दस महीने से ज्यादा हो गये विधवा पेंशन सैंक्सन हुए कितु खाते में एक पैसा भी नही भेजा गया |

आवेदन का विवरण
शिकायत संख्या
40019918011182
आवेदक कर्ता का नाम:
Yogi M P Singh
आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:
7379105911,7379105911
विषय:
All formalities have been completed at the district level so the matter may not be forwarded to District level officers and procrastination is on the part of the department as the pension is directly sent into the account of the aggrieved lady Subject According to the report of the probationary officer Mirzapur 04042018प्रार्थनी श्रीमती एकता सिंह का आवेदन पत्र स्वीकृत हो गया है विभाग द्वारा धनराशि प्रेषित किए जाने पर प्रार्थनी को प्राप्त हो जाएगा | Department has released the last quarterly budget of 40 beneficiaries of Widow pension but the name of Ekta Singh was not included by the concerned Which proves that concerned only misled the applicant Whether it is not the breach of the trust Think about the credibility and regard of the august portal of government of Uttar Pradesh in the eye of Probationary officer Mirzapur One year was passed because of lackadaisical approach of local public staffs and later one year passed because of the procrastination of the concerned staffs in performing requisite formalities Whether concerned staffs will take one more year to provide the pension to the aggrieved lady With due respect your applicant wants to draw the kind attention of the Honble Sir to the following submissions as follows 1 It is submitted before the Honble Sir that approval process for the widow pension of Ekta Singh finally completed on 17 12 2017 and freeze by DWO and also the account re verified by DWO up till aforementioned date Honble Sir may be pleased to take a glance at the document attached to this representation 2 It is submitted before the Honble Sir that it is unfortunate that in following complaint शिकायत संख्या 40019918005945 आवेदक कर्ता का नाम Yogi M P Singh report of the probationary officer explicitly shows that pension of the aggrieved lady will reach the account if fund is released by the government but the fund has been released but name of aggrieved lady was not included in the listed beneficiaries which are quite obvious from the attached document to this representation 3 It is submitted before the Honble Sir that entire process was completed under the vigilant monitor of an officer belonging to chief minister office but it is most unfortunate that concerned are still procrastinating in providing the widow pension to the aggrieved lady which is quite obvious from the circumstantial evidence in the matter This is a humble request of your applicant to you Honble Sir that It can never be justified to overlook the rights of the citizenry by delivering services in an arbitrary manner by floating all set up norms This is sheer mismanagement which is encouraging wrongdoers to reap the benefit of loopholes in the system and depriving poor citizens of the right to justice Therefore it is need of the hour to take concrete steps in order to curb grown anarchy in the system For this your applicant shall ever pray you Honble Sir Yours sincerely Yogi M P Singh Mobile number 7379105911 Mohalla Surekapuram Jabalpur Road District MirzapurPincode 231001 Uttar Pradesh India
नियत तिथि:
12 – Jun – 2018
शिकायत की स्थिति:
लम्बित
रिमाइंडर :
प्राप्त अनुस्मारक
क्र..
अनुस्मारक
प्राप्त दिनांक
1
यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवताः जहा स्त्रीओं की पूजा होती है वहा देवता निवास करते है किन्तु दस महीने से ज्यादा हो गये विधवा पेंशन सैंक्सन हुए कितु खाते में एक पैसा भी नही भेजा गया | क्या यही धर्म परायड़ता है | यहा कोई धार्मिक नही है केवल धर्म के नाम पर राजनीतिक रोटिया सेकते है और जनता को गुमराह करते है | सोचिये १० महीने से भी ज्यादा होगये संस्तुति हुए किन्तु अभी तक खाते एक फूटी कौड़ी भी नही आयी खाते में क्या यही सुशासन है | यह वह देश है जहा राज दंड से राजपुत्र भी नही बचते थे किन्तु आज छोटे मोटे कर्मचारिओं के विरुद्ध भी कार्यवाही करने से सरकार डरती है कही उसकी सरकार चली जाय | पारदर्शिता और जवाबदेही तो पूछिए मत विधवा पेंशन २०१८ २०१९ का स्टेटस अभी तक इन्टरनेट पर फीड नही किया गया जब की २०१८ ख़त्म होने वाला है |
