How much poor conditions are being faced by widows in this largest democracy in the world ?

श्री मान जी २० बीघे जमीन का मालिकाना हक रखने वाला सामान्य पुरुष वृद्धा पेंशन ले रहा है किन्तु एक विधवा को पेंशन देने में प्रदेश सरकार को पसीने क्यों छूट रहे है |

Inbox
x

Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh yogimpsingh@gmail.com

14:13 (0 minutes ago)

to pmosbpresidentofind.supremecourturgent-actioncmuphgovup,
uphrclkocsuplokayukta
Subject-रिग्जियानसैम्फिल(विशेष सचिवमुख्यमंत्रीकार्यालय 
date- 02 – Jun – 2017 का आदेश नियमानुसार 
कार्यवाही का ही था और यदि नियमानुसार कार्यवाही इन ६ 
महीनो में नहीं हुई तो कब होगी | इस समय पत्रों के  
आदान प्रदान करने में ११ महीने गुजर चुके है तीन  वर्ष 
से ज्यादा समय बीत गया पति के गुजरे हुए | प्रोबेशनरी 
अधिकारी महोदय ५० हजार से ज्यादा तनख्वाह सरकारी 
खजाने से लेते है और ऊपरी सुबिधाए अलग से इसलिए 
उन्हें परेशानी तो महसूस नहीं होती | यदि मिर्ज़ापुर के 
समस्त बृद्धा व विधवा पेंशन की जांच हो तो अभी इन 
ईमानदारों की नीद  उड़ जाएगी | 
Most revered Sir –Your applicant invites
 the kind attention of Hon’ble Sir with 
due respect to following submissions as 
follows.1-It is submitted before the 
Hon’ble Sir that you Hon’ble Sir may take 
a glance at the following grievance 
submitted on August jansunwai portal of 
government of Uttar Pradesh.  आवेदन का 
विवरण
शिकायत संख्या 40019917005976आवेदक कर्ता का नाम:
 Yogi M P Singhआवेदक कर्ता का मोबाइल न०: 
7379105911,7379105911
 विषय: In regard to procrastination by a 
probationary officer since two years in 
providing widow pension to Ekta Singh Who 
is responsible for such deplorable 
condition of widows in India Subject-After
 numerous communications were exchanged 
since eight months, then special secretary
 chief minister office tried to resolve 
the matter by directing DM Mirzapur but 
still, the Probationary officer 
district-Mirzapur is not satisfied with 
their cunning tricks and more tricks are 
coming out of his walletWhat is the cause 
of such tricks will be exposed if thorough
 enquiry may be ordered in the matter  
With great respect to revered Sir, your 
applicant invites the kind attention of 
the Hon’ble Sir to the following 
submissions as follows 1-It is submitted 
before the Hon’ble Sir that  रिग्जियानसैम्फिल
(विशेष सचिवमुख्यमंत्रीकार्यालय date- 02 – Jun – 2017 
जिलाधिकारी-मिर्ज़ापुर, कृपयानियमानुसारकार्यवाही कीअपेक्षा कीगयी है।  
2-It is submitted before the Hon’ble Sir 
that aforementioned submitted grievance 
was disposed on the ground of following 
report of BDO patehra kalan as-   
खंड विकास अधिकारी खाते में पैसा पहुचने की बात कर 
रहे है और और समस्त औपचारिकता पूरी होने की बात 
कर रहे है जब की प्रोबेशनरी ऑफिसर खंड विकास 
अधिकारी के जांच कराने और औपचारिकताये पूरी 
करने की बात कही जा रही है | कितनी रहस्यमयी 
कार्यशैली है प्रोबेशनरी ऑफिसर की ,वह तो सहायता खाते 
में पहुचाने के लिए बेचैन है किन्तु खंड विकास अधिकारी 
पटेहरा कलां ही अपने स्तर से कार्यवाही पूरी नही कर रहे 
है और इसके लिए उन्होंने पत्र भी लिख डाला | धन्यवाद 
भगवान् ही मालिक इस देश के |                                     
This is a humble request of your applicant to you, 
Honble Sir that It can never be justified 
to overlook  the rights of citizenry by 
delivering services in an arbitrary manner
 by floating all set up norms This is sheer
 mismanagement which is
 encouraging wrongdoers to reap benefit of
 loopholes in the system and depriving the
 poor citizens from the right to justice 
Therefore it is need of the hour to take 
concrete steps in order to curb the grown 
anarchy in the system For this, your 
applicant shall ever pray you Honble Sir                                           Yours  sincerely                             
Yogi M P Singh Mobile number-7379105911 Mohalla-
Surekapuram, Jabalpur Road, District-
Mirzapur, Uttar Pradesh, India
नियत तिथि: 09 – Nov – 2017
शिकायत की स्थिति: निस्तारित
