श्री मान जी पूर्वी छोर पर मड़हा रख कर तालाब कब्ज़ा किया गया है न की पश्चिमी छोर पर तहसीलदार महोदय जी

आवेदन का विवरण
शिकायत संख्या
40019918008317
आवेदक कर्ता का नाम:
हरिश्चंद पासी
आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:
7054703028,7054703028
विषय:
तहसीलदार सदर ने अपने रिपोर्ट में कहा है की १५ दिन में बेदखली की कार्यवाही कर दी जायेगी किन्तु अब तो ३० दिन बीत गये किन्तु स्थिति ज्यो का त्यों बनी हुई है | पूर्व की रिपोर्ट में कहा गया की कब्जेदार कब्जा हटाने को तैयार है किन्तु १५ दिन में बेदखली की धमकी भी कोई रंग नही दिखा सकी अर्थात कार्यालय में बैठकर रिपोर्ट तैयार करने से किसी भी मामले का निस्तारण नही होगा| क्या कब्जेदारो को कोई नोटिस भेजी गयी अभी तक यदि नही तो क्यों | प्रश्नगत प्रकरण में ग्राम आदमपुर के 0नं0 93 का स्थ लीय एवं अभिलेखीय जांय किया गया। जांचोपरान्ता 0नं0 93 तालाब की भूमि है। तालाब की पश्चिमी तरफ चकमार्ग बना है। चकमार्ग तालाब में कटकर फिसल गया है तथा तालाब की पश्चिमी सिरे पर मडहा आदि विपक्षी द्वारा रखा गया था। जिसे हटाने के के लिए कहा गया और विपक्षी हटाने के लिए तैयार है एवं ग्राम प्रधान से कहा गया सडक निर्माण का कार्य कराया जाय। तालाब के भीटे पर कुछ लोगों द्वारा अवैध कब्जा किया गया है। उन लोगों को भी अवैध कब्जाा हटाने के लिए कहा गया एवं कब्जेदारों को 15 दिन का कब्जा‍ हटाने के लिए समय दिया गया है। यदि कब्जा् नहीं हटाते हें तो उनके विरूद्ध बेदखली की कार्यवाही कर दी जायेगी।
नियत तिथि:
26 – Apr – 2018
शिकायत की स्थिति:
निस्तारित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
दिनांक 21/05/2018को फीडबैक:- श्री मान जी पूर्वी छोर पर मड़हा रख कर तालाब कब्ज़ा किया गया है की पश्चिमी छोर पर |श्री मान जी तहसील सदर में आराजकता का आकलन इसी बात से लगाया जा सकता है की कभी कोई मौके पर गया ही नही और कार्यालय में बैठे रिपोर्ट लग गई | सरकार इतना ज्यादा तनख्वाह सिर्फ कार्यालय में बैठने के लिए देती है |इनकी सारी रिपोर्ट झूठी है और यदि प्रार्थी से मिले ही नही तो उसकी समस्या कैसे हल होगयी |मै गरीब आदमी और तहसीलदार चाहते है की हम शक्ति संपन्न और प्रभावशाली राजपूतो के क्रोध का सामना करू | हमारे रास्ते में तो यादवो ने मड़हा लगाया नकी राजपूतो ने |तहसीलदार महोदय आपस में सौहार्द बढ़ाने की जगह बैबनस्यता पैदा कर रहे है अरे पूर्वी छोर पर रखे मड़हे को हटाये होते तो आज दो नये मड़हे उसी स्थान पर चढ़े होते |श्री मान जी आपने तहसीलदार महोदय समस्या हल करते की बढ़ाते है | हम तो सिर्फ रोड सही करने के लिए सबल प्रयोग करके लगाए गये मड़हे को हटाने के लिए कह रहे जिसमे किसी का भी अहित नही है | किन्तु तहसीलदार महोदय मामले को अलग रूख दे कर लड़ाई लगा रहे है जो सरकारी मुलाजिम को शोभा नही देता है |मड़हा जिस जगह यादव ने लगाया है उस जगह उनकी एक धुर भी जमीन नही है और दस विस्वा कब्ज़ा किये हुए है और एक मड़हा हटा लेते तो क्या बिगड़ जाता उनका और वह दस विश्वा जमीन तालाब की ही है और तहसीलदार महोदय यादव से एक मड़हा उस जमीन से नही हटाना चाहते है क्यों की अगर सिर्फ कहलवा देते तो भी जमीन से वे लोग मड़हा हटा लेते क्यों की उनके कब्जे में तालाब की दस विश्व जमीन है कुछ तो गड़बड़ है | प्रकरण में ग्राम प्रधान द्वारा पश्चिमी छोर पर मिटटी डालकर चकरोड बनवाया गया था, जो खिसक कर पानी में गिर गया है, ग्राम प्रधान से कहा गया कि मिटटी फेंककर कार्य करवाये। विपक्षी द्वारा जो मडहा लगवाया गया था अपने आप क्षीर्ण हो गया है, ग्राम प्रधान कहा गया कि तालाब का साफ सफाई करवाना है, जो मिटटी खिसक गया गया है उसके ऊपर मिटटी डलवा देंगे रास्ताा पूर्ण हो जायेगा।
फीडबैक की स्थिति:
फीडबैक प्राप्त
आवेदन का संलग्नक
अग्रसारित विवरण
क्र..
सन्दर्भ का प्रकार
आदेश देने वाले अधिकारी
आदेश दिनांक
अधिकारी को प्रेषित
आदेश
आख्या दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन सन्दर्भ
11 – Apr – 2018
जिलाधिकारी
मिर्ज़ापुर,
25/04/2018
आख्या अपलोड है
निस्तारित
2
आख्या
जिलाधिकारी ( )
11 – Apr – 2018
उप जिलाधि‍कारी सदर,जनपद
मिर्ज़ापुर,राजस्व
एवं आपदा विभाग
नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें आख्या अपलोड है
25/04/2018
निस्तारित
3
आख्या
उप जिलाधि‍कारी (राजस्व एवं आपदा विभाग )
11 – Apr – 2018
तहसीलदार
सदर,जनपद
मिर्ज़ापुर,
राजस्व एवं आपदा विभाग
आवश्यक कार्यवाही करने का कष्ट करें एवं आख्या प्रेषित करें
25/04/2018
प्रकरण में ग्राम प्रधान द्वारा पश्चिमी छोर पर मिटटी डालकर चकरोड बनवाया गया था, जो खिसक कर पानी में गिर गया है, ग्राम प्रधान से कहा गया कि मिटटी फेंककर कार्य करवाये। विपक्षी द्वारा जो मडहा लगवाया गया था अपने आप क्षीर्ण हो गया है, ग्राम प्रधान कहा गया कि तालाब का साफ सफाई करवाना है, जो मिटटी खिसक गया गया है उसके ऊपर मिटटी डलवा देंगे रास्‍ता पूर्ण हो जायेगा।

