Excellent Arvind ji awarded the post of chairperson to a novelist who tweeted few tweets in favour of truth.



When political parties bargain on the constitutional post in India and is awarded to highest bidders  but our anti-corruption crusader has proved it wrong as it appointed the chairperson of Delhi women commission to a lady who tweeted few tweets in favour of truth. Really Arvind Kejrival is great and can give new dimension to development of country by eliminating corruption from public offices. Really our messiah has incarnated in this world to save us from the clutches of corrupt politicians ,bureaucrats and judicial members. 
द‌िल्ली मह‌िला आयोग की अध्यक्ष पद के ल‌िए एक तरफ जहां दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और बरखा स‌िंह आमने-सामने हैं, वहीं सोशल मीड‌िया में मैत्रेयी पुष्पा के नाम की स‌िफार‌िश करने को लेकर एक नई जंग छ‌िड़ गई है।

दरअसल सोशल मीड‌िया में मैत्रेयी पुष्पा के कुछ पुराने पोस्ट को लेकर कई सवाल उठाए जा रहे हैं। मैत्रेयी पुष्पा ने अपने ऑफिशियल एकाउंट से मुख्यमंत्री अरव‌िंद केजरीवाल की तारीफ में कई स्टेटस अपलोड क‌िए थे।
मैत्रेयी पुष्पा द्वारा अपने फेसबुक पेज पर जनवरी में किए गए कुछ पोस्ट

दूर देश से कोई सपेरा आया , गीत क्या लाया
लिया मन छीन रे…
मीठी मीठी जादू की बजाये कोई बीन रे…’ (2 जनवरी, 2014)

—- ‘अगर केजरीवाल के कार्य कलाप गलत हैं तो ज्यादातर राजनैतिक पार्टियां उनके किये का अनुसरण क्यों करती चली जा रही हैं ?’ (21 जनवरी, 2014 )

—- ‘महामहिम उवाच : (26 जनवरी )
“जो लोग मतदाताओं का भरोसा चाहते हैं उन्हें केवल वही वादा करना चाहिए जो सम्भव है “
क्या वह वादा नहीं करना चाहिए जो राज सत्ता ने असम्भव बना दिया है , अकल्पनीय कर दिया है.…’http://www.amarujala.com/news/samachar/national/maitrayi-pushpa-praise-arvind-kejriwal-on-facebook/

2 comments on Excellent Arvind ji awarded the post of chairperson to a novelist who tweeted few tweets in favour of truth.

  1. दूर देश से कोई सपेरा आया , गीत क्या लाया
    लिया मन छीन रे…
    मीठी मीठी जादू की बजाये कोई बीन रे…’ (2 जनवरी, 2014)

    —- ‘अगर केजरीवाल के कार्य कलाप गलत हैं तो ज्यादातर राजनैतिक पार्टियां उनके किये का अनुसरण क्यों करती चली जा रही हैं ?’ (21 जनवरी, 2014 )

    —- ‘महामहिम उवाच : (26 जनवरी )
    "जो लोग मतदाताओं का भरोसा चाहते हैं उन्हें केवल वही वादा करना चाहिए जो सम्भव है "
    क्या वह वादा नहीं करना चाहिए जो राज सत्ता ने असम्भव बना दिया है , अकल्पनीय कर दिया है.
    Hon'ble friends-Excellent these tweets really touch the our hearts. Only those can tweet such tweets who have real love with their motherland. Our anti-corruption crusader is man of great experience and meditated on the topics concerned with the interest of country. God save our protector from all the evils and conspiracies.

  2. Really an excellent work of Anti-corruption crusader which must be welcomed by all the honest and public spirited individuals. This is truth that constitutional posts are bargained in this country. Bargaining of constitutional posts must be stopped. That is why we are facing sheer anarchy and not getting justice.

Leave a Reply

%d bloggers like this: