बैंक अकाउंट भी सही है आधार नंबर भी सही है एनरोलमेंट नंबर भी सही है सिर्फ भ्रस्टाचार के मानक को पूरा नही कर पाई

आवेदन
का विवरण
शिकायत
संख्या
40019918012004
आवेदक कर्ता का
नाम:
सबा
परवीन
आवेदक कर्ता का
मोबाइल न०:
8004126790,8004126790
विषय:
आवेदन का विवरण, शिकायत संख्या-40019918010191, आवेदक कर्ता का नामसबा परवीन आवेदक कर्ता का
मोबाइल न०8004126790 श्री मान जी जिला अल्पसंख्यक अधिकारी १४०५२०१८ की
रिपोर्ट का
संज्ञान ले
श्री मान जी
जब प्रार्थी द्वारा बिन्दुवार खंडन किया गया हर
आपत्तियों का
दस्तावेजी सबूतों के साथ और प्रश्न यह उठता है की
जब आधार संख्या भी
सही था
बैंक सम्बन्धी समस्त सुचनाए शुद्ध थी
तो क्यों प्रार्थी का
ऑनलाइन आवेदन सस्पेक्ट डाटा की श्रेणी में रखा गया क्या इस बात की जाँच जरुरी नही है | श्री मान जी मामले में जिम्मेदारी तय की
जाय और
जो भी
जिम्मेदार है
उनकी तनख्वाह से हमारे छात्रवृत्ति का
वितरण किया जाय | श्री मान जी जब
प्रार्थी का
कोई दोष ही नही है तो
प्रार्थी को
इतना बड़ा दंड क्यों | श्री मान प्रार्थी को क्यों उसके छात्रवृत्ति के आधार से वंचित किया जा
रहा है
| श्री मान जी
आप अल्पसंख्यक अधिकारी से
क्यों नही पूछते की
प्रार्थी का
आधार नंबर कहा गलत है और
आप अल्पसंख्यक अधिकारी से
यह क्यों नही पूछते की प्रार्थी द्वारा भरा बैंक सम्बन्धी सूचनाए कहा गलत है
अल्पसंख्यक अधिकारी से यह
क्यों नही पूछा जाता की एन्ररोलमेंट सम्बन्धी जानकारी कहा गलत है यदि उपरोक्त जानकारी गलत नही है तो
डाटा शुद्ध करने का
प्रश्न ही
नही उठता और तब
अल्पसंख्यक अधिकारी के खिलाफ दंडात्मक कार्यवाही हो और
प्रार्थी की
छात्रवृत्ति उनकी तनख्वाह से
प्रदान की
जाए जो
की नियम सम्मत होगा | इस तरह से
प्रार्थी को
न्याय भी
मिल जाएगा | श्री मान जी
इस समय अल्पसंख्यक अधिकारी महोदय सिर्फ गोलमटोल जवाब दे कर
जिम्मेदार अधिकारिओं को भ्रमित कर रहे है जो
किसी प्रकार न्याय सम्मत नही है
| श्री मान जी
आप के
अधिकारी महोदय का कहना है की
०५०३२०१८तक डाटा सस्पेक्ट रहा किन्तु प्रार्थी को कैसे मालूम हो
की उसके द्वारा सही भरा गया डाटा सस्पेक्ट बतारहा है
कुछ खुराफाती तत्वों की
वजह से
|श्री मान जी
पिछले वर्ष के बी
पी जीकॉलेज के नोटिस बोर्ड परयह प्रकाशित किया की इन
छात्रो के
डाटा को
निक डॉट इन का
कंप्यूटर संदिग्ध बता रहा है इस
लिए सभीछात्र जिनका डाटा संदिग्ध है
या अशुद्ध है कृपया निश्चित तिथि तक शुद्ध करा ले
अन्य्रथाछात्रवृत्ति सेवंचित होना पड़ेगा किन्तु इस
वर्ष ऐसा कुछ भी
नही हुआ |महत्वपूर्ण तथ्य यह
है की
प्रार्थी द्वारा भरी गयीसभी प्रविष्टिया करेक्ट है तो
क्या कारण है की
निक डॉट इन का
कंप्यूटर डाटा को अशुद्ध बताया इसमेंबहुत बड़ी भ्रस्टाचार की साजिश है |जिसमे अधिकारी महोदय खुद संलिप्त है
अन्यथा इतनी सीधी बात कावह गोल मटोल जवाब क्यों दे
रहे इसलिए मामले की
