Justice delayed is justice denied but when justice will reach to needy.

Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com>
Justice delayed is justice denied but when justice will reach to needy.
1 message
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com> 10 May 2017 at 09:46
To: pmosb <pmosb@pmo.nic.in>, presidentofindia@rb.nic.in, urgent-action <urgent-action@ohchr.org>,
supremecourt <supremecourt@nic.in>, cmup <cmup@up.nic.in>, hgovup@up.nic.in, “csup@up.nic.in”
<csup@up.nic.in>, uphrclko <uphrclko@yahoo.co.in>

श्री मान जी माननीय मुख्यमंत्री जी का मिडिया बयान की यदि किसानो 
को सहायता राशि एक हप्ते में नही पहुची तो सम्बंधित जिला 
मजिस्ट्रेट नपेंगे लोगो में चर्चा का विषय रहा किन्तु प्रश्न यह उठता है
 की क्या मिडिया बयानों से ही सरकार चलती है |यह भी प्रासंगिक है 
की माननीय मुख्यमंत्री जी के अधीनस्थ उनके विचारों को कितनी 
गंभीरता से लेते है |
Wednesday, May 10, 2017
8:35 AM
With great respect to revered Sir , your applicant invites the kind 
attention of the Hon’ble Sir to the following submissions as follows.
1-It is submitted before the Hon’ble Sir that प्रस्तुत शिकायत का निस्तारण 
नियत तिथि: 29 – Apr – 2017 किन्तु आज १०मई-२०१७ है यदि प्रकरण को पूर्व 
सरकार से तुलना करके देखा जाय तो कोई फर्क नही पड़ता क्यों की इस प्रकार की 
देरी इस जीर्ण शीर्ण ब्यवस्था का एक हिस्सा है| किन्तु माननीय मुख्य मंत्री के 
विचारों के परिप्रेक्ष्य में देखा जाय तो यह एक गंभीरतम लापरवाही है जो कि 
अक्षम्य है |
आवेदन काविवरण
शिकायतसंख्या
40017517001335
आवेदक कर्ताका नाम:
Yogi M P Singh
आवेदक कर्ताका मोबाइलन०:
7379105911,7379105911
विषय:
Providing aid to farmers belonging to droughtexcessive rain snow and ice fall
 hit area of Allahabadकिसानो को सात दिन में मुआवजा  मिला तो सम्बन्धित 
जिलाधिकारी
 नपेगे ऐसामै नही हमारे सूबे के माननीय मुख्य मंत्री परम आदरणीय योगी आदित्य
 नाथ जी का कहना है श्रीमान जी जिलाधिकारी इलाहाबाद के अधीनस्थ 
उपजिलाधिकारी फूलपुर दो वर्षो से अतिब्रिष्टि औरओला बृष्टि के पीड़ित किसानो की
 मुआवजा राशि लटकाए हुए है जब की मोदी जी से बड़ा किसानोका शुभचिंतक कौन 
होगा दो सौ से ज्यादा आवेदन भेजे जा चुके है शासन द्वारा ग्रांट भी भेजागया है 
अखिलेश सरकार ने तो पूरी एड़ी से चोटी तक का जोर लगा दिया लेकिन 
उपजिलाधिकारीफूलपुर पर इन सब बातो का कोई असर नही हुआ 
Subject-Providing aid to farmers belonging to droughtexcessive rain snow
 and ice fall hit area of Allahabad With great respect to revered Sir, your 
applicant invites the kind attention of the Hon’ble Sir to the following 
submissions as follows 1-It is submitted before the Hon’ble Sir that justice 
without force is impotent and force without justice is tyranny Whether 
subsequent government in the state will be instrumental in providing the 
aid to aggrieved farmers as provided by central government in two 
installments 2-It is submitted before the Hon’ble Sir that where is gone 
huge public fund 88 crore and some thing to D M Allahabad ipso facto 
obvious from the attachment with this representation What is the cause of
 undue delay being done by SDM PHOOLPUR IN PROVIDING aid to 
farmers suffering natural calamity This is humble request of your applicant 
to you Honble Sir that It can never be justified to overlook the rights of 
citizenry by delivering services in arbitrary manner by floating all set up 
norms This is sheer mismanagement which is encouraging wrongdoers to 
reap benefit of loopholes in system and depriving poor citizens from right to
 justice Therefore it is need of hour to take concrete steps in order to curb 
grown anarchy in the system For this your applicant shall ever pray you 
Honble Sir Yours sincerely Yogi M P Singh Mobile number-7379105911 
Mohalla-Surekapuram, Jabalpur Road District-Mirzapur , Uttar Pradesh ,
India Only one question must be replied by accountable public functionaries
 whether aforementioned got their share if not why Whether concerned 
accountable public functionaries will fix the accountability of the 
wrongdoers for procrastinating in enforcing the public scheme
नियत तिथि:
29 – Apr – 2017
शिकायत कीस्थिति:
लम्बित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
आवेदन का संलग्नक
अग्रसारित विवरण
क्र..
सन्दर्भ काप्रकार
आदेश देनेवाले अधिकारी
आदेश दिनांक
अधिकारी को प्रेषित
आदेश
आख्यादिनांक
आख्या
नियत दिनांक
स्थिति
आख्या रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइनसन्दर्भ
14 – Apr – 2017
जिलाधिकारीइलाहाबाद,
अधीनस्थ कोप्रेषित
2
आख्या
जिलाधिकारी ( )
19 – Apr – 2017
उप जिलाधि‍कारी फूलपुर,जनपदइलाहाबाद,राजस्व एवं आपदाविभाग
नियमनुसारआवश्यककार्यवाही करें 
आख्या लंबित
 2-It is submitted before the Hon’ble Sir that किसी भी बात की विश्वसनीयता
 इस बात पे निर्भर करती है की कहने वाला उसके प्रति कितना गंभीर है क्यों की 
उसकी गंभीरता ही उसके अधीनस्थो का रूख तय करता है | प्रस्तुत प्रकरण में 
अधीनस्थो का क्या रूख है यह तो देखने से ही पता चल रहा है | क्या इतने बड़े 
जनता के बहुमत के पश्चात क्या जनता यही उम्मीद कर रही थी और क्या जो कुछ 
हो रहा है वह जनहित में है | एक के इमानदार होने से व्यवस्था इमानदार नही हो 
जाती अन्यथा दंड ब्यवस्था की आवश्यक्ता ही नही थी |
 3-It is submitted before the Hon’ble Sir that सोचिये जिस लेखपाल को 
उपजिलाधिकारी प्रतिकूल प्रविष्टी अंकन की बात करते है उसी को लेखपाल से 
कानूनगो बनाया जाता है कैसी इमानदारी है | कथनी और करनी में कितना अंतर है 
और इमानदारी वाक्यों में नही कृति में झलकनी चाहिए | यदि नौकरशाही की 
निरंकुशता पर शून्य प्रतिशत नियंत्रण है तो सुशासन की उम्मीद से भी कोशो दूर 
रहना चाहिए | क्या जनता को पांच वर्षो तक धोखे में रखा जा सकता है |
             This is humble request of your applicant to you Hon’ble Sir 
that It can never be justified to overlook  the rights of citizenry by 
delivering services in arbitrary manner by floating all set up norms. This 
is sheer mismanagement which is encouraging wrongdoers to reap benefit
 of loopholes in system and depriving poor citizens from right to justice. 
Therefore it is need of hour to take concrete steps in order to curb 
grown anarchy in the system. For this your applicant shall ever pray you 
Hon’ble Sir.
                                          Yours  sincerely
                            Yogi M. P. Singh Mobile number-7379105911
Mohalla-Surekapuram, Jabalpur Road District-Mirzapur , 
Uttar Pradesh ,India.


