जहा गरीबो का नाम हटा कर यूनिट कम करके उनका शोषण हो रहा है वही अमीरों को अन्त्योदय जारी किया जा रहा है

जनसुनवाई
समन्वित शिकायत निवारण प्रणाली, उत्तर प्रदेश
सन्दर्भ संख्या:-40019918033068
आवेदनकर्ता का विवरण :
नाम हरिश्चंद
पिता/पति का नाम छेदी  
लिंग पुरुष
मोबाइल नंबर-1 : 7054703028
मोबाइल नंबर-2 : 7054703028
ईमेल yogimpsingh@gmail.com
Address : ग्राम आदमपुर (211139) ग्राम पंचायत आदमपुर ब्लाक छानवे तहसील सदर जिला मिर्ज़ापुर
शिकायत/सुझाव क्षेत्र की जानकारी :
क्षेत्र ग्रामीण
प्रदेश उत्तर प्रदेश
जनपद मिर्ज़ापुर
तहसील सदर
ब्लाक छानवे
ग्राम पंचायत आदमपुर
ग्राम आदमपुर
थाना —-
आवेदन का विवरण :
आवेदन पत्र का विवरण प्रार्थी हरिश्चंद पासी पुत्र श्री छेदी लाल पासी ग्राम आदमपुर पोस्ट नीबी गहरवार जिला मिर्ज़ापुर पिन कोड २३१३०३ मोबाइल नंबर७०५४७०३०२८ जो की एक दलित है अनुसूचित जाति का है उसको अन्त्योदय के स्थान पर बी. पी. एल. जारी किया गया है और उसमे भी दो यूनिट कम कर दिया गया | क्या यही इस लोकतंत्र की न्याय व्यवस्था है और क्या गरीबो को न्याय इसी तरह मिलता है की उन्हें भूखो मार डाला जाय | गुंजन/GUNJAN महिला बहु यदि कार्ड धारक की बहू है तो उसका पति दीनानाथ/DINANATH क्या कार्ड धारक का लड़का नही है | बहू कार्ड की यूनिट बढ़ा सकती है तो बेटा क्यों नही |सत्यम भारतीया जो की कार्ड धारक का नाती है वह कहा जाएगा | श्री मान जी बेरोजगारी और भुखमरी अपने चरम पर है और परिवार का कोई ठोस इनकम स्रोत नही है ऐसे में भूख से कोई मर जाय तो कोई आश्चर्य की बात नही है | श्री मान जी प्रार्थी श्री मान जी का ध्यान परम श्रद्धा पूर्वक निम्न बिन्दुओं पर आकृष्ट करता है | श्री मान जी प्रार्थी को कोई कार्ड तो उपलब्ध नही कराया गया क्यों की कार्ड तो कोटेदार के यहा जमा रहता है | इसलिए प्रार्थी उत्तर प्रदेश सरकार की वेबसाइट पर जो डाटा उपलब्ध है उसी को साक्ष्य रूप में प्रस्तुत कर रहा है |श्री मान जी इस प्रत्यावेदन के साथ प्रार्थी का हाथ से लिखा पत्र भी संलग्न है जिसमे परिवार के सभी सदस्यों का आधार संख्या लिखा है उसका अवलोकन करे और छूटे हुए यूनिट को कार्ड में शामिल करे जिससे प्रार्थी को न्याय मिले | जिसके लिए प्रार्थी सदैव श्री मान जी का आभारी रहेगा | श्री मान जी इस प्रत्यावेदन के साथ अन्त्योदय और बी. पी. एल. दोनों की सूची संलग्न है यदि बेईमानी परखना चाहते है तो जांच का आदेश दे हर चीज प्रार्थी जांच के समय स्पस्ट कर देगा और आधे कार्ड बोगस सिद्ध हो जाए गे और जो वास्तव में पात्र है उन्हें लाभ प्राप्त होगा यदि सरकार वास्तव में पात्रो को सुबिधा देना चाहती है तब | यहां तो शांति ब्यवस्था के लिए हर ताकतवर को सुबिधाए दे दी जाती है वह भी समस्त नियम कानून को दरकिनार करके तो फिर नियम कानून की वैल्यू ही क्या रही | श्री मान जी किसी इमानदार अधिकारी द्वारा जांच कराये दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा |प्रार्थी की मदद करे जिसके लिए प्रार्थी सदैव श्री मान जी का आभारी रहेगा | प्रार्थी हरिश्चंद पासी पुत्र छेदी लाल पासी चल भाष ७०५४७०३०२८ ग्राम आदमपुर ,पोस्ट नीबी गहरवार पिनकोड २३१३०३ जिला मिर्ज़ापुर , उत्तर प्रदेश
सन्दर्भ का प्रकार शिकायत
अधिकारी जिला पूर्ति अधिकारी
विभाग खाद्य एवं रसद विभाग
सन्दर्भ श्रेणी बीपीएल BPL अथवा अन्त्योदय राशन कार्ड की मांग के विषय में
संलग्नक : है
आवेदन का विवरण
शिकायत संख्या
40019918033068
आवेदक कर्ता का नाम:
हरिश्चंद
आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:
7054703028,7054703028
विषय:
प्रार्थी हरिश्चंद पासी पुत्र श्री छेदी लाल पासी ग्राम आदमपुर पोस्ट नीबी गहरवार जिला मिर्ज़ापुर पिन कोड २३१३०३ मोबाइल नंबर७०५४७०३०२८ जो की एक दलित है अनुसूचित जाति का है उसको अन्त्योदय के स्थान पर बी. पी. एल. जारी किया गया है और उसमे भी दो यूनिट कम कर दिया गया | क्या यही इस लोकतंत्र की न्याय व्यवस्था है और क्या गरीबो को न्याय इसी तरह मिलता है की उन्हें भूखो मार डाला जाय | गुंजन/GUNJAN महिला बहु यदि कार्ड धारक की बहू है तो उसका पति दीनानाथ/DINANATH क्या कार्ड धारक का लड़का नही है | बहू कार्ड की यूनिट बढ़ा सकती है तो बेटा क्यों नही |सत्यम भारतीया जो की कार्ड धारक का नाती है वह कहा जाएगा | श्री मान जी बेरोजगारी और भुखमरी अपने चरम पर है और परिवार का कोई ठोस इनकम स्रोत नही है ऐसे में भूख से कोई मर जाय तो कोई आश्चर्य की बात नही है | श्री मान जी प्रार्थी श्री मान जी का ध्यान परम श्रद्धा पूर्वक निम्न बिन्दुओं पर आकृष्ट करता है | श्री मान जी प्रार्थी को कोई कार्ड तो उपलब्ध नही कराया गया क्यों की कार्ड तो कोटेदार के यहा जमा रहता है | इसलिए प्रार्थी उत्तर प्रदेश सरकार की वेबसाइट पर जो डाटा उपलब्ध है उसी को साक्ष्य रूप में प्रस्तुत कर रहा है |श्री मान जी इस प्रत्यावेदन के साथ प्रार्थी का हाथ से लिखा पत्र भी संलग्न है जिसमे परिवार के सभी सदस्यों का आधार संख्या लिखा है उसका अवलोकन करे और छूटे हुए यूनिट को कार्ड में शामिल करे जिससे प्रार्थी को न्याय मिले | जिसके लिए प्रार्थी सदैव श्री मान जी का आभारी रहेगा | श्री मान जी इस प्रत्यावेदन के साथ अन्त्योदय और बी. पी. एल. दोनों की सूची संलग्न है यदि बेईमानी परखना चाहते है तो जांच का आदेश दे हर चीज प्रार्थी जांच के समय स्पस्ट कर देगा और आधे कार्ड बोगस सिद्ध हो जाए गे और जो वास्तव में पात्र है उन्हें लाभ प्राप्त होगा यदि सरकार वास्तव में पात्रो को सुबिधा देना चाहती है तब | यहां तो शांति ब्यवस्था के लिए हर ताकतवर को सुबिधाए दे दी जाती है वह भी समस्त नियम कानून को दरकिनार करके तो फिर नियम कानून की वैल्यू ही क्या रही | श्री मान जी किसी इमानदार अधिकारी द्वारा जांच कराये दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा |प्रार्थी की मदद करे जिसके लिए प्रार्थी सदैव श्री मान जी का आभारी रहेगा | प्रार्थी हरिश्चंद पासी पुत्र छेदी लाल पासी चल भाष ७०५४७०३०२८ ग्राम आदमपुर ,पोस्ट नीबी गहरवार पिनकोड २३१३०३ जिला मिर्ज़ापुर , उत्तर प्रदेश
नियत तिथि:
13 – Dec – 2018
शिकायत की स्थिति:
लम्बित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
फीडबैक की स्थिति:
आवेदन का संलग्नक
अग्रसारित विवरण
क्र..
सन्दर्भ का प्रकार
आदेश देने वाले अधिकारी
आदेश दिनांक
अधिकारी को प्रेषित
आदेश
आख्या दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन सन्दर्भ
13 – Nov – 2018
जिला पूर्ति अधिकारीमिर्ज़ापुर,खाद्य एवं रसद विभाग
अनमार्क

Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com>
Irregularity and arbitrariness in issuing Ration Card in the Village Panchayat-Adampur, Block-Chhanvey, District-Mirzapur, Uttar Pradesh.
1 message
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com> 13 November 2018 at 19:35
To: pmosb <pmosb@pmo.nic.in>, presidentofindia@rb.nic.in, urgent-action <urgent-action@ohchr.org>, supremecourt 
<supremecourt@nic.in>, 
cmup <cmup@up.nic.in>, hgovup@up.nic.in, csup@up.nic.in, uphrclko <uphrclko@yahoo.co.in>, lokayukta@hotmail.com

प्रार्थी – हरिश्चंद पासी पुत्र श्री छेदी लाल पासी ग्राम –आदमपुर पोस्ट –नीबी गहरवार जिला –
मिर्ज़ापुर पिन कोड -२३१३०३ मोबाइल नंबर-७०५४७०३०२८ जो की एक दलित है अनुसूचित 
जाति का है उसको अन्त्योदय के स्थान पर बी. पी. एल. जारी किया गया है और उसमे भी दो 
यूनिट कम कर दिया गया | क्या यही इस लोकतंत्र की न्याय व्यवस्था है और क्या गरीबो को 
न्याय इसी तरह मिलता है की उन्हें भूखो मार डाला जाय |  गुंजन/GUNJAN महिला बहु यदि 
कार्ड धारक की बहू है तो उसका पति दीनानाथ/DINANATH क्या कार्ड धारक का लड़का 
नही है | बहू कार्ड की यूनिट बढ़ा सकती है तो बेटा क्यों नही |सत्यम भारतीया जो की कार्ड 
धारक का नाती है वह कहा जाएगा | श्री मान जी बेरोजगारी और भुखमरी अपने चरम पर है 
और परिवार का कोई ठोस इनकम स्रोत नही है ऐसे में भूख से कोई मर जाय तो कोई आश्चर्य 
की बात नही है |

श्री मान जी प्रार्थी श्री मान जी का ध्यान परम श्रद्धा पूर्वक निम्न बिन्दुओं पर आकृष्ट करता है |
१- श्री मान जी प्रार्थी को कोई कार्ड तो उपलब्ध नही कराया गया क्यों की कार्ड तो कोटेदार के 
यहा जमा रहता है | इसलिए प्रार्थी उत्तर प्रदेश सरकार की वेबसाइट पर जो डाटा उपलब्ध है 
उसी को साक्ष्य रूप में प्रस्तुत कर रहा है |
ONLINE RATION CARD MANAGEMENT SYSTEM
   पात्रता सूची का पू्र्ण विवरण    
1.
  डिजिटाइज्ड राशन कार्ड संख्या
  219940354159
2.
  कार्ड का प्रकार
  पात्र गृहस्थी
3.
  दुकानदार का नाम
  पंचू पासी
4.
  दुकान संख्या
  20690314
5.
  धारक का नाम
  श्रीमती इंद्रावाती/INDRAAVAATI
6.
  धारक के पिता/पति का नाम
  श्री हरीश/Mr. HARISH
7.
  धारक की माता का नाम
  श्रीमती सुगिया/SUGIYA
8.
  सदस्यों की कुल संख्या
  4
  सदस्यों का पू्र्ण विवरण  
क्रम संख्या
सदस्य का नाम
लिंग
धारक से सम्बन्ध
पिता का नाम
1.
 इंद्रावाती/INDRAAVAATI
 महिला
 स्वयं
 जोखई लाल/JOKHAI LAAL
2.
 हरीश/HARISH
 पुरूष
 सौहर पति
 राम वली/RAM VALI
3.
 गुंजन/GUNJAN
 महिला
 बहु
 दीनानाथ/DINANATH
4.
 अंजलि/ANJALI
 महिला
 बेटी
 हरीश/HARISH
The Website is Designed, Developed & Hosted by  National Informatics Centre, U.P. State Unit Lucknow
Disclaimer:  Data is Provided by the District Supply Office, Government of UP. NIC (UP) State Unit/District Unit will not be Responsible for any Discrepancy Found in Information Displaying on Website.
२-श्री मान जी इस प्रत्यावेदन के साथ प्रार्थी का हाथ से लिखा पत्र भी संलग्न है जिसमे परिवार के 
सभी सदस्यों का आधार संख्या लिखा है उसका अवलोकन करे और छूटे हुए यूनिट को कार्ड में 
शामिल करे जिससे प्रार्थी को न्याय मिले | जिसके लिए प्रार्थी सदैव श्री मान जी का आभारी रहेगा |