5 2 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
2 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh

श्री मान जी पूर्वी छोर पर मड़हा रख कर तालाब कब्ज़ा किया गया है न की पश्चिमी छोर पर |श्री मान जी तहसील सदर में आराजकता का आकलन इसी बात से लगाया जा सकता है की कभी कोई मौके पर गया ही नही और कार्यालय में बैठे रिपोर्ट लग गई | सरकार इतना ज्यादा तनख्वाह सिर्फ कार्यालय में बैठने के लिए देती है |इनकी सारी रिपोर्ट झूठी है और यदि प्रार्थी से मिले ही नही तो उसकी समस्या कैसे हल होगयी |मै गरीब आदमी और तहसीलदार चाहते है की हम शक्ति संपन्न और प्रभावशाली राजपूतो के क्रोध का सामना करू | हमारे रास्ते में तो यादवो ने मड़हा लगाया नकी राजपूतो ने |तहसीलदार महोदय आपस में सौहार्द बढ़ाने की जगह बैबनस्यता पैदा कर रहे है अरे पूर्वी छोर पर रखे मड़हे को हटाये होते तो आज दो नये मड़हे उसी स्थान पर न चढ़े होते |श्री मान जी आपने तहसीलदार महोदय समस्या हल करते की बढ़ाते है | हम तो सिर्फ रोड सही करने के लिए सबल प्रयोग करके लगाए गये मड़हे को हटाने के लिए कह रहे जिसमे किसी का भी अहित नही है | किन्तु तहसीलदार महोदय मामले को अलग रूख दे कर लड़ाई लगा रहे है जो सरकारी मुलाजिम को शोभा नही देता है |

Preeti Singh
2 years ago

Think about the gravity of situation that supreme court of India has passed an explicit order in order to curb the grabbing of land of ponds and lakes as adversely affect the environment.
मड़हा जिस जगह यादव ने लगाया है उस जगह उनकी एक धुर भी जमीन नही है और दस विस्वा कब्ज़ा किये हुए है और एक मड़हा हटा लेते तो क्या बिगड़ जाता उनका और वह दस विश्वा जमीन तालाब की ही है और तहसीलदार महोदय यादव से एक मड़हा उस जमीन से नही हटाना चाहते है क्यों की अगर सिर्फ कहलवा देते तो भी जमीन से वे लोग मड़हा हटा लेते क्यों की उनके कब्जे में तालाब की दस विश्व जमीन है कुछ तो गड़बड़ है | प्रकरण में ग्राम प्रधान द्वारा पश्चिमी छोर पर मिटटी डालकर चकरोड बनवाया गया था, जो खिसक कर पानी में गिर गया है, ग्राम प्रधान से कहा गया कि मिटटी फेंककर कार्य करवाये। विपक्षी द्वारा जो मडहा लगवाया गया था अपने आप क्षीर्ण हो गया है, ग्राम प्रधान कहा गया कि तालाब का साफ सफाई करवाना है, जो मिटटी खिसक गया गया है उसके ऊपर मिटटी डलवा देंगे रास्ताा पूर्ण हो जायेगा।
फीडबैक की स्थिति: फीडबैक विचाराधीन