Government  orders dated 29 July in regard to aid to farmers of Allahabad.pdf
365K

2 comments on Justice delayed is justice denied but when justice will reach to needy.

  1. श्री मान जी माननीय मुख्यमंत्री जी का मिडिया बयान की यदि किसानो
    को सहायता राशि एक हप्ते में नही पहुची तो सम्बंधित जिला
    मजिस्ट्रेट नपेंगे लोगो में चर्चा का विषय रहा किन्तु प्रश्न यह उठता है
    की क्या मिडिया बयानों से ही सरकार चलती है |यह भी प्रासंगिक है
    की माननीय मुख्यमंत्री जी के अधीनस्थ उनके विचारों को कितनी
    गंभीरता से लेते है |

  2. किसी भी बात की विश्वसनीयता
    इस बात पे निर्भर करती है की कहने वाला उसके प्रति कितना गंभीर है क्यों की
    उसकी गंभीरता ही उसके अधीनस्थो का रूख तय करता है | प्रस्तुत प्रकरण में
    अधीनस्थो का क्या रूख है यह तो देखने से ही पता चल रहा है | क्या इतने बड़े
    जनता के बहुमत के पश्चात क्या जनता यही उम्मीद कर रही थी और क्या जो कुछ
    हो रहा है वह जनहित में है | एक के इमानदार होने से व्यवस्था इमानदार नही हो
    जाती अन्यथा दंड ब्यवस्था की आवश्यक्ता ही नही थी |

Leave a Reply

%d bloggers like this: