How justice is available to weaker section in this largest populous state in this largest democracy?

आवेदन
का विवरण
शिकायत
संख्या
40019918036814
आवेदक कर्ता का
नाम:
हरिश्चंद
पासी
आवेदक कर्ता का
मोबाइल न०:
7054703028,7054703028
विषय:
श्री मान जी
संसार के
सब से
बड़े लोकतंत्र में गरीबो मजलूमों को कोई न्याय नही मिलता है
ऐसा क्यों | यदि न्याय संभव है तो
मामले की
उच्च स्तरीय टीम से
जांच कराई जाय और
जिम्मेदारी तय
हो | श्री मान जी मंडलायुक्त द्वारा दिनाक 20/11/2018
को प्राप्त आख्या अनुमोदित कर दी
गयी है
जो की
खुद ही
बिधि सम्मत नही है
श्री मान जी ग्राम सभा का
प्रस्ताव ग्राम सभा की
खुली बैठक में पास होता है
| श्री मान जी
दिनांक १६/०८/२०१८ का नोट जिसको आधार बना कर
शिकायत का
निस्तारण कराया गया है
वह फर्जी है | उसका कोई बैधानिक आधार नही है
| उसके सहारे तहसीलदार सदर सिर्फ वरिष्ठ अधिकारियों को गुमराह भ्रमित कर रहे है | यह महज जालसाजी के
सिवा कुछ भी नही है | क्या संलग्न नोट पर
ग्राम पंचायत सदस्यों का
हस्ताक्षर है
और क्या प्रधान का
हस्ताक्षर फर्जी नही है
? श्री मान जी
सभी जानते है की
उपरोक्त तिथि को ग्राम पंचायत की
कोई खुली बैठक हुई ही नही तो प्रस्ताव किसने बना दिया | श्री मान जी यदि ऐसा कोई प्रस्ताव होता तो अब
तक मिटटी फेक कर
खडंजा बिछ चुका होता | श्री मान जी
इस समय वर्षात नही है और
कडाके की
ठंढ है
फिर काम क्यों नही लगवा देते है | श्री मान जी जब
ग्राम प्रधान ने ऐसा कोई प्रस्ताव पास नही किया है
वो क्यों २५ फीट खडंजा रोड तैयार करेंगे | सेवा मेंराष्ट्रपति, प्रधान मंत्री, मुख्य मंत्री उत्तर प्रदेश , प्रधान न्यायाधीश भारत, अध्यक्ष राज्य मानवाधिकार आयोग उत्तर प्रदेश जिलाधिकारी मिर्ज़ापुर, पुलिस कप्तान मिर्ज़ापुर विषयदर्जनों पत्रों के
बाद भी
तहसीलदार सदर ने मनगढ़ंत और झूठा जवाब लगा कर सिर्फ वरिष्ठ अधिकारिओं को गुमराह किया है
| महोदय, श्री मान जी प्रार्थी दलित वर्ग से है
चारो तरफ से दबंगों ने दबा रखा है
| सोचिये रास्ता तक
कब्ज़ा कर
लिए है
| सरकारी तालाब को
पाट लिए है और
तहसीलदार सदर को कुछ भी नही दिखाई पड़ता है | घर के चारो तरफ पानी लगा है बड़े तो किसी तरह निकल पाते है
किन्तु बच्चे विद्यालय तक
नही जा
रहे है
|पिछले १८ महीने से प्रार्थी संघर्ष कर
रहा है
न्याय पाने हेतु लेकिन हर कोई इस गरीब का सुन नही रहा है ऐसा प्रतीत होता है आज
भी हम
गुलाम है
इस अभिजात्य वर्ग के
शासन में |मै किसी जात पात की
बात नही कर रहा हू सिर्फ गरीब की
बात कर
रहा हू
जिसे सिर्फ प्रताणित किया जाता है
और कभी न्याय नही मिलता है
| माननीय उच्चतम न्यायालय से जो
पारिस्थितिकी बात करता है
हमे बताये की आदम पुर का
तालाब क्यों तहसीलदार सदर ने कब्ज़ा करा दीया है| श्री मान जी
आप लोग अपने एयर कंडिशन्ड कमरे से कभी बाहर भी
निकलेगे या
वही से
हम गरीबो के प्रताड़ना का तमाशा देखते रहेगे | क्या गुलामी में इससे भी
ज्यादा कष्ट था | मेरी उम्र ७० साल है गुलामी तो देखी नही किन्तु ऐसा प्रतीत होता है
गुलामी की
प्रताड़ना इससे ज्यादा बीभत्स नही होगा |
नियत तिथि:
20 – Jan – 2019
शिकायत की स्थिति:
लम्बित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
फीडबैक की स्थिति:
आवेदन
का संलग्नक
अग्रसारित विवरण
क्र..
सन्दर्भ
का प्रकार
आदेश
देने वाले अधिकारी
आदेश
दिनांक
अधिकारी
को प्रेषित
आदेश
आख्या
दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या
रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन
सन्दर्भ
21 – Dec – 2018
तहसीलदार सदर,जनपदमिर्ज़ापुर,राजस्व एवं आपदा विभाग
अनमार्क

