If undue transfers of public staffs is source of backdoor income, then whatabout undue postings?

Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com>
Whether to post a staff for more than 26 years in the same district conforms the set up norms when no staff is allowed more than three years in one district and seven years in division?
1 message
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com> 2 April 2018 at 05:42

To: pmosb <pmosb@pmo.nic.in>, presidentofindia@rb.nic.in, supremecourt <supremecourt@nic.in>, urgent-action <urgent-action@ohchr.org>, cmup <cmup@up.nic.in>, hgovup@up.nic.in, csup@up.nic.in, uphrclko <uphrclko@yahoo.co.in>

विषय-उत्तर प्रदेश सरकार की स्थानांतरण नीति जिसके अनुसार समूह क व ख के कर्मचारी किसी जनपद में तीन वर्ष से ज्यादा नही रुकेगे और मंडल में सात वर्षो से ज्यादा नही रुकेगे |
समूह ग व घ के लिए कोई नियम निर्धारित नही है ऐसे कर्मचारी अपने बास के बिबेकाधिकार से स्थानांतरित होंगे अर्थात विभागाध्यक्ष अपनी इक्षा के अनुसार इधर से उधर करेगा | More discretion opens more quarters of anarchy so every thing must be governed by the provisions of law.
स्थानान्तरण नीति में उन लोगो के लिए कोई ब्यवस्था नही है जो अपने गृह जनपद में दो दशक से ज्यादा पड़े हुए है या दूसरे जनपद में दो दशको से ज्यादा पड़े हुए है और इतनी संपदा अर्जित कर लिए है की वही जनपद उनका गृह जनपद बन चुका है |
श्री मान जी कुछ पूर्ववर्ती शासको पर यह आरोप लगे है की लोग स्थानांतरित करके पैसा कमाते है |In Physics, we teach our students Newton’s third law of motion as-Every action has reaction but in opposite direction.
संभवतः असम्यक स्थानांतरण पैसा कमाने का जरिया बन सकता है तो असम्यक स्थानान्तरण रुकवाना अर्थात एक स्थान पर गलत तरीके से बने रहना या बने रहने देना पिछले दरवाजे से आय का स्रोत बन सकता है |
श्री मान जी क्या कोई राजस्व निरीक्षक किसी जनपद में २६ वर्ष ४ महीने २२ दिन रह सकता है और अभी भी उसी पद पर बना हुआ है | जो बात सुनने और देखने में चौकाने वाली हो वह प्राकृतिक कैसे हो सकता है और स्वस्थ प्रशासनिक ब्यवस्था का हिस्सा कैसे बन सकता है |
श्री मान जी समूह क व ख के कर्मचारी किसी जनपद में तीन वर्ष से ज्यादा नही रुकेगे और मंडल में सात वर्षो से ज्यादा नही रुकेगे तो क्या हमारे विभागाध्यक्ष इसका मतलब यह निकाल रहे है की समूह ग व घ के कर्मचारी अपनी समस्त सेवा काल एक ही जनपद में गुजार सकते है | गृह जनपद बहुत ही जटिल शब्द है बहुत से लोक सेवक ग्राम की बात छोडिये गृह जनपद में भी नही रहना चाहते है इसका सर्वे कराया जा सकता है | कोई भी मानक तय करने से पहले उसके दुरुपयोग के बारे में सोचना चाहिए |
दिनांक – 28/03/2018को फीडबैक:- Respected and Kind hearted District Magistrate District- Mirzapur, Uttar Pradesh Subject-To withdraw my words in regard to uninterrupted posting of Mr. Singh since 20 years at the Sadar Tahsil in Mirzapur district. Most revered Sir, My intention was quite public spirited and not to hurt anyone, neither Mr. Singh nor others concerned. Applicant read the report made available by ADM on the august portal of government of Uttar Pradesh and ipso facto obvious from the attached report- 1-Mr. Singh is posted in this district since 26 years 4 months 17 days. 2-In Tahsil Marihan District-Mirzapur, he remained as Lekhpal for a span 3 years 8 months 13 days. 3-In Tahsil Chunar District-Mirzapur, Mr. Singh remained as revenue inspector for a duration spanned 4 years 11 months 27 days. 4-Consequently Mr. Singh remained posted at the Sadar Tahsil Mirzapur for a little span of time only 17 years 8 months 7 days. Applicant is too much aggrieved and full of remorse that he made false allegation that Mr. Singh is posted at the Sadar Tahsil in the district-Mirzapur since 20 years. Consequently I beg your pardon Sir. I expect that You Hon’ble Sir will grant me pardon. Yours sincerely Yogi M P Singh.
श्री मान जी  समूह क व ख के कर्मचारी किसी जनपद में तीन वर्ष से ज्यादा नही रुकेगे और मंडल में सात वर्षो से ज्यादा नही रुकेगे |उपरोक्त शीर्षक को मीडिया खूब तूल दिया और नागरिको ने समझा की उनके दिन बदलने वाले है किन्तु कष्ट यह है की अब भी २० वर्षो से डटे कर्मचारी ही ब्यवस्था को सभाल रहे है | जिन्हें पहले फेस किया करते थे उन्ही को अब भी कर रहे है |जो पूर्व की सरकारों में होता आया है वही अब भी हो रहा है |
                                                        श्री मान जी जो कह रहे है उसका पचास प्रतिशत भी करेंगे तो भी हम  लोगो के दिन बदल जायेगे किन्तु दिल से | सोचिये आप का अपर जिलाधिकारी कितनी चालाकी से अपने गलत कृत्यों को छुपाया | सोचिये हमने क्षमा याचना किया इनका ध्यान यथार्थ की ओर खीचने के लिए किन्तु इनको लगता है की ये अपने क्रिप्टक डीलिंग्स में सफल है हम कुछ जानते ही नही |
                                          हमें जो कहना है और प्रयास करना है मैं कहता रहूँगा करता रहूगा|
                                                                                                                 This is a humble request of the applicant to you Hon’ble Sir that it can never be justified to overlook the rights of the citizenry by delivering the services in an arbitrary manner by floating all set up norms. This is the sheer mismanagement which is encouraging wrongdoers to reap the benefit of loopholes in the system and depriving poor citizens of the right to justice. Therefore it is the need of the hour to take concrete steps in order to curb grown anarchy in the system. For this, your applicant shall ever pray you, Hon’ble Sir.
                                          Yours sincerely
                               Yogi M. P. Singh Mobile number-7379105911Mohalla-Surekapuram, Jabalpur Road District-Mirzapur, Uttar Pradesh, India.


