तालाब की जमीन पर अवैध कब्जा सिर्फ एक मड़हा हटा ले तो रास्ता सही हो जाएगा वह भी नही छोड़ना चाहते है

आवेदन
का विवरण
शिकायत
संख्या
40019918013123
आवेदक कर्ता का
नाम:
हरिश्चंद
पासी
आवेदक कर्ता का
मोबाइल न०:
7054703028,7054703028
विषय:
जनसुनवाई पोर्टल पर
तहसीलदार सदर का यह
चौथा आख्या प्रस्तुत किया गया है
और शिकायत का चार बार निस्तारण हो चूका किन्तु प्राथी से तो आज तक
कोई मिला और ही शिकायत सम्बन्धी बिन्दुओं को
ही छुआ| शिकायतकर्ता से
लेखपाल कभी मिला ही
नही कभी भी वह
प्रधान को
छोड़ कर
किसी अन्य से संपर्क ही नही साधते इसलिए वह हमेशा प्रधान के
द्वारा मिसलीड होता रहता है | श्री मान जी यदि शिकायतकर्ता से
कोई मिल कर शिकायत का हल
निकालेगा तो
हल
निकलेगा इनकी यह चौथी आख्या है
और सच
यह है
की इन्हें वस्तुस्थित की
ही जानकारी नही है
और सभी तीर अधेरे में चला रहे है
जिनका मामले से कुछ लेना देना ही नही है | श्री मान जी तालाब पटवाने की
क्या आवश्यकता है उसको तो वैसे ही लोग पाट ले
रहे है
रास्ते का
मड़हा हटवाये | इतने बड़े तालाब को पटवा दिया गया है किन्तु हमे उससे मतलब नही किन्तु पूर्वी छोर पर
तालाब के
भीटा से
मड़हा हटा कर रोड स्पस्ट किया जाय और
प्रधान जैसे लोगो का
नाम लेकर कनफूजन की
स्थिति पैदा करे | श्री मान जी पूर्वी छोर पर
मड़हा रख
कर तालाब कब्ज़ा किया गया है
की
पश्चिमी छोर पर |श्री मान जी तहसील सदर में आराजकता का
आकलन इसी बात से
लगाया जा
सकता है
की कभी कोई मौके पर गया ही नही और कार्यालय में बैठे रिपोर्ट लग
गई | सरकार इतना ज्यादातनख्वाह सिर्फ कार्यालय में बैठने के
लिए देती है |इनकी सारी रिपोर्ट झूठी है और
यदि प्रार्थी से मिले ही नही तो उसकी समस्या कैसे हल होगयी |मै गरीब आदमी और तहसीलदार चाहते है
की हम
शक्ति संपन्न और प्रभावशाली राजपूतो के
क्रोध का
सामना करू | हमारे रास्ते में तो यादवो ने मड़हा लगाया की राजपूतो ने
|तहसीलदार महोदय आपस में सौहार्द बढ़ाने की
जगह बैबनस्यता पैदा कर
रहे है
अरे पूर्वी छोरपर रखे मड़हे को
हटाये होते तो आज
दो नये मड़हे उसी स्थान पर
चढ़े होते |श्री मान जी अपने तहसीलदार महोदय समस्या हल
करते है
की बढ़ाते है | हम तो सिर्फ रोड सही करने के लिए सबल प्रयोगकरके लगाए गये मड़हे को
हटाने के
लिए कह
रहे जिसमे किसी का
भी अहित नही है
| किन्तु तहसीलदारमहोदय मामले को अलग रूख दे
कर लड़ाई लगा रहे है जो
सरकारी मुलाजिम को शोभा नही देता है |मड़हा जिस जगह यादव ने लगाया है उस
जगह उनकी एक धुर भी जमीन नही है
और दस
विस्वा तालाब की जमीन कब्ज़ा किये हुए है
और एक
मड़हा हटा लेते तो
क्या बिगड़ जाता उनका और वह
दस विश्वा जमीन तालाब की ही
है और
तहसीलदार महोदय यादव से
एक मड़हा उस जमीन से नही हटाना चाहते है क्यों की अगर सिर्फ कहलवा देते तो
भी जमीन से वे
लोग मड़हा हटा लेते क्यों की
उनके कब्जे में तालाब की दस
विश्व जमीन है कुछ तो गड़बड़ है |श्री मान जी आज
तालाब की
उसी जमीन पर दो
नये मड़हे चढा दिए गये जो
की कानून ब्यवस्था का
मजाक है
| श्री मान जी
तहसील सदर एक ऐसी तहसील है
जहा २५
वर्षो से
लोग डटे है हटना भी नही चाहते है
और कोई हटा भी
नही रहा है अन्यथा इतनी बड़ी आराजकता का