Gmail Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com>
श्री मान जी संसार के सब से बड़े लोकतंत्र में गरीबो व मजलूमों को कोई न्याय नही मिलता है ऐसा क्यों | यदि न्याय संभव है तो मामले की उच्च स्तरीय टीम से जांच कराई जाय और जिम्मेदारी तय हो |
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com> 5 December 2018 at 12:55
To: pmosb <pmosb@pmo.nic.in>, presidentofindia@rb.nic.in, supremecourt <supremecourt@nic.in>, urgent-action <urgent-action@ohchr.org>, hgovup@up.nic.in, cmup <cmup@up.nic.in>, csup@up.nic.in, uphrclko <uphrclko@yahoo.co.in>, lokayukta@hotmail.com
श्री मान जी मंडलायुक्त द्वारा दिनाक 20/11/2018 को प्राप्त आख्या अनुमोदित कर दी गयी है जो की खुद ही बिधि सम्मत नही है श्री मान जी ग्राम सभा का प्रस्ताव ग्राम सभा की खुली बैठक में पास होता है | श्री मान जी दिनांक १६/०८/२०१८ का नोट जिसको आधार बना कर शिकायत का निस्तारण कराया गया है वह फर्जी है | उसका कोई बैधानिक आधार नही है | उसके सहारे तहसीलदार सदर सिर्फ वरिष्ठ अधिकारियों को गुमराह व भ्रमित कर रहे है | यह महज जालसाजी के सिवा कुछ भी नही है | क्या संलग्न नोट पर ग्राम पंचायत सदस्यों का हस्ताक्षर है और क्या प्रधान का हस्ताक्षर फर्जी नही है ? श्री मान जी सभी जानते है की उपरोक्त तिथि को ग्राम पंचायत की कोई खुली बैठक हुई ही नही तो प्रस्ताव किसने बना दिया | श्री मान जी यदि ऐसा कोई प्रस्ताव होता तो अब तक मिटटी फेक कर खडंजा बिछ चुका होता | श्री मान जी इस समय वर्षात नही है और कडाके की ठंढ है फिर काम क्यों नही लगवा देते है | श्री मान जी जब ग्राम प्रधान ने ऐसा कोई प्रस्ताव पास नही किया है वो क्यों २५ फीट खडंजा रोड तैयार करेंगे |
सेवा में

                                      राष्ट्रपति, प्रधान मंत्री, मुख्य मंत्री उत्तर प्रदेश , प्रधान न्यायाधीश भारत,

                                                                  अध्यक्ष राज्य मानवाधिकार आयोग उत्तर प्रदेश

                                            जिलाधिकारी मिर्ज़ापुर,  पुलिस कप्तान मिर्ज़ापुर 

विषय-दर्जनों पत्रों के बाद भी तहसीलदार सदर ने मनगढ़ंत और झूठा जवाब लगा कर सिर्फ वरिष्ठ अधिकारिओं को गुमराह किया है |

महोदय,

श्री मान जी प्रार्थी दलित वर्ग से है चारो तरफ से दबंगों ने दबा रखा है | सोचिये रास्ता तक कब्ज़ा कर लिए है | सरकारी तालाब को  पाट लिए है और तहसीलदार सदर को कुछ भी नही दिखाई पड़ता है | घर के चारो तरफ पानी लगा है बड़े तो किसी तरह निकल पाते है किन्तु बच्चे विद्यालय तक नही जा रहे है |पिछले १८ महीने से प्रार्थी संघर्ष कर रहा है न्याय पाने हेतु लेकिन हर कोई इस गरीब का सुन नही रहा है ऐसा प्रतीत होता है आज भी हम गुलाम है इस अभिजात्य वर्ग के शासन में |मै किसी जात पात की बात नही कर रहा हू सिर्फ गरीब की बात कर रहा हू जिसे सिर्फ प्रताणित किया जाता है और कभी न्याय नही मिलता है | माननीय  उच्चतम न्यायालय से जो पारिस्थितिकी बात करता है हमे बताये की आदम पुर का तालाब क्यों तहसीलदार सदर ने कब्ज़ा करा दीया है| श्री मान जी आप लोग अपने एयर कंडिशन्ड कमरे से कभी बाहर भी निकलेगे या वही से हम गरीबो के प्रताड़ना का तमाशा देखते रहेगे | क्या गुलामी में इससे भी ज्यादा कष्ट था | मेरी उम्र ७० साल है गुलामी तो देखी नही किन्तु ऐसा प्रतीत होता है गुलामी की प्रताड़ना इससे ज्यादा बीभत्स नही होगा |

