How the Rs.2000 as fee for the renewal of Driving license at the place of Rs.200 is justified?

Grievance
Status for registration number : PMOPG/E/2019/0035602
Grievance Concerns To Name Of Complainant –Yogi
M P Singh
Date of Receipt –20/01/2019
Received By Ministry/Department –Prime
Ministers Office
Grievance Description
केन्द्रीय मंत्रालय के तीन पत्रों के बावजूद ट्रांसपोर्ट आयुक्त लखनऊ ने अभी तक प्रार्थी को सूचनाए क्यों नही उपलब्ध कराई ? क्या यही सुशासन है श्री मान जी प्रार्थी की शिकायत में आर.टी.. मिर्ज़ापुर की टिप्पणी कुछ इस प्रकार है इस संबंध में शिकायतकर्ता द्वारा
उठाई गयी आपत्तियां मान्य नही है क्योंकि परिवहन विभाग द्वारा पारदर्शिता लाने के
उद्देश्यय से इस पूरी प्रक्रिया में मानवीय हस्त‍क्षेप को पूरी तरह समाप्तह कर
दिया गया है। श्री मान जी प्रार्थी का कथन कुछ इस प्रकार है १
यदि हर कुछ जायज है तो आर.टी.. मिर्ज़ापुर दलालों से भरा क्यों है
ऐसा क्या उस बीराने में रखा है जो की कार्यालय तो ११ बजे खुलता है किन्तु लोगो की
भीड़ ८ बजे से होनी शुरू हो जाती है २
श्री मान
जी २०० रुपये के स्थान पर २००० की वसूली राजस्व बढाने के लिए नही की गई है बल्कि
दलाली और भ्रस्टाचार बढाने के लिए की गई है ३
श्री मान जी मानवीय हस्तक्षेप से जिम्मेदारी बढ़ती है किन्तु पारदर्शिता के
नाम पर सारथी सारथी चिल्लाना और उसके आड़ में भ्रस्टाचार करना कहा तक जायज है श्री
मान जी आर
.टी.. मिर्ज़ापुर का काम समस्त इनफार्मेशन
को सारथी वेबसाइट पर फीड करके आवेदन वेबसाइट के माध्यम से ही लेना नकी स्लॉट जारी
करना और चरण बद्ध तरीके से वसूली करना ४
यदि
विभाग में ईमानदारी है तो समस्त ड्राइविंग लाइसेंसों को निर्वाचन कार्ड की तरह
ऑनलाइन कर दे तथा उनकी वैलिडिटी वेबसाइट पर डिस्प्ले हो यहा तो हर इनफार्मेशन
रहस्मयी तरीके से आर
.टी.. मिर्ज़ापुर के कब्जे में है जिसके साथ जो चाहे वह छेड़ छाड़ करे कौन बोलने
वाला है ५
सरकार का बाहुबली आधार कार्ड भी
इसमें कोई रोल नही अदा कर रहा है क्यों की सरकार नही चाहती है की भर्स्ट इकॉनमी पर
रोक लगे ६
श्री मान जी बैकलॉग को टाइमली
बनाना सिर्फ स्लॉट में मामूली तिथि में फेर बदल करना पड़ता है किन्तु यह फेर बदल
दलाल करा सकता है या स्टाफ हमारे जैसे लोगो को तो नियम का पाठ पढ़ाया जाता जिसमे
खुद आर
.टी.. महोदय की जबान लडखडाती रहती है ७श्री मान जी १०० रुपये है
ड्राइविंग लाइसेंस का लेट पेमेंट फीस लेकिन २००० रुपये की वसूली किस तरह जायज है
श्री मान जी यदि कोई ऑनलाइन ड्राइविंग लाइसेन्स के लिए आवेदन कर ही नही सकता केवल
कुछ साइबर कैफे जिनको विभाग का बरद हस्त प्राप्त है वही ऑनलाइन आवेदन कर सकते है
तो इससे बड़ा भ्रस्टाचार क्या हो सकता है इससे तो विभाग की क्रेडिबिलिटी ही ख़त्म हो
गयी तो ट्रांसपरेंसी कैसी यह तो ठीक उसी प्रकार है जैसे गरल भरा मुख अमृत टपकाने
की बात करे ८
आर.टी.. मिर्ज़ापुर में पग पग पर पैसा मागा जाता है और शिकायत करने पर कोई
कार्यवाही नही होती
9-It is submitted before the Hon’ble Sir that how can it be
justified that the error made by the staffs of the R.T.O. Mirzapur causing
mental trauma for 20 years now instead of correcting it R.T.O. Mirzapur is
seeking additional Rs.200 for correction and if I opt for a change of address,
then more Rs.200 will be additionally charged which is genuine in his eyes.
Since the website is showing internal server error if I am making efforts to
pay the fee which means I will have to pay Rs. 100 to computer operator of the
department. 10-It is submitted before the Hon’ble Sir that whether Rs.2000 being
charged by the Yogi Aditya Nath Government at the place of Rs. 200 for the
renewal of Driving license of two-wheelers is justified when already suffered a
loss of Rs.350 in sending application offline for renewal of the driving
license which was arbitrarily rejected by the R.T.O. Mirzapur.
Grievance Document
Current Status
Case
closed
Date of Action
23/02/2019
Remarks
अनुमोदित,अनुमोदित,अनुमोदित,भारत सरकार के नोटिफिकेशन संख्या सा0का0नि0 1183() दिनांक 29-12-2016
द्वारा ड्राइविंग लाइसेंस नवीनीकरण हेतु देय शुल्क लाइसेंस नवीनीकरण हेतु विलम्ब से प्राप्त होने वाले
प्रार्थना पत्रों पर निर्धारित शुल्क के साथ देय विलम्ब शुल्क का संशोधन करते हुए पुन: निर्धारण किया
गया है जिसके अनुरूप परिवहन विभाग द्वारा फीस एवं विलम्ब शुल्क जमा कराया जा रहा है। वर्तमान समय में ड्राइविंग लाइसेंस जारी करने
एवं नवीनीकरण हेतु आन लाइन फार्म भरने
फीस जमा करने की व्यवस्था लागू है। उक्त नोटिफिकेशन द्वारा लागू दरों
के अनुरूप सारथी सिस्ट्म में मुख्यालय स्तर से एकीकृत बनायी गयी है जिसमें जनपद
स्तर पर कोई संशोधन या फेरबदल नही‍ किया
जा सकता
है। ड्राइविंग लाइसेंस नवीनीकरण हेतु लाइसेंस समाप्ति के एक माह पूर्व या पश्चात तक प्रार्थना पत्र प्रस्तुत करने पर कोई विलम्ब शुल्क देय नही होता है। अत: डीएल नवीनीकरण शुल्क आनॅलाइन के माध्यम से जमा कर, वांछित तिथि
(स्लाट बुकिंग करने
के पश्चात) को कार्यालय में उपस्थि‍त होकर बायोमैट्रिक करायें ताकि
अग्रिम कार्यवाही की जा सके। इस संबंध में शिकायतकर्ता द्वारा उठाई गयी आपत्तियां मान्य नही है
क्योंकि परिवहन विभाग द्वारा पारदर्शिता लाने के उद्देश्यय से इस पूरी प्रक्रिया
में मानवीय हस्तक्षेयप को पूरी तरह समाप्त कर दिया गया है।

