पूरे एक वर्ष लग गए एक बी.पी. एल. कार्ड के दो यूनिट बढ़वाने में यही है योगी गवर्नमेंट का सुशासन

पूरे  एक वर्ष लग गए एक बी.पी. एल. कार्ड के  दो यूनिट बढ़वाने में यही है योगी गवर्नमेंट का सुशासन क्या यह भ्रस्टाचार नहीं है | 

आवेदन
का विवरण
शिकायत
संख्या
40019919028800
आवेदक कर्ता का
नाम:
Yogi M P Singh
आवेदक कर्ता का
मोबाइल न०:
7379105911,7379105911
विषय:
आवेदन का विवरण शिकायत संख्या-40019919024704 आवेदक कर्ता का नाम:-Yogi M P Singh इस प्रकरण में जिला पुर्ति अधिकारी द्वारा जो
प्रार्थी का
हलफनामा प्रस्तुत किया गया है वह
पूर्ण रूप से जालसाजी है क्यों की वह
हलफनामा प्रार्थी का नहीं है बल्कि कूट रचना करके तैयार किया गया है | ऐसा करके जिलापूर्ति अधिकारी द्वारा महज वरिष्ठ अधिकारियों को गुमराह किया गया है | सोचिये ऐसे अधिकारी की
क्या विश्वसनीयता है जो
उस व्यक्ति का जाली हलफनामा लगा सकता है
जिसे वह
दूर तक
नहीं जानता है | जिलापूर्ति
अधिकारी मिर्ज़ापुर द्वारा प्रस्तुत
हलफनामे का आदि से अंत तक प्रार्थी से कोई सरोकार नहीं है क्यों उनका कोई स्टाफ
आज तक हमसे मिला ही नहीं
| D.S.O. Mirzapur submitted forged documents before the senior
rank officers so he must be subjected to scrutiny under sections 465,466,467,468,469
and 471 of I.P.C.​ ​Section 465 in The Indian Penal Code-Whoever commits
forgery shall be punished with imprisonment of either description for a term
which may extend to two years, or with fine, or with both.​ ​Section 466 in
The Indian Penal Code 466. Forgery of record of Court or of public register,
etc.IPC 467: Section 467 of the Indian Penal Code​ ​Forgery of valuable
security, will, etc.​ ​IPC 468: Section 468 of the Indian Penal Code​
​Forgery for purpose of cheating​. ​Section 469 in The Indian Penal Code 469.
Forgery for purpose of harming reputation.Section 471 in The Indian Penal
Code 471. Using as genuine a forged document or electronic record.
दिनांक 25/07/2019को फीडबैक:- श्री मान जी प्रार्थी को चल
भाष संख्या ९७९३४६२४७१ से फोन किया गया तो प्रार्थी द्वारा उपलब्ध डिटेल से
अवगत कराया गया किन्तु जब इक्षा शक्ति हो
तब तो
कार्य हो
इसलिए समस्त डिटेल वेबसाइट पर हो
जिससे बार बार बहाना कर
सके | आज तो चार बार फोन किये रिंग गया पिक अप
नहीं किये क्यों की
अपने आप
को जनता का नौकर समझते ही
नहीं |यदि नौकर अपने आप
को भूल बस मालिक समझेगा तो
क्या परिणाम अनुकूल होगा | कार्ड धारक का
लड़कादीनानाथ/DINANATH का आधार संख्या – 649444035029, कार्ड धारक का
नातीसत्यम भारतीया का
आधार संख्या – 785295102316
का नाम राशन कार्ड में सूची बद्ध करना है | पात्रता सूची का पू्र्ण विवरण 1.- डिजिटाइज्ड
राशन कार्ड संख्या-219940354159, 2.-कार्ड का प्रकारपात्र गृहस्थी, 3.-दुकानदार का
नामपंचू पासी, 4.-दुकान संख्या– 20690314 5.-धारक का नामश्रीमती इंद्रावाती/INDRAAVAATI, 6.- धारक के
पिता/पति का नामश्री हरीश/Mr. HARISH, 7.-धारक की
माता का
नामश्रीमती सुगिया/SUGIYA, 8.-सदस्यों की कुल संख्या 4-सदस्यों का पू्र्ण विवरण क्रम संख्या, सदस्य का नाम, लिंग धारक से सम्बन्धपिता का
नाम 1-.इंद्रावाती/INDRAAVAATI, महिला, स्वयं, जोखई लाल/JOKHAI LAAL 2.-हरीश/HARISH. पुरूष, सौहर / पति राम वली/RAM VALI 3.-गुंजन/GUNJAN, महिला, बहु, दीनानाथ/DINANATH 4.-अंजलि/ANJALI महिला बेटी हरीश/HARISH
नियत तिथि:
07 – Sep – 2019
शिकायत की स्थिति:
निस्तारित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
फीडबैक की स्थिति:

आवेदन
का
संलग्नक

अग्रसारित विवरण

क्र..
सन्दर्भ
का प्रकार
आदेश
देने वाले अधिकारी
आदेश
दिनांक
अधिकारी
को प्रेषित
आदेश
आख्या
दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या
रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन
सन्दर्भ
08 – Aug – 2019
जिला पूर्ति अधिकारीमिर्ज़ापुर,खाद्य एवं रसद विभाग
16/09/2019
उक्त
प्रकरण की जॉच पूर्ति निरीक्षक द्वारा करायी गयी पूर्ति निरीक्षक की आख्या अनुसार ग्रामपंचायत आदमपुर विकासखण्ड छानबे के हरिशचन्द द्वारा राशन कार्ड में दो यूनिट जोड़वाने सम्बन्धी शिकायत की गयी है। उक्त सम्बन्ध में अवगत कराना है कि शिकायतकर्ता से सम्पर्क किया गया तथा अभिलेख प्राप्त कर राशन कार्ड में वांछित यूनिट को जोड़ दिया गया है। सुलभ सन्दर्भ हेतु राशन कार्ड की छायाप्रति संलग्न है। आख्या आवश्यक कार्यवाही हेतु सादर सेवा
में प्रेषित है।
निस्तारित

आवेदन
का विवरण
शिकायत
संख्या
40019919024704
आवेदक कर्ता का
नाम:
Yogi M P Singh
आवेदक कर्ता का
मोबाइल न०:
9336252631,9336252631
विषय:
​Whether it is justified to harass the
aggrieved individual Harishchand belonging to weaker and downtrodden section
​by applying various cunning tricks as being done by the district supply
officer Mirzapur quite obvious from the matter of fact that he is
procrastinating since Oct-2018 last year in order to increase two units of
the B.P.L Ration card..
शिकायत संख्या40019919023329​ आवेदक कर्ता का
नाम:Yogi M P Singh​ आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:9336252631,9336252631 विषय:How can it be justified that in order to increase the two units
of a Ration Card, district supply officer may procrastinate for eight months
and still he has not provided the rectified ration card? It is most
unfortunate that through feedback he is apprised with the entire fact but it
seems that every thing is O.K. and when the aggrieved will again submit the
entire records then his units of ration card will be increased. It is
obligatory duty of the concerned staff to increase to two units as it is in
accordance with the law but their procrastination is showing some other
story.
भारतीय संबिधान के अनुच्छेद ५१ के तहत प्रार्थना पत्र | श्री मान जी जनसुनवाई पोर्टल की
अभूतपूर्व गरिमा को कलंकित नहीं कर
रहे है
| आवेदन का विवरण शिकायत संख्या-40019919020730, आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:7379105911 दिनांक 07/06/2019को फीडबैक:- जिला पूर्ति अधिकारीमिर्ज़ापुर,खाद्य एवं रसद विभाग — 06/06/2019
के रिपोर्ट का कुछ अंश तथा अवगत करा दिया गया है
कि वह
अपने सम्स्त अभिलेखों की
छायाप्रति संबंधित आपूर्ति कार्यालय में उपलब्ध करा दे
जिससे फीडिंग का कार्य पूर्ण कराया जा सके। अतः उक्तानुसर प्रकरण निक्षेपित करने का
कष्ट करे। श्री मान जी संलग्नक का प्रथम पेज देखे हरिश्चंद जी
बहुत पढ़े लिखे नहीं है इसलिए इनका पत्र खंड विकास अधिकारी छानवे मिर्ज़ापुर को
सम्बोधित उस
पर तिथि का अंकन नहीं है
प्रार्थी हरिश्चंद द्वारा | उस पत्र को आप
ध्यान से
देखे उस
पर मोहर लगी है
और वह
मोहर जिला पूर्ति कार्यालय मिर्ज़ापुर का
है और
उस मोहर पर तिथि है वह
दिनांक १५/०३/१९ आंग्ल भाषा में डाला गया है वह
उस व्यक्ति द्वारा डाला गया है
जिसने उस
पत्र और
संलग्नको को
रिसीव किया है और
उस व्यक्ति के हस्ताक्षर भी है
| अर्थात जिला पूर्ति अधिकारीमिर्ज़ापुर,खाद्य एवं रसद विभाग का अभिलेखों की छायाप्रति का पुनः मांगना दुर्भाग्य पूर्ण है
और भ्रस्टाचार को बढ़ावा देने वाला है | सम्बंधित पूर्ति निरीक्षक जो
की खंड विकास अधिकारी छानवे के
अधीनस्थ है
इसलिए पत्र में खंड विकास अधिकारी छानवे सम्बोधन सर्वथा उचित है | और यह दो यूनिट पिछले आठ
महीने से
जिला पूर्ति अधिकारीमिर्ज़ापुर बढ़ा रहे है | Article 14 of the Constitution of India reads
as under: “The State shall not deny to any person equality before the law or