                    श्री मान जी क्या इस देश में सम्बिधानिक व्यवस्था ख़त्म हो चुकी है |

श्री मान जी मामला तालाब के पूर्वी भाग का है और सदर तहसील का लेखपाल उसे पश्चिमी भाग का बता कर हल कर देता है |जिससे स्पस्ट है की उन दर्जनों पत्रों को नतो पढ़ा गया और नही मुख्य सचिव के पत्र को ही गंभीरता से लिया गया जो की आराजकता को इंगित करता है |

            श्री मान जी मामले की जांच कराए और संदिग्ध लोक प्रधिकारिओं के विरुद्ध कार्यवाही की जाय | जिससे प्रार्थी को न्याय मिले |

  तारीख-०५-१२ -२०१८                              प्रार्थी

                                   हरिश्चंद पासी पुत्र श्री छेदी लाल पासी ग्राम –आदमपुर पोस्ट –नीबी गहरवार जिला –मिर्ज़ापुर पिन कोड -२३१३०३ मोबाइल नंबर-७०५४७०३०२८ .

फीडबैक की स्थिति:

मंडलायुक्त द्वारा दिनाक 20/11/2018 को प्राप्त आख्या अनुमोदित कर दी गयी है

आवेदन का विवरण

शिकायत संख्या

40019918028155

आवेदक कर्ता का नाम:-हरिश्चंद पासी

आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:7054703028,7054703028

विषय:श्री मान जी जनसुनवाई पोर्टल तीन दिन तक शिकायत नही लेगा | इसलिए इस प्रत्यावेदन पर ही कार्यवाही करे | सेवा में श्री मान आयुक्त महोदय विन्ध्याचल मंडल , मिर्ज़ापुर विषय-दिनांक 28092018को फीडबैक प्रस्तुत किया गया किन्तु उसका संज्ञान नही लिया आयुक महोदय द्वारा | शिकायत डिटेल -डिटेल में प्रस्तुत है | श्री मान जी तहसीलदार सदर का कहना है की प्रार्थी प्रार्थना पत्र देने का आदी बन चुका है | श्री मान जी क्या तहसीलदार महोदय झूठे रिपोर्ट लगाने के आदी नही हो गये है | श्री मान जी बहुत अफसोस है की तहसील दार महोदय किस प्रकार अर्ध न्यायिक कार्यो का संपादन करते होंगे | श्री मान जी तहसीलदार महोदय कभी तथ्यों पर जाते ही नही | श्री मान जी आप क्यों नही पूछते की सरकारी तालाब का रकवा क्या है | इस समय कितना हिस्सा अतिक्रमित हो चुका है और कितना मौके पर शेष है |किस खडयंत्र के तहत प्रार्थी के ऊपर तालाब कब्ज़ा करने का आरोप लगाया गया | क्या प्रार्थी के सम्मान को कलंकित करने का प्रयास नही किया गया तहसीलदार सदर द्वारा |श्री मान जी ऐसा करने पर तहसील दार महोदय के ऊपर एस सी एसटी एक्ट के अंतर्गत कार्यवाही क्यों नही की गयी और मेरे लगाए प्रमाणों को अनसुना क्यों किया जा रहा है | श्री मान जी क्या दलितों का कोई संरक्षण इस सरकार में नही है | तहसीलदार कार्यालय में बैठ कर झूठे रिपोर्ट लगा रहे है जो प्रार्थना पत्रों के विषय वस्तु से कोसो दूर है और बहुत आश्चर्य है मंडल के जिम्मेदार अधिकारी उसे स्वीकार कर रहे है | यह रहस्य प्रार्थी के समझ से परे है |श्री मान जी लोक कार्यों का संपादन जिस प्रकार संपादन करने वाले ब्यक्ति को संरक्षित करता है उसी प्रकार उस ब्यक्ति से अनुशासन की अपेक्षा की जाती है | श्री मान जी क्या यह रिपोर्ट जो तथ्यों से परे है झूठे है अनुशासनहीनता को परिलक्षित नही करते और आश्चर्यजनक यह है की जिम्मेदार वरिष्ठ अधिकारी इस अनुशासन हीनता को अनदेखी करते रहते है | श्री मान आयुक्त महोदय आप की चुप्पी और फीडबैक पर कोई कोई कार्यवाही न करना प्रार्थी के लिए चिंताजनक तो है ही किन्तु लोकतंत्र के लिए भयंकर खतरा है | श्री मान जी नियमानुसार कार्यवाही करे जिससे नियम तोड़ने वालो को कठोर सजा मिले |समाज को नजीर मिले | जिसके लिए प्रार्थी सदैव श्री मान जी का आभारी रहेगा | दिनांक -०५-१०-२०१८ आप का आज्ञाकारी प्रार्थी हरिश्चंद पासी पुत्र श्री छेदी लाल पासी ग्राम –आदमपुर पोस्ट –नीबी गहरवार जिला –मिर्ज़ापुर पिन कोड -२३१३०३ मोबाइल नंबर-७०५४७०३०२८