16 Sep 2018
2
Everyone knows that time-bound action is the reflection of the good governance but it seems that director, women welfare is beyond such accountabilities and responsibilities As the matter concerned with poor aggrieved widow suffering from severe financial crunches but her miseries cannot reach to such an insensitive individual It is most unfortunate that matter under the monitoring chief minister office is being considered by subordinate like director reluctantly tantamount to indiscipline Whether such working style is not a reflection of tyranny and arbitrariness and insolence to chief minister office Whether it is not serious misconduct on the part director
05 Aug 2018
फीडबैक :
दिनांक 25/05/2018को फीडबैक:- निदेशक महिला कल्याण विभाग क्या आप को थोडा भी आंग्ल भाषा का ज्ञान है आप जनता के सेवक है रख ली जिए बहुत काम आएगा |All formalities have been completed at the district level so the matter may not be forwarded to District level officers and procrastination is on the part of the department as the pension is directly sent into the account of the aggrieved lady. जिसका हिंदी अनुबाद है जिला स्तर की समस्त औपचारिकताए पूरी हो चुकी है इसलिए मामले को जिलास्तर पर अग्रसारित किया जाय जो कुछ भी टाल मटोल है वह विभाग का है क्यों की पेंशन विभाग द्वारा सीधे लाभार्थी के खाते में भेजा जाता है और यहा विभाग का मतलब शासन या निदेशालय स्तर पर जहा से भी लाभार्थी के खाते में भेजा जाता है | थोडा अपने एयर कंडिशन्ड कमरे से बाहर निकले तो समाज का सच सामने आएगा | It is submitted before the Hon’ble Sir that approval process for the widow pension of Ekta Singh finally completed on 17-12-2017 and freeze by DWO and also the account re-verified by DWO up till aforementioned date. जिसका हिंदी अनुबाद है श्री मान जी से विनम्र निवेदन है की एकता सिंह की विधवा पेंशन के लिए अनुमोदन प्रक्रिया अंततः 17-12-2017 को पूरी हो गई और डी डब्ल्यू द्वारा कारवाही अब और अपेक्षित नही है और साथ ही डीडब्ल्यूओ द्वारा खाता फिर से सत्यापित किया गया | श्री मान क्या यह मुर्खता पूर्ण वर्ताव नही है की विषय वस्तु उनलोगों के पास भेजी गयी जिनसे सम्बंधित इस समय नही है या तो निदेशक महोदय बहुत चालाक है या उनको कुछ आता ही नही | अनुमोदन प्रक्रिया अंततः 17-12-2017 को पूरी हो गई अर्थात छठा महीना है यह और लाभार्थी के खाते में एक रुपया भी नही भेजा गया और निदेशक महोदय इस जिम्मेदारी से बचने के लिए विषय वस्तु अपने कनिष्ठ के यह भेज दिए जो की एक कुटिल चाल है इसलिए इनके खिलाफ दंडात्मक कार्यवाही की जाय जो न्याय हित में होगा |
फीडबैक की स्थिति:
सन्दर्भ पुनर्जीवित
आवेदन का संलग्नक
अग्रसारित विवरण
क्र..
सन्दर्भ का प्रकार
आदेश देने वाले अधिकारी
आदेश दिनांक
अधिकारी को प्रेषित
आदेश
आख्या दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन सन्दर्भ
13 – May – 2018
निदेशक महिला कल्याण विभाग
23/05/2018
अनुमोदित
आख्या उच्च स्तर पर प्रेषित
2
अंतरित
निदेशक (महिला कल्याण विभाग )
14 – May – 2018
जिला प्रोबेशन अधिकारीमिर्ज़ापुर,महिला कल्याण विभाग
नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें 
23/05/2018
आप द्वारा वांछित सूचना से संबंध मे पूरवा मे कई बार अवगत कराया जा चुका है की श्री माती एकता सिंह का आवेदन पत्र जनपद स्तर से स्वीकृत होकर धनराशि प्रेषित किए जाने हेतु विभाग को प्रेषित कर दिया गया है। तथा जनपद स्तर से समस्त ओपचारिकताए पूर्ण है। अतः पूनह उक्त से अवगत होने का कष्ट करे
C-श्रेणीकरण
3
आख्या
निदेशक (महिला कल्याण विभाग )
10 – Jun – 2018
जिला प्रोबेशन अधिकारीमिर्ज़ापुर,महिला कल्याण विभाग
कृपया प्रकरण का गंभीरता से पुनः परीक्षण कर नियमानुसार कार्यवाही करते हुए 15 दिवस में आख्या उपलब्ध कराए जाने की अपेक्षा की गई है पेंशन धनराशि प्रेषण की कार्यवाही प्रक्रियाधीन। कृपया तात्कालिक अन्तिम निस्तारण की आख्या अपलोड करें।
22/06/2018
आप द्वारा आवेदन संख्या 40019918011012 के द्वारा भी इसी आशय की सूचना चाहिए गई है। जो पूनह संलग्न है। साथ ही यह भी अवगत कारण है की पेंशन की धनराशि विभाग द्वारा ही पीएफ़एमएस पोर्टल के माध्यम से लाभार्थियो के खाते मे प्रेषित की जाती है। जनपद स्तर से समस्त ओपचारिकते पूर्ण है
अस्वीकृत
4
आख्या
निदेशक (महिला कल्याण विभाग )
10 – Jun – 2018
जिला प्रोबेशन अधिकारीमिर्ज़ापुर,महिला कल्याण विभाग
कृपया प्रकरण का गंभीरता से पुनः परीक्षण कर नियमानुसार कार्यवाही करते हुए 15 दिवस में आख्या उपलब्ध कराए जाने की अपेक्षा की गई है
28/08/2018
आप द्वरा वंछित सुचना संलग्न है क्रिपया अवगत होने का कश्त करे.
आख्या प्राप्त/प्रेषित/अनुमोदन लंबित

5 1 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
4 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh

यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवताः जहा स्त्रीओं की पूजा होती है वहा देवता निवास करते है किन्तु दस महीने से ज्यादा हो गये विधवा पेंशन सैंक्सन हुए कितु खाते में एक पैसा भी नही भेजा गया | क्या यही धर्म परायड़ता है | यहा कोई धार्मिक नही है केवल धर्म के नाम पर राजनीतिक रोटिया सेकते है और जनता को गुमराह करते है | सोचिये १० महीने से भी ज्यादा होगये संस्तुति हुए किन्तु अभी तक खाते एक फूटी कौड़ी भी नही आयी खाते में क्या यही सुशासन है | यह वह देश है जहा राज दंड से राजपुत्र भी नही बचते थे किन्तु आज छोटे मोटे कर्मचारिओं के विरुद्ध भी कार्यवाही करने से सरकार डरती है कही उसकी सरकार न चली जाय | पारदर्शिता और जवाबदेही तो पूछिए मत विधवा पेंशन २०१८ -२०१९ का स्टेटस अभी तक इन्टरनेट पर फीड नही किया गया जब की २०१८ ख़त्म होने वाला है

Arun Pratap Singh
2 years ago

अग्रसारित विवरण-
क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी आदेश दिनांक अधिकारी को प्रेषित आदेश आख्या दिनांक आख्या स्थिति आख्या रिपोर्ट
1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 13 – May – 2018 निदेशक -महिला कल्याण विभाग — 23/05/2018 अनुमोदित आख्या उच्च स्तर पर प्रेषित
2 अंतरित निदेशक (महिला कल्याण विभाग ) 14 – May – 2018 जिला प्रोबेशन अधिकारी-मिर्ज़ापुर,महिला कल्याण विभाग नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें 23/05/2018 आप द्वारा वांछित सूचना से संबंध मे पूरवा मे कई बार अवगत कराया जा चुका है की श्री माती एकता सिंह का आवेदन पत्र जनपद स्तर से स्वीकृत होकर धनराशि प्रेषित किए जाने हेतु विभाग को प्रेषित कर दिया गया है। तथा जनपद स्तर से समस्त ओपचारिकताए पूर्ण है। अतः पूनह उक्त से अवगत होने का कष्ट करे C-श्रेणीकरण
3 आख्या निदेशक (महिला कल्याण विभाग ) 10 – Jun – 2018 जिला प्रोबेशन अधिकारी-मिर्ज़ापुर,महिला कल्याण विभाग कृपया प्रकरण का गंभीरता से पुनः परीक्षण कर नियमानुसार कार्यवाही करते हुए 15 दिवस में आख्या उपलब्ध कराए जाने की अपेक्षा की गई है पेंशन धनराशि प्रेषण की कार्यवाही प्रक्रियाधीन। कृपया तात्कालिक अन्तिम निस्तारण की आख्या अपलोड करें। 22/06/2018 आप द्वारा आवेदन संख्या 40019918011012 के द्वारा भी इसी आशय की सूचना चाहिए गई है। जो पूनह संलग्न है। साथ ही यह भी अवगत कारण है की पेंशन की धनराशि विभाग द्वारा ही पीएफ़एमएस पोर्टल के माध्यम से लाभार्थियो के खाते मे प्रेषित की जाती है। जनपद स्तर से समस्त ओपचारिकते पूर्ण है अस्वीकृत
4 आख्या निदेशक (महिला कल्याण विभाग ) 10 – Jun – 2018 जिला प्रोबेशन अधिकारी-मिर्ज़ापुर,महिला कल्याण विभाग कृपया प्रकरण का गंभीरता से पुनः परीक्षण कर नियमानुसार कार्यवाही करते हुए 15 दिवस में आख्या उपलब्ध कराए जाने की अपेक्षा की गई है 28/08/2018 आप द्वरा वंछित सुचना संलग्न है क्रिपया अवगत होने का कश्त करे. आख्या प्राप्त/प्रेषित/अनुमोदन लंबित

Preeti Singh
2 years ago

Most of the public functionaries behave like wolf in this largest democracy in the world so women may keep itself aloof from such wolf as their lustful eyes are cruel and having no compassion for any one.

Vandana Singh
Vandana Singh
4 months ago

यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवताः जहा स्त्रीओं की पूजा होती है वहा देवता निवास करते है किन्तु दस महीने से ज्यादा का समय हो गया है विधवा पेंशन सैंक्सन हुए कितु खाते में एक पैसा भी नही भेजा गया | क्या यही धर्म है | यहा कोई धार्मिक नही है केवल धर्म के नाम पर राजनीतिक करते है और जनता को गुमराह करते है | चुनाव के समय नेता लोग बड़े-बड़े दावे करते हैं । चुनाव होने के बाद कभी गली मोहल्ले में दिखते भी नहीं है। इनके दावे सिर्फ फाइलों में रह जाती है