जब अकाउंट करेक्ट नही करना था तो पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी ने दस्तावेज क्यों मगाए और मिलना नही था तो बुलाई क्यों

जनसुनवाई
समन्वित शिकायत निवारण प्रणाली, उत्तर प्रदेश
सन्दर्भ संख्या:-40019918011124
आवेदनकर्ता का विवरण :
नाम शिवम वर्मा
पिता/पति का नाम राजेंद्र प्रसाद वर्मा  
लिंग पुरुष
मोबाइल नंबर-1 : 8687094297
मोबाइल नंबर-2 : 8687094297
ईमेल yogimpsingh@gmail.com
क्षेत्र नगरीय
प्रदेश उत्तर प्रदेश
जनपद मिर्ज़ापुर
तहसील सदर
ब्लाक —-
ग्राम पंचायत —-
थाना कोतवाली कटरा
Address : तहसीलसदर, जिलामिर्ज़ापुर
शिकायत/सुझाव क्षेत्र की जानकारी :
क्षेत्र नगरीय
प्रदेश उत्तर प्रदेश
जनपद मिर्ज़ापुर
तहसील सदर
ब्लाक :
ग्राम पंचायत —-
ग्राम 0
थाना कोतवाली कटरा
आवेदन का विवरण :
आवेदन पत्र का विवरण :
सन्दर्भ का प्रकार शिकायत
अधिकारी जिलाधिकारी
विभाग पिछड़ा वर्ग कल्‍याण विभाग
सन्दर्भ श्रेणी भ्रष्टाचार / वित्तीय अनियमितता/कार्योंविभागीय योजनाओं में लापरवाही/जांच
Application Old Reference No : 40019918010600
संलग्नक : है
आवेदन का विवरण
शिकायत संख्या
40019918011124
आवेदक कर्ता का नाम:
शिवम वर्मा
आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:
8687094297,8687094297
विषय:
शिकायत संख्या-40019918010600 जनसुनवाई पोर्टल गवर्नमेंट ऑफ़ उत्तर प्रदेश जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी मिर्ज़ापुर ने मजाक बना दियासर इस देश में कोई इमानदार हो गरीबी और गरीबो को समझता हो तो उसी को आवेदन प्रस्तुत किया जाय| जो कम से कम सुने तो |सर नियम कुछ रह ही नही गया है हर जगह जबरदस्ती जब पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी मिर्ज़ापुर ने खुद सुनियोजित तरीके से गलत कार्यो को अंजाम दिया है तो वे तो भागे गी ही प्रार्थी द्वारा प्रथम एप्लीकेशन ११फ़रवरी२०१८ को दिया गया जब संबंधितो ने खाता संख्या की माइनर त्रुटी दूर करने से इनकार कर दिया |जबकि १६फ़रवरी२०१८ को खुद जिला विद्यालय निरीक्षक से १२ हजार से भी अधिक छात्रो की डाटा २० फ़रवरी २०१८ तक शुद्ध करने को कहा और जो छात्र उनके समक्ष फरवरी के प्रथम वीक से खाता संख्या में एक जीरो शुद्ध करने हेतु चरण बंदन कर रहा था उसका शुद्ध नही किया गया केवल उन्ही का शुद्ध किया गया जिस दूध से मलाई निकली | जो पात्र नही थे उनको प्रथम वरीयता दी गयी क्यों की ग्रीस से उनकी फाइल जल्दी फिसल गई हमारे पास तो ग्रीस था ही नही इस लिए ज्यो का त्यों बनी रही | लाभ तो उनको दिया गया जिनके पिता सरकारी सर्विस में थे क्यों की उनके पास ग्रीस था | सेवा में मुख्य मंत्री उत्तर प्रदेश शासन लखनऊ विषय शिकायत संख्या-40019918010600 जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी ने आज दिनांक १००५२०१८ को सुबह ११ बजे सुनवाई वास्ते प्राचार्य कन्हैया लाल बसंत लाल पोस्ट ग्रेजुएट कालेज मुसफ्फर गंज मिर्जापुर और प्रार्थी को प्रतिनिधि सहित बुलाया था किन्तु तो खुद उपस्थित रही और ही प्राचार्य उपस्थित हुई | महोदय प्रार्थी द्वारा श्री मान जी का ध्यान निम्न बिन्दुओं पर सविनय आकृष्ट किया जाता है | श्री मान जी जन सुनवाई पोर्टल की महिमा आप का कार्यालय कुछ इस प्रकार गुडगान करता है | प्रिय महोदय, आपका ईमेल मुख्यमंत्री कार्यालय के आधिकारिक ईमेल पर प्राप्त हुआ है यदि आपका ईमेल जनशिकायत श्रेणी का है तो आपको सविनय अवगत कराना है कि मुख्यमंत्री कार्यालय, उ०प्र० द्वारा जनता की शिकायतों को दर्ज किए जाने हेतु उ०प्र० सरकार का आधिकारिक ऑनलाइन पोर्टल जनसुनवाई विकसित किया गया है जिसका वेब एड्रेस नीचे दिया गया है – httpjansunwaiupnicinHomeHhtml आपसे निवेदन है कि अपनी शिकायतों के त्‍वरित निस्‍तारण हेतु जनसुनवाई पोर्टल का प्रयोग करें ध‍न्‍यवाद। मुख्‍यमंत्री कार्यालय, उ०प्र० नोटवेबसाइट या जनसुनवाई के मोबाइल app के माध्यम से ऑनलाइन दर्ज की गयी शिकायतों के निस्तारण की समीक्षा भी मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा गहनता से की जाती है | श्री मान जी यदि वेबसाइट या जनसुनवाई के मोबाइल app के माध्यम से ऑनलाइन दर्ज की गयी शिकायतों के निस्तारण की समीक्षा भी मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा गहनता से की जाती है | तो आज डेट फिक्स करके मैडम क्यों आउट स्टेशन चली गई |श्री मान जी मै जानता हु की मैडम अपने प्रभाव के समक्ष जनसुवाई पोर्टल को तुच्छ समझती है किन्तु मेरा तो ख्याल करती क्यों की इतनी धुप में पैदल गुरु जी योगी एम्. पी. सिंह जी के साथ ऑफिस का चक्कर लगाया | श्री मान जी सर्प में जहर नही होता तो कम से कम फूक कर काम चलाता है किन्तु जनसुवाई पोर्टल की गरिमा इतनी गिर चुकी है की उसमे लगने वाली आख्या केवल सामान्य औपचारिकता बन कर रह गई है |श्री मान जी मामले की सुनवाई तो जिलाधिकारी महोदय को करनी चाहिए क्यों की नैसर्गिक न्याय का सिद्धांत इस बात का परमीसन नही देता की जिसके विरुद्ध आरोप हो वही मामले की सुनवाई करे | सारे आरोप या तो प्राचार्य के खिलाफ है या खुद मैडम के खिलाफ है | श्री मान जी जिलाधिकारी महोदय मामले की सुनवाई करे क्यों की मामला वित्तीय अमितता से जुडा है | सरकारी धन को रेवड़ी और टाफी की तरह नही बाटा जा सकता है | दिनांक १००५२०१८ शिवम वर्मा पुत्र श्री राजेंद्र प्रसाद वर्मा
नियत तिथि:
27 – May – 2018
शिकायत की स्थिति:
लम्बित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
फीडबैक की स्थिति:
आवेदन का संलग्नक
अग्रसारित विवरण
क्र..
सन्दर्भ का प्रकार
आदेश देने वाले अधिकारी
आदेश दिनांक
अधिकारी को प्रेषित
आदेश
आख्या दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन सन्दर्भ
12 – May – 2018
जिलाधिकारीमिर्ज़ापुर,
अनमार्क