सामना करना पड़ता | श्री मान जी प्रार्थी को न्याय मिलना चाहिए उसके रास्ते का मड़हा हटना ही
चाहिए क्यों की न्याय की यही माग है
माननीय सर्वोच्च न्यायालय के
अनुसार तो कोई तालाब की जमीन कब्ज़ा कर
सकता है
और ही कोई कब्ज़ा करा सकता है चाहे किसी पोस्ट पर आसीन हो | प्रार्थी हरिश्चंद पासी पुत्र छेदी लाल पासी चल
भाष ७०५४७०३०२८
ग्राम आदमपुर ,पोस्टनीबी गहरवार पिनकोड २३१३०३ जिला मिर्ज़ापुर , उत्तर प्रदेश
नियत तिथि:
17 – Jun – 2018
शिकायत की स्थिति:
लम्बित
रिमाइंडर :
प्राप्त अनुस्मारक
क्र..
अनुस्मारक
प्राप्त दिनांक
1
श्री मान जी नियत तिथि 17 – Jun 2018
शिकायत की स्थिति लम्बित और श्री मान जी को
प्रार्थी अवगत कराना चाहता है तहसीलदार सदर के लेखपाल के समक्ष प्रार्थी को
यादव लोग जो की पर्याप्त दबंग है किन्तु लेखपाल ने यह नही कहा की आप लोग गलत
भी है और धमका भी रहे है बल्कि कहे की इस तरह के पत्र हमारे पास अक्सर आते
रहते है आप लोग आपस में समझ बूझ कर रास्ता निकाल लीजिए और पत्र का जवाब हम लगा
देंगे
| बहुत आश्चर्य की बात है आज १८ जून २०१८ है अर्थात नियत तिथि के बाद भी पोर्टल पर आख्या प्रस्तुत
नही की गयी | श्री मान जी आज भी प्रार्थी १० बिस्वा कब्ज़ा जो तालाब की जमीन है खाली करने के लिए नही कह रहा है सिर्फ एक मड़हा जो रास्ते में है उसे हटा ले | श्री मान जी यहा पर विशेष सचिव एवं स्टाफ ऑफिसर मुख्यमंत्री कार्यालय उत्तर प्रदेश शासन लखनऊ के पत्र जो की जिलाधिकारी मिर्ज़ापुर को संबोधित है का जिक्र करना प्रासंगिक है क्यों की उसकी प्रतिलिपि प्रार्थी को भी सूचनार्थ प्रेषित है | संख्या२५० PSMS SO २०१८ लखनऊ दिनांक ०५जून २०१८ पत्र का विषयवस्तु कुछ इस प्रकार है | महोदय संलग्न पत्र में उल्लिखित IGRS संदर्भ का संज्ञान लेने का कष्ट करे | जो की इस कार्यालय को प्राप्त हुआ है | उल्लिखित सन्दर्भ आपके जनपद से सम्बंधित है | अतः संलग्न किये गये IGRS सन्दर्भ पर आवश्यक कार्यवाही कर IGRS प्रणाली पर अपलोड करके प्रार्थी को तत्काल अवगत कराने की अपेक्षा की गई है |संलग्नक यथोक्त उपरोक्त अधिकारी महोदय का हस्ताक्षर है तथा उपरोक्त तिथि अंकित है | उपरोक्त पत्र प्रार्थी को सूचनार्थ प्रेषित है | आवेदन का विवरण शिकायत संख्या 40019918011253 आवेदक कर्ता का नाम हरिश्चंद पासी आवेदक कर्ता का मोबाइल न० 7054703028
18 Jun 2018
फीडबैक :
फीडबैक की स्थिति:
आवेदन
का संलग्नक
अग्रसारित विवरण
क्र..
सन्दर्भ
का प्रकार
आदेश
देने वाले अधिकारी
आदेश
दिनांक
अधिकारी
को प्रेषित
आदेश
आख्या
दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या
रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन
सन्दर्भ
02 – Jun – 2018
जिलाधिकारीमिर्ज़ापुर,
अधीनस्थ
को प्रेषित
2
आख्या
जिलाधिकारी ( )
02 – Jun – 2018
उप
जिलाधि‍कारी सदर,जनपदमिर्ज़ापुर,राजस्व एवं आपदा विभाग
नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें 
अधीनस्थ
को प्रेषित
3
आख्या
उप
जिलाधि‍कारी (राजस्व एवं आपदा विभाग )
04 – Jun – 2018
तहसीलदार सदर,जनपदमिर्ज़ापुर,राजस्व एवं आपदा विभाग
नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें 
कार्यालय
स्तर पर लंबित

