Matter is concerned with the highhandedness of the police as acting like magistrate and judge.

Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com>
Matter is concerned with the highhandedness of the police in the Uttar Pradesh as acting like magistrate and judge.
1 message
AMIT SINGH <amit.9033979897@gmail.com> 11 June 2019 at 19:03

To: supremecourt <supremecourt@nic.in>, pmosb <pmosb@pmo.nic.in>, presidentofindia@rb.nic.in, urgent-action <urgent-action@ohchr.org>, cmup <cmup@up.nic.in>, hgovup@up.nic.in, csup@up.nic.in, uphrclko <uphrclko@yahoo.co.in>, lokayukta@hotmail.com, “sec. sic” <sec.sic@up.nic.in>, yogimpsingh@gmail.com

Most respectfully, with due respect, the applicant Amit Kumar Singh son of Mr. Akhilesh Singh, Village and post -Babura, District-Mirzapur, Uttar Pradesh, PIN Code-231001 wants to draw the kind attention of the most revered chief minister and Honourable superintendent of Police Mirzapur to the following submissions as follows.

1-Matter is concerned with the lackadaisical approach of station officer police station-Vindhyachal in regard to complaint number-40019919021504 submitted by the applicant on 21-May-2019 and report of police station through station officer was submitted on 28-May-2019.
2-Applicant aggrieved with the partial approach of the station officer in the matter concerned, police station -Vindhyachal District -Mirzapur, submitted the feedback in order to revive the submitted grievance on 29-May-2019 quite obvious from the attached documents i.e. print of the complaint as aforementioned.
3-On one side of screen submitted feedback was not considered by the accountable public functionaries and on the other side of screen muscle men terrorizing my parents whose details were given serially in the form of list in order lodge first information report in the aforementioned complaint and print copy is attached to this representation. 
                         Instead of allowing procrastination in the  matter which may cause fatal to the family of the aggrieved applicant, most revered Sir may pass a rational order which may ensure transparency in the investigation and accountability be fixed of concerned accountable government functionaries whoever may be irrespective of rank and status.Swift and timely action always cultivate excellent results but lackadaisical approach and procrastination annihilate the system as termite destroys a huge tree.Please help Sir.
          Date-11-06-2019                                                                          Yours sincerely
                                                                                                   Amit Kumar Singh S/O Akhilesh Singh address as aforementioned.
आवेदन का विवरण
शिकायत संख्या
40019919022893
आवेदक कर्ता का नाम:
Amit Kumar Singh
आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:
9125969897,9125969897
विषय:
Most respectfully, with due respect, the applicant Amit Kumar Singh son of Mr. Akhilesh Singh, Village and post -Babura, District-Mirzapur, Uttar Pradesh, PIN Code-231001 wants to draw the kind attention of the most revered chief minister and Honourable superintendent of Police Mirzapur to the following submissions as follows. 1-Matter is concerned with the lackadaisical approach of station officer police station-Vindhyachal in regard to complaint number-40019919021504 submitted by the applicant on 21-May-2019 and report of police station through station officer was submitted on 28-May-2019. 2-Applicant aggrieved with the partial approach of the station officer in the matter concerned, police station -Vindhyachal District -Mirzapur, submitted the feedback in order to revive the submitted grievance on 29-May-2019 quite obvious from the attached documents i.e. print of the complaint as aforementioned. 3-On one side of screen submitted feedback was not considered by the accountable public functionaries and on the other side of screen muscle men terrorizing my parents whose details were given serially in the form of list in order lodge first information report in the aforementioned complaint and print copy is attached to this representation. Instead of allowing procrastination in the matter which may cause fatal to the family of the aggrieved applicant, most revered Sir may pass a rational order which may ensure transparency in the investigation and accountability be fixed of concerned accountable government functionaries whoever may be irrespective of rank and status. Swift and timely action always cultivate excellent results but lackadaisical approach and procrastination annihilate the system as termite destroys a huge tree.
नियत तिथि:
11 – Jul – 2019
शिकायत की स्थिति:
लम्बित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
फीडबैक की स्थिति:
आवेदन का संलग्नक
अग्रसारित विवरण
क्र..
सन्दर्भ का प्रकार
आदेश देने वाले अधिकारी
आदेश दिनांक
अधिकारी को प्रेषित
आदेश
आख्या दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन सन्दर्भ