& #x0D;
Rating
Rating Remarks
The
response of the RTO Mirzapur is not consistent with the submissions of the
submitted grievance so it is not acceptable to the applicant. It can be
accepted only by the corrupt public functionaries. Here this question arises
that why transport commissioner Lucknow did not provide the sought information
to the applicant under the right to Information Act 2005 which was the
obligatory duty of the transport commissioner. Central transport ministry sent
three letters under subsection 3 of section 6 of Right to Information Act 2005
but transport commissioner did not think it appropriate to provide information
to the applicant. Every one knows that RTO Mirzapur extorts one crore per day
from overloaded trucks so there is rampant corruption in the office and they
have blessing of senior rank staffs. Why the applicant may accept the corrupt
and illegal demand of the RTO Mirzapur. My job is to struggle against the
rampant corruption in  the various
department of the government. This is an absurd reply so not accep
Officer Concerns To
Officer Name –Shri Kalyan Banerji
Officer Designation –Under Secretary
Contact Address –Chief Minister Secretariat
U.P. Secretariat, Lucknow
Email Address Contact Number –05222215127
 

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
3 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Yogi
1 year ago

Every one knows that RTO Mirzapur extorts one crore per day from overloaded trucks so there is rampant corruption in the office and they have blessing of senior rank staffs. Why the applicant may accept the corrupt and illegal demand of the RTO Mirzapur. My job is to struggle against the rampant corruption prevailed in the various department of the government.

Preeti Singh
1 year ago

झूठ कितना ही ताकतवर क्यों न हो उसे सच के समक्ष परास्त होना ही पड़ता है | भगवान राम के राज्य में एक कुत्ता न्याय के लिए आया | कुत्ते ने कहा मुझे इन ब्राह्मण भिखारी ने पत्थर से सिर पे मारा भगवान ने पूछा आप ने क्यों मारा भिखारी ने जवाब दिया सुबह से मै भूखा था कुछ मिला नही इसलिए क्रोध बस बीच रास्ते में कुत्ते को देख कर प्रहार कर दिया | भगवान ने कुत्ते से पूछा बताइए आप ही, क्यों की आप के अपराधी है इनको क्या दंड दिया जाय तो कुत्ते ने कहा इनको कालिंजर मठ का मठाधीश बना दिया जाय सब आश्चर्यचकित रह गये भिखारी खुश हो गया किन्तु मठाधीश महोदय के जाने के बाद भगवान ने कुत्ते से पूछा आपने पत्थर मारने वाले को इतना आलीशान जीवन क्यों दिया तो कुत्ते ने कहा मै भी पूर्व जन्म इसी मठ का मठाधीश था जब मै ज्ञानी होते हुए भी भोग विलाश में इतना लिप्त हुआ की मुझे कुत्ते की योनि मिली तो इन ब्राह्मण महोदय जो की अजितेन्द्रिय है थोड़े से भूख को बर्दास्त नही कर सके पता नही किस निकृष्ट योनि में जन्म होगा | हम गरीबो को परेशान करके इतना धन इकट्ठा करके क्या करेंगे | धन कभी आत्मिक शांति नही दे सकता |

Mahesh Pratap Singh Yogi M. P. Singh

Undoubtedly our public functionaries have been habitual of Comforts and luxurious life that is why they have been totally corrupt in their public life they are always indulged in amassing huge wealth separate from their salary through back door income. How can be made available justice to the weaker and downtrodden section which is feasible only if there may be transparent and accountable government machinery. Whether this anarchy can we instrumental in the again victory of Mr Narendra Modi in the forthcoming parliamentary elections. why are the concerned accountable public functionaries overlooking the wrongdoings of the corrupt public functionaries.