Heap of garbage before the dwelling places, but India has been cleaned and people are healthy

जनसुनवाई
समन्वित शिकायत निवारण प्रणाली, उत्तर प्रदेश
सन्दर्भ संख्या:-  40019919037933
लाभार्थी
का
विवरण
नाम
Yogi M P Singh
पिता/पति का
नाम
मोबइल नंबर()
7379105911
मोबइल नंबर()
आधार कार्ड .
मेल
yogimpsingh@gmail.com
पता
Mohalla Surekapuram Jabalpur Road District
Mirzapur PIN code 231001
आवेदन
पत्र का ब्यौरा
आवेदन
पत्र का संक्षिप्त ब्यौरा
There is a heap of garbage before my dwelling place
because of the mismanagement of the municipality of Mirzapur City. In 6
months they have cleaned the drainage after dozen of complaints submitted by
the applicant then they cleaned the drainage and now garbage is collected at
the door and before the house Since 4 days whether it is justified. Our
accountable public functionaries are not working in accordance with the law
in the Mirzapur district whether rule of law has no value for the public
staff posted in Mirzapur district. Pictures are attached for the perusal of
the Honourable Sir in order to take action against the erring staff of the
municipality Mirzapur who are procrastinating in disposing the garbage at the
appropriate place. Where is the cleanliness drive mission of Modi Sir why
action is not being taken against those erring staff of the government who
are overlooking the campaign of the government in order to maintain the
cleanliness and sanitation are public places.
संदर्भ
दिनांक
14-12-2019
पूर्व सन्दर्भ(यदि कोई है
तो)
0,0
विभाग
नगर विकास तथा नगरीय रोजगार एवं गरीबी उन्मूलन
शिकायत
श्रेणी
नगर पालिका नगर पंचायत में सीवर लाईन की सफाई सीवर चोक अथवा सीवर ओवर फ्लो
लाभार्थी का विवरण/शिकायत क्षेत्र का
शिकायत
क्षेत्र का पता
जिलामिर्ज़ापुर
नोटअंoतिम कॉलम में वर्णित सन्दर्भ की स्थिति कॉलम-5 में अंकित अधिकारी के स्तर पर हुयी कार्यवाही दर्शाता है

 

Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com>
श्री मान जी लार्वा रोधी घोल का छिड़काव पिछले छह महीने में एक बार भी नहीं हुआ जब की हर मुहल्ले व हर ग्राम में डेंगू के मरीज मिल रहे है |
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com> 16 November 2019 at 00:51
To: pmosb <pmosb@pmo.nic.in>, presidentofindia@rb.nic.in, supremecourt <supremecourt@nic.in>, urgent-action <urgent-action@ohchr.org>, cmup <cmup@up.nic.in>, hgovup@up.nic.in, csup@up.nic.in, uphrclko <uphrclko@yahoo.co.in>, lokayukta@hotmail.com, nch-ca@gov.in
श्री मान जी छह छह महीने से नालिया नहीं साफ हुई है और घर का पानी नाली में बहने के बजाय नाली का पानी घर में घुस रहा है | आज कल तो जनसुनवाई पोर्टल पर भी मनमाना जवाब लगा कर मामले को ठंढे बस्ते में दाल दिया जाता है | क्या यही सुशासन है जहा भ्रस्टाचार व आराजकता का राज्य है | श्री मान दर्जनों शिकायते एंटी लार्वा सलूशन के छिड़काव के लिए की गयी किन्तु कई महीने से कोई नहीं दिखाई पद रहा है और गन्दगी का आलम यह है की पिछले छह महीने से ड्रेनेज /नाली की सफाई नहीं हुई है जिसके कारण नाली का पानी घर में घुस रहा है | मिर्ज़ापुर जिला/शहर इस समय नर्क बन चुका है | दवा की खरीददारी केवल कागजो पर की जाती है तो फिर छिड़काव कहा  से होगा | झाड़ू लगाने वाले नाली साफ करने वाले छिड़काव करने वाले सभी गायब है | ऐसा प्रतीत होता है की शासन ब्यवस्था एकदम लचर हो चुकी है | नगरपालिका के अधिशासी अधिकारी महोदय की अयोग्यता ही इस दुर्ब्यवस्था का मूल है | सरकार इतनी अच्छी तनख्वाह देती है फिर भी काम नहीं करना चाहते है | श्री मान पेपर में तो डेंगू के पांच ही केसेस बता रहा है जब की जिला के हर ग्राम में पांच केसेस है डेंगू के और इसके लिए जिम्मेदार यहां का जिला प्रशासन है जो जनता के प्रति पूर्ण रूप से उदासीन है | 

