If A.R.T.O. MZP stating that wrong interpretation of central ministry notification is concerned with senior rank

आवेदन
का विवरण
शिकायत
संख्या
60000190012178
आवेदक कर्ता का
नाम:
Yogi M P Singh
आवेदक कर्ता का
मोबाइल न०:
7379105911,
विषय:
केन्द्रीय मंत्रालय के
तीन पत्रों के बावजूद ट्रांसपोर्ट आयुक्त लखनऊ ने
अभी तक
प्रार्थी को
सूचनाए क्यों नही उपलब्ध कराई ? क्या यही सुशासन है
श्री मान जी प्रार्थी की शिकायत में आर.टी.. मिर्ज़ापुर की
टिप्पणी कुछ इस प्रकार है इस संबंध में शिकायतकर्ता
द्वारा उठाई गयी आपत्तियां मान्य नही है क्योंकि परिवहन विभाग द्वारा पारदर्शिता
लाने के उद्देश्यय से इस पूरी प्रक्रिया में मानवीय हस्त‍क्षेप को पूरी तरह
समाप्तह कर दिया गया है। श्री मान जी प्रार्थी का कथन कुछ इस प्रकार है १
यदि हर कुछ जायज है तो आर.टी.. मिर्ज़ापुर दलालों से भरा क्यों है ऐसा क्या उस बीराने में रखा है जो की
कार्यालय तो ११ बजे खुलता है किन्तु लोगो की भीड़ ८ बजे से होनी शुरू हो जाती है २
श्री मान जी २०० रुपये के स्थान
पर २००० की वसूली राजस्व बढाने के लिए नही की गई है बल्कि दलाली और भ्रस्टाचार
बढाने के लिए की गई है ३
श्री
मान जी मानवीय हस्तक्षेप से जिम्मेदारी बढ़ती है किन्तु पारदर्शिता के नाम पर
सारथी सारथी चिल्लाना और उसके आड़ में भ्रस्टाचार करना कहा तक जायज है श्री मान
जी आर
.टी.. मिर्ज़ापुर का काम समस्त इनफार्मेशन को सारथी वेबसाइट पर फीड करके आवेदन
वेबसाइट के माध्यम से ही लेना नकी स्लॉट जारी करना और चरण बद्ध तरीके से वसूली
करना ४
यदि विभाग में ईमानदारी है तो
समस्त ड्राइविंग लाइसेंसों को निर्वाचन कार्ड की तरह ऑनलाइन कर दे तथा उनकी
वैलिडिटी वेबसाइट पर डिस्प्ले हो यहा तो हर इनफार्मेशन रहस्मयी तरीके से आर
.टी.. मिर्ज़ापुर के कब्जे में है जिसके साथ जो चाहे वह छेड़ छाड़ करे कौन बोलने
वाला है ५
सरकार का बाहुबली आधार कार्ड भी
इसमें कोई रोल नही अदा कर रहा है क्यों की सरकार नही चाहती है की भर्स्ट इकॉनमी
पर रोक लगे ६
श्री मान जी बैकलॉग को टाइमली
बनाना सिर्फ स्लॉट में मामूली तिथि में फेर बदल करना पड़ता है किन्तु यह फेर बदल
दलाल करा सकता है या स्टाफ हमारे जैसे लोगो को तो नियम का पाठ पढ़ाया जाता जिसमे
खुद आर
.टी.. महोदय की जबान लडखडाती रहती है ७श्री
मान जी १०० रुपये है ड्राइविंग लाइसेंस का लेट पेमेंट फीस लेकिन २००० रुपये की
वसूली किस तरह जायज है श्री मान जी यदि कोई ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेन्स के लिए
आवेदन कर ही नही सकता केवल कुछ साइबर कैफे जिनको विभाग का बरद हस्त प्राप्त है
वही ऑनलाइन आवेदन कर सकते है तो इससे बड़ा भ्रस्टाचार क्या हो सकता है इससे तो
विभाग की क्रेडिबिलिटी ही ख़त्म हो गयी तो ट्रांसपरेंसी कैसी यह तो ठीक उसी
प्रकार है जैसे गरल भरा मुख अमृत टपकाने की बात करे ८
आर.टी.. मिर्ज़ापुर में पग पग पर पैसा मागा जाता है और शिकायत करने पर कोई
कार्यवाही नही होती
9-It is submitted before the Hon’ble Sir that how can it be
justified that the error made by the staffs of the R.T.O. Mirzapur causing
mental trauma for 20 years now instead of correcting it R.T.O. Mirzapur is
seeking additional Rs.200 for correction and if I opt for a change of
address, then more Rs.200 will be additionally charged which is genuine in
his eyes. Since the website is showing internal server error if I am making
efforts to pay the fee which means I will have to pay Rs. 100 to computer
operator of the department. 10-It is submitted before the Hon’ble Sir that
whether Rs.2000 being charged by the Yogi Aditya Nath Government at the place
of Rs. 200 for the renewal of Driving license of two-wheelers is justified
when already suffered a loss of Rs.350 in sending application offline for
renewal of the driving license which was arbitrarily rejected by the R.T.O.
Mirzapur.
नियत तिथि:
06 – Mar – 2019
शिकायत की स्थिति:
निस्तारित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
दिनांक 26/02/2019को फीडबैक:- श्री मान जी
सहायक परिवहन अधिकारी मिर्ज़ापुर के पूर्व के रिपोर्ट और इस
रिपोर्ट में क्या अंतर है | श्री मान जी उपरोक्त अधिकारी एक
शुक की
तरह जैसा की एक
शुक को
रटाया जाता है वही बार बार चिल्लाता है
उसी तरह आख्या प्रस्तुत किया गया है जिनको जिनका शिकायत के विषय वस्तु से
दूर दूर तक कोई सम्बन्ध नही है |उनके इस पैरा को
देखे भारत सरकार के नोटिफिकेशन संख्या सा0का0नि0 1183() दिनांक 29-12-2016 द्वारा ड्राइविंग लाइसेंस नवीनीकरण हेतु देय शुल्क लाइसेंस नवीनीकरण हेतु विलम्ब से
प्राप्त होने वाले प्रार्थना पत्रों पर
निर्धारित शुल्क के साथ देय विलम्ब शुल्क का
संशोधन करते हुए पुन: निर्धारण किया गया है| श्री मान जी उपरोक्त अधिसूचना की
जिसको जान बूझ कर
गलत ढंग से व्याख्या किया गया या उस
व्यक्ति को
कुछ आता ही नही था नक़ल करके पास हुआ है
उसी ने
उसकी व्याख्या किया है
इसी लिए प्रार्थी ने
सेंट्रल मिनिस्ट्री से सूचना मागा किन्तु अवैध वसूली आपके अधीनस्थ विभाग द्वारा हो रही है इसलिए उन्होंने जनसूचना अधिकार २००५ उपधारा धारा के
अंतर्गत आप
के ट्रांसपोर्ट कमिश्नर लखनऊ को अंतरित कर दिया गया | जिस प्रकार सुनियोजित तरीके से
केन्द्रीय मंत्रालय पत्रों नजरंदाज करके बार बार हमारे पत्रों को
सहायक परिवहन अधिकारी मिर्ज़ापुर को भेजा जा रहा है और वह बिना पढ़े ही उनकी ओर से
तोते की तरह रटा रटाया जवाब लगाया जा रहा है उससे तो यही सिद्ध होता है की आप
लोगो की मनसा इस भ्रस्टाचार के गंभीर प्रकरण को जो की काली कमाई का जरिया है
उपरी तौर पर ही निपटा देना चाहते है
| यदि आप
नियम की
बात करते है तो
सहायक परिवहन अधिकारी मिर्ज़ापुरका