नियत तिथि:-23 – Oct – 2018, शिकायत की स्थिति:-निस्तारित

रिमाइंडर : प्राप्त अनुस्मारक -क्र.स., अनुस्मारक

प्राप्त दिनांक
समस्या का निराकरण और वह भीं सम्यक समय सीमा के भीतर निस्संदेह तंत्र के सम्बेदंशीलता को दर्शाता है |किन्तु यहा तो गोलमटोल जवाब दे कर असहाय और बेबस जनता का सिर्फ शोषण किया जाता है | श्री मान जी क्या फीडबैक के उपरांत जब शिकायत पुनर्जीवित किया जाता है तो कोई समय सीमा तय नही किया जाता है अन्यथा अब तक उनका रिपोर्ट आ जाना चाहिए था नियमानुसार |श्री मान जी हर संबैधानिक संस्था अपने कर्मचारी की जिम्मेदारी तय करती है और जिम्मेदारी तय होने के उपरांत उसके निर्वहन न होने पर दंड आरोपित किया जाता है जिससे जिम्मेदारी का तय मानको के अनुसार निर्वहन हो किन्तु यहां तो जैसे जिम्मेदारी सब्द ही अर्थहीन हो कर रह गई है |प्रार्थी गरीब और दलित वर्ग का है और श्री मान जी क्या दलित होना अभिशाप है यदि नही तो न्याय क्यों नही उपलब्ध है हम लोगी इतने बड़े लोकतंत्र में | क्यों हमारे अधिकारों को रौदा जा रहा है इस दुनिया के सब से बड़े लोकतंत्र में | ऐसा लगता है जैसे हमारे कोई नागरिक अधिकार ही नही है | बीसों वर्षो से अपने गृह जनपद डटे हुए है लोग और यही से रिटायर भी हो जाते है फिर कैसे तटस्थ रह सकते है | निष्पक्ष होना इतना आसान नही है |

14 Nov 2018

फीडबैक :दिनांक 24/10/2018को फीडबैक:- तहसीलदार सदर के आख्याहनुसार प्रकरण रास्ता बनवाने के सम्ब न्ध में है। ग्राम प्रधान द्वारा कहा गया कि बरसात के बाद ब्लाखक द्वारा रास्ताण पास करवाकर बनवा दिया जायेगा। श्री मान जी प्रकरण दो वर्ष पुराना हो चुका है और इन दो वर्षो में प्रार्थी की परेशानियों में सिर्फ इजाफा हुआ है एक भी समस्या का समाधान नही हुआ है |श्री मान जी वर्षात कब ख़त्म होगी ? खुद श्री मान आयुक्त महोदय के समक्ष तीन बार यह आख्या लग चुकी की वर्षात पश्चात खंड विकाश कार्यालय से स्वीकृत प्राप्त करके लगभग २५ फीट तक खडंजा बिछा दिया जाएगा इस तरह दबंगों द्वारा रोड रोके जाने की समस्या हल निकल जाएगा किन्तु अभी तक कुछ हुआ नही | श्री मान जी वर्षात की वजह से खडंजा बिछाने में क्या परेशानी थी वह भी सिर्फ २५ फीट जैसा की आख्या से स्पष्ट है? श्री मान जी मान लीजिए वर्षात की वजह से निर्माण कार्य में परेशानी थी किन्तु प्राकलन तैयार करने में क्या परेशानी थी |श्री मान जी तहसीलदार सदर के समस्त आश्वासन महज कोरे कागज़ के सामान है जिनका कोई आधार नही है |कई बार से शिकायत के निस्तारण का आधार प्रधान का आश्वासन बनाया जा रहा है | श्री मान जी ग्राम प्रधान ने अभी तक प्रस्ताव बना कर भी खंड कार्यालय के समक्ष पेश नही किया जिसके पश्चात प्राकलनतैयार किया जाता सम्बंधित अवर अभियंता द्वारा | क्या सोची समझी रणनीति के तहत प्रार्थी को भ्रमित नही किया जा रहा है | निस्संदेह प्रार्थी की समस्या प्रार्थी का रास्ता अवरुद्ध होना है किन्तु इसका कारण लोगो द्वारा ग्राम समाज व तालाब की जमीन पर अनधिकृत कब्जा है और यह कब्ज़ा हट जाय तो समस्त समस्या का हल निकल जाय |