रिमाइंडर : प्राप्त अनुस्मारक –
क्र.स. अनुस्मारक प्राप्त दिनांक
1 In regard to procrastination by 
probationary officer since two years in 
providing widow pension to Ekta Singh Who 
is responsible for such deplorable 
condition of widows in India श्री मान जी ग्राम 
-पटेवर, ग्राम पंचायत -पटेवर, विकास खंड -पटेहरा कलां 
मड़ीहान जिला -मिर्ज़ापुर में कुल -४१ विधवाओं को सरकार
 द्वारा विधवा पेंशन दी जा रही है और उनमे चार सामान्य
 है अर्थात १० प्रतिशत से भी कम | विधवा होना न होना 
मनुष्य के हाथ में नही होता है वह ईश्वर के हाथ में होता 
है और इश्वर जब भेदभाव नही करते तो हमारे नौकरशाह 
क्यों भेद भाव करते है सरकारी सहायता उपलब्ध कराने में 
| With great respect to revered Sir, your
 applicant invites the kind the attention
 of the Hon’ble Sir to the following 
submissions as follows 1-It is submitted 
before the Hon’ble Sir that please be 
informed that this is 25 th application 
in order to seek widow pension for the 
aggrieved lady as the concerned 
probationary officer is procrastinating 
in the matter since the month of February 
when first enquiry communication was made 
to the probationary officer through the 
government 2-It is submitted before the 
Hon’ble Sir that government order 
concerned with the wall painting of 
public welfare schemes and beneficiaries 
is attached with this representation so 
you are requested to take a perusal in the
 public interest In regard to wall 
painting on the walls of panchayat Bhawan,
 in accordance with the direction of 
government as issued through its GO 
शासनादेश संख्या -722016261133-3-2016-142016 
दिनांक-07-अक्टूबर -2016 पंचायतीराज अनुभाग -3 
जो की समस्त मंडलायुक्त उत्तर प्रदेश व समस्तजिलाधिकारी
 उत्तर प्रदेश शासन को संबोधित है | उद्देश्य –ग्रामीण क्षेत्रो
 में निर्मित पंचायत भवनों परविकास परकयोजनाओं के 
कार्यकलापो को वाल पेंटिंग के माध्यम से प्रदर्शित किए 
जाने के सम्बन्ध में| सरकार द्वारा बाटे जाने वाले विधवा 
पेंशन में कितनी इमानदारी है इसी बात से स्पष्ट हो जाय 
यदि उपरोक्त शासनादेश का पालन करते हुए समस्त 
विधवाओं के नाम ग्राम पंचायत भवन या प्राथमिक 
विद्यालय भवन पर चस्पा कर दिए जाय | ७० वर्ष की 
वृद्धा को आप विधवा पेंशन दे रहे है जब की मिलना चाहिए
 वृद्धा पेंशन | आजम गढ़ में घोटाला हुआ क्या यहां नही 
हुआ है अरे इमानदारी से जांच तो हो सब दूध का दूध और
 पानी हो जाएगा | 3-It is submitted before 
the Hon’ble Sir that 51A Fundamental 
duties It shall be the duty of every 
citizen of India (a) to abide by the 
Constitution and respect its ideals and 
institutions, the National Flag and the 
National Anthem;(h) to develop the 
scientific temper, humanism and the 
spirit of inquiry and reform; (i) to 
safeguard public property and to abjure 
violence; (j) to strive towards excellence
 in all spheres of individual and 
collective activity so that the nation 
constantly rises to higher levels of 
endeavour and achievement This is a 
humble request of your applicant to you
 Honble Sir that It can never be 
justified to overlook the rights of the 
citizenry by delivering services in an 
arbitrary manner by floating all set up 
norms This is sheer mismanagement which 
is encouraging wrongdoers to reap the 
benefit of loopholes in the system and 
depriving poor citizens of the right to 
justice Therefore it is need of the hour
 to take concrete steps in order to curb 
grown anarchy in the system For this, 
your applicant shall ever pray you, 
Honble Sir Yours sincerely Yogi M P Singh 
Mobile number-7379105911 Mohalla-
Surekapuram, Jabalpur Road District-
Mirzapur, Uttar Pradesh, India 13 Nov 2017
फीडबैक :
फीडबैक की स्थिति:
आवेदन का संलग्नक
संलग्नक देखें
अग्रसारित विवरण-
क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी 
आदेश दिनांक अधिकारी को प्रेषित आदेश आख्या 
दिनांक आख्या नियत दिनांक स्थिति आख्या रिपोर्ट
1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 25 – Oct – 2017 
जिलाधिकारी-मिर्ज़ापुर, — 15 – Nov – 2017 आख्या 
अपलोड है निस्तारित

