समाज कल्याण अधिकारी संशोधित डाटा को जालसाजी बता रहा है और अनुसूचित जाति गरीब कन्या को छात्रवृत्ति से वंचित

आवेदन
का विवरण
शिकायत
संख्या
40019919020161
आवेदक कर्ता का
नाम:
Yogi M P Singh
आवेदक कर्ता का
मोबाइल न०:
9794760348,9794760348
विषय:
श्री मान जी
जिला समाज कल्याण अधिकारीमिर्ज़ापुर, शिकायत संख्या-60000190041001 और जिला समाज कल्याण अधिकारीमिर्ज़ापुर के
द्वारा प्रस्तुत आख्या भी
इस शिकायत के साथ संलग्न है
| रिपोर्ट में आप
ने लिखा है चूकि छात्रवृत्ति आवेदन पत्र भरे जाने से
पूर्व रजिस्ट्रेशन करना होता है जिसमे छात्र छात्राओं को अन्य सभी विवरण के साथ जाति भी
अंकित करनी होती है
छात्रा द्वारा अनुसूचित जाति भरा गया है जिसको जालसाजी करके अनुसूचित जनजाति बनाया गया है | श्री मान जी आपने शिकायत पत्र का अवलोकन ठीक से
नही किया | जिस आवेदन पत्र में अनुसूचित जनजाति भरा है वह संशोधित आवेदन पत्र है और वह
अधिकार राज्य सरकार द्वारा हर छात्र छात्रा को मिलता है की भरे हुए डाटा में जो
त्रुटी हो शुद्ध करले और छात्रा द्वारा उसी समय संशोधित किया गया है
| फिर वह संशोधन जालसाजी कैसे हुआ आप
तथ्यहीन अनर्गल प्रलाप कर
रहे है
अपनी कमिया छुपाने वास्ते | श्री मान रजिस्ट्रेशन के उपरांत आप के
विभाग द्वारा छात्र छात्रा द्वारा भरी प्रविष्टियों का
तीन दिन तक बारीकी के साथ मिलान होता है जिसमे जाति आय
और कक्षा १० का
प्रमाण पत्र शामिल है
| श्री मान जी
जब छात्रा का जाति प्रमाण पत्र उसके जाति से मिलान नही हो
पाया तो
आप के
विभाग कैसे छात्रा के
रजिस्ट्रेशन को
.के. कर दिया गया | क्या इसमें आप लोगो की कर्तव्य शिथिलिता परिलक्षित नही होती | आप को उसी समय संशोधन वास्ते अलर्ट करना चाहिए था जो
आपके विभाग द्वारा नही किया गया | आप का दोष तो तब
दिखाई देगा जब यह
मामला तीसरे को रेफेर किया जाय |
नियत तिथि:
08 – May – 2019
शिकायत की स्थिति:
लम्बित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
फीडबैक की स्थिति:

आवेदन
का संलग्नक

अग्रसारित विवरण

क्र..
सन्दर्भ
का प्रकार
आदेश
देने वाले अधिकारी
आदेश
दिनांक
अधिकारी
को प्रेषित
आदेश
आख्या
दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या
रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन
सन्दर्भ
23 – Apr – 2019
जिला समाज कल्याण अधिकारीमिर्ज़ापुर,समाज कल्‍याण विभाग
अनमार्क

