कैसी पारदर्शिता और जिम्मेदारी दलित महिला ने हार्ड कॉपी ही नही जमा किया इसलिए योगी सरकार अनुदान देने में असमर्थ है

आवेदन
का विवरण
 
शिकायत
संख्या
40019919016667
आवेदक कर्ता का
नाम:
पान
कुमारी
आवेदक कर्ता का
मोबाइल न०:
9795410978,9795410978
विषय:
दिनांक 17/03/2019को फीडबैक:- शिकायतकर्ता से संतुष्टि परिक्षण के
लिये संपर्क किया गया शिकायतकर्ता की
गयी कार्यवाही से सहमत है| श्री मान जी
प्रार्थी को
जो की
पात्र है
उसको शासकीय सहायता से
वंचित किया जा रहा है सिर्फ भ्रस्टाचार की
वजह से
वह कैसे कह सकता है की
वह संतुष्ट है | श्री मान जी प्रार्थी की सतर्कता ही है
नही तो
बिना बताये ही समाज कल्याण अधिकारी मिर्ज़ापुर ने
प्रार्थी के
आवेदन पत्र प्रभावहीन कर
दिया |श्री मान सहायक विकास अधिकारी समाज कल्याण किससे मिले | श्री मान जी प्रार्थी द्वारा शिकायत पत्र में खुद लिखा गया है
की उसने ०३ जुलाई २०१८ को
आवेदन किया और १०जुलाई २०१८ को हार्ड कॉपी समस्त संलग्नको समेत रिसीव कराया गया | श्री मान जी
प्राथी द्वारा प्रस्तुत जन
सुनवाई पोर्टल पर शिकायत का परिशीलन करे |श्री मान जी प्राथी द्वारा प्रस्तुत जन सुनवाई पोर्टल पर
शिकायत में समाज कल्याण अधिकारी की
आख्या का
का परिशीलन करे | जो देखने से ही
लग रहा है की
समाज कल्याण अधिकारी कितनी गैर जिम्मेदारी से एक
रटा रटाया आख्या दे
कर मामले को बंद करा दिया | सोचिये जिसके पास घुस देने को हो उसको सरकारी सहायता मिले | खुले आम घुसखोरी है कोई रोकने वाला नही है
|किसी भी जांच का आधार शिकायत के
विन्दु होते है | श्री मान प्रार्थी ने
२०० रूपया दे कर
आन लाइन आवेदन करवाया इस उद्देश्य से की
उसको २०००० रुपये सरकारी अनुदान मिलेगा वह विकास खंड कार्यालय में क्यों नही जमा करेगा |मोदी सर अब आप
के ऊपर भरोषा है
| श्री मान इसी शैली से
प्रदेश सरकार के अधिनस्थो द्वारा गरीबो के धन
के साथ बन्दर बाट किया जा
रहा है
| श्री मान मोदी सर कुछ तो करे जिससे की
गरीबो को
उनके हक़
प्राप्त हो
|श्री मान जी
गरीबो को
दी जाने वाली सहायता उन तक
नही पहुच रही है
फर्जी नाम भर भर
के उनका पैसा निकाल लिया जा
रहा है
|जिसका एक उदाहरण आप के
समक्ष है
| श्री मान जी
प्रार्थी की
मदद करे | प्रार्थी पान कुमारी पति प्रदीप कुमार मोबाइल नंबर ९१९८३२७०५५
, ग्राम पोष्ट तिलठी जिला मिर्ज़ापुर उत्तर प्रदेश
नियत तिथि:
01 – Apr – 2019
शिकायत की स्थिति:
लम्बित
रिमाइंडर :
 
फीडबैक :
 
फीडबैक की स्थिति:
 
आवेदन
का संलग्नक
अग्रसारित विवरण
क्र..
सन्दर्भ
का प्रकार
आदेश
देने वाले अधिकारी
आदेश
दिनांक
अधिकारी
को प्रेषित
आदेश
आख्या
दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या
रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन
सन्दर्भ
17 – Mar – 2019
जिला समाज कल्याण अधिकारीमिर्ज़ापुर,समाज कल्‍याण विभाग
 
 
अनमार्क
 
 
Ashwani Kumar
<ashwanikumar97995410@gmail.com>

मोदी सर उत्तर प्रदेश की जनता भ्रस्टाचार से त्रस्त आपके भासण पर जनता ने नजराना शुकराना बंद होने की लालच से निजाम तो बदल दिया किन्तु नये सरकार की कार्यशैली उससे भी बदतर है |

