If the efforts be made in order to save cow, it may be previous tragic incidence, case calf may not repeat.

जनसुनवाई
समन्वित शिकायत निवारण प्रणाली, उत्तर प्रदेश
सन्दर्भ संख्या:-40019918032584
आवेदनकर्ता का विवरण :
नाम Yogi M P Singh
पिता/पति का नाम  
लिंग :
मोबाइल नंबर-1 : 7379105911
मोबाइल नंबर-2 : 7379105911
ईमेल yogimpsingh@gmail.com
Address : तहसील सदर जिला मिर्ज़ापुर
शिकायत/सुझाव क्षेत्र की जानकारी :
क्षेत्र नगरीय
प्रदेश उत्तर प्रदेश
जनपद मिर्ज़ापुर
तहसील सदर
ब्लाक :
ग्राम पंचायत —-
ग्राम 0
थाना —-
आवेदन का विवरण :
आवेदन पत्र का विवरण Hoof-and-mouth disease (Aphthae epizooticae) is spreading in full swing and government staffs are neutral to curb this menace. श्री मान जी आप प्रार्थी से नाराज तो बहुत होंगे किन्तु गौ माता की परेशानी देख कर चुप नही बैठ सका |श्री मान जी बछड़े को तो नही बचाया जा सका किन्तु संभव है सक्रियता दिखाई गई तो गौ माता बच सकती है |श्री मान चिकित्सक महोदय आपने जो चल भाष नंबर ७९०५१८५८५८ उपलब्ध कराया था उस पर कई बार प्रयास करने हर बार आटोमेटिक उत्तर यही दिया या तो नंबर बंद या कवरेज क्षेत्र के बाहर है |इस लिए इस ग्रिएवांस को प्रस्तुत कर रहा हू | धन्यवाद यदि तत्परता दिखाते है गौ माता को बचाने में | बछड़े को तो बचाया नही जा सका हो सकता गौ माता बच जाय | श्री मान जी फरवरी माह से ही अखबारों की सुरखिया बना पशुओं का यह रोग प्रदेश सरकार की निष्क्रियता की वजह से दावानल का रूप ले रहा है | श्री मान जी किसान तो किसी तरह इलाज कर रहे है किन्तु रोड पर टहलने वाले आवारा पशुओं का इलाज कौन करेगा | अगर प्रदेश सरकार सक्रिय रहती तो मिर्ज़ापुर या अन्य शहरो के पशुओं का जो इस रोग से पीड़ित है का इलाज हो जाता तो इस समय उनकी दुर्दशा देख कर मानसिक कष्ट तो होता | लंगडाते हुए कमजोर पशुओं के देख कर किसके मन में हताशा निराशा नही पैदा होता | श्री मान जी लावारिश पशुओं का इंतजाम करना भी सरकार के ही कार्यो का हिस्सा है | नागरिक बहुत करेगा दो रोटी दे सकता है किन्तु उनका इलाज तो नही कर सकता |
सन्दर्भ का प्रकार शिकायत
अधिकारी मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी
विभाग पशुधन विभाग
सन्दर्भ श्रेणी पशु चिकित्सक सम्बन्धी कोई भी शिकायत
Application Old Reference No : 40019918030014
संलग्नक : है
आवेदन का विवरण
शिकायत संख्या
40019918032584
आवेदक कर्ता का नाम:
Yogi M P Singh
आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:
7379105911,7379105911
विषय:
Hoof-and-mouth disease (Aphthae epizooticae) is spreading in full swing and government staffs are neutral to curb this menace. श्री मान जी आप प्रार्थी से नाराज तो बहुत होंगे किन्तु गौ माता की परेशानी देख कर चुप नही बैठ सका |श्री मान जी बछड़े को तो नही बचाया जा सका किन्तु संभव है सक्रियता दिखाई गई तो गौ माता बच सकती है |श्री मान चिकित्सक महोदय आपने जो चल भाष नंबर ७९०५१८५८५८ उपलब्ध कराया था उस पर कई बार प्रयास करने हर बार आटोमेटिक उत्तर यही दिया या तो नंबर बंद या कवरेज क्षेत्र के बाहर है |इस लिए इस ग्रिएवांस को प्रस्तुत कर रहा हू | धन्यवाद यदि तत्परता दिखाते है गौ माता को बचाने में | बछड़े को तो बचाया नही जा सका हो सकता गौ माता बच जाय | श्री मान जी फरवरी माह से ही अखबारों की सुरखिया बना पशुओं का यह रोग प्रदेश सरकार की निष्क्रियता की वजह से दावानल का रूप ले रहा है | श्री मान जी किसान तो किसी तरह इलाज कर रहे है किन्तु रोड पर टहलने वाले आवारा पशुओं का इलाज कौन करेगा | अगर प्रदेश सरकार सक्रिय रहती तो मिर्ज़ापुर या अन्य शहरो के पशुओं का जो इस रोग से पीड़ित है का इलाज हो जाता तो इस समय उनकी दुर्दशा देख कर मानसिक कष्ट तो होता | लंगडाते हुए कमजोर पशुओं के देख कर किसके मन में हताशा निराशा नही पैदा होता | श्री मान जी लावारिश पशुओं का इंतजाम करना भी सरकार के ही कार्यो का हिस्सा है | नागरिक बहुत करेगा दो रोटी दे सकता है किन्तु उनका इलाज तो नही कर सकता |
नियत तिथि:
23 – Nov – 2018
शिकायत की स्थिति:
लम्बित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
फीडबैक की स्थिति:
आवेदन का संलग्नक
अग्रसारित विवरण
क्र..
सन्दर्भ का प्रकार
आदेश देने वाले अधिकारी
आदेश दिनांक
अधिकारी को प्रेषित
आदेश
आख्या दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन सन्दर्भ
08 – Nov – 2018
मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारीमिर्ज़ापुर,पशुपालन
अनमार्क

Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com>
If the efforts be made in order to save cow, it may be previous tragic incidence as in the case of calf may not repeat. Pictures are attached with this representation.
1 message
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com> 8 November 2018 at 14:02
To: pmosb <pmosb@pmo.nic.in>, presidentofindia@rb.nic.in, supremecourt <supremecourt@nic.in>, urgent-action <urgent-action@ohchr.org>, cmup <cmup@up.nic.in>, hgovup@up.nic.in, csup@up.nic.in, uphrclko <uphrclko@yahoo.co.in>, lokayukta@hotmail.com

Hoof-and-mouth disease (Aphthae epizooticae) is spreading in full swing and government staffs are neutral to curb this menace.

श्री मान जी आप प्रार्थी से नाराज तो बहुत होंगे किन्तु गौ माता की परेशानी देख कर चुप नही बैठ सका |श्री मान जी बछड़े को तो नही बचाया जा सका किन्तु संभव है सक्रियता दिखाई गई तो गौ माता बच सकती है |श्री मान चिकित्सक महोदय आपने जो चल भाष  नंबर -७९०५१८५८५८ उपलब्ध कराया था उस पर कई बार प्रयास करने हर बार आटोमेटिक उत्तर यही दिया या तो नंबर बंद या कवरेज क्षेत्र के बाहर है |इस लिए इस ग्रिएवांस को प्रस्तुत कर रहा हू | धन्यवाद यदि तत्परता दिखाते है गौ माता को बचाने में | बछड़े को तो बचाया नही जा सका हो सकता गौ माता बच जाय |
श्री मान जी फरवरी माह से ही अखबारों की सुरखिया बना पशुओं का यह रोग प्रदेश सरकार की निष्क्रियता की वजह से दावानल का रूप ले रहा है | श्री मान जी किसान तो किसी तरह इलाज कर रहे है किन्तु रोड पर टहलने वाले आवारा पशुओं का इलाज कौन करेगा | अगर प्रदेश सरकार सक्रिय रहती तो मिर्ज़ापुर या अन्य शहरो के पशुओं का जो इस रोग से पीड़ित है का इलाज हो जाता तो इस समय उनकी दुर्दशा देख कर मानसिक कष्ट तो न होता | लंगडाते हुए कमजोर पशुओं के देख कर किसके मन में हताशा व निराशा नही पैदा होता | श्री मान जी लावारिश पशुओं का इंतजाम करना भी सरकार के ही कार्यो का हिस्सा है | नागरिक बहुत करेगा दो रोटी दे सकता है किन्तु उनका इलाज तो नही कर सकता |
With due respect and regard to Hon’ble Sir, the appellant invites the kind attention of the Hon’ble Sir to the following submissions as follows.
An enquiry under article 51 A of the constitution of India as a step towards the
betterment of the Society. 
1-It is submitted before the Hon’ble Sir that  51A. Fundamental duties 
It shall be the duty of every citizen of India (a) to abide by the 
Constitution and respect its ideals and institutions, the National Flag 
and the National Anthem;(h) to develop the scientific temper, humanism 
and the spirit of inquiry and reform;
(i) to safeguard public property and to abjure violence;
(j) to strive towards excellence in all spheres of individual and collective 
activity so that the nation constantly rises to higher levels of endeavour 
and achievement
 .
-It is to be submitted before the Hon’ble Sir that 

