एक भी बुक एन.सी.इ.आर.टी. की नही चलाई गई किन्तु सक्षम अधिकारिओं को बताया गया की बुक चला दी गई आराजकता

जनसुनवाई
समन्वित शिकायत निवारण प्रणाली, उत्तर प्रदेश
सन्दर्भ संख्या:-40019918011272
आवेदनकर्ता का विवरण :
नाम योगी एम पी सिंह
पिता/पति का नाम  
लिंग :
मोबाइल नंबर-1 : 7379105911
मोबाइल नंबर-2 : 7379105911
ईमेल yogimpsingh@gmail.com
क्षेत्र नगरीय
प्रदेश उत्तर प्रदेश
जनपद मिर्ज़ापुर
तहसील सदर
ब्लाक —-
ग्राम पंचायत —-
थाना कोतवाली कटरा
Address : तहसीलसदर, जिलामिर्ज़ापुर
शिकायत/सुझाव क्षेत्र की जानकारी :
क्षेत्र नगरीय
प्रदेश उत्तर प्रदेश
जनपद मिर्ज़ापुर
तहसील सदर
ब्लाक :
ग्राम पंचायत —-
ग्राम 0
थाना कोतवाली कटरा
आवेदन का विवरण :
आवेदन पत्र का विवरण :
सन्दर्भ का प्रकार शिकायत
अधिकारी जिलाधिकारी
विभाग बेसिक शिक्षा विभाग
सन्दर्भ श्रेणी भ्रष्टाचार / वित्तीय अनियमितता/कार्योंविभागीय योजनाओं में लापरवाही/जांच
Application Old Reference No : 40019918009304
संलग्नक : है
आवेदन का विवरण
शिकायत संख्या
40019918011272
आवेदक कर्ता का नाम:
योगी एम पी सिंह
आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:
7379105911,7379105911
विषय:
शिकायत संख्या-40019918010137, शिकायत संख्या-40019918010136 and शिकायत संख्या 40019918009304 जिनको निदेशक बेसिक शिक्षानिदेशालय, अपर मुख्यसचिवप्रमुखसचिवसचिवबेसिक शिक्षाविभाग और जिलाधिकारीमिर्ज़ापुर के स्तर से निस्तारित होना था | इन सभी का निस्तारण बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा निम्न पत्रांक बेसिक१५९२२०१८१९दिनांक०२०५२०१८द्वारा प्रकरणनिस्तारित(आख्या संलग्नहै) किया गया है | श्री मान जी जिलाधिकारी मिर्ज़ापुर को संबोधित उक्त पत्र में स्पस्ट रूप से लिखा है की मामले की जांच खंड शिक्षा अधिकारी नगर से कराई गई| खंड शिक्षा अधिकारी नगर क्षेत्र मिर्ज़ापुर की आख्या पत्रांक बेसिक२३६२०१७१८ दिनांक २७०४२०८ वास्तव में दिनांक २७०४२०१८ के द्वारा सेंट बीबीएलसंस्थान के प्रबंधक को विद्यालय में शासन द्वारा निर्धारित एन सी ईआरटी की ही पुस्तके पढाये जाने तथा बच्चो को किसी भी बिशिष्ट दूकान से किताबो की पूरी सेट खरीदने के लिए बाध्य किये जाने का निदेश दे दिया गया है| साथ ही साथ विद्यालय प्रबंधक से इस सम्बन्ध में स्पस्टीकरण भी माँगा गया है | श्री मान जी प्रार्थी द्वारा भी उपरोक्त जिलाधिकारी को संबोधित पत्र की स्कैन कॉपी प्रबंधकप्रधानाचार्य को उनके व्हाट्सअप पे भेजा गया और पढ़ी भी किन्तु अभी तक उसका कोई असर नही दिख रहा है | मैडम अगर एक भी किताब एन सी ईआर टी की चलाई हो तो बेसिक शिक्षा अधिकारी महोदय स्पस्ट करे | श्री मान जी बेसिक शिक्षा अधिकारी महोदय निदेशक बेसिक शिक्षानिदेशालय, अपर मुख्यसचिवप्रमुखसचिवसचिवबेसिक शिक्षाविभाग और जिलाधिकारीमिर्ज़ापुर को गुमराह कर रहे है अथवा मुख्यमंत्री कार्यालय को जो जनसुनवाई पर की गई शिकायतों का सूक्ष्मता से अध्ययन करता है या सभी एक जुट हो कर प्रार्थी को | श्री मान जी इस तरह की बेबुनियाद रिपोर्ट्स समन्वित जनसुनवाई पोर्टल का भी मजाक बना कर रख दिया है | श्री मान जी एक तरफ बेसिक शिक्षा अधिकारी महोदय कह रहे है की प्रबंधन को निर्देशित कर दिया गया है की वे National Council of Educational Research and Training की पुस्तके पढाये किन्तु दुर्भाग्य की बात है की उन पुस्तकों में कमीशन मिलने की वजह से अधिकारी और प्रबंधन मिलकर इतनी ख़राब पुस्तके चला रहे जिसका बाइंडिंग उसी दिन अलग हो गया जिस दिन लाया गया चार हजार की पुस्तके खरीदने के उपरांत अभी तक पूरी पुस्तके नही खरीदी जा सकी क्यों की दुकानदार ने एक हप्ते उपरांत फिर बुलाया है जब की कुछ पुस्तके पहले से मौजूद है सोचिये लिस्ट की समस्त पुस्तके लेने पर विद्यालय में