How can it be justified that transformer installed by government may be treated private and others connection may be disconnected?

Grievance Status for registration number : GOVUP/E/2020/27293

Grievance Concerns To
Name Of Complainant
Yogi M P Singh
Date of Receipt
02/09/2020
Received By Ministry/Department
Uttar Pradesh
Grievance Description
The matter is concerned with aggrieved lady Sugun Singh whose husband died on six June 2020. Aggrieved lady submitted complaint number-40019920018096 which is attached to the grievance.
The detail was made available to Executive Engineer EDD II. Even when he is suffering from possible attack of coronavirus but he enquired the matter and also provided the number of concerned S.D.O. Jigana power house. Yesterday S.D.O. had assured to resolve the matter two and a half hours. When I made a call he told the applicant that opposition i.e. Ashok Kumar Singh alias Angad Singh claiming the transformer is personal and he will not allow the connection from his transformer. S.D.O. assured to request today to him and provide connection.
Here this question arises that how a public transformer can be private. Second thing How a private person can disconnect the legal connection of Sugun Singh.
Grievance Document
Current Status
Under process
Date of Action
02/09/2020
Remarks
Grievance received by Subordinate Organisation from Web API
Officer Concerns To
Officer Name
Shri Arun Kumar Dube
Officer Designation
Joint Secretary
Contact Address
Chief Minister Secretariat U.P. Secretariat, Lucknow
Email Address
sushil7769@gmail.com
Contact Number
0522 2226349
Reminder(s) / Clarification(s)
Reminder Date
Remarks
02/09/2020
Department of electricity spends more than one Lakh rupees at least, on the one transformer, how can private individual claim mastery of the government transformer merely on the ground that he has approached and used this approach to install a transformer. Accountable public functionaries of the Uttar Pradesh power corporation limited must come forward to explain how so many arrogant people grabbed the transformer of government on the flimsy ground like managed M.P. fund or M.L.A. fund for the transformer. It must be noted that every government fund is public fund therefore no one in any way can claim its mastery. Whether concerned muscleman has locus standi to disconnect the legally taken electricity connection by the aggrieved widow Sugun Singh.
संदर्भ संख्या : 40019920018096 , दिनांक – 02 Sep 2020 तक की स्थिति
आवेदनकर्ता का विवरण :
शिकायत संख्या:-
40019920018096
आवेदक का नाम-
सुगुन सिंह
विषय-
सेवा में उप खंड अधिकारी विद्युत् वितरण खंड द्वितीय जिगना फीडर अर्जुनपुर पॉवर हाउस जिला –मिर्ज़ापुर , उत्तर प्रदेश विषय –अशोक कुमार सिंह पुत्र सुरजू सिंह द्वारा प्रार्थी का बैध कनेक्शन विच्छेदित किये जाने के सम्बन्ध में | महोदय आप द्वारा आश्वासन दिया गया प्रार्थी के चल भाष पर की अशोक कुमार सिंह और दलबल द्वारा बलात विच्छेदित कनेक्शन को ढाई घंटे में जोड़ देंगे आप अधिशासी अभियंता महोदय को कॉल मत करिए और प्रार्थी की ओर से अधिशासी अभियंता महोदय को अभी तक कोई कॉल नही किया गया है | श्री मान जी आप द्वारा दिया गया आश्वासन कोरा साबित हुआ | महोदय क्या उपरोक्त द्वारा अपराधिक कृत्य कारित नही किया गया | उपखंड अधिकारी महोदय विभागीय कार्यवाही करे क्योकि उपरोक्त कृत्य सरकारी कार्य में बाधा है और प्रार्थिनी खुद गवाह है | प्रार्थिनी कोई वाणिज्यिक गतिविधिया उरोक्त कनेक्शन से नही चला रही है वल्कि डेढ़ बीघा जमीन है जिसमे सब्जी लगाते है और विपक्षी द्वेष बस अनर्गल आरोप लगा रहे है | प्रार्थी के परिवार को भूखो मारना चाहते है प्रार्थिनी के दो बेरोजगार लड़के है और पती छ जून २०२० को स्वर्गवासी हो गये चिता की आग ठंडी भी नही हुआ की पट्टीदार ईष्या द्वेष साध रहे है | तारीख -०१/सितम्बर /२०२० प्रार्थिनी सुगुन सिंह पत्नी कृष्ण कुमार सिंह ग्राम –बबुरा पोस्ट –बबुरा थाना –विन्ध्याचल जिला –मिर्ज़ापुर
विभाग –
विद्युत
शिकायत श्रेणी –
नियोजित तारीख-
08-09-2020
शिकायत की स्थिति-
स्तर –
जनपद स्तर
पद –
अधिशासी अभियन्‍ता,विघुत
प्राप्त रिमाइंडर-
प्राप्त फीडबैक –
दिनांक को फीडबैक:-
फीडबैक की स्थिति –
संलग्नक देखें –
नोट- अंतिम कॉलम में वर्णित सन्दर्भ की स्थिति कॉलम-5 में अंकित अधिकारी के स्तर पर हुयी कार्यवाही दर्शाता है!

अग्रसारित विवरण :

क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी प्राप्त/आपत्ति दिनांक नियत दिनांक अधिकारी को प्रेषित आदेश स्थिति
1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 01-09-2020 08-09-2020 अधिशासी अभियन्‍ता,विघुत-मिर्ज़ापुर,विद्युत अनमार्क
0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
6 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Bhoomika Singh
Bhoomika Singh
3 months ago

Here it is quite obvious that rights of women is no more safe in the regime of Yogi Adityanath government which is quite obvious from the lackadaisical approach of the sub divisional officer of the department of Uttar Pradesh Power Corporation Limited. Most of the Transformers have been provided to the rich people and poor are suffering because their connections are arbitrarily disconnected by them.

Vandana Singh
Vandana Singh
3 months ago

, सरकारी सुविधाएं तो पूरे गांव की होती हैं तो कैसे अशोक कुमार सिंह का अकेले का ट्रांसफॉर्मर हो सकता है यह तो कमजोर कृष्ण कुमार के परिवार को सताया जा रहा है मोदी सरकार में तो सबको समान अधिकार है कृष्ण कुमार की विधवा को उसके परिवार वाले जबरदस्ती परेशान कर रहे हैं उनके दोनों बच्चे अभी नाबालिक है अकेली औरत इस पुरुष प्रधान देश में किससे सहारा मांगे।

Pratima Parihar
Pratima Parihar
3 months ago

यहाँ यह प्रश्न उठता है कि सार्वजनिक ट्रांसफार्मर निजी कैसे हो सकता है। दूसरी बात कि एक निजी व्यक्ति कैसे सुगन सिंह के कानूनी कनेक्शन को काट सकता है।

Arun Pratap Singh
3 months ago

निस्संदेह कार्य निंदनीय है इसके लिए सरकारी कर्मचारियों के शिथिलता की जितनी निंदा की जाय कम है | महिला का विद्युत् संयोजन बलात विच्छेदित किया गया है तुरंत जोड़ा जाय | हमे महिला के प्रति सम्बेदंशीलता है |

Yogi M. P. Singh
3 months ago

Yesterday S.D.O. had assured to resolve the matter two and a half hours. When I made a call he told the applicant that opposition i.e. Ashok Kumar Singh alias Angad Singh claiming the transformer is personal and he will not allow the connection from his transformer.
Whether it is not the reflection of anarchy in the government of Uttar Pradesh? What is personal transformer, how can anyone claim government transformer as personal transformer.