पौराणिक कथा अंधेर नगरी चौपट राजा की कथा खूब चरितार्थ होती है | टका सेर भाजी टका सेर खाझा ||

Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com>
पौराणिक कथा अंधेर नगरी चौपट राजा की कथा खूब चरितार्थ होती है | टका सेर भाजी टका सेर खाझा ||
1 message
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com> 3 September 2018 at 14:04
To: pmosb <pmosb@pmo.nic.in>, presidentofindia@rb.nic.in, supremecourt <supremecourt@nic.in>, urgent-action <urgent-action@ohchr.org>, cmup <cmup@up.nic.in>, hgovup@up.nic.in, csup@up.nic.in, uphrclko <uphrclko@yahoo.co.in>, SBI Contact Centre <contactcentre@sbi.co.in>, gm.customer@sbi.co.in, sbi.12731@sbi.co.on, sbi.12731@sbi.co.in, sbi.07806@sbi.co.in

मोदी सर इस लोकतंत्र में जो भी आराजकता है उसे रोकने की सबसे बड़ी जिम्मेदारी यदि किसी की है तो उसे आप जानते है और शायद अपने नजरिये से रोकने का भी प्रयास कर रहे होंगे | इस आराजकता की और प्रार्थी आपका ध्यान आक्रिस्ट करना चाहता है |
१-प्रार्थी द्वारा दिनांक ०१ / ०५ /२०१८ को डिमांड ड्राफ्ट / बैंकर्स चेक रूपया २००  के लिए ऑनलाइन आवेदन किया गया जिस पर स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया द्वारा रूपया ८४ कमीशन चार्ज किया गया |
२-भारतीय स्टेट बैंक जो की भारत सरकार का सब से दुलारा बैंक है उपरोक्त चेक एक हप्ते के बजाय तीन हप्ते से भी ज्यादा समय लिया गया प्रार्थी को उपलब्ध कराया गया जिसका स्कैन कॉपी पीडीऍफ़ फॉर्म में संलग्न है |
३-दिनांक २६-०६-२०१८ को RTO कार्यालय मिर्ज़ापुर ने ऑफलाइन आवेदन लेने से इनकार कर और डिमांड ड्राफ्ट / बैंकर्स चेक रूपया २०० वापस कर दिया जिसका स्कैन कॉपी संलग्नक के रूप में प्रत्यावेदन के साथ लगी हुई है |
४-प्रार्थी द्वारा उपरोक्त चेक को भारतीय स्टेट बैंक की मिर्ज़ापुर शहर शाखा को उपलब्ध कराया गया जिससे की रूपया २०० प्रार्थी के खाते में वापस हो सके काफी हीला हवाली के उपरांत शाखा प्रबंधक भारतीय स्टेट बैंक ने रुपया २३६ प्रोसेसिंग फीस निर्धारित किया है | जिसको जमा करने के उपरांत ही हमारा रूपया २०० हमारे खाते में अंतरित हो सकेगा | अर्थात अपना रूपया २०० पाने वास्ते रुपया २३६ अपने जेब से देना होगा | 
५- श्री मान जी जो पैसा RTO कार्यालय मिर्ज़ापुर के लेने से इनकार करने पर स्वतः ही प्रार्थी के खाते में अंतरित हो जाना चाहिए रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया के नयी गाइड लाइन के अनुसार उसी पैसे को खाते में अंतरित करने वास्ते उससे भी ज्यादा प्रोसेसिंग फीस की माग की जा रही है और आप की सरकार मूक दर्शक बन कर तमाशा देख रही है |
६-श्री मान जी यह वही बैंक है जो ५० रुपये पेमेंट पर भी ५७ रुपये कमीशन लेती है विद्यार्थियों से १०० रुपये पर भी ५७ रुपये कमीशन लेती है २०० रुपये पर भी ५७ रुपये लेती है और तीन सौ  पर भी ५७ रूपये कमीशन लेता है | जिसको ख़त्म करने के लिए मैंने एडी चोटी का जोर लगाया और मामला कमीशन तक गया किन्तु कोई हल नही निकला | किन्तु आप की नजर सब कुछ सही है और आप से अच्छी सरकार किसी ने दी ही नही आज तक | 
आप की सरकार के लिए पौराणिक कथा अंधेर नगरी चौपट राजा की कथा खूब चरितार्थ होती है |अंधेर नगरी  चौपट राजा | टकासेर भाजी टका सेर खाझा ||