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
3 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh

श्री मान जी नियत तिथि 17 – Jun – 2018 शिकायत की स्थिति लम्बित और श्री मान जी को प्रार्थी अवगत कराना चाहता है तहसीलदार सदर के लेखपाल के समक्ष प्रार्थी को यादव लोग जो की पर्याप्त दबंग है किन्तु लेखपाल ने यह नही कहा की आप लोग गलत भी है और धमका भी रहे है बल्कि कहे की इस तरह के पत्र हमारे पास अक्सर आते रहते है आप लोग आपस में समझ बूझ कर रास्ता निकाल लीजिए और पत्र का जवाब हम लगा देंगे | बहुत आश्चर्य की बात है आज १८ जून २०१८ है अर्थात नियत तिथि के बाद भी पोर्टल पर आख्या प्रस्तुत नही की गयी | श्री मान जी आज भी प्रार्थी १० बिस्वा कब्ज़ा जो तालाब की जमीन है खाली करने के लिए नही कह रहा है सिर्फ एक मड़हा जो रास्ते में है उसे हटा ले | श्री मान जी यहा पर विशेष सचिव एवं स्टाफ ऑफिसर मुख्यमंत्री कार्यालय उत्तर प्रदेश शासन लखनऊ के पत्र जो की जिलाधिकारी मिर्ज़ापुर को संबोधित है का जिक्र करना प्रासंगिक है क्यों की उसकी प्रतिलिपि प्रार्थी को भी सूचनार्थ प्रेषित है | संख्या-२५० PSMS SO २०१८ लखनऊ दिनांक -०५-जून -२०१८

Arun Pratap Singh
2 years ago

आख्या उप जिलाधि‍कारी (राजस्व एवं आपदा विभाग ) 04 – Jun – 2018 तहसीलदार -सदर,जनपद-मिर्ज़ापुर,राजस्व एवं आपदा विभाग नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें तहसीलदार सदर के आख्‍यानुसार प्रकरण में नक्‍शे में तालाब के पश्चिमी सिरे पर नक्‍शा में रास्‍ता व चकरोड नहीं है तथा आबादी में घर बना है। ग्राम प्रधान द्वारा‍ मिटटी फेकवाया गया है। मिटटी बहकर तालाब में गिर गया है। प्रधान से कहा गया कि मिटटी फेंकवा कर सडक बनवाये। 23/06/2018 आख्‍या अपलोड। प्रकरण में नक्‍शे में तालाब के पश्चिमी सिरे पर नक्‍शा में रास्‍ता व चकरोड नहीं है तथा आबादी में घर बना है। ग्राम प्रधान द्वारा‍ मिटटी फेकवाया गया है। मिटटी बहकर तालाब में गिर गया है। प्रधान से कहा गया कि मिटटी फेंकवा कर सडक बनवाये। आख्या उच्च स्तर पर प्रेषित

Preeti Singh
2 years ago

How much cunning this patawari is obvious from his working style? Ponds are being covered by Earth and consequently pond's land is encroached by taking concerned public staffs in good faith.What is the size of pond in the records of the court and what really exists at the site can't be overlooked.Whether Patawari is local? If local and posted in home district since many years, then nothing is credible.