जाँच होनी चाहिए और
भ्रस्टाचारिओं के
खिलाफदंडात्मक कार्यवाही होनी चाहिए | सोचिए किसी को
उसके छात्रवृत्ति के अधिकार से वंचित किया जा
सकताहै बिना उपयुक्त मौका दिए कितु यहां तो
लोग अपने जेब भरने के लिए कुछ भी
करने को
तैयार थे
|यहीकारण है की
इस वर्ष के बी
पी जीकॉलेज के नोटिस बोर्ड पर
कोई संदिग्ध छात्रो की
या शुद्ध करने केलिए कोई नोटिस चस्पा नही की गयी |
नियत तिथि:
05 – Jun – 2018
शिकायत की स्थिति:
निस्तारित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
फीडबैक की स्थिति:
आवेदन
का संलग्नक
अग्रसारित विवरण
क्र..
सन्दर्भ
का प्रकार
आदेश
देने वाले अधिकारी
आदेश
दिनांक
अधिकारी
को प्रेषित
आदेश
आख्या
दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या
रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन
सन्दर्भ
21 – May – 2018
जिलाधिकारीमिर्ज़ापुर,
02/06/2018
आख्या
अपलोड है
निस्तारित
2
आख्या
जिलाधिकारी ( )
22 – May – 2018
जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारीमिर्ज़ापुर,अल्पसंख्यक
कल्याण एवं वक्फ
नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें आख्या अपलोड है
02/06/2018
aakhya aap mahoday ki sewa me nistaran hetu preshit hai
निस्तारित
आवेदन
का विवरण
शिकायत
संख्या
40019918012007
आवेदक कर्ता का
नाम:
सबा
परवीन
आवेदक कर्ता का
मोबाइल न०:
8004126790,8004126790
विषय:
आवेदन का विवरण, शिकायत संख्या-40019918010191, आवेदक कर्ता का नामसबा परवीन आवेदक कर्ता का
मोबाइल न०8004126790 श्री मान जी जिला अल्पसंख्यक अधिकारी १४०५२०१८ की
रिपोर्ट का
संज्ञान ले
श्री मान जी
जब प्रार्थी द्वारा बिन्दुवार खंडन किया गया हर
आपत्तियों का
दस्तावेजी सबूतों के साथ और प्रश्न यह उठता है की
जब आधार संख्या भी
सही था
बैंक सम्बन्धी समस्त सुचनाए शुद्ध थी
तो क्यों प्रार्थी का
ऑनलाइन आवेदन सस्पेक्ट डाटा की श्रेणी में रखा गया क्या इस बात की जाँच जरुरी नही है | श्री मान जी मामले में जिम्मेदारी तय की
जाय और
जो भी
जिम्मेदार है
उनकी तनख्वाह से हमारे छात्रवृत्ति का
वितरण किया जाय | श्री मान जी जब
प्रार्थी का
कोई दोष ही नही है तो
प्रार्थी को
इतना बड़ा दंड क्यों | श्री मान प्रार्थी को क्यों उसके छात्रवृत्ति के आधार से वंचित किया जा
रहा है
| श्री मान जी
आप अल्पसंख्यक अधिकारी से
क्यों नही पूछते की
प्रार्थी का
आधार नंबर कहा गलत है और
आप अल्पसंख्यक अधिकारी से
यह क्यों नही पूछते की प्रार्थी द्वारा भरा बैंक सम्बन्धी सूचनाए कहा गलत है
अल्पसंख्यक अधिकारी से यह
क्यों नही पूछा जाता की एन्ररोलमेंट सम्बन्धी जानकारी कहा गलत है यदि उपरोक्त जानकारी गलत नही है तो
डाटा शुद्ध करने का
प्रश्न ही
नही उठता और तब
अल्पसंख्यक अधिकारी के खिलाफ दंडात्मक कार्यवाही हो और
प्रार्थी की
छात्रवृत्ति उनकी तनख्वाह से
प्रदान की
जाए जो