 

On Tue, 12 Nov 2019 at 01:31, Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com> wrote:
श्री मान जी विभाग कहता है उसके पास छिडकाव के लिए कर्मचारी ही नही है तो फिर डेंगू के नाम पर करोडो का बजट क्यों | श्री मान जी छः महीने में भी छिडकाव नही हो रहा है और जब लोगो को प्राइवेट हॉस्पिटल्स में ही इलाज कराना क्यों की इनके पास हस्पतालो  में बेड ही नही है तो फिर फालतू विभागों को बंद कर दीजिए क्यों सरकारी खजाने को  खाली कर रहे लोगो को बैठा कर तनख्वाह बाट रहे है श्री मान जी आउटसोर्स स्टाफ की ब्यवस्था यहां भी क्यों नही करा देते क्यों लोगो को डेंगू से मार रहे है | 

 

5 2 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
4 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Yogi
1 year ago

श्री मान दर्जनों शिकायते एंटी लार्वा सलूशन के छिड़काव के लिए की गयी किन्तु कई महीने से कोई नहीं दिखाई पद रहा है और गन्दगी का आलम यह है की पिछले छह महीने से ड्रेनेज /नाली की सफाई नहीं हुई है जिसके कारण नाली का पानी घर में घुस रहा है | मिर्ज़ापुर जिला/शहर इस समय नर्क बन चुका है | दवा की खरीददारी केवल कागजो पर की जाती है तो फिर छिड़काव कहा से होगा | झाड़ू लगाने वाले नाली साफ करने वाले छिड़काव करने वाले सभी गायब है | ऐसा प्रतीत होता है की शासन ब्यवस्था एकदम लचर हो चुकी है | नगरपालिका के अधिशासी अधिकारी महोदय की अयोग्यता ही इस दुर्ब्यवस्था का मूल है | सरकार इतनी अच्छी तनख्वाह देती है फिर भी काम नहीं करना चाहते है | श्री मान पेपर में तो डेंगू के पांच ही केसेस बता रहा है जब की जिला के हर ग्राम में पांच केसेस है डेंगू के और इसके लिए जिम्मेदार यहां का जिला प्रशासन है जो जनता के प्रति पूर्ण रूप से उदासीन है |

beautiful images
1 year ago

Whether it is not the mockery of clean drive mission of Modi Sir that there is heap of garbage before the doors of the resident of the mohalla and repeated complaints are being made but no appropriate action is being taken by the accountable public functionaries at the district level and accountable public functionaries at the capital level or you can say that state headquarter are not taking seriously the apathy of the district level officers.

Arun Pratap Singh
1 year ago

Attached pictures are telling the truth so there is no need of more proof.
श्री मान जी छह छह महीने से नालिया नहीं साफ हुई है और घर का पानी नाली में बहने के बजाय नाली का पानी घर में घुस रहा है | Whether situation is not terrific?

Bhoomika Singh
Bhoomika Singh
11 months ago

Mumbai and Delhi are not just India’s top two megacities in terms of population but also in terms of the solid waste generated every day.
While legislative assembly elections in Maharashtra are scheduled to take place on October 21, 2019, the Delhi Assembly elections are expected to take place in January-February 2020. Even though environmental issues have gained centre stage among voters in both states among the voters, issues like waste management are yet to find resonance among them.