2 आख्या जिलाधिकारी ( ) 25 – Oct – 2017 जिला 
प्रोबेशन अधिकारी-मिर्ज़ापुर,महिला कल्याण विभाग 
नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें आख्या अपलोड है 
15 – Nov – 2017 पत्र संलग्न निस्तारित
http://jansunwai.up.nic.in/TrackGraviancePopup.aspx?complainno=40019917005976&Emaild=yogimpsingh@gmail.com&IsOldNew=N&Type=2
2-It is submitted before the 
Hon’ble Sir that you Hon’ble Sir may 
take a glance at the following report 
of probationary officer 
Mirzapur as follows
  

This is a humble request of your

 applicant to you Hon’ble Sir that how 
can it be justified to withhold public 
services arbitrarily and promote anarchy, 
lawlessness, and chaos in an arbitrary 
a manner by making the mockery of the law of 
land? This is need of the hour to take 
harsh steps against the wrongdoer in order
 to win the confidence of citizenry and 
strengthen the democratic values for 
healthy and prosperous democracy. For
 this, your applicant shall ever pray
 you, Hon’ble Sir.                                                          
                           Yours sincerely
                         Yogi M. P. Singh,
 Mobile number-7379105911, Mohalla- 
Surekapuram, Jabalpur Road, 
District-Mirzapur, Uttar Pradesh, Pin 
code-231001.

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
2 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh

रिग्जियानसैम्फिल(विशेष सचिवमुख्यमंत्रीकार्यालय
date- 02 – Jun – 2017 का आदेश नियमानुसार
कार्यवाही का ही था और यदि नियमानुसार कार्यवाही इन ६
महीनो में नहीं हुई तो कब होगी | इस समय पत्रों के
आदान प्रदान करने में ११ महीने गुजर चुके है तीन वर्ष
से ज्यादा समय बीत गया पति के गुजरे हुए | प्रोबेशनरी
अधिकारी महोदय ५० हजार से ज्यादा तनख्वाह सरकारी
खजाने से लेते है और ऊपरी सुबिधाए अलग से इसलिए
उन्हें परेशानी तो महसूस नहीं होती | यदि मिर्ज़ापुर के
समस्त बृद्धा व विधवा पेंशन की जांच हो तो अभी इन
ईमानदारों की नीद उड़ जाएगी |

Arun Pratap Singh
3 years ago

Hon’ble Sir that government order concerned with the wall painting of public welfare schemes and beneficiaries is attached with this representation so you are requested to take a perusal in the public interest In regard to wall painting on the walls of panchayat Bhawan, in accordance with the direction of government as issued through its GO शासनादेश संख्या -722016261133-3-2016-142016 दिनांक-07-अक्टूबर -2016 पंचायतीराज अनुभाग -3 जो की समस्त मंडलायुक्त उत्तर प्रदेश व समस्तजिलाधिकारी उत्तर प्रदेश शासन को संबोधित है | उद्देश्य –ग्रामीण क्षेत्रो में निर्मित पंचायत भवनों परविकास परकयोजनाओं के कार्यकलापो को वाल पेंटिंग के माध्यम से प्रदर्शित किए जाने के सम्बन्ध में| सरकार द्वारा बाटे जाने वाले विधवा पेंशन में कितनी इमानदारी है इसी बात से स्पष्ट हो जाय यदि उपरोक्त शासनादेश का पालन करते हुए समस्त विधवाओं के नाम ग्राम पंचायत भवन या प्राथमिक विद्यालय भवन पर चस्पा कर दिए जाय | ७० वर्ष की वृद्धा को आप विधवा पेंशन दे रहे है जब की मिलना चाहिए वृद्धा पेंशन | आजम गढ़ में घोटाला हुआ क्या यहां नही हुआ है अरे इमानदारी से जांच तो हो सब दूध का दूध और पानी हो जाएगा |