5 1 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
2 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh

श्री मान जी मै जानता हु की मैडम अपने प्रभाव के समक्ष जनसुवाई पोर्टल को तुच्छ समझती है किन्तु मेरा तो ख्याल करती क्यों की इतनी धुप में पैदल गुरु जी योगी एम्. पी. सिंह जी के साथ ऑफिस का चक्कर लगाया | श्री मान जी सर्प में जहर नही होता तो कम से कम फूक कर काम चलाता है किन्तु जनसुवाई पोर्टल की गरिमा इतनी गिर चुकी है की उसमे लगने वाली आख्या केवल सामान्य औपचारिकता बन कर रह गई है |४-श्री मान जी मामले की सुनवाई तो जिलाधिकारी महोदय को करनी चाहिए क्यों की नैसर्गिक न्याय का सिद्धांत इस बात का परमीसन नही देता की जिसके विरुद्ध आरोप हो वही मामले की सुनवाई करे | सारे आरोप या तो प्राचार्य के खिलाफ है या खुद मैडम के खिलाफ है | श्री मान जी जिलाधिकारी महोदय मामले की सुनवाई करे क्यों की मामला वित्तीय अमितता से जुडा है | सरकारी धन को रेवड़ी और टाफी की तरह नही बाटा जा सकता है | दिनांक -१०-०५-२०१८ शिवम वर्मा पुत्र श्री राजेंद्र प्रसाद वर्मा

Arun Pratap Singh
2 years ago

नियत तिथि: 27 – May – 2018 शिकायत की स्थिति: लम्बित रिमाइंडर : फीडबैक :
फीडबैक की स्थिति: आवेदन का संलग्नक संलग्नक देखें अग्रसारित विवरण-
क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी आदेश दिनांक अधिकारी को प्रेषित आदेश आख्या दिनांक आख्या स्थिति आख्या रिपोर्ट
1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 12 – May – 2018 जिलाधिकारी-मिर्ज़ापुर, — अधीनस्थ को प्रेषित
2 आख्या जिलाधिकारी ( ) 13 – May – 2018 जिला पिछडा वर्ग कल्याण अधिकारी -मिर्ज़ापुर,पिछड़ा वर्ग कल्‍याण विभाग कृपया जॉंचोपरान्त आवश्‍यक कार्यवाही करने का कष्ट करें अनमार्क