कहना सही है की
इस मामले को वे
लोग समझे जिन्होंने इसकी गलत व्याख्या की है
वे क्यों इस पचड़े में पड़े | प्रार्थी ने खुद इस सम्बन्ध में सलाह दिया था
प्रकरण में विधि विभाग से परामर्श किया जाय यदि कुछ समझ में रहा हो तो
| किन्तु इतने बड़े आय के
स्रोत को
कोई क्यों बंद कर
दे | ऐसा प्रतीत हो रहा है की
इस प्रकरण जो की
गंभीर वित्तीय अनियमितता से
जुड़ा है
आप लोग संसदीय चुनाव तक खीचने की ताक में है
| मै नही चाहता हू की
सरकार की
किरकिरी हो
लेकिन कुछ लोग चाहते है तो
होने दीजिए | झूठ कितना ही
ताकतवर क्यों हो
उसे सच
के समक्ष परास्त होना ही पड़ता है | भगवान राम के राज्य में एक
कुत्ता न्याय के लिए आया | कुत्ते ने कहा मुझे इन ब्राह्मण भिखारी ने
पत्थर से
सिर पे
मारा भगवान ने पूछा आप ने
क्यों मारा भिखारी ने
जवाब दिया सुबह से
मै भूखा था कुछ मिला नही इसलिए क्रोध बस बीच रास्ते में कुत्ते को
देख कर
प्रहार कर
दिया | भगवान ने कुत्ते से
पूछा बताइए आप ही, क्यों की
आप के
अपराधी है
इनको क्या दंड दिया जाय तो
कुत्ते ने
कहा इनको कालिंजर मठ
का मठाधीश बना दिया जाय सब
आश्चर्यचकित रह
गये भिखारी खुश हो
गया किन्तु मठाधीश महोदय के जाने के बाद भगवान ने
कुत्ते से
पूछा आपने पत्थर मारने वाले को
इतना आलीशान जीवन क्यों दिया तो
कुत्ते ने
कहा मै
भी पूर्व जन्म इसी मठ का मठाधीश था जब मै ज्ञानी होते
हुए भी भोग विलाश में इतना लिप्त हुआ की मुझे कुत्ते की योनि मिली तो इन
ब्राह्मण महोदय जो की अजितेन्द्रिय है थोड़े से भूख को बर्दास्त नही कर सके पता
नही किस निकृष्ट योनि में जन्म होगा
| हम गरीबो को परेशान करके इतना धन इकट्ठा करके क्या करेंगे | धन कभी आत्मिक शांति नही दे
सकता |
फीडबैक की स्थिति:

आवेदन
का संलग्नक

अग्रसारित विवरण

क्र..
सन्दर्भ
का प्रकार
आदेश
देने वाले अधिकारी
आदेश
दिनांक
अधिकारी
को प्रेषित
आदेश
आख्या
दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या
रिपोर्ट
1
अंतरित
लोक शिकायत अनुभाग – 1(मुख्यमंत्री कार्यालय )
04 – Feb – 2019
जिलाधिकारीमिर्ज़ापुर,
कृपया
शीघ्र नियमानुसार कार्यवाही किये जाने की अपेक्षा की गई है।
23/02/2019
निस्तारित
2
आख्या
जिलाधिकारी ( )
05 – Feb – 2019
सहायक संभागीय परिवहन अधिकारीमिर्ज़ापुर,परिवहन विभाग
नियमनुसार
आवश्यक कार्यवाही करें
23/02/2019
भारत सरकार के
नोटिफिकेशन संख्या सा0का0नि0 1183() दिनांक 29-12-2016 द्वारा ड्राइविंग लाइसेंस नवीनीकरण हेतु देय शुल्क लाइसेंस नवीनीकरण हेतु विलम्ब से प्राप्त होने वाले प्रार्थना पत्रों पर निर्धारित शुल्क के
साथ देय विलम्ब शुल्क का संशोधन करते हुए पुन: निर्धारण किया गया है जिसके अनुरूप परिवहन विभाग द्वारा फीस एवं विलम्ब शुल्क जमा कराया जा रहा है। वर्तमान समय में ड्राइविंग लाइसेंस जारी करने एवं नवीनीकरण हेतु आन
लाइन फार्म भरने फीस जमा करने की व्यवस्था लागू है। उक्त नोटिफिकेशन द्वारा लागू दरों के
अनुरूप सारथी सिस्ट्म में मुख्यालय स्तर से एकीकृत बनायी गयी है जिसमें जनपद स्तर पर कोई संशोधन या
फेरबदल नही‍ किया जा
सकता है। ड्राइविंग लाइसेंस नवीनीकरण हेतु लाइसेंस समाप्ति के एक
माह पूर्व या पश्चात तक प्रार्थना पत्र प्रस्तुत करने पर
कोई विलम्ब शुल्क देय नही होता है। अत: डीएल नवीनीकरण शुल्क आनॅलाइन के माध्यम से जमा कर, वांछित तिथि (स्लाट बुकिंग करने के
पश्चात) को कार्यालय में उपस्थि‍त होकर बायोमैट्रिक करायें ताकि अग्रिम कार्यवाही की
जा सके। इस संबंध में शिकायतकर्ता द्वारा उठाई गयी आपत्तियां मान्य नही है
क्योंकि परिवहन विभाग द्वारा पारदर्शिता लाने के उद्देश्यय से इस पूरी प्रक्रिया
में मानवीय हस्तक्षेयप को पूरी तरह समाप्त कर दिया गया है।
निस्तारित

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
3 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Yogi
1 year ago