की नियम सम्मत होगा | इस तरह से
प्रार्थी को
न्याय भी
मिल जाएगा | श्री मान जी
इस समय अल्पसंख्यक अधिकारी महोदय सिर्फ गोलमटोल जवाब दे कर
जिम्मेदार अधिकारिओं को भ्रमित कर रहे है जो
किसी प्रकार न्याय सम्मत नही है
| श्री मान जी
आप के
अधिकारी महोदय का कहना है की
०५०३२०१८तक डाटा सस्पेक्ट रहा किन्तु प्रार्थी को कैसे मालूम हो
की उसके द्वारा सही भरा गया डाटा सस्पेक्ट बतारहा है
कुछ खुराफाती तत्वों की
वजह से
|श्री मान जी
पिछले वर्ष के बी
पी जीकॉलेज के नोटिस बोर्ड परयह प्रकाशित किया की इन
छात्रो के
डाटा को
निक डॉट इन का
कंप्यूटर संदिग्ध बता रहा है इस
लिए सभीछात्र जिनका डाटा संदिग्ध है
या अशुद्ध है कृपया निश्चित तिथि तक शुद्ध करा ले
अन्य्रथाछात्रवृत्ति सेवंचित होना पड़ेगा किन्तु इस
वर्ष ऐसा कुछ भी
नही हुआ |महत्वपूर्ण तथ्य यह
है की
प्रार्थी द्वारा भरी गयीसभी प्रविष्टिया करेक्ट है तो
क्या कारण है की
निक डॉट इन का
कंप्यूटर डाटा को अशुद्ध बताया इसमेंबहुत बड़ी भ्रस्टाचार की साजिश है |जिसमे अधिकारी महोदय खुद संलिप्त है
अन्यथा इतनी सीधी बात कावह गोल मटोल जवाब क्यों दे
रहे इसलिए मामले की
जाँच होनी चाहिए और
भ्रस्टाचारिओं के
खिलाफदंडात्मक कार्यवाही होनी चाहिए | सोचिए किसी को
उसके छात्रवृत्ति के अधिकार से वंचित किया जा
सकताहै बिना उपयुक्त मौका दिए कितु यहां तो
लोग अपने जेब भरने के लिए कुछ भी
करने को
तैयार थे
|यहीकारण है की
इस वर्ष के बी
पी जीकॉलेज के नोटिस बोर्ड पर
कोई संदिग्ध छात्रो की
या शुद्ध करने केलिए कोई नोटिस चस्पा नही की गयी |
नियत तिथि:
20 – Jun – 2018
शिकायत की स्थिति:
लम्बित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
फीडबैक की स्थिति:
आवेदन
का संलग्नक
अग्रसारित विवरण
क्र..
सन्दर्भ
का प्रकार
आदेश
देने वाले अधिकारी
आदेश
दिनांक
अधिकारी
को प्रेषित
आदेश
आख्या
दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या
रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन
सन्दर्भ
21 – May – 2018
अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव/सचिव अल्पसंख्यक
कल्याण एवं वक्फ
अधीनस्थ
को प्रेषित
2
अंतरित
अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव/सचिव (अल्पसंख्यक
कल्याण एवं वक्फ )
23 – May – 2018
निदेशक अल्पसंख्यक कल्याण निदेशालय
नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें 
अधीनस्थ
को प्रेषित
3
अंतरित
निदेशक (अल्पसंख्यक कल्याण निदेशालय )
23 – May – 2018
जिलाधिकारीमिर्ज़ापुर,
नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें 
अधीनस्थ
को प्रेषित
4
आख्या
जिलाधिकारी ( )
23 – May – 2018
जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारीमिर्ज़ापुर,अल्पसंख्यक
कल्याण एवं वक्फ
नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें 
कार्यालय
स्तर पर लंबित

