कराते हो |
2-It is submitted before the Hon’ble Sir that  51A. Fundamental duties It shall be the duty of every citizen of India (a) to abide by the Constitution and respect its ideals and institutions, the National Flag and the National Anthem;(h) to develop the scientific temper, humanism and the spirit of inquiry and reform;
(i) to safeguard public property and to abjure violence;
(j) to strive towards excellence in all spheres of individual and collective activity so that the nation constantly rises to higher levels of endeavour and achievement
 .
3-It is submitted before the Hon’ble Sir that श्री मान जी हेल्पलाइन नंबर सिर्फ शो पीस बन कर रह गया है 
D. El. Ed.- 2018 HELPLINE
Contact Department
Phone Number
(During 10.00 AM to 6 PM)
Email ID
U.P. PARIKSHA NIYAMAK PRADHIKARI, ALLAHABAD
05322466761, 0532-2466769
परीक्षा नियामक प्राधिकारी, इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश 
डी० एल० एड० ( पूर्व प्रचलित नाम B.T.C. ) प्रशिक्षण– 2018 में प्रवेश हेतु ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन फॉर्म फोटो अपलोड
(आवेदन पत्र आवेदक द्वारा स्वयं सहीसही भरा जाये। नाम, पिता का नाम तथा जन्म तिथि हाईस्कूल प्रमाण पत्र के अनुसार भरी जाये। आवेदन पत्र में दिये गये बाक्सों में प्रविष्टि किया जाना अनिवार्य है। सभी बाक्सों में प्रविष्टियॉ अंग्रेजी भाषा के कैपिटल लैटर्स में तथा संख्यात्मक प्रविष्टियॉ एक ही अंक पद्धति में अंकित की जानी हैं। अपूर्ण एवं अधूरे भरे आवेदन पत्रों पर कोई विचार नहीं किया जायेगा। आवेदक पंजीकरण के समय आॅनलाइन भरी हुयी प्रविष्टियों का मिलान अपने मूल अभिलेखों से अवश्य कर लें क्योंकि एक बार पंजीकरण प्रक्रिया पूर्ण होने के उपरान्त, भरी गयी प्रविष्टियों में किसी भी प्रकार के संशोधन का कोई अवसर देय नहीं होगा। )
ENTER OTP *
Input string was not in a correct format. 
This is a humble request of your applicant to you Hon’ble Sir that how can it be justified to withhold public services arbitrarily and promote anarchy, lawlessness, and chaos in an arbitrary manner by making the mockery of law of land? There is need of the hour to take harsh steps against the wrongdoer in order to win the confidence of citizenry and strengthen the democratic values for healthy and prosperous democracy. For this, your applicant shall ever pray you, Hon’ble Sir.                                                         
                                                                                                                             Yours sincerely
Date-22-05-2018              Yogi M. P. Singh, Mobile number-7379105911, Mohalla- Surekapuram, Jabalpur Road, District-Mirzapur, Uttar Pradesh, Pin code-231001.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
2 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh

Hon’ble Sir that नीलम मिश्रा का पाच सौ बार भरा गया किन्तु डी.एल. एड. की जीर्ण शीर्ण वेबसाइट ले ही नही रही है इसी प्रकार बेबी भरद्वाज का भी पाच सौ भरा गया और
डी.एल. एड. की जीर्ण शीर्ण वेबसाइट ले ही नही रही है| क्या इसी को सुशासन कहते है | अरे चार सौ रुपये पर अभ्यर्थी ले रहे हो और सुबिधा के नाम पर शून्य और कोई एंट्रंस परीक्षा भी नही कराते हो |

Preeti Singh
2 years ago

51A. Fundamental duties It shall be the duty of every citizen of India (a) to abide by the Constitution and respect its ideals and institutions, the National Flag and the National Anthem;(h) to develop the scientific temper, humanism and the spirit of inquiry and reform;
(i) to safeguard public property and to abjure violence;
(j) to strive towards excellence in all spheres of individual and collective activity so that the nation constantly rises to higher levels of endeavour and achievement