1 message
Ashwani Kumar <ashwanikumar97995410@gmail.com>
Sun, Mar 17, 2019 at 11:44 AM
To:
pmosb <pmosb@pmo.nic.in>, supremecourt <supremecourt@nic.in>,
presidentofindia@rb.nic.in, urgent-action <urgent-action@ohchr.org>,
cmup <cmup@up.nic.in>, hgovup@up.nic.in, csup@up.nic.in, uphrclko
<uphrclko@yahoo.co.in>, lokayukta@hotmail.com
 
श्री मान जी प्रार्थी यदि पात्र है तो उसे सरकारी सहायता मिलनी ही चाहिए | तथ्य हीन झूठे और आधारहीन बाते बना कर समाज कल्याण अधिकारी मिर्ज़ापुर अपनी कार्यशैली को संदेहास्पद बना चुके है | जो की भ्रस्टाचार का पोषक है |
दिनांक 17/03/2019को फीडबैक:- शिकायतकर्ता से संतुष्टि परिक्षण के लिये संपर्क किया गया शिकायतकर्ता की गयी कार्यवाही से सहमत है|
श्री मान जी प्रार्थी को जो की पात्र है उसको शासकीय सहायता से वंचित किया जा रहा है सिर्फ भ्रस्टाचार की वजह से वह कैसे कह सकता है की वह संतुष्ट है | श्री मान जी प्रार्थी की सतर्कता ही है नही तो बिना बताये ही समाज कल्याण अधिकारी मिर्ज़ापुर ने प्रार्थी के आवेदन पत्र प्रभावहीन कर दिया |श्री मान सहायक विकास अधिकारी समाज कल्याण किससे मिले | श्री मान जी प्रार्थी द्वारा शिकायत पत्र में खुद लिखा गया है की उसने ०३ जुलाई २०१८ को आवेदन किया और १०जुलाई २०१८ को हार्ड कॉपी समस्त संलग्नको समेत रिसीव कराया गया |
श्री मान जी प्राथी द्वारा प्रस्तुत जन सुनवाई पोर्टल पर शिकायत का परिशीलन करे |
 
आवेदन काविवरण
 
शिकायतसंख्या
40019919014280
आवेदक कर्ताका नाम:
Pan Kumari
आवेदक कर्ताका मोबाइलन०:
9795410978,9795410978
विषय:
सेवा में मुख्य मंत्री उत्तर प्रदेश शासन लखनऊ विषय –विवाह अनुदान हेतु ऑनलाइन आवेदन
 की हार्ड कॉपीअग्रसारित करने में डीपंचायत विकास खंड कोन द्वारा टाल मटोल | 
महोदय प्रार्थी श्री मान जी काध्यान निम्न विन्दुओ पर आकृष्ट करता है | प्रार्थी द्वारा 
ऑनलाइन आवेदन शादी अनुदान हेतु दिनांक ०३जुलाई –२०१८ को किया गया और उसका 
हार्ड कॉपी समस्त संलग्नको के साथ दिनांक १०जुलाई –२०१८ कोउपरोक्त विकास खंड के 
लिपिक को रिसीव कराया गया किन्तु लिपिक द्वारा स्वीक्रत पावती पर कोईहस्ताक्षर नही 
किया गया है और ऐसा हर केस में होता है | प्रार्थी को अत्यंत खेद के साथ सूचित करना 
पडरहा है उपरोक्त हार्ड कॉपी अभी तक डीपंचायत विकास खंड कोन द्वारा अभी तक 
समाज कल्याणअधिकारी मिर्जापुर को प्राप्त नही कराया गया अर्थात अग्रसारण अभी तक 
लंबित है | क्या आप उपरोक्तअधिकारी के रहस्यमयी शैली को समझ नही रहे है वे क्यों टाल 
मटोल कर रहे है जब की सरकार पर्याप्ततनख्वाह दे रही है | श्री मान जी प्रार्थी के घर में कोई 
सरकारी नौकर नही है प्रार्थिनी और पति किसी तरहपरिवार का भरण पोषण करते है पर बहुत 
हाश्यास्पद बात है की सम्बंधित अधिकारी प्रार्थी के आवेदन को लेकर सम्बेदंशील नही है 
बल्कि उन आवेदनों को ले कर ज्यादा सम्बेदंशील है जो पात्रता की श्रेणी से कोसो दूरहै | 
प्रार्थिनी चाहती है की डीपंचायत विकास खंड कोन गुलाब चन्द के खिलाफ प्रदेश 
सतर्कताअधिष्ठान जांच करे और उनके कुल चल और अचल संपत्ति की जाँच का ब्यौरा शासन 
को प्रेषित करे | क्यों कीप्रार्थी को तो सब मालुम है शासन को जानने की आवश्यकता है | 
दिनांक –०७मार्च –२०१९ प्रार्थी पान कुमारीपति प्रदीप कुमार मोबाइल नंबर –९१९८३२७०५५ , 
ग्राम  पोष्ट –तिलठी जिला –मिर्ज़ापुर उत्तर प्रदेश
नियत तिथि:
17 – Mar – 2019
शिकायत कीस्थिति:
निस्तारित
रिमाइंडर :
 