11 – Jun – 2019
अपर पुलिस अधीक्षक मिर्ज़ापुर,पुलिस
अनमार्क
आवेदन का विवरण
शिकायत संख्या
40019919021504
आवेदक कर्ता का नाम:
अमित कुमार सिंह
आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:
9125969897,9125969897
विषय:
प्रार्थी अमित कुमार सिंह पुत्र श्री अखिलेश सिंह ग्रामबबुरा पोस्टबबुरा जिला मिर्ज़ापुर पिन कोड २३१३०७ थाना विन्ध्याचल पुलिस स्टेशन घटना का स्थल बबुरा तरी समय सुबह आठ बजे दिनांक २००५२०१९ विपक्षी गणों द्वारा गाली गलौज और जान से मारने की धमकी देते हुए आधुनिक असलहो से सज्ज लहराते हुए बिना सरकारी लाइसेंस के पक्ष के लोगो को मार पीट कर भगाते हुए समस्त कटी फसल को निश्चिन्त हो कर अजय राज सिंह के ट्रेक्टर से जो की चौथे नंबर के विपक्षी है उठा ले गये और उन्ही के घर पर रखा गया है | पक्ष नगीना सिंह पत्नी श्री अखिलेश सिंह पता उपरोक्त सुशीला सिंह पत्नी श्री नन्दलाल सिंह पता उपरोक्त विपक्षी गण अभय राज सिंह पुत्र स्वर्गीय चन्द्रभान सिंह पता उपरोक्त मुख्य खड्यंत्रकर्ता सुरेश सिंह पुत्र स्वर्गीय राजधर सिंह पता उपरोक्त जसवंत सिंह पुत्र स्वर्गीय राजपति सिंह पता उपरोक्त अजय राज सिंह पुत्र स्वर्गीय सत्यनारायण सिंह पता उपरोक्त धीरेन्द्र सिंह पुत्र स्वर्गीय सत्यनारायण सिंह पता उपरोक्त संजय सिंह पुत्र स्वर्गीय महेंद्र सिंह पता उपरोक्त मुन्नू सिंह पुत्र स्वर्गीय लल्लन सिंह पता उपरोक्त उधम सिंह पुत्र स्वर्गीय लालजी सिंह पता उपरोक्त मास्टर माइंड कल्लू सिंह पुत्र स्वर्गीय संकठा सिंह पता उपरोक्त १०चन्दन सिंह पुत्र स्वर्गीय सरयू सिंह पता उपरोक्त महोदय प्रार्थी शपथ पूर्वक बयान करता है की श्री मान जी राजस्व विभाग के पत्र जिसका प्रेषण आर. बी. सिंह संयुक्त सचिव उत्तर प्रदेश शासन द्वारा दिनांक ०४अप्रैल २०१९ राजस्व अनुभाग संख्या ९६१ जो की जिलाधिकारी मिर्जापुर को संबोधित है का परिणाम यह है की पक्ष के लोगो द्वारा बोई और काटी गयी फसल जबरदस्ती विपक्षी गण उठा ले गये | श्री मान जी उप जिलाधिकारी सदर के पत्र का अवलोकन करे जो की प्रत्यावेदन के साथ संलग्न है अटैच्ड पी डी ऍफ़ पेज और है जिसमे स्पस्ट रूप से हिदायत है की मामले का निस्तारण गंभीरता से लेते हुए नियमानुसार कराये | श्री मान जी थाना अध्यक्ष महोदय ने अभी तक मामले में प्रथम दृष्टया रिपोर्ट तक अपने यहा दर्ज नही करने दिया है |जब की इतना अपराधिक खडयंत्र कारित किया गया | श्री मान जी कानूनगो की रिपोर्ट ०९०४२०१९ के अनुसार श्री मती नगीना सिंह के तरफ से रबी की फसल बोई गयी है | श्री मान जी ऐसा कौन सा आदेश है थाना अध्यक्ष महोदय के पास जिसके आधार पर विपक्षी गणों के द्वारा फसल उठाई गई है बलात प्रयोग करके जो पूर्ण रूप से अस्म्बैधानिक है | राजस्व सम्बन्धी नियम का परिपालन उपजिलाधिकारी सदर के माध्यम से कराया जाता है और उपजिलाधिकारी सदर का आदेश और उसी क्रम में कानूनगो की रिपोर्ट तो प्रार्थी के लिए है | फिर थाना अध्यक्ष महोदय की चुप्पी क्या संदेहास्पद नही है | महोदय कृपया न्याय हो जिसके लिए प्रार्थी सदैव श्री मान जी आभारी रहेगा | दिनांक २१०५२०१९ आप का आज्ञाकारी अमित कुमार सिंह
नियत तिथि:
28 – May – 2019
शिकायत की स्थिति:
निस्तारित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
दिनांक 29/05/2019को फीडबैक:- प्रस्तुत रिपोर्ट में थाना अध्यक्ष महोदय का कहना है आवेदक द्वारा नौ विस्वा जमीन का बैनामा कराया गया है |और बैनामा से अधिक जमीन कब्ज़ा करना चाहता है | बबुरा ही नही पूरे गंगा के कछार में सभी लोग अपने जमीन के समक्ष जो गंगा जी के बाढ़ ख़त्म होने पर खाली होती है या मिट्टी पड़ती है उसे जोतते बोते है | कानूनगो महोदय के रिपोर्ट से स्पष्ट है की प्रार्थी पक्ष से जुताई बुवाई कराई गई थी अर्थात तैयार फसल पर प्रार्थी पक्ष का हक़ था | श्री मान जी प्रार्थी एक ट्रेक्टर तैयार फसल ले गया और विपक्षी गण दो ट्रेक्टर , प्रार्थी एक ट्रेक्टर में अपने नौ विश्वा की फसल ले गया किन्तु विपक्षी गण दो ट्रेक्टर फसल किस जमीन की ले गये क्योकि नतो उनकी जमीन है वहा पर और वहा जो खाली जमीन है उसकी बुवाई तो प्रार्थी पक्ष द्वारा कराई गई है | सोचिये कब्ज़ा शब्द थाना अध्यक्ष महोदय की रिपोर्ट में शोभा पाता है | थाना अध्यक्ष महोदय खुद स्वीकार कर रहे है की बैनामा के अतिरिक्त जो जमीन उपजिलाधिकारी महोदय के अनुसार वह जमीन किसी की नही है अर्थात सरकार की है | श्री मान जी यह विवाद तो प्रार्थी और सरकार के वीच का है | वहा विपक्षी गणों का क्या रोल है | उपजिलाधिकारी के आदेश का उल्लंघन किसने किया जो दो ट्रैक्टर फसल अनाधिकृत काट बाहुबल से ले गया या जिसने अपने बैनामा की जमीन की काटी फसल को किसी तरह विपक्षी सरहंगो से बचाया | १०७/११६ शांति भंग का आरोप उभय पक्ष पर लगाने के लिए प्रस्तावित है | थाना अध्यक्ष महोदय का पक्षपात पूर्ण आचरण एकदम स्पष्ट है की विपक्षी गणों को खुश करने के लिए नही वह सरकार की जमीन को कब्ज़ा करा देंगे और उसे जायज ठहरा देंगे बल्कि प्रार्थी पक्ष को जो की शांति प्रेमी है उन्हें समाज के समक्ष अपराधियों की तरह पेश करेंगे | प्रार्थी के पिता एक शिक्षक है और प्रार्थी खुद अभियांत्रिकी का स्नातक है किन्तु थानाध्यक्ष महोदय के हर मनमानापन और तानाशाही को बर्दास्त करने के सिवा कोई दूसरा रास्ता है भी नही | जबरा मारे रोवै दे | हे भगवान् आप हमारी और हमारे परिवार की रक्षा करे |
फीडबैक की स्थिति:
फीडबैक प्राप्त
आवेदन का संलग्नक
अग्रसारित विवरण
क्र..
सन्दर्भ का प्रकार
आदेश देने वाले अधिकारी
आदेश दिनांक
अधिकारी को प्रेषित
आदेश
आख्या दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन सन्दर्भ
21 – May – 2019
थानाध्‍यक्ष/प्रभारी नि‍रीक्षकविन्ध्याचल,जनपदमिर्ज़ापुर,पुलिस
28/05/2019
सेवा मे श्रीमान जी जाँच आख्या अवलोकनार्थ अपलोड है सेवा मे श्रीमान जी जाँच आख्या अवलोकनार्थ अपलोड है
निस्तारित


3 attachments
S.O.Vindhyachal.png
1465K
Amit Singh.pdf
366K
Amit Singh.docx
3222K

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
3 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Yogi
1 year ago

Instead of allowing procrastination in the matter which may cause fatal to the family of the aggrieved applicant, most revered Sir may pass a rational order which may ensure transparency in the investigation and accountability be fixed of concerned accountable government functionaries whoever may be irrespective of rank and status.Swift and timely action always cultivate excellent results but lackadaisical approach and procrastination annihilate the system as termite destroys a huge tree.

Arun Pratap Singh
1 year ago

Undoubtedly action must be taken against wrongdoers whoever may be irrespective of their rank and status.
आवेदन का संलग्नक
संलग्नक देखें
अग्रसारित विवरण-
क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी आदेश दिनांक अधिकारी को प्रेषित आदेश आख्या दिनांक आख्या स्थिति आख्या रिपोर्ट
1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 11 – Jun – 2019 अपर पुलिस अधीक्षक -मिर्ज़ापुर,पुलिस — अधीनस्थ को प्रेषित
2 अंतरित अपर पुलिस अधीक्षक (पुलिस ) 13 – Jun – 2019 क्षेत्राधिकारी-क्षेत्राधिकारी , नगर आवश्यक कार्यवाही करने का कष्ट करें एवं आख्या प्रेषित करें अधीनस्थ को प्रेषित
3 अंतरित क्षेत्राधिकारी (पुलिस ) 15 – Jun – 2019 थानाध्‍यक्ष/प्रभारी नि‍रीक्षक-विन्ध्याचल,जनपद-मिर्ज़ापुर,पुलिस आवश्यक कार्यवाही करने का कष्ट करें एवं आख्या प्रेषित करें कार्यालय स्तर पर लंबित

Beerbhadra Singh
1 year ago

Undoubtedly the role of the police is to provide justice to those people who are suffer due to the failure of law order in the state by prosecuting those people who are taking the law of land in their own hands. Whether it is not a reflection of rampant corruption quite obvious from the tyrannical approach of the police belonging to the Vindhyachal police station.