At least their humanity awakened and they revived the submitted grievance.

Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com>
Why the matter concerned with the syphoning of the public fund is being overlooked by the concerned accountable public functionaries?
1 message
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh <yogimpsingh@gmail.com> 28 November 2018 at 22:59
To: pmosb <pmosb@pmo.nic.in>, presidentofindia@rb.nic.in, supremecourt <supremecourt@nic.in>, urgent-action <urgent-action@ohchr.org>, hgovup@up.nic.in, csup@up.nic.in, uphrclko <uphrclko@yahoo.co.in>, lokayukta@hotmail.com, cmup <cmup@up.nic.in>

स्वच्छ भारत मिशन परम आदरणीय माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की महत्वाकांक्षी योजना | जिसके कारण भारत बिकसित देश बन जाएगा |
An application under Article 51 A of the constitution of India.

Most revered Sir –Your applicant invites the kind attention of the Hon’ble Sir with due respect to following submissions as follows.

1-It is submitted before the Hon’ble Sir that 

The matter is concerned with the complaint number-आवेदन का विवरण, शिकायत संख्या-40019918024046, आवेदक कर्ता का नाम: Arvind Kumar
Think about the gravity of the situation that feedback was submitted on 19/10/2018 but still the position of the feedback is that feedback received. Whether it is not a reflection of the insolence of concerned that they didn’t entertain the feedback even when the matter is concerned with the syphoning of public fund by the concerned public functionaries. Here most surprising is that concerned didn’t visit the village panchayat but wrote the report by sitting in the office at the block. Which is attached to this complaint and Sir may take the perusal of contents of the report full of nonsense.