फीडबैक की स्थिति:

मंडलायुक्त द्वारा दिनाक 20/11/2018 को प्राप्त आख्या अनुमोदित कर दी गयी है

आवेदन का संलग्नक, संलग्नक देखें, अग्रसारित विवरण-

क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार  आदेश देने वाले अधिकारी  आदेश दिनांक  अधिकारी को प्रेषित

आदेश आख्या दिनांक  आख्या  स्थिति  आख्या रिपोर्ट  अंतरित

ऑनलाइन सन्दर्भ-08 – Oct – 2018

मंडलायुक्त मण्डल -विंध्याचल, 23/10/2018
निस्तारित   अंतरित   मंडलायुक्त ( )   09 – Oct – 2018    जिलाधिकारी-मिर्ज़ापुर,

नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें

23/10/2018  C-श्रेणीकरण   आख्या

जिलाधिकारी ( )  09 – Oct – 2018   उप जिलाधि‍कारी -सदर,जनपद-मिर्ज़ापुर,राजस्व एवं आपदा विभाग

नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें

23/10/2018

तहसीलदार सदर के आख्‍यानुसार प्रकरण रास्‍ता बनवाने के सम्‍बन्‍ध में है। ग्राम प्रधान द्वारा कहा गया कि बरसात के बाद ब्‍लाक द्वारा रास्‍ता पास करवाकर बनवा दिया जायेगा।

निस्तारित   आख्या

उप जिलाधि‍कारी (राजस्व एवं आपदा विभाग )

10 – Oct – 2018   तहसीलदार -सदर,जनपद-मिर्ज़ापुर,राजस्व एवं आपदा विभाग

नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें तहसीलदार सदर के आख्‍यानुसार प्रकरण रास्‍ता बनवाने के सम्‍बन्‍ध में है। ग्राम प्रधान द्वारा कहा गया कि बरसात के बाद ब्‍लाक द्वारा रास्‍ता पास करवाकर बनवा दिया जायेगा।

23/10/2018

आख्‍या अपलोड। प्रकरण रास्‍ता बनवाने के सम्‍बन्‍ध में है। ग्राम प्रधान द्वारा कहा गया कि बरसात के बाद ब्‍लाक द्वारा रास्‍ता पास करवाकर बनवा दिया जायेगा।

निस्तारित  आख्या   मंडलायुक्त , मिर्ज़ापुर  29 – Oct – 2018  जिलाधिकारी-मिर्ज़ापुर,

antim nistaran aakhya upload karaye nistarit  17/11/2018   निस्तारित
आख्या  जिलाधिकारी ( )  29 – Oct – 2018 उप जिलाधि‍कारी -सदर,जनपद-मिर्ज़ापुर,राजस्व एवं आपदा विभाग

नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें   16/11/2018

तहसीलदार सदर के आख्‍यानुसार प्रकरण रास्‍ता बनवाने के सम्‍बन्‍ध में है। ग्रामीणो के समक्ष ग्राम प्रधान से कहा गया कि बरसात के बाद खण्‍ड विकास कार्यालय से प्रस्‍ताव बनाकर रास्‍ता बनवा दिया जाय।