फीडबैक :
दिनांक 17/03/2019को फीडबैक:- शिकायतकर्ता से संतुष्टि परिक्षण के लिये संपर्क किया गया
 शिकायतकर्ताकी गयी कार्यवाही से सहमत है|
फीडबैक कीस्थिति:
 
आवेदन का संलग्नक
संलग्नक देखें
अग्रसारित विवरण
क्र..
सन्दर्भ 
काप्रकार
आदेश देने 
वालेअधिकारी
आदेश 
दिनांक
अधिकारी 
को प्रेषित
देश
आख्या 
दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या 
रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन
सन्दर्भ
07 – Mar – 2019
खण्‍ड वि‍कास 
अधि‍कारी
कोण,जनपद
मिर्ज़ापुर,
ग्राम्‍यविकास
 विभाग
15/03/
2019
Shikayatkarti Dwar Diya gaya Shadi Anudan Ki hard Kapi
nirdhrit Samay Se Karyaylay Me N Prapta Hone Ke Karan RijeKat Kiya Gaya H
निस्ता
रित
 
 
ashwanikumar97995410@gmail.com&IsOldNew=N&Type=2
श्री मान जी प्राथी द्वारा प्रस्तुत जन सुनवाई पोर्टल पर शिकायत में समाज कल्याण अधिकारी की आख्या का का परिशीलन करे | जो देखने से ही लग रहा है की
समाज कल्याण अधिकारी कितनी गैर जिम्मेदारी से एक रटा रटाया आख्या दे कर मामले को बंद करा दिया | सोचिये जिसके पास घुस देने को हो उसको सरकारी
सहायता मिले | खुले आम घुसखोरी है कोई रोकने वाला नही है |
 
 
किसी भी जांच का आधार शिकायत के विन्दु होते है | श्री मान प्रार्थी ने २०० रूपया दे कर आन
लाइन आवेदन करवाया इस उद्देश्य से की उसको २००००  रुपये सरकारी अनुदान मिलेगा वह
विकास खंड कार्यालय में क्यों नही जमा करेगा |मोदी सर अब आप के ऊपर भरोषा है | श्री मान
इसी शैली से प्रदेश सरकार के अधिनस्थो द्वारा गरीबो के धन के साथ बन्दर बाट किया जा रहा है |
       श्री मान मोदी सर कुछ तो करे जिससे की गरीबो को उनके हक़ प्राप्त हो |श्री मान जी गरीबो
को दी जाने वाली सहायता उन तक नही पहुच रही है फर्जी नाम भर भर के उनका पैसा निकाल
लिया जा रहा है |जिसका एक उदाहरण आप के समक्ष है |
               
                     
     
श्री मान जी प्रार्थी की मदद करे |
               
                     
                     
                     
                   
प्रार्थी 
             
                     
                     
                     
     
पान कुमारी पति प्रदीप कुमार  मोबाइल नंबर –९१९८३२७०५५ , ग्राम  पोष्ट –तिलठी जिला –मिर्ज़ापुर उत्तर प्रदेश
 
2 attachments
Pan Kumari.pdf
352K
Pan Kumari.docx
1841K
 

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
3 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Yogi
1 year ago

किसी भी जांच का आधार शिकायत के विन्दु होते है | श्री मान प्रार्थी ने २०० रूपया दे कर आन

