If theft will not be curbed, then it would not be feasible for government to supply electricity 24 hours

आवेदन
का विवरण
शिकायत
संख्या
40019919023189
आवेदक कर्ता का
नाम:
Yogi M P Singh
आवेदक कर्ता का
मोबाइल न०:
9336252631,9336252631
विषय:
श्री मान जी
मामला विद्युत् वितरण खंड द्वितीय मिर्ज़ापुर से है
| इस समय विद्युत् सप्लाई जिसके लिए प्रदेश सरकार का
दावा २४ घंटे का है किन्तु मिर्ज़ापुर
शहर में महज १६ घंटे हो रही है
| श्री मान जी पीक ऑवर में सप्लाई सुचारु रूप से
तभी संभव है जब
मांग के
अनुसार बिजली की ब्यवस्था हो | जब एक तिहाई इललीगल कनेक्शन हो
तो डिमांड कैसे पूरा होगा | हम विजली जलाने से पहले सोचते है की विजली का
बिल कही ज्यादा तो नहीं आ जाएगा किन्तु जो दो सौ रुपये वाले कनेक्शन रहते है वे
कुछ भी नहीं सोचते
| हमारा १२०० रुपये बिल रहा है बिना कूलर के
और वे
लोग अंधाधुंध विजली का
उपयोग करते है कौन मीटर रीडिंग के अनुसार उन्हें बिल देनी है
| The matter is
concerned with the frequent breakdowns in the supply of electricity in the
area Surekapuram, Jabalpur road, District –Mirzapur, Uttar Pradesh and the
adjoining areas. On the one side of the government is claiming to provide 24 hours
supply of the electricity but on the other side of the screen, they are
merely providing 16 ours electricity made the life hells in this intense heat
season. The matter would be dealt with Circle: CIR46681 Division: DIV466811 Sub
Division: SDO4668119 K No: For detail, last month bill is attached to the
representation. Undoubtedly it is peak hour but whether concerned staffs are
checking the theft of the electricity and most surprising that concerned
staffs of the department of electricity in the name of checking illegal
electricity connection are only misleading the senior rank staffs. They are
not serious to right of genuine connection holders because their hard earned
money goes to the public treasury in accordance with the law but illegal
connection holders are fully protected by them because of the huge amount
collected from them is the source of backdoor income for the corrupt staffs
of the department.
नियत तिथि:
14 – Jul – 2019
शिकायत की स्थिति:
लम्बित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
फीडबैक की स्थिति:

आवेदन
का
संलग्नक

अग्रसारित विवरण

क्र..
सन्दर्भ
का प्रकार
आदेश
देने वाले अधिकारी
आदेश
दिनांक
अधिकारी
को प्रेषित
आदेश
आख्या
दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या
रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन
सन्दर्भ
14 – Jun – 2019
अधिशासी अभियन्‍ता,विघुतमिर्ज़ापुर,विद्युत
अनमार्क

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
3 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Yogi
1 year ago

श्री मान जी मामला विद्युत् वितरण खंड द्वितीय मिर्ज़ापुर से है | इस समय विद्युत् सप्लाई जिसके लिए प्रदेश सरकार का दावा २४ घंटे का है किन्तु मिर्ज़ापुर शहर में महज १६ घंटे हो रही है | श्री मान जी पीक ऑवर में सप्लाई सुचारु रूप से तभी संभव है जब मांग के अनुसार बिजली की ब्यवस्था हो | जब एक तिहाई इललीगल कनेक्शन हो तो डिमांड कैसे पूरा होगा | हम विजली जलाने से पहले सोचते है की विजली का बिल कही ज्यादा तो नहीं आ जाएगा किन्तु जो दो सौ रुपये वाले कनेक्शन रहते है वे कुछ भी नहीं सोचते | हमारा १२०० रुपये बिल आ रहा है बिना कूलर के और वे लोग अंधाधुंध विजली का उपयोग करते है कौन मीटर रीडिंग के अनुसार उन्हें बिल देनी है

Arun Pratap Singh
1 year ago

Thanks to sub divisional officer Electricity Distribution Division of Mirzapur for resolving the issue with utmost care and timely.
आवेदन का संलग्नक अग्रसारित विवरण-
क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी आदेश दिनांक अधिकारी को प्रेषित आदेश आख्या दिनांक आख्या स्थिति आख्या रिपोर्ट
1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 14 – Jun – 2019 अधिशासी अभियन्‍ता,विघुत-मिर्ज़ापुर,विद्युत — 22/06/2019 सन्दर्भ संख्या 40019919023189 का निस्तारित आख्या पोर्तल पर अपलोद किया गया है. निस्तारित

Beerbhadra Singh
1 year ago

Theft of electricity is undoubtedly a great problem before our society which must be stopped as soon as possible. This theft stand as the the line losses which causes additional burden on the genuine consumers of the electricity therefore a crusade may be launched against the theft of electricity which is being carried out on the large scale by colluding with the staffs of electricity. If the line losses that is theft of electricity may be reduced then large number of Genuine consumers will get a reprieve buy from this enhanced tariff