आवेदन
का विवरण
शिकायत
संख्या
60000190041001
आवेदक कर्ता का
नाम:
Yogi M P Singh
आवेदक कर्ता का
मोबाइल न०:
7379105911,
विषय:
An application under article 51 A of the
constitution of India in order to be instrumental in providing justice to
weaker and downtrodden section. Matter is concerned with the deep rooted
irregularities in the disbursement of scholarships to students.If director
social welfare Lucknow and social welfare officer at district level are whole
sole authority, then there is open gate of tyranny, arbitrariness and
corruption.
श्री मान जी समाज कल्याण अधिकारी मिर्ज़ापुर पहले छात्रा का
नाम या
संबोधन बंद करे क्योकि यदि कोई जालसाजी प्रार्थी के आवेदन से जुड़ा है तो
प्रार्थी दंड भुगतने के
लिए तैयार है छात्रा को इन
सभी बातो से दूर रखा जाय और हमारी बात हमारे परंपरा के
अनुरूप है
प्रार्थी ने भारतीय संबिधान के अनुच्छेद ५१ अ के अंतर्गत स्वतः प्रत्यावेदन
प्रस्तुत किया है जोकि प्रार्थी का मूल कर्तव्य है प्रार्थी समाज कल्याण अधिकारी
की इस बात से सहमत है की कॉलेज इन्हें वह प्रति उपलब्ध कराई जिसमे प्रार्थी
द्वारा अनुसूचित जाति भरा है किन्तु वह संशोधन के पहले का है श्री मान जी प्रार्थी
द्वारा दिनांक २२
/१२/२०१८ को संशोधन किया गया है जो
की संलग्नको से स्पष्ट है और उसमे प्रार्थी द्वारा अनुसूचित जनजाति भरा गया है
श्री मान जी २२
/१२/२०१८ के पश्चात जब प्रार्थी
द्वारा डाटा शुद्ध करके लॉक कर दिया गया तो उसे अनुसूचित जनजाति से अनुसूचित
जाति किसने बनाया यह उन्ही लोगो की साजिश है जो प्रार्थी को छात्रवृत्ति से
वंचित करना चाहते है यह हेराफेरी जालसाजी की कोटि में आता है जिसका उद्देश्य एक
दलित वर्ग की कन्या को उसके अधिकार से वंचित करने हेतु किया गया कुचक्र है जो की
किसी भी तरह से क्षम्य नही है श्री मान जी क्या प्रार्थी द्वारा संशोधित लॉक्ड
डाटा को क्या समाज कल्याण अधिकारी मिर्ज़ापुर और निदेशक समाज कल्याण पुनः संशोधित
कर सकते है या उसे उसी अवस्था में बने रहना चाहिए श्री मान जी क्या प्रार्थी के
लॉक्ड डाटा को सुरक्षित रखना सरकार का काम नही है श्री मान जी डाटा संशोधन करने
के उपरांत कन्या ने हार्ड कॉपी कॉलेज में जमा करने का प्रयास किया किन्तु
महाविद्यालय में सारे काम काज थप थे छात्रसंघ हड़ताल पर था जो की पूर्व के
ग्रिएवांस में स्पस्ट है ऐसी दशा में प्रार्थी द्वारा शुद्ध की गई हार्ड कॉपी
समाज कल्याण अधिकारी मिर्ज़ापुर को उपलब्ध कराइ थी जिसकी प्रति तुरंत समाज कल्याण
अधिकारी द्वारा कॉलेज और निदेशक को भेजी गई किन्तु बाद में इन लोगो के मन में
पाप आ गया और इन लोगो ने लॉक्ड अकाउंट को खोल कर अनुसूचित जन जाति पुनः अनुसूचित
जाति बना दिया जो की गंभीर और अक्षम्य अपराध है जिसके लिए मामले में प्रथम सूचना
रिपोर्ट दर्ज होनी ही चाहिए श्री मान जी इस रिपोर्ट को भी गौर से देखे और पूर्व
रिपोर्ट और इस रिपोर्ट में क्या अंतर है अर्थात मामले में प्रथम सूचना रिपोर्ट
दाखिल होना ही चाहिए चाहे वह निदेशक ही क्यों न हो
नियत तिथि:
12 – May – 2019
शिकायत की स्थिति:
निस्तारित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
दिनांक 23/04/2019को फीडबैक:- श्री मान जी
जिला समाज कल्याण अधिकारीमिर्ज़ापुर,समाज कल्याखण बार बार एक
ही बात को दुहरा रहे है
और आप
उसे इस
तरह ले
रहे है
जैसे वही मुख्यमंत्री मुख्य सचिव , प्रमुख सचिव हो गये है | श्री मान जी शिकायत समाज कल्याण अधिकारी और
निदेशक समाज कल्याण की
की गयी है और
यह सच
है की
उनका प्रस्तुत किया गया रिपोर्ट तर्क संगत नही है किन्तु आप लोग आख मूद कर स्वीकार किये जिससे भ्रस्टाचार को
बल मिल रहा है
| श्री मान जी
यह तो
प्रार्थी द्वारा भी स्वीकार किया गया की छात्रा द्वारा अनुसूचित जाति भरा गया है
किन्तु उसको संशोधित किया गया है
नियमानुसार जब
राज्य सरकार द्वारा संशोधन वास्ते वेबसाइट खोली गयी संशोधन के
पश्चात सुधारवास्ते समाज कल्याण अधिकारी राज्य सरकार के
समस्त जिम्मेदार अधिकारिओं के
यह भेजी गई| तो उसमे कॉलेज को शामिल करने की
आवश्यकता कैसे हो गयी | कॉलेज को भी
कॉपी समाज कल्याण अधिकारी के माध्यम से भेजी गयी जिसका
प्रमाण है
| ठीक है आप
स्वीकार कर
रहे है
किन्तु यही सब बाते जनसूचना अधिकार के तहत प्राइम मिनिस्टर कार्यालय के
समक्ष अवसर आने पर
जनसूचना अधिकार के तहत रखा जाएगा | देखता हु वह
क्या करते है |
फीडबैक की स्थिति:
फीडबैक
प्राप्त