लाइन आवेदन करवाया इस उद्देश्य से की उसको २०००० रुपये सरकारी अनुदान मिलेगा वह

विकास खंड कार्यालय में क्यों नही जमा करेगा |मोदी सर अब आप के ऊपर भरोषा है | श्री मान

इसी शैली से प्रदेश सरकार के अधिनस्थो द्वारा गरीबो के धन के साथ बन्दर बाट किया जा रहा है

Beerbhadra Singh
1 year ago

Undoubtedly it is a matter of the deep rooted corruption but it is confirmed that no accountable public functionaries will order any enquiry in the matter because their hands are in globe. But in the forthcoming parliamentary elections its outcome will be crystal clear. Only to cry of good governance on the public platforms but not to take action on the wrongdoings cannot be reflective of good governance dear friends good governance reflects in the working of the public authority.

Arun Pratap Singh
1 year ago

भारतीय जनता पार्टी की सरकार किसी को कुछ दे ही नही रही है सिर्फ लोगो को मुर्ख बना रही है हर कार्यो की तरह इसका संकल्प पत्र भी झूठा है |
फीडबैक : दिनांक 18/03/2019को फीडबैक:- खण्ड विकास अधिकारी कोन के कार्यालय पत्र संख्या– 212 A दिनांक 21-02-2019 द्वारा उपलब्ध कराये गये आवेदन–पत्र में सूची क्रमांक 77 एवं 78 पर अपात्र चिन्हित किया गया है, जिसकी सूची श्री गुलाब चन्द, सहायक विकास अधिकारी स0क0 विकास खण्ड कोन के पास उपलब्ध है। श्री मान जी को ज्ञात हो की प्रार्थी के परिवार का वार्षिक आय ४५००० रुपये है जो की तहसील द्वारा जारी आय प्रमाण पत्र से स्पस्ट है और जिसकी कॉपी हार्ड कॉपी के साथ जमा है और जिसका प्रमाण पत्र क्रमांक-६९११८१०२४१५५ ऑनलाइन आवेदन में प्रविष्ट किया गया है | प्रार्थी का शपथ पूर्वक बयान है की प्रार्थी के घर में न तो कोई निजी क्षेत्र में और नही सार्वजनिक क्षेत्र कार्यरत है हा प्रार्थी के पति दिहाड़ी मजदूर है वह भी मनरेगा में जिससे दो जून की रोटी के भी लाले पड़े रहते है | वे लोग जो अपात्र है उन्हें सब से पहले सरकारी सहायता प्राप्त हो जाती है और जो पात्र है उनके पास साहब को देने के लिए कुछ है ही नही | श्री मान जी प्रार्थी अनुसूचित जाति से है और अति गरीबी में जीवन यापन कर रही है | श्री मान जी हमे मोदी और योगी सर पर पूरा भरोसा है वही हम लोगो को न्याय दिलवायेगे | श्री मान एक बार प्रधान मंत्री कार्यालय या मुख्य मंत्री कार्यालय से जाच निकली तो कई लोग नप जायेगे |सोचिये समाज कल्याण अधिकारी कितनी बाते दो दिन में बदले | पहले तो उन्होंने सीधे इनकार कर दिया की प्रार्थी द्वारा हार्ड कॉपी ही नही जमा किया गया फिर क्या प्रार्थी द्वारा खुद स्वीकार किया गया की उसने हार्ड कॉपी नही जमा किया गया और निस्तारण से संतुष्ट है अब क्या कह रहे है प्रार्थी अपात्र है है | श्री मान जी माननीय उच्चतम न्यायायलय द्वारा अपने अपने कई निर्णयों में कारण जानने का अधिकार का जम कर वकालत किया गया है किन्तु यह क्या समाज कल्याण अधिकारी ने फिर अपना रहस्यमयी निर्णय सुना दिया जिससे प्रार्थी के दिल की धड़कने थम रही है क्यों की कर्ज ले कर शादी की गई और स्थानीय लोगो का ब्याज दर तो आप जानते ही है इसलिए रिश्तेदारो से सहयोग लिया गया इस उम्मीद से की सरकार २००००रुपये देगी तो सब का वापस हो जाएगा |
फीडबैक की स्थिति: जिलाधिकारी द्वारा दिनाक 05/04/2019 को प्राप्त आख्या अनुमोदित कर दी गयी है