Transfer policy and transfer of staffs in Uttar Pradesh.pdf
1285K

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
2 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh

श्री मान जी समूह क व ख के कर्मचारी किसी जनपद में तीन वर्ष से ज्यादा नही रुकेगे और मंडल में सात वर्षो से ज्यादा नही रुकेगे तो क्या हमारे विभागाध्यक्ष इसका मतलब यह निकाल रहे है की समूह ग व घ के कर्मचारी अपनी समस्त सेवा काल एक ही जनपद में गुजार सकते है | गृह जनपद बहुत ही जटिल शब्द है बहुत से लोक सेवक ग्राम की बात छोडिये गृह जनपद में भी नही रहना चाहते है इसका सर्वे कराया जा सकता है | कोई भी मानक तय करने से पहले उसके दुरुपयोग के बारे में सोचना चाहिए |

Preeti Singh
2 years ago

To withdraw my words in regard to uninterrupted posting of Mr. Singh since 20 years at the Sadar Tahsil in Mirzapur district. Most revered Sir, My intention was quite public spirited and not to hurt anyone, neither Mr. Singh nor others concerned. Applicant read the report made available by ADM on the august portal of government of Uttar Pradesh and ipso facto obvious from the attached report- 1-Mr. Singh is posted in this district since 26 years 4 months 17 days. 2-In Tahsil Marihan District-Mirzapur, he remained as Lekhpal for a span 3 years 8 months 13 days. 3-In Tahsil Chunar District-Mirzapur, Mr. Singh remained as revenue inspector for a duration spanned 4 years 11 months 27 days. 4-Consequently Mr. Singh remained posted at the Sadar Tahsil Mirzapur for a little span of time only 17 years 8 months 7 days.