आवेदन
का संलग्नक

अग्रसारित विवरण

क्र..
सन्दर्भ
का प्रकार
आदेश
देने वाले अधिकारी
आदेश
दिनांक
अधिकारी
को प्रेषित
आदेश
आख्या
दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या
रिपोर्ट
1
अंतरित
लोक शिकायत अनुभाग – 1(मुख्यमंत्री कार्यालय )
12 – Apr – 2019
जिलाधिकारीमिर्ज़ापुर,
कृपया
शीघ्र नियमानुसार कार्यवाही किये जाने की अपेक्षा की गई है।
22/04/2019
निस्तारित
2
आख्या
जिलाधिकारी ( )
12 – Apr – 2019
जिला समाज कल्याण अधिकारीमिर्ज़ापुर,समाज कल्‍याण विभाग
नियमनुसार
आवश्यक कार्यवाही करें
18/04/2019
Letter No 76 Date 18-04-2019 DSWO Mirzapur
…………………………………………
………………………………………..
………………………………………..
निस्तारित

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
4 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Yogi
1 year ago

श्री मान जी जिला समाज कल्याण अधिकारी-मिर्ज़ापुर,समाज कल्याखण बार बार एक ही बात को दुहरा रहे है और आप उसे इस तरह ले रहे है जैसे वही मुख्यमंत्री मुख्य सचिव , प्रमुख सचिव हो गये है | श्री मान जी शिकायत समाज कल्याण अधिकारी और निदेशक समाज कल्याण की की गयी है और यह सच है की उनका प्रस्तुत किया गया रिपोर्ट तर्क संगत नही है किन्तु आप लोग आख मूद कर स्वीकार किये जिससे भ्रस्टाचार को बल मिल रहा है |

Preeti Singh
1 year ago

फीडबैक : दिनांक 07/05/2019को फीडबैक:- शिकायतकर्ता द्वारा बताया गया की वह विभाग द्वारा दिए गये समाधान से संतुष्ट नहीं है,कृपया समस्या का जल्द से जल्द समाधान किया जाये|
फीडबैक की स्थिति: फीडबैक प्राप्त
आवेदन का संलग्नक संलग्नक देखें अग्रसारित विवरण-
क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी आदेश दिनांक अधिकारी को प्रेषित आदेश आख्या दिनांक आख्या स्थिति आख्या रिपोर्ट
1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 23 – Apr – 2019 जिला समाज कल्याण अधिकारी-मिर्ज़ापुर,समाज कल्‍याण विभाग — 23/04/2019 सम्बन्धित शिकायती प्रार्थना–पत्र के क्रम में सूचना आपको पूर्व में ही उपलब्ध करायी जा चुकी है। निस्तारित

Beerbhadra Singh
1 year ago

Think about the gravity of situation that a wrongdoer social welfare officer and a director is making allegation of forgery against a public spirited person and a girls student belonging to scheduled tribe while actually forgery was committed by the social welfare officer and the director so both the officers must be prosecuted under the scheduled caste and scheduled tribe act. Since there is rampant corruption in our system so action is not being taken against the wrongdoer staffs of the government. Only to say that there is honesty in the government machinery as few volunteers of saffron brigade and corrupt public servants are itself crying falsely of honesty in order to mislead public.

Bhoomika Singh
Bhoomika Singh
6 months ago

Such corrupt officers must be immediately terminated from the service in the interest of public and this lesson must be learnt from the China but I know well that our government machinery is full of corrupt people who will not promote the culture of honesty because our political Masters who are seated on the top most will never promote honesty in the government machinery which is our unfortunate.