ही बंडल उपलब्ध है फिर प्रार्थी को क्यों बार बार दौड़ाया जा रहा है| श्री मान जी पांच बार दूकान का चक्कर लगा चूका किन्तु समस्या का हल नही हुआ| सोचिये गवर्नमेंट का उत्तम पहल फ़ैल हो रहा सिर्फ व्यवस्था में फैले हुए भ्रस्टाचार के वायरसविषाणु की वजह से और राष्ट्रीय शिक्षा परिषद् की किताबे जो की उत्तम है उनको नजर अंदाज किया जा रहा है अर्थात हम विद्वता को अपमानित कर रहे है |The National Council of Educational Research and Training (NCERT) is an autonomous organisation set up in 1961 by the Government of India to assist and advise the Central and State Governments on policies and programmes for qualitative improvement in school education The major objectives of NCERT and its constituent units are to undertake, promote and coordinate research in areas related to school education; prepare and publish model textbooks, supplementary material, newsletters, journals and develops educational kits, multimedia digital materials, etc organise pre-service and in-service training of teachers; develop and disseminate innovative educational techniques and practices; collaborate and network with state educational departments, universities, NGOs and other educational institutions; act as a clearing house for ideas and information in matters related to school education; and act as a nodal agency for achieving the goals of Universalisation of Elementary Education
नियत तिथि:
29 – May – 2018
शिकायत की स्थिति:
लम्बित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
फीडबैक की स्थिति:
आवेदन का संलग्नक
अग्रसारित विवरण
क्र..
सन्दर्भ का प्रकार
आदेश देने वाले अधिकारी
आदेश दिनांक
अधिकारी को प्रेषित
आदेश
आख्या दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन सन्दर्भ
14 – May – 2018
जिलाधिकारीमिर्ज़ापुर,
अनमार्क
जनसुनवाई
समन्वित शिकायत निवारण प्रणाली, उत्तर प्रदेश
सन्दर्भ संख्या:-40019918011273
आवेदनकर्ता का विवरण :
नाम योगी एम पी सिंह
पिता/पति का नाम  
लिंग :
मोबाइल नंबर-1 : 7379105911
मोबाइल नंबर-2 : 7379105911
ईमेल yogimpsingh@gmail.com
क्षेत्र नगरीय
प्रदेश उत्तर प्रदेश
जनपद मिर्ज़ापुर
तहसील सदर
ब्लाक —-
ग्राम पंचायत —-
थाना कोतवाली कटरा
Address : तहसीलसदर, जिलामिर्ज़ापुर
शिकायत/सुझाव क्षेत्र की जानकारी :
क्षेत्र नगरीय
प्रदेश उत्तर प्रदेश
जनपद मिर्ज़ापुर
तहसील सदर
ब्लाक :
ग्राम पंचायत —-
ग्राम 0
थाना कोतवाली कटरा
आवेदन का विवरण :
आवेदन पत्र का विवरण :
सन्दर्भ का प्रकार शिकायत
अधिकारी अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव/सचिव
विभाग बेसिक शिक्षा विभाग
सन्दर्भ श्रेणी भ्रष्टाचार / वित्तीय अनियमितता/कार्योंविभागीय योजनाओं में लापरवाही/जांच
Application Old Reference No : 40019918010136
संलग्नक : है
आवेदन का विवरण
शिकायत संख्या
40019918011273
आवेदक कर्ता का नाम:
योगी एम पी सिंह
आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:
7379105911,7379105911
विषय:
शिकायत संख्या-40019918010137, शिकायत संख्या-40019918010136 and शिकायत संख्या 40019918009304 जिनको निदेशक बेसिक शिक्षानिदेशालय, अपर मुख्यसचिवप्रमुखसचिवसचिवबेसिक शिक्षाविभाग और जिलाधिकारीमिर्ज़ापुर के स्तर से निस्तारित होना था | इन सभी का निस्तारण बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा निम्न पत्रांक बेसिक१५९२२०१८१९दिनांक०२०५२०१८द्वारा प्रकरणनिस्तारित(आख्या संलग्नहै) किया गया है | श्री मान जी जिलाधिकारी मिर्ज़ापुर को संबोधित उक्त पत्र में स्पस्ट रूप से लिखा है की मामले की जांच खंड शिक्षा अधिकारी नगर से कराई गई| खंड शिक्षा अधिकारी नगर क्षेत्र मिर्ज़ापुर की आख्या पत्रांक बेसिक२३६२०१७१८ दिनांक २७०४२०८ वास्तव में दिनांक २७०४२०१८ के द्वारा सेंट बीबीएलसंस्थान के प्रबंधक को विद्यालय में शासन द्वारा निर्धारित एन सी ईआरटी की ही पुस्तके पढाये जाने तथा बच्चो को किसी भी बिशिष्ट दूकान से किताबो की पूरी सेट खरीदने के लिए बाध्य किये जाने का निदेश दे दिया गया है| साथ ही साथ विद्यालय प्रबंधक से इस सम्बन्ध में स्पस्टीकरण भी माँगा गया है | श्री मान जी प्रार्थी द्वारा भी उपरोक्त जिलाधिकारी को संबोधित पत्र की स्कैन कॉपी प्रबंधकप्रधानाचार्य को उनके व्हाट्सअप पे भेजा गया और पढ़ी भी किन्तु अभी तक उसका कोई असर नही दिख रहा है | मैडम अगर एक भी किताब एन सी ईआर टी की चलाई हो तो बेसिक शिक्षा अधिकारी महोदय स्पस्ट करे | श्री मान जी बेसिक शिक्षा अधिकारी महोदय निदेशक बेसिक शिक्षानिदेशालय, अपर मुख्यसचिवप्रमुखसचिवसचिवबेसिक शिक्षाविभाग और जिलाधिकारीमिर्ज़ापुर को गुमराह कर रहे है अथवा मुख्यमंत्री कार्यालय को जो जनसुनवाई पर की गई शिकायतों का सूक्ष्मता से अध्ययन करता है या सभी एक जुट हो कर प्रार्थी को | श्री मान जी इस तरह की बेबुनियाद रिपोर्ट्स समन्वित जनसुनवाई पोर्टल का भी मजाक बना कर रख दिया है | श्री मान जी एक तरफ बेसिक शिक्षा अधिकारी महोदय कह रहे है की प्रबंधन को निर्देशित कर दिया गया है की वे National Council of Educational Research and Training की पुस्तके पढाये किन्तु दुर्भाग्य की बात है की उन पुस्तकों में कमीशन मिलने की वजह से अधिकारी और प्रबंधन मिलकर इतनी ख़राब पुस्तके चला रहे जिसका बाइंडिंग उसी दिन अलग हो गया जिस दिन लाया गया चार हजार की पुस्तके खरीदने के उपरांत अभी तक पूरी पुस्तके नही खरीदी जा सकी क्यों की दुकानदार ने एक हप्ते उपरांत फिर बुलाया है जब की कुछ पुस्तके पहले से मौजूद है सोचिये लिस्ट की समस्त पुस्तके लेने पर विद्यालय में ही बंडल उपलब्ध है फिर प्रार्थी को क्यों बार बार दौड़ाया जा रहा है| श्री मान जी पांच बार दूकान का चक्कर लगा चूका किन्तु समस्या का हल नही हुआ| सोचिये गवर्नमेंट का उत्तम पहल फ़ैल हो रहा सिर्फ व्यवस्था में फैले हुए भ्रस्टाचार के वायरसविषाणु की वजह से और राष्ट्रीय शिक्षा परिषद् की किताबे जो की उत्तम है उनको नजर अंदाज किया जा रहा है अर्थात हम विद्वता को अपमानित कर रहे है |The National Council of Educational Research and Training (NCERT) is an autonomous organisation set up in 1961 by the Government of India to assist and advise the Central and State Governments on policies and programmes for qualitative improvement in school education The major objectives of NCERT and its constituent units are to undertake, promote and coordinate research in areas related to school education; prepare and publish model textbooks, supplementary material, newsletters, journals and develops educational kits, multimedia digital materials, etc organise pre-service and in-service training of teachers; develop and disseminate innovative educational techniques and practices; collaborate and network with state educational departments, universities, NGOs and other educational institutions; act as a clearing house for ideas and information in matters related to school education; and act as a nodal agency for achieving the goals of Universalisation of Elementary Education
नियत तिथि:
13 – Jun – 2018
शिकायत की स्थिति:
लम्बित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
फीडबैक की स्थिति:
आवेदन का संलग्नक
अग्रसारित विवरण
क्र..