पशुओं में मुंहपका खुरपका रोग के लक्षण तथा बचाव

पशुओं में मुंहपका – खुरपका रोग विभक्त खुर वाले पशुओं का अत्यन्त संक्रामक एवं घातक विषाणुजनित रोग है। यह गाय, भैंस, भेंड़, बकरी, सुअर आदि पालतू पशुओं एवं हिरन आदि जंगली पशुओं को होता है। 
 

मुख्य लक्षण –

प्रभावित होने वाले पैर को झाडऩा (पटकना) पैरो में सूजन (खुर के आस-पास) लंगड़ाना अल्प अवधि (एक से दो दिन) का बुखार खुर में घाव होना एवं घावों में कीड़ा हो जाना, कभी-कभी खुर का पैर से अलग हो जाना, मुँह से लार गिरना, जीभ, मसूड़े, ओष्ट आदि पर छाले पड़ जाते हैं, जो बाद में फूटकर मिल जाते हैं उत्पादन क्षमता में अत्यधिक ह्रास बैलों की कार्यक्षमता में कमी प्रभावित, पशु स्वस्थ होने के उपरान्त भी महीनों हांफते रहते है ।
3-It is to be submitted before the Hon’ble Sir that how can it be justified that huge public fund is being spent in the name salary and perks but what is the use if the cows and bulls are dying unclaimed because of dereliction of duty of the staffs veterinary? 
4-It is to be submitted before the Hon’ble Sir that why precautionary measures are not taken and vaccination was not made on a large scale when this menace surfaced? Even the media reports were overlooked and still not serious to miseries of poor animals. Undoubtedly politics in the name of cows and bulls are not as bad as to overlook them when they are in the dreadful unhygienic state. 
This is a humble request of your applicant to you Hon’ble Sir that how can it be justified to withhold public services arbitrarily and promote anarchy, lawlessness and chaos in an arbitrary manner by making the mockery of law of land? This is the need of the hour to take harsh steps against the wrongdoer in order to win the confidence of citizenry and strengthen the democratic values for healthy and prosperous democracy. For this, your applicant shall ever pray you, Hon’ble Sir.                                                         
                                                                                                Yours sincerely
Date-08-11-2018                                                  Yogi M. P. Singh, Mobile number-7379105911, Mohalla- Surekapuram, Jabalpur Road, District-Mirzapur, Uttar Pradesh, Pin code-231001.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
3 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh

श्री मान जी आप प्रार्थी से नाराज तो बहुत होंगे किन्तु गौ माता की परेशानी देख कर चुप नही बैठ सका |श्री मान जी बछड़े को तो नही बचाया जा सका किन्तु संभव है सक्रियता दिखाई गई तो गौ माता बच सकती है |श्री मान चिकित्सक महोदय आपने जो चल भाष नंबर -७९०५१८५८५८ उपलब्ध कराया था उस पर कई बार प्रयास करने हर बार आटोमेटिक उत्तर यही दिया या तो नंबर बंद या कवरेज क्षेत्र के बाहर है |इस लिए इस ग्रिएवांस को प्रस्तुत कर रहा हू | धन्यवाद यदि तत्परता दिखाते है गौ माता को बचाने में | बछड़े को तो बचाया नही जा सका हो सकता गौ माता बच जाय |

Arun Pratap Singh
2 years ago

Cows and bulls not only constitute the wealth but also concerned with our emotions because our sentiments are attached with the cows as we call it mother. It is unfortunate that few people only do the politics in the name of cows instead of giving this animal due respect.

Preeti Singh
2 years ago

दिनांक 13/11/2018को फीडबैक:- Whether it is not a cryptic role of concerned that instead of taking solid and strong steps only formalities are being done apparently even when the epidemic of Hoof mouth disease in the animals on its climax? Undoubtedly it is an infectious disease in the animals but unfortunately, the government is not showing eager and enthusiasm in this direction. Whether the government department is not failed in pursuing its duty as one-fourth of the total population of animals are infected with this serious illness causing their deaths. A considerable portion of the public exchequer is being consumed in the name of salary and perks of the concerned staffs if such menace cannot be tackled by the outfit, then what is the need of such man powers?