जहा किसी को न्याय नही मिलता सिर्फ अनियमितता ही अनियमितता है | क्या यही सुशासन है

Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com>
क्या यही सुशासन है जैसा की दावा किया जा रहा बड़े बड़े लोगो द्वारा जहा किसी को न्याय नही मिलता सिर्फ अनियमितता ही अनियमितता है | 
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com> 16 February 2019 at 02:19
To: pmosb <pmosb@pmo.nic.in>, presidentofindia@rb.nic.in, supremecourt <supremecourt@nic.in>, urgent-action <urgent-action@ohchr.org>, cmup <cmup@up.nic.in>, hgovup@up.nic.in, csup@up.nic.in, uphrclko <uphrclko@yahoo.co.in>, lokayukta@hotmail.com

श्री मान जी गरीब छात्रो व छात्राओं को वजीफा से वंचित करना अर्थात उनको शिक्षा से वंचित करना है |प्रधान मंत्री कार्यालय सन्दर्भ के पत्रों को जब खुद मुख्यमंत्री कार्यालय गंभीरता से नही ले रहा है तो देश की जनता श्री मान प्रधान मंत्री सर को कितनी गंभीरता से लेगा यह तो २०१९ का चुनाव स्पस्ट कर देगा |
श्री मान जी प्रस्तुत प्रकरण को प्रधान मंत्री कार्यालय द्वारा मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश शासन को भेजा गया |
Grievance Status for registration number : PMOPG/E/2019/0076211
Grievance Concerns ToName Of ComplainantYogi M P Singh
Date of Receipt08/02/2019

Received By Ministry/DepartmentPrime Ministers Office
Grievance Description

यह सच है की उत्तर प्रदश सरकार किसी भी शिकायत पर कोई कार्यवाही करती ही नही है सिर्फ जनसुनवाई पोर्टल पर डाल कर लिख देंगे प्रक्रिया में है और सामने वाला सोचता है की प्रक्रिया में है किन्तु उनके लिए यह समय विताने का सब से अच्छा साधन व तरीका है प्रदेश सरकार की कार्यशैली इतनी ख़राब है की जनता में आक्रोश व्याप्त है जिसका असर २०१९ के संसदीय चुनाव में देखने को मिलेगा Most revered Sir –Your applicant invites the kind attention of the Hon’ble Sir with due respect to following submissions as follows. 1-It is to be submitted before the Hon’ble Sir that नियत तिथि:प्रक्रिया में है शिकायत की स्थिति:लम्बित दिसम्बर २०१८ के शिकायत की यही स्थित है तीन शिकायते किन्तु एक भी सम्बंधित के यहा नही पहुची है क्यों की मुख्यमंत्री कार्यालय नही चाहता की किसी की कोई समस्या हल हो आवेदन का विवरणशिकायत संख्या-60000180132032,आवेदक कर्ता का नाम:Yogi M. P. Singh, आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:7379105911 नियत तिथि:-प्रक्रिया में हैशिकायत की स्थिति:-लम्बित 2-It is to be submitted before the Hon’ble Sir that इसमें स्पस्ट तौर पर उल्लेख है की मामला उत्तर प्रदेश सरकार से सम्बंधित है परन्तु यह जानते हुए की मामला उत्तर प्रदेश सरकार से सम्बंधित है तो मुख्य सचिव को अग्रसारित करना चाहिए था for registration number : PMOPG/E/2018/0586688 Grievance Concerns To Name Of Complainant-Yogi M P Singh,Date of Receipt-26/12/2018 Received By Ministry/Department-Prime Ministers Office 3-It is to be submitted before the Hon’ble Sir that सभी जानते है की उत्तर प्रदेश सरकार कोई कार्यवाही नही करती है इस लिए इस शिकायत पर अपने अधीनस्थो का पूर्ण ख्याल रखा है इसलिए तो अभी तक प्रक्रिया में है Grievance Status for registration number : GOVUP/E/2018/14608 Grievance Concerns To Name Of Complainant-Yogi M. P. Singh, Date of Receipt-26/12/2018 Received By Ministry/Department-Uttar Pradesh
Grievance Document
Current StatusUnder process, Date of Action08/02/2019
RemarksSend Through Web Service, Officer Concerns To

Officer NameShri Kalyan Banerji, Officer DesignationUnder Secretary
Contact AddressChief Minister Secretariat U.P. Secretariat, Lucknow
Email AddressContact Number05222215127

श्री मान जी उपरोक्त प्रकरण को मुख्य मंत्री कार्यालय ने लापरवाही से लिया और आज तक मुख्य मंत्री कार्यालय ने कोई कार्यवाही नही की जैसा की निम्न से स्पस्ट है |
आवेदन का विवरण
शिकायत संख्या
60000190018517
आवेदक कर्ता का नाम:
Yogi M P Singh
आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:
7379105911,
विषय:
यह सच है की उत्तर प्रदश सरकार किसी भी शिकायत पर कोई कार्यवाही करती ही नही है सिर्फ जनसुनवाई पोर्टल पर डाल कर लिख देंगे प्रक्रिया में है और सामने वाला सोचता है की प्रक्रिया में है किन्तु उनके लिए यह समय विताने का सब से अच्छा साधन व तरीका है प्रदेश सरकार की कार्यशैली इतनी ख़राब है की जनता में आक्रोश व्याप्त है जिसका असर २०१९ के संसदीय चुनाव में देखने को मिलेगा Most revered Sir –Your applicant invites the kind attention of the Hon’ble Sir with due respect to following submissions as follows. 1-It is to be submitted before the Hon’ble Sir that नियत तिथि:प्रक्रिया में है शिकायत की स्थिति:लम्बित दिसम्बर २०१८ के शिकायत की यही स्थित है तीन शिकायते किन्तु एक भी सम्बंधित के यहा नही पहुची है क्यों की मुख्यमंत्री कार्यालय नही चाहता की किसी की कोई समस्या हल हो आवेदन का विवरणशिकायत संख्या-60000180132032, आवेदक कर्ता का नाम:Yogi M. P. Singh, आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:7379105911 नियत तिथि:-प्रक्रिया में हैशिकायत की स्थिति:-लम्बित 2-It is to be submitted before the Hon’ble Sir that इसमें स्पस्ट तौर पर उल्लेख है की मामला उत्तर प्रदेश सरकार से सम्बंधित है परन्तु यह जानते हुए की मामला उत्तर प्रदेश सरकार से सम्बंधित है तो मुख्य सचिव को अग्रसारित करना चाहिए था for registration number : PMOPG/E/2018/0586688 Grievance Concerns To Name Of Complainant-Yogi M P Singh,Date of Receipt-26/12/2018 Received By Ministry/Department-Prime Ministers Office 3-It is to be submitted before the Hon’ble Sir that सभी जानते है की उत्तर प्रदेश सरकार कोई कार्यवाही नही करती है इस लिए इस शिकायत पर अपने अधीनस्थो का पूर्ण ख्याल रखा है इसलिए तो अभी तक प्रक्रिया में हैGrievance Status for registration number : GOVUP/E/2018/14608 Grievance Concerns To Name Of Complainant-Yogi M. P. Singh, Date of Receipt-26/12/2018 Received By Ministry/Department-Uttar Pradesh
नियत तिथि:
प्रक्रिया में है
शिकायत की स्थिति:
लम्बित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
फीडबैक की स्थिति:

आवेदन का संलग्नक

 श्री मान जी प्रियांशी दुबे का प्रस्तुत प्रकरण यह है श्री मान जी प्रार्थिनी द्वारा समस्त प्रविष्टियों शुद्ध भरे जाने की बात कही गयी है और वह शुद्ध है भी |श्री मान जी जब ऑनलाइन भरी समस्त प्रविष्टिया शुद्ध है तो डाटा का संदिग्ध होना सिर्फ इनके कुटिल दिमाग की उपज मात्र है |श्री मान जी खुद प्रधान मंत्री कार्यालय को निम्न शिकायत के माध्यम से समस्त दस्तावेजो को उपलब्ध करा दिया गया है जो की २६/१२/२०१८ को कल्याण बनर्जी को उपलब्ध करा दिया गया है अर्थात २० दिन से भी पहले जैसा की समाज कल्याण अधिकारी द्वारा कहा जा रहा है संस्था ने नही उपलब्ध कराया उसके लिए संस्था जिम्मेदार है छात्रा नही जिम्मेदार है |

Grievance Document Current Status Grievance received, Date of Action-26/12/2018, Officer Concerns To, Forwarded to Uttar Pradesh, Officer Name-Shri Kalyan Banerji, Officer Designation-Under Secretary
Contact Address-Chief Minister Secretariat U.P. Secretariat, Lucknow

आवेदन का विवरण
शिकायत संख्या
40019919006566
आवेदक कर्ता का नाम:
Priyanshi Dubey
आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:
7388002308,7388002308
विषय:
श्री मान जी प्रार्थी द्वारा भरी गई समस्त प्रविस्टिया शुद्ध है इसके बावजूद समाज कल्याण विभाग छात्रवृत्ति नही देना चाहता है |इसकी जांच कराइ जाय |
नियत तिथि:
23 – Feb – 2019
शिकायत की स्थिति:
निस्तारित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
फीडबैक की स्थिति:

आवेदन का संलग्नक

अग्रसारित विवरण
क्र..
सन्दर्भ का प्रकार
आदेश देने वाले अधिकारी
आदेश दिनांक
अधिकारी को प्रेषित
आदेश
आख्या दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन सन्दर्भ
08 – Feb – 2019
जिला समाज कल्याण अधिकारीमिर्ज़ापुर,समाज कल्‍याण विभाग
14/02/2019
छात्रा द्वारा छात्रवृत्ति हेतु किया गया आनलाइन आवेदन रजिस्टेशन क्रमांक690080501800671 ,UP board High School Roll No not matched with UP Board Database/Board type Other Than UP Board में चिन्हित है। दशमोत्तर छात्रवृत्ति हेतु जारी समयसारिणी में जिन छात्रछात्राओं द्वारा यू0पीबोर्ड से इतर अन्य बोर्ड से हाईस्कूल की परीक्षा उत्तीर्ण की है। उन छात्रछात्राओं को अपने छात्रवृत्ति आवेदनपत्र की प्रतिहाईस्कूल रिजल्ट की छायाप्रति के साथ सम्बन्धित शिक्ष्ण संस्थान के माध्यम से अधोहस्ताक्षरी कार्यालय में दिनांक 17-01-2019 तक उपलब्ध करायेंगे। छात्र का आवेदनपत्र छात्र द्वारासम्बन्धित शिक्ष्ण संस्थान द्वारा अधोहस्ताक्षरी कार्यालय में समयान्तर्गत उपलब्ध नहीं कराया गया है, जिसके फलस्वरूप छात्रवृत्तिशुल्क प्रतिपूर्ति का भुगतान देय नहीं है।
निस्तारित

जब प्रविष्टिया  गलत ही नही थी तो शुद्ध कराना महज एक आडम्बर था एक ऐसा भ्रष्ट ट्रिक जिसके सहायता से हजारो छात्रों को और छात्राओं को छात्रवृत्ति से वंचित किया गया | समस्त डाक्यूमेंट्स चेक शुरू में किये  गये और  शुद्ध पाए गये तभी तो संस्था द्वारा अग्रसारित किया गया |प्रथम बार कुछ त्रुटिया मिलने पर संस्था द्वारा पुनः रजिस्ट्रेशन करा के फॉर्म भरवाया गया | इस बात की जांच होनी चाहिए क्यों  समाज कल्याण अधिकारी शुद्ध प्रविष्टियों को संदिग्ध बता रहे है |यहा तो अपात्रो को वजीफा दिया जा रहा है पात्र छात्रो को कुटिल तरीके से वंचित किया जा रहा है जो की पूर्ण रूपेड़ अस्म्बैधानिक है जिसके लिए समाज कल्याण अधिकारी पूर्ण रूपेड़ जिम्मेदार है |

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
5 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh

यह सच है की उत्तर प्रदश सरकार किसी भी शिकायत पर कोई कार्यवाही करती ही नही है सिर्फ जनसुनवाई पोर्टल पर डाल कर लिख देंगे प्रक्रिया में है और सामने वाला सोचता है की प्रक्रिया में है किन्तु उनके लिए यह समय विताने का सब से अच्छा साधन व तरीका है प्रदेश सरकार की कार्यशैली इतनी ख़राब है की जनता में आक्रोश व्याप्त है जिसका असर २०१९ के संसदीय चुनाव में देखने को मिलेगा

Arun Pratap Singh
1 year ago

Here field entries are important or this thing is important that whether student has provided the copy of the High shool result. When the hard copy of the student is submitted then entire original records are checked by the staffs of the concerned institution. After all they are provided copy of the certificate as well as scanned copy to all the accountable public functionaries.
छात्रा द्वारा छात्रवृत्ति हेतु किया गया आनलाइन आवेदन रजिस्टेशन क्रमांक 690080501800671 ,UP board High School Roll No not matched with UP Board Database/Board type Other Than UP Board में चिन्हित है। दशमोत्तर छात्रवृत्ति हेतु जारी समय–सारिणी में जिन छात्र–छात्राओं द्वारा यू0पी0 बोर्ड से इतर अन्य बोर्ड से हाईस्कूल की परीक्षा उत्तीर्ण की है। उन छात्र–छात्राओं को अपने छात्रवृत्ति आवेदन–पत्र की प्रति, हाईस्कूल रिजल्ट की छायाप्रति के साथ सम्बन्धित शिक्ष्ण संस्थान के माध्यम से अधोहस्ताक्षरी कार्यालय में दिनांक 17-01-2019 तक उपलब्ध करायेंगे। छात्र का आवेदन–पत्र छात्र द्वारा⁄सम्बन्धित शिक्ष्ण संस्थान द्वारा अधोहस्ताक्षरी कार्यालय में समयान्तर्गत उपलब्ध नहीं कराया गया है, जिसके फलस्वरूप छात्रवृत्ति⁄शुल्क प्रतिपूर्ति का भुगतान देय नहीं है।

Vandana Singh
Vandana Singh
4 months ago

ज|ब प्रविष्टिया गलत ही नही थी तो शुद्ध कराना महज एक आडम्बर था एक ऐसा भ्रष्ट ट्रिक जिसके सहायता से हजारो छात्रों को और छात्राओं को छात्रवृत्ति से वंचित किया गया | समस्त डाक्यूमेंट्स चेक शुरू में किये गये और शुद्ध पाए गये तभी तो संस्था द्वारा अग्रसारित किया गया |प्रथम बार कुछ त्रुटिया मिलने पर संस्था द्वारा पुनः रजिस्ट्रेशन करा के फॉर्म भरवाया गया | इस बात की जांच होनी चाहिए क्यों समाज कल्याण अधिकारी शुद्ध प्रविष्टियों को संदिग्ध बता रहे है |यहा तो अपात्रो को वजीफा दिया जा रहा है पात्र छात्रो को कुटिल तरीके से वंचित किया जा रहा है जो की पूर्ण रूपेड़ अस्म्बैधानिक है जिसके लिए समाज कल्याण अधिकारी

Beerbhadra Singh
4 months ago

यहा तो अपात्रो को वजीफा दिया जा रहा है पात्र छात्रो को कुटिल तरीके से वंचित किया जा रहा है जो की पूर्ण रूपेड़ अस्म्बैधानिक है जिसके लिए समाज कल्याण अधिकारी पूर्ण रूपेड़ जिम्मेदार है |
No school no students but scholarship was provided. How could it be feasible? Why did Yogi Adilynath not take action in the matter?