सन्दर्भ का प्रकार
आदेश देने वाले अधिकारी
आदेश दिनांक
अधिकारी को प्रेषित
आदेश
आख्या दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन सन्दर्भ
14 – May – 2018
अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव/सचिव बेसिक शिक्षा विभाग
अनमार्क

5 2 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
2 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh

श्री मान जी प्रार्थी द्वारा भी उपरोक्त जिलाधिकारी को संबोधित पत्र की स्कैन कॉपी प्रबंधकप्रधानाचार्य को उनके व्हाट्सअप पे भेजा गया और पढ़ी भी किन्तु अभी तक उसका कोई असर नही दिख रहा है | मैडम अगर एक भी किताब एन सी ईआर टी की चलाई हो तो बेसिक शिक्षा अधिकारी महोदय स्पस्ट करे | श्री मान जी बेसिक शिक्षा अधिकारी महोदय निदेशक -बेसिक शिक्षानिदेशालय, अपर मुख्यसचिवप्रमुखसचिवसचिव-बेसिक शिक्षाविभाग और जिलाधिकारी-मिर्ज़ापुर को गुमराह कर रहे है अथवा मुख्यमंत्री कार्यालय को जो जनसुनवाई पर की गई शिकायतों का सूक्ष्मता से अध्ययन करता है या सभी एक जुट हो कर प्रार्थी को | श्री मान जी इस तरह की बेबुनियाद रिपोर्ट्स समन्वित जनसुनवाई पोर्टल का भी मजाक बना कर रख दिया है | श्री मान जी एक तरफ बेसिक शिक्षा अधिकारी महोदय कह रहे है की प्रबंधन को निर्देशित कर दिया गया है की वे National Council of Educational Research and Training की पुस्तके पढाये किन्तु दुर्भाग्य की बात है की उन पुस्तकों में कमीशन न मिलने की वजह से अधिकारी और प्रबंधन मिलकर इतनी ख़राब पुस्तके चला रहे जिसका बाइंडिंग उसी दिन अलग हो गया जिस दिन लाया गया

Arun Pratap Singh
2 years ago

नियत तिथि: 13 – Jun – 2018 शिकायत की स्थिति: लम्बित रिमाइंडर : फीडबैक : फीडबैक की स्थिति:
आवेदन का संलग्नक संलग्नक देखें अग्रसारित विवरण-
क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी आदेश दिनांक अधिकारी को प्रेषित आदेश आख्या दिनांक आख्या स्थिति आख्या रिपोर्ट
1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 14 – May – 2018 अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव/सचिव -बेसिक शिक्षा विभाग — अधीनस्थ को प्रेषित
2 अंतरित अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव/सचिव (बेसिक शिक्षा विभाग ) 15 – May – 2018 जिलाधिकारी-मिर्ज़ापुर, नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें अधीनस्थ को प्रेषित
3 आख्या जिलाधिकारी ( ) 15 – May – 2018 बेसिक शिक्षा अधिकारी-मिर्ज़ापुर,बेसिक शिक्षा विभाग नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें अनमार्क