Grievance Status for registration number : DEABD/E/2018/15715
Grievance Concerns To, Name Of Complainant-Yogi M. P. Singh,Date of Receipt-07/08/2018
Received By Ministry/Department
Financial Services (Banking Division)
Rating Remarks
Think about the wrongdoings of premium banking institution of India known as state bank of India. 1-Demand draft of Rs.200 sought from it and it charged Rs.84 as commission and provided DD after too much delay in comparison to the prescribed time. 2-RTO Mirzapur did not accept the Demand Draft so automatically it ought to refunded into the account of the applicant in accordance with the RBI new guidelines but concerned did not do so. 3-After numerous communications chameleon showed its real colour of corruption. Now SBI seeking Rs.236 as processing fee in order to cancel the demand draft which is unnatural illegal and ultra vires to the constitution of India.
Grievance Description
Undoubtedly State Bank of India is illegally persecuting me but it is dead sure that I will expose the wrongdoings of this corrupt premium banking institution as usual. They will not be king by cheating Rs.200 on me but such amount belongs to my hard earned money which will never be fruitful to them. 
If someone seeking reversal of the amount paid for Demand Draft automatically implies that applied for cancellation of the draft. If the applicant is not seeking cancellation, then how the said DD reached the branch office city Mirzapur of the State Bank of India. My e-mail is registered to state bank of India and if any request is made through my e-mail, then it would be considered authentic. I have made a cancellation request through my e-mail.
If the payment was not made, then according to new guidelines of the reserve bank of India, said amount may be refunded to the original account which means into the account of the applicant. Please provide the information in regard to delay in reversing the Rs.200 to account.
RTO denied accepting the demand draft ipso fact obvious from attached documents so please provide the name of claimants of DD if besides the applicant.
                            This is a humble request of your applicant to you Hon’ble Sir that how can it be justified to withhold public services arbitrarily and promote anarchy, lawlessness and chaos in an arbitrary manner by making the mockery of law of land? This is need of the hour to take harsh steps against the wrongdoer in order to win the confidence of citizenry and strengthen the democratic values for healthy and prosperous democracy. For this, your applicant shall ever pray you, Hon’ble Sir.                                                          Yours sincerely
Date-03/09/2018              Yogi M. P. Singh, Mobile number-7379105911, Mohalla- Surekapuram, Jabalpur Road, District-Mirzapur, Uttar Pradesh, Pin code-231001.


2 attachments
Anarchy in SBI .pdf
410K
SBI illogical and unnatural reply.pdf
315K

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
2 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh

४-प्रार्थी द्वारा उपरोक्त चेक को भारतीय स्टेट बैंक की मिर्ज़ापुर शहर शाखा को उपलब्ध कराया गया जिससे की रूपया २०० प्रार्थी के खाते में वापस हो सके काफी हीला हवाली के उपरांत शाखा प्रबंधक भारतीय स्टेट बैंक ने रुपया २३६ प्रोसेसिंग फीस निर्धारित किया है | जिसको जमा करने के उपरांत ही हमारा रूपया २०० हमारे खाते में अंतरित हो सकेगा | अर्थात अपना रूपया २०० पाने वास्ते रुपया २३६ अपने जेब से देना होगा |
५- श्री मान जी जो पैसा RTO कार्यालय मिर्ज़ापुर के लेने से इनकार करने पर स्वतः ही प्रार्थी के खाते में अंतरित हो जाना चाहिए रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया के नयी गाइड लाइन के अनुसार उसी पैसे को खाते में अंतरित करने वास्ते उससे भी ज्यादा प्रोसेसिंग फीस की माग की जा रही है और आप की सरकार मूक दर्शक बन कर तमाशा देख रही है |

Preeti Singh
2 years ago

प्रार्थी द्वारा दिनांक ०१ / ०५ /२०१८ को डिमांड ड्राफ्ट / बैंकर्स चेक रूपया २०० के लिए ऑनलाइन आवेदन किया गया जिस पर स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया द्वारा रूपया ८४ कमीशन चार्ज किया गया |
२-भारतीय स्टेट बैंक जो की भारत सरकार का सब से दुलारा बैंक है उपरोक्त चेक एक हप्ते के बजाय तीन हप्ते से भी ज्यादा समय लिया गया प्रार्थी को उपलब्ध कराया गया जिसका स्कैन कॉपी पीडीऍफ़ फॉर्म में संलग्न है |
३-दिनांक २६-०६-२०१८ को RTO कार्यालय मिर्ज़ापुर ने ऑफलाइन आवेदन लेने से इनकार कर और डिमांड ड्राफ्ट / बैंकर्स चेक रूपया २०० वापस कर दिया जिसका स्कैन कॉपी संलग्नक के रूप में प्रत्यावेदन के साथ लगी हुई है |