the equal protection of the laws within the territory of India.” Where is
equal protection of law if District Supply Officer is not subjected to the
penal proceedings for harassing the revered senior citizen made repeated
request for the legitimate demand which is obligation of District Supply
Officer Mirzapur. Here aforementioned report is not misleading in which he is
seeking photo copy of the documents which was already in his possession as
made available by the aggrieved Harishchand.​
नियत तिथि:16 – Jul – 2019​ शिकायत की
स्थिति: निस्तारित फीडबैक :दिनांक 21/06/2019को फीडबैक:- प्रसतुत प्रकरण की
जांच क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी के द्वारा करायी जा
रही है
क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी की
जांच आख्या कार्यालय में उपलबध होने के उपरांत आवेदक को
अवगत करा दिया जायेगा। निस्तारित श्री मान जी
यह जवाब सिर्फ पेस्ट किया जाता है जिला पुर्ति अधिकारी द्वारा तैयार करके रखा है क्योकि यह जवाब जिला पुर्ति अधिकारी द्वारा कई मामलो में जवाब नहीं सूझता यही जवाब लगा देते है | चाहे अब मुख्य मंत्री कार्यालय इस
जवाब को
स्वीकार करे या करे यह उस
पर निर्भर करता है
किन्तु प्रश्न यह उठता है की
क्या उस
दलित व्यक्ति को न्याय मिलेगा जो
पिछले आठ
महीने में में दो
यूनिट बढ़ाने के लिए संघर्ष कर
रहा है
| फीडबैक की स्थिति:फीडबैक प्राप्त
नियत तिथि:
30 – Jul – 2019
शिकायत की स्थिति:
निस्तारित
रिमाइंडर :
प्राप्त अनुस्मारक
क्र..
अनुस्मारक
प्राप्त दिनांक
1
जिलाधिकारी( मिर्ज़ापुर) 10 – Aug – 2019 जिला पूर्ति अधिकारीमिर्ज़ापुर,खाद्य एवं रसद विभाग कृपया प्रकरण का गंभीरता से पुनः परीक्षण कर
नियमानुसार कार्यवाही करते हुए
15 दिवस
में आख्या उपलब्ध कराए जाने की अपेक्षा की गई है महोदय आप को ज्ञात हो की आज ३०
अगस्त २०१९ है और आप को १५ दिन का
समय दिया गया था जिलाधिकारी महोदय द्वारा और उस पोर्टल पर जिसका निगरानी खुद
मुख्य मंत्री कार्यालय द्वारा किया जाता है
| महोदय प्रकरण को आप का कार्यालय वर्ष भर से लटकाया है सिर्फ दो यूनिट बीपी एल कार्ड में बढ़ाने है जब की प्रार्थी हरीश अंत्योदय
का हकदार है आप के अधीनस्थों द्वारा अनदेखी की गई और आप मूक दर्शक रहे | श्री मान जिला पूर्ति अधिकारीमिर्ज़ापुर,खाद्य एवं रसद विभाग क्या यह अनुशासनहीनता नहीं है की आप द्वारा वरिष्ठ अधिकारी द्वारा तय समय सीमा उल्लंघन किया गया और बिना किसी वाजिब कारण के | सुशासन की राह में आप जैसे अधिकारी ही सब से अधिक बाधक है। धन्यवाद
30 Aug 2019
फीडबैक :
दिनांक 25/07/2019को फीडबैक:- श्री मान जी
प्रार्थी को
चल भाष संख्या ९७९३४६२४७१
से फोन किया गया तो प्रार्थी द्वारा उपलब्ध डिटेल से
अवगत कराया गया किन्तु जब इक्षा शक्ति हो
तब तो
कार्य हो
इसलिए समस्त डिटेल वेबसाइट पर हो
जिससे बार बार बहाना कर
सके | आज तो चार बार फोन किये रिंग गया पिक अप
नहीं किये क्यों की
अपने आप
को जनता का नौकर समझते ही
नहीं |यदि नौकर अपने आप
को भूल बस मालिक समझेगा तो
क्या परिणाम अनुकूल होगा | कार्ड धारक का
लड़कादीनानाथ/DINANATH का आधार संख्या – 649444035029, कार्ड धारक का
नातीसत्यम भारतीया का
आधार संख्या – 785295102316
का नाम राशन कार्ड में सूची बद्ध करना है | पात्रता सूची का पू्र्ण विवरण 1.- डिजिटाइज्ड
राशन कार्ड संख्या-219940354159, 2.-कार्ड का प्रकारपात्र गृहस्थी, 3.-दुकानदार का
नामपंचू पासी, 4.-दुकान संख्या– 20690314 5.-धारक का नामश्रीमती इंद्रावाती/INDRAAVAATI, 6.- धारक के
पिता/पति का नामश्री हरीश/Mr. HARISH, 7.-धारक की
माता का
नामश्रीमती सुगिया/SUGIYA, 8.-सदस्यों की कुल संख्या 4-सदस्यों का पू्र्ण विवरण क्रम संख्या, सदस्य का नाम, लिंग धारक से सम्बन्धपिता का
नाम 1-.इंद्रावाती/INDRAAVAATI, महिला, स्वयं, जोखई लाल/JOKHAI LAAL 2.-हरीश/HARISH. पुरूष, सौहर / पति राम वली/RAM VALI 3.-गुंजन/GUNJAN, महिला, बहु, दीनानाथ/DINANATH 4.-अंजलि/ANJALI महिला बेटी हरीश/HARISH
फीडबैक की स्थिति:
जिलाधिकारी द्वारा दिनाक 16/09/2019
को फीडबैक पर कार्यवाही अनुमोदित कर
दी गयी है