३-श्री मान जी इस प्रत्यावेदन के साथ  अन्त्योदय और बी. पी. एल. दोनों की सूची संलग्न है यदि 
बेईमानी परखना चाहते है तो जांच का आदेश दे हर चीज प्रार्थी जांच के समय स्पस्ट कर देगा 
और आधे कार्ड बोगस सिद्ध हो जाए गे और जो वास्तव में पात्र है उन्हें लाभ प्राप्त होगा यदि 
सरकार वास्तव में पात्रो को सुबिधा देना चाहती है तब | यहां तो शांति ब्यवस्था के लिए हर 
ताकतवर को सुबिधाए दे दी जाती है वह भी समस्त नियम कानून को दरकिनार करके तो फिर
 नियम कानून की वैल्यू ही क्या रही |
श्री मान जी किसी इमानदार अधिकारी द्वारा जांच कराये दूध का दूध पानी 
का पानी हो जाएगा |प्रार्थी की मदद करे जिसके लिए प्रार्थी सदैव श्री मान जी
 का आभारी रहेगा |
                                                               प्रार्थी
                                                        हरिश्चंद पासी पुत्र छेदी लाल पासी
चल भाष -७०५४७०३०२८ ग्राम –आदमपुर ,पोस्ट –नीबी गहरवार पिनकोड 
-२३१३०३ जिला –मिर्ज़ापुर , उत्तर प्रदेश | 

3 attachments
Ration card of Harishchand.pdf
429K
Antyoday.pdf
189K
Rationcard Digitization.pdf
281K
5 1 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
3 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh

प्रार्थी – हरिश्चंद पासी पुत्र श्री छेदी लाल पासी ग्राम –आदमपुर पोस्ट –नीबी गहरवार जिला –मिर्ज़ापुर पिन कोड -२३१३०३ मोबाइल नंबर-७०५४७०३०२८ जो की एक दलित है अनुसूचित जाति का है उसको अन्त्योदय के स्थान पर बी. पी. एल. जारी किया गया है और उसमे भी दो यूनिट कम कर दिया गया | क्या यही इस लोकतंत्र की न्याय व्यवस्था है और क्या गरीबो को न्याय इसी तरह मिलता है की उन्हें भूखो मार डाला जाय | गुंजन/GUNJAN महिला बहु यदि कार्ड धारक की बहू है तो उसका पति दीनानाथ/DINANATH क्या कार्ड धारक का लड़का नही है | बहू कार्ड की यूनिट बढ़ा सकती है तो बेटा क्यों नही |सत्यम भारतीया जो की कार्ड धारक का नाती है वह कहा जाएगा | श्री मान जी बेरोजगारी और भुखमरी अपने चरम पर है और परिवार का कोई ठोस इनकम स्रोत नही है ऐसे में भूख से कोई मर जाय तो कोई आश्चर्य की बात नही है |

Mahesh Pratap Singh Yogi M. P. Singh

06/11/2018 प्रस्तुत प्रकरण की जांच पूर्ति निरीक्षक के द्वारा करायी गयी पूर्ति निरीक्षक की जांच आख्या के अनुसार आवेदक श्री हरिश्चन्द्र पासी पुत्र छेदी लाल पासी निवासी ग्रामसभा आदमपुर पो० नीबीगहरवार द्वारा अन्त्योदय राश्न कार्ड की मांग की गयी थी जिसकी फीडिंग शतप्रतिशत पूर्ण कराया जा चुका है जिसके कारण से आवेदक को अन्त्योदय कार्ड दिया जाना सम्भव नहीं है आवेदक को पात्र गृहस्थी की सूची में शामिल कर राशन कार्ड जारी कर दिया गया है। अतः उक्तानुसार प्रकरण निक्षेपित करने काकष्ट करें।

Preeti Singh
2 years ago

Undoubtedly matter is of the great concern can't be overlooked. Those who must be provided Antyoday card are deprived of the BPL is not serious violation of human rights.Where is the social justice if social justice is available how the individuals belonging to weaker section is deprived of its human and constitutional rights.