भगवान राम के राज्य में एक कुत्ता न्याय के लिए आया | कुत्ते ने कहा मुझे इन ब्राह्मण भिखारी ने पत्थर से सिर पे मारा भगवान ने पूछा आप ने क्यों मारा भिखारी ने जवाब दिया सुबह से मै भूखा था कुछ मिला नही इसलिए क्रोध बस बीच रास्ते में कुत्ते को देख कर प्रहार कर दिया | भगवान ने कुत्ते से पूछा बताइए आप ही, क्यों की आप के अपराधी है इनको क्या दंड दिया जाय तो कुत्ते ने कहा इनको कालिंजर मठ का मठाधीश बना दिया जाय सब आश्चर्यचकित रह गये भिखारी खुश हो गया किन्तु मठाधीश महोदय के जाने के बाद भगवान ने कुत्ते से पूछा आपने पत्थर मारने वाले को इतना आलीशान जीवन क्यों दिया तो कुत्ते ने कहा मै भी पूर्व जन्म इसी मठ का मठाधीश था जब मै ज्ञानी होते हुए भी भोग विलाश में इतना लिप्त हुआ की मुझे कुत्ते की योनि मिली तो इन ब्राह्मण महोदय जो की अजितेन्द्रिय है थोड़े से भूख को बर्दास्त नही कर सके पता नही किस निकृष्ट योनि में जन्म होगा | हम गरीबो को परेशान करके इतना धन इकट्ठा करके क्या करेंगे | धन कभी आत्मिक शांति नही दे सकता |

Arun Pratap Singh
1 year ago

फीडबैक की स्थिति: मंडलायुक्त द्वारा दिनाक 06/03/2019 को फीडबैक पर कार्यवाही अनुमोदित कर दी गयी है
आवेदन का संलग्नक
संलग्नक देखें
अग्रसारित विवरण-
क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी आदेश दिनांक अधिकारी को प्रेषित आदेश आख्या दिनांक आख्या स्थिति आख्या रिपोर्ट
1 अंतरित लोक शिकायत अनुभाग – 1(मुख्यमंत्री कार्यालय ) 04 – Feb – 2019 जिलाधिकारी-मिर्ज़ापुर, कृपया शीघ्र नियमानुसार कार्यवाही किये जाने की अपेक्षा की गई है। 23/02/2019 निस्तारित
2 आख्या जिलाधिकारी ( ) 05 – Feb – 2019 सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी-मिर्ज़ापुर,परिवहन विभाग नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें 23/02/2019 भारत सरकार के नोटिफिकेशन संख्या सा0का0नि0 1183(अ) दिनांक 29-12-2016 द्वारा ड्राइविंग लाइसेंस नवीनीकरण हेतु देय शुल्क लाइसेंस नवीनीकरण हेतु विलम्ब से प्राप्त होने वाले प्रार्थना पत्रों पर निर्धारित शुल्क के साथ देय विलम्ब शुल्क का संशोधन करते हुए पुन: निर्धारण किया गया है जिसके अनुरूप परिवहन विभाग द्वारा फीस एवं विलम्ब शुल्क जमा कराया जा रहा है। वर्तमान समय में ड्राइविंग लाइसेंस जारी करने एवं नवीनीकरण हेतु आन लाइन फार्म भरने व फीस जमा करने की व्यवस्था लागू है। उक्त नोटिफिकेशन द्वारा लागू दरों के अनुरूप सारथी सिस्ट्म में मुख्यालय स्तर से एकीकृत बनायी गयी है जिसमें जनपद स्तर पर कोई संशोधन या फेरबदल नही‍ किया जा सकता है। ड्राइविंग लाइसेंस नवीनीकरण हेतु लाइसेंस समाप्ति के एक माह पूर्व या पश्चात तक प्रार्थना पत्र प्रस्तुत करने पर कोई विलम्ब शुल्क देय नही होता है। अत: डीएल नवीनीकरण शुल्क आनॅलाइन के माध्यम से जमा कर, वांछित तिथि (स्लाट बुकिंग करने के पश्चात) को कार्यालय में उपस्थि‍त होकर बायोमैट्रिक करायें ताकि अग्रिम कार्यवाही की जा सके। इस संबंध में शिकायतकर्ता द्वारा उठाई गयी आपत्तियां मान्य नही है क्योंकि परिवहन विभाग द्वारा पारदर्शिता लाने के उद्देश्यय से इस पूरी प्रक्रिया में मानवीय हस्तक्षेयप को पूरी तरह समाप्त कर दिया गया है। निस्तारित

Mahesh Pratap Singh Yogi M. P. Singh

Undoubtedly there is rampant corruption in the Regional Transport Office district Mirzapur as everyone knows that no file moves from one table to the other without greasing the palm of the concerned public staff. Most important fact of the office is that throughout the working hour there is crowd of brokers and without the help of broker no one can manage its job to be done in this office which is reflection of the deep rooted corruption but everyone is adapting lackadaisical approach in order to curb this anarchy. Think about the gravity of situation that in this largest democracy in the world Lokpal is appointed after five years of procrastination by the Modi government. Which shows that first priority of our political masters is to loot the infrastructure of this country first then think about others.