2-It is submitted before the Hon’ble Sir that 

आवेदन का विवरण
शिकायत संख्या
40019918024046
आवेदक कर्ता का नाम:
Arvind Kumar
आवेदक कर्ता का मोबाइल न०:
8400104750,8400104750
विषय:
The matter is concerned with the irregularity in the mega project of the government popularly known as clean and sanitation drive of the great prime minister Mr Narendra Modi because of the corruption of gram pradhan and concerned Most of the toilets made in the gram panchayat only on the paper, not their physical existence are available in the village panchayat Likewise, the fund of other development works is also flowing directly into the pockets concerned coterie exploiting the poor lady Subject- An impartial enquiry may be ordered by the D M Mirzapur to look into the irregularity in the development work carried out by the gram pradhan Village panchayat-Naugaon, Block-Chhanbey, District-Mirzapur, Uttar Pradesh With due respect, your applicant wants to draw the kind attention of the Honble Sir to the following submissions as follows 1-It is submitted before the Honble Sir that actually gram pradhan Fulpatti Devi is a puppet in the hand of few influential people in the village Panchayat Aforementioned gram pradhan belongs to weaker and downtrodden section and the illiterate lady and she is quite not apprised with the activities actually going in the village Panchayat and if not believing me Hon’ble Sir itself may check by making enquiry in this regard in regard to development activities going in the gram panchayat 2-It is submitted before the Honble Sir that if any action would be taken against the gram pradhan, the poor lady will be accountable whose no fault in the rampant corruption going on in the development work being carried out in the village Panchayat 3-It is submitted before the Honble Sir that not a single open meeting was convened by the gram pradhan which means those people who are using the gram pradhan like a puppet This is a humble request of your applicant to you Honble Sir that It can never be justified to overlook the rights of the citizenry by delivering services in an arbitrary manner by floating all set up norms This is sheer mismanagement which is encouraging wrongdoers to reap the benefit of loopholes in the system and depriving poor citizens of the right to justice Therefore it is need of the hour to take concrete steps in order to curb grown anarchy in the system For this, your applicant shall ever pray you, Honble Sir Yours sincerely Arvind Kumar SO Santosh Kumar Mobile number-8400104750, Village – Devipur, Post-Nadini, District -Mirzapur, Pincode-231303 Uttar Pradesh Government, India
नियत तिथि:
26 – Sep – 2018
शिकायत की स्थिति:
लम्बित
रिमाइंडर :
फीडबैक :
दिनांक 19/10/2018को फीडबैक:- श्री मान जी राज्य सरकार द्वारा शिकायत निस्तारण की निर्धारित तिथि २६सितम्बर २०१८ जांच अधिकारी द्वारा किये गये जांच की तिथि २७/०९/२०१८ प्रार्थी से कोई संपर्क नही साधा गया क्यों की प्रधान को क्लीन चिट जो देनी थी | श्री मान जी सहायक विकास अधिकारी छानवे मिर्ज़ापुर द्वारा प्रस्तुत आख्या अपठनीय अतः उस आख्या के आधार पर जो जांच शिकायत कर्ता के अनुपस्थिति में की गई और अपठनीय है स्वीकार्य नही हो सकता और यह मात्र प्रयास है अपने गलत कार्यो को छिपाने का वहा पर कोई शौचालय नही बना है सभी शौचालय पूर्व में बने थे और उनके नाम पर सरकारी खजाने पैसा निकाला गया है |चुकी प्रार्थी द्वारा पूर्व में शिकायत किया जा चुका था ग्राम प्रधान अन्य की कार्यशैली पर प्रश्न चिन्ह उठाया जा चुका है जिसका ये खुन्नस खाए हुए है और प्रार्थी के परिवार को सरकारी सहायता से वंचित करते रहते है |श्री मान जी यदि लेश मात्र भी इमानदारी हो तो जांच प्रार्थी के उपस्थिति में हो अन्यथा कमरे में बैठ कर आख्या तैयार करने का कोई मतलब नही है | श्री मान जी ऐसा प्रतीत होता है की जांच आख्या की जान बूझ कर जिम्मेदारी से बचने के लिए अपठनीय बनाया गया और जिन्होंने ऐसी आख्या स्वीकार की है वे और भी ख़राब छबी के लोक सेवक है जिनका उद्देश्य ही सरकारी खजाने से अपनी जेवे भरना |निस्संदेह यह एक विभागीय निरीक्षण था किन्तु उसे भी बंद कमरे में बैठ आख्या तैयार कर मूर्त रूप दिया गया जो की घोर निंदनीय है | सच तो सच होता है इसलिए उत्तर प्रदेश में कभी भी कोई भी सरकार दूसरी बार सता में नही आई है | क्यों की जनता भ्रस्टाचार से इतनी ऊबी है की परिवर्तन चाहती है |भले ही सता में आने वाला उससे अर्थात पहले वाले से क्यों भी भ्रष्ट हो |बहुत कष्ट है श्री मान जी मोदी सर के स्वच्छता अभियान को इस तरह से मटियामेट होता देख |
फीडबैक की स्थिति:
सन्दर्भ पुनर्जीवित
आवेदन का संलग्नक
अग्रसारित विवरण
क्र..
सन्दर्भ का प्रकार
आदेश देने वाले अधिकारी
आदेश दिनांक
अधिकारी को प्रेषित
आदेश
आख्या दिनांक
आख्या
स्थिति
आख्या रिपोर्ट
1
अंतरित
ऑनलाइन सन्दर्भ
11 – Sep – 2018
जिलाधिकारीमिर्ज़ापुर,
28/09/2018
अनुमोदित
आख्या उच्च स्तर पर प्रेषित
2
अंतरित
जिलाधिकारी ( )
11 – Sep – 2018
जिला पंचायत राज अधिकारीमिर्ज़ापुर,पंचायती राज विभाग
नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें 
28/09/2018
refer to attach file(अवगत कराया गया कि आप का शौचालय निर्मित है )
C-श्रेणीकरण
3
आख्या
जिलाधिकारी( मिर्ज़ापुर)
30 – Nov – 2018
जिला पंचायत राज अधिकारीमिर्ज़ापुर,पंचायती राज विभाग
कृपया प्रकरण का गंभीरता से पुनः परीक्षण कर नियमानुसार कार्यवाही करते हुए 15 दिवस में आख