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
3 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh

श्री मान जी आप अल्पसंख्यक अधिकारी से क्यों नही पूछते की प्रार्थी का आधार नंबर कहा गलत है और आप अल्पसंख्यक अधिकारी से यह क्यों नही पूछते की प्रार्थी द्वारा भरा बैंक सम्बन्धी सूचनाए कहा गलत है अल्पसंख्यक अधिकारी से यह क्यों नही पूछा जाता की एन्ररोलमेंट सम्बन्धी जानकारी कहा गलत है यदि उपरोक्त जानकारी गलत नही है तो डाटा शुद्ध करने का प्रश्न ही नही उठता और तब अल्पसंख्यक अधिकारी के खिलाफ दंडात्मक कार्यवाही हो और प्रार्थी की छात्रवृत्ति उनकी तनख्वाह से प्रदान की जाए जो की नियम सम्मत होगा | इस तरह से प्रार्थी को न्याय भी मिल जाएगा | श्री मान जी इस समय अल्पसंख्यक अधिकारी महोदय सिर्फ गोलमटोल जवाब दे कर जिम्मेदार अधिकारिओं को भ्रमित कर रहे है जो किसी प्रकार न्याय सम्मत नही है | श्री मान जी आप के अधिकारी महोदय का कहना है की ०५०३२०१८तक डाटा सस्पेक्ट रहा किन्तु प्रार्थी को कैसे मालूम हो की उसके द्वारा सही भरा गया डाटा सस्पेक्ट बतारहा है कुछ खुराफाती तत्वों की वजह से |

Arun Pratap Singh
2 years ago

इसलिए प्रार्थी की छात्र वृत्ति अल्पसंख्यक अधिकारी महोदय की तनख्वाह से प्रदान किया जाय वैसे भी इस तरह से घाल मेल करके बहुत पैसा कमाए है | श्री मान जी रही बात डाटा शुद्ध करने की तो पहले तो डेटा अशुद्ध था ही नही और महोदय से मिलने की तो पिछले वर्ष डेटा संदिग्ध छात्रों की सूची के.बी.पी.जी. कालेज के नोटिस बोर्ड पर प्रकाशित हुई थी किन्तु इस वर्ष ऐसा कुछ नही हुआ और नही किसी दैनिक पेपर में भी प्रकाशित कराया गया| तो प्रार्थी कैसे मिलती श्री मान जी अपना संदिग्ध शुद्ध डेटा को श्री मान जी से शुद्ध कराने वास्ते | बड़ा आश्चर्य है श्री मान जी पहले शुद्ध डेटा को संदिग्ध बनाते है कंप्यूटर में गलत फीडिंग कराके और पुनः शुद्ध करते है | श्री मान जी जैसे माँ छोटे बच्चे को चन्द्रमा को चंदा मामा व खिलौना बताती है और उसको भ्रमित करती है वैसे ही श्री मान जी झूठे ही पापा से बात कर समझा देने की बात कर मामले को बंद करने के लिए बड़े अधिकारिओं को गुमराह करते है | सबसे महत्व पूर्ण बात है की जिस डाटा को तुम संदिग्ध कह रहे हो वह संदिग्ध है ही नही है वह तो तुम्हारी सोची समझी रणनीति का हिस्सा है प्रार्थी को छात्रवृत्ति से वंचित करने के लिए |
फीडबैक की स्थिति: फीडबैक विचाराधीन

Preeti Singh
2 years ago

नियत तिथि: 20 – Jun – 2018 शिकायत की स्थिति: लम्बित रिमाइंडर : फीडबैक :
फीडबैक की स्थिति: आवेदन का संलग्नक संलग्नक देखें अग्रसारित विवरण-
क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी आदेश दिनांक अधिकारी को प्रेषित आदेश आख्या दिनांक आख्या स्थिति आख्या रिपोर्ट
1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 21 – May – 2018 अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव/सचिव -अल्पसंख्यक कल्याण एवं वक्फ — अधीनस्थ को प्रेषित
2 अंतरित अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव/सचिव (अल्पसंख्यक कल्याण एवं वक्फ ) 23 – May – 2018 निदेशक -अल्पसंख्यक कल्याण निदेशालय नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें अधीनस्थ को प्रेषित
3 अंतरित निदेशक (अल्पसंख्यक कल्याण निदेशालय ) 23 – May – 2018 जिलाधिकारी-मिर्ज़ापुर, नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें अधीनस्थ को प्रेषित
4 आख्या जिलाधिकारी ( ) 23 – May – 2018 जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी-मिर्ज़ापुर,अल्पसंख्यक कल्याण एवं वक्फ नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें कार्यालय स्तर पर लंबित