निस्तारित  आख्या  उप जिलाधि‍कारी (राजस्व एवं आपदा विभाग ) 30 – Oct – 2018

तहसीलदार -सदर,जनपद-मिर्ज़ापुर,राजस्व एवं आपदा विभाग

नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें तहसीलदार सदर के आख्‍यानुसार प्रकरण रास्‍ता बनवाने के सम्‍बन्‍ध में है। ग्रामीणो के समक्ष ग्राम प्रधान से कहा गया कि बरसात के बाद खण्‍ड विकास कार्यालय से प्रस्‍ताव बनाकर रास्‍ता बनवा दिया जाय।

16/11/2018

आख्‍या अपलोड। प्रकरण रास्‍ता बनवाने के सम्‍बन्‍ध में है। ग्रामीणो के समक्ष ग्राम प्रधान से कहा गया कि बरसात के बाद खण्‍ड विकास कार्यालय से प्रस्‍ताव बनाकर रास्‍ता बनवा दिया जाय।

निस्तारित
Pasted from <http://www.jansunwai.up.nic.in/TrackGraviancePopup.aspx?complainno=40019918028155&Emaild=yogimpsingh@gmail.com&IsOldNew=N&Type=2>

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
3 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh

श्री मान जी मंडलायुक्त द्वारा दिनाक 20/11/2018 को प्राप्त आख्या अनुमोदित कर दी गयी है जो की खुद ही बिधि सम्मत नही है श्री मान जी ग्राम सभा का प्रस्ताव ग्राम सभा की खुली बैठक में पास होता है | श्री मान जी दिनांक १६/०८/२०१८ का नोट जिसको आधार बना कर शिकायत का निस्तारण कराया गया है वह फर्जी है | उसका कोई बैधानिक आधार नही है | उसके सहारे तहसीलदार सदर सिर्फ वरिष्ठ अधिकारियों को गुमराह व भ्रमित कर रहे है | यह महज जालसाजी के सिवा कुछ भी नही है | क्या संलग्न नोट पर ग्राम पंचायत सदस्यों का हस्ताक्षर है और क्या प्रधान का हस्ताक्षर फर्जी नही है ? श्री मान जी सभी जानते है की उपरोक्त तिथि को ग्राम पंचायत की कोई खुली बैठक हुई ही नही तो प्रस्ताव किसने बना दिया | श्री मान जी यदि ऐसा कोई प्रस्ताव होता तो अब तक मिटटी फेक कर खडंजा बिछ चुका होता | श्री मान जी इस समय वर्षात नही है और कडाके की ठंढ है फिर काम क्यों नही लगवा देते है | श्री मान जी जब ग्राम प्रधान ने ऐसा कोई प्रस्ताव पास नही किया है वो क्यों २५ फीट खडंजा रोड तैयार करेंगे |

Mahesh Pratap Singh Yogi M. P. Singh

संलग्नक देखें
अग्रसारित विवरण-
क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी आदेश दिनांक अधिकारी को प्रेषित आदेश आख्या दिनांक आख्या स्थिति आख्या रिपोर्ट
1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 21 – Dec – 2018 तहसीलदार -सदर,जनपद-मिर्ज़ापुर,राजस्व एवं आपदा विभाग — कार्यालय स्तर पर लंबित In the earlier submitted grievances Tehsildar Sadar had been given two weeks time to submit the report but in this grievance he had been given one month time whether it is justified? Whether interest of accountable public functionaries are decreasing in redressing the grievances of common citizenry.

Preeti Singh
1 year ago

फीडबैक :दिनांक 24/10/2018को फीडबैक:- तहसीलदार सदर के आख्याहनुसार प्रकरण रास्ता बनवाने के सम्ब न्ध में है। ग्राम प्रधान द्वारा कहा गया कि बरसात के बाद ब्लाखक द्वारा रास्ताण पास करवाकर बनवा दिया जायेगा। श्री मान जी प्रकरण दो वर्ष पुराना हो चुका है और इन दो वर्षो में प्रार्थी की परेशानियों में सिर्फ इजाफा हुआ है एक भी समस्या का समाधान नही हुआ है |श्री मान जी वर्षात कब ख़त्म होगी ? खुद श्री मान आयुक्त महोदय के समक्ष तीन बार यह आख्या लग चुकी की वर्षात पश्चात खंड विकाश कार्यालय से स्वीकृत प्राप्त करके लगभग २५ फीट तक खडंजा बिछा दिया जाएगा इस तरह दबंगों द्वारा रोड रोके जाने की समस्या हल निकल जाएगा किन्तु अभी तक कुछ हुआ नही |