आवेदन
का संलग्नक

अग्रसारित विवरण

क्र..
सन्दर्भ
का प्रकार
आदेश
देने वाले अधिकारी
आदेश
दिनांक
अधिकारी
को प्रेषित
आदेश
आख्या
दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या
रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन
सन्दर्भ
30 – Jun – 2019
जिला पूर्ति अधिकारीमिर्ज़ापुर,खाद्य एवं रसद विभाग
24/07/2019
प्रस्तुत
प्रकरण के संबंध में अवगत कराना है कि श्री योगी एम०पी०सिंह के मो० न० पर सम्पर्क किया गया और उनके द्वारा यूनिट बढाने के सम्बन्ध में शिकायत किया गया है। आवेदनकर्ता के छुटे हुए सदस्यों के आधार कार्ड की छायाप्रति उपलब्ध कराने हेतु सूचना दे दी गयी है। जिससे वह सन्तुष्टी बताते हुए आवेदन कर्ता का आधार उपलब्ध कराने हेतु कहा गया प्राप्त होते ही यूनिट में शामिल कर लिया जायेगा। सुलभ सन्दर्भ हेतु जांच आख्या आपकी सेवा में सादर प्रेषित।
C-श्रेणीकरण
2
आख्या
जिलाधिकारी( मिर्ज़ापुर)
10 – Aug – 2019
जिला पूर्ति अधिकारीमिर्ज़ापुर,खाद्य एवं रसद विभाग
कृपया प्रकरण का गंभीरता से पुनः परीक्षण कर नियमानुसार कार्यवाही करते हुए 15 दिवस में आख्या उपलब्ध कराए जाने की अपेक्षा की गई है उक्त प्रकरण की जॉच पूर्ति निरीक्षक द्वारा करायी गयी पूर्ति निरीक्षक की आख्या अनुसार ग्रामपंचायत आदमपुर विकासखण्ड छानबे के हरिशचन्द द्वारा राशन कार्ड में दो यूनिट जोड़वाने सम्बन्धी शिकायत की गयी है। उक्त सम्बन्ध में अवगत कराना है कि शिकायतकर्ता से सम्पर्क किया गया तथा अभिलेख प्राप्त कर राशन कार्ड में वांछित यूनिट को जोड़ दिया गया है। सुलभ सन्दर्भ हेतु राशन कार्ड की छायाप्रति संलग्न है। आख्या आवश्यक कार्यवाही हेतु सादर सेवा में प्रेषित है। , उक्त प्रकरण की जॉच
पूर्ति निरीक्षक द्वारा करायी गयी पूर्ति निरीक्षक की आख्या अनुसार ग्रामपंचायत
आदमपुर विकासखण्ड छानबे के हरिशचन्द द्वारा राशन कार्ड में दो यूनिट जोड़वाने
सम्बन्धी शिकायत की गयी है। उक्त सम्बन्ध में अवगत कराना है कि शिकायतकर्ता से
सम्पर्क किया गया तथा अभिलेख प्राप्त कर राशन कार्ड में वांछित यूनिट को जोड़
दिया गया है। सुलभ सन्दर्भ हेतु राशन कार्ड की छायाप्रति संलग्न है। आख्या
आवश्यक कार्यवाही हेतु सादर सेवा में प्रेषित है।
16/09/2019
उक्त
प्रकरण की जॉच पूर्ति निरीक्षक द्वारा करायी गयी पूर्ति निरीक्षक की आख्या अनुसार ग्रामपंचायत आदमपुर विकासखण्ड छानबे के हरिशचन्द द्वारा राशन कार्ड में दो यूनिट जोड़वाने सम्बन्धी शिकायत की गयी है। उक्त सम्बन्ध में अवगत कराना है कि शिकायतकर्ता से सम्पर्क किया गया तथा अभिलेख प्राप्त कर राशन कार्ड में वांछित यूनिट को जोड़ दिया गया है। सुलभ सन्दर्भ हेतु राशन कार्ड की छायाप्रति संलग्न है। आख्या आवश्यक कार्यवाही हेतु सादर सेवा में प्रेषित है।
निस्तारित

3 comments on पूरे एक वर्ष लग गए एक बी.पी. एल. कार्ड के दो यूनिट बढ़वाने में यही है योगी गवर्नमेंट का सुशासन

  1. इस प्रकरण में जिला पुर्ति अधिकारी द्वारा जो प्रार्थी का हलफनामा प्रस्तुत किया गया है वह पूर्ण रूप से जालसाजी है क्यों की वह हलफनामा प्रार्थी का नहीं है बल्कि कूट रचना करके तैयार किया गया है | ऐसा करके जिलापूर्ति अधिकारी द्वारा महज वरिष्ठ अधिकारियों को गुमराह किया गया है | सोचिये ऐसे अधिकारी की क्या विश्वसनीयता है जो उस व्यक्ति का जाली हलफनामा लगा सकता है जिसे वह दूर तक नहीं जानता है |

  2. Think about the gravity of the situation that undoubtedly they had added the name and increased two units after one year of long struggle but still they are not providing ration on the increased units whether it is not corruption.
    उक्त प्रकरण की जॉच पूर्ति निरीक्षक द्वारा करायी गयी पूर्ति निरीक्षक की आख्या अनुसार ग्रामपंचायत आदमपुर विकासखण्ड छानबे के हरिशचन्द द्वारा राशन कार्ड में दो यूनिट जोड़वाने सम्बन्धी शिकायत की गयी है। उक्त सम्बन्ध में अवगत कराना है कि शिकायतकर्ता से सम्पर्क किया गया तथा अभिलेख प्राप्त कर राशन कार्ड में वांछित यूनिट को जोड़ दिया गया है। सुलभ सन्दर्भ हेतु राशन कार्ड की छायाप्रति संलग्न है। आख्या आवश्यक कार्यवाही हेतु सादर सेवा में प्रेषित है।

  3. Where is honesty in the Government of Uttar Pradesh if officers are not changing their attitude of taking bribe from the public? Illegal gratification has been cursed to our society and most important is that we are not interested to change this approach and promoting this Evil day by day which is great obstruction in the path of betterment of society and making our life hell. On the one side of a screen our government functionaries talking of Social Justice but on the other side of the screen there is rampant corruption in the public offices because of which needy are deprived of their rights and most surprising is that no accountable public functionaries are interested to curb this corruption from the government machinery. Here I want to quote Latin Maxim justice without force is impotent and force without justice is tyranny.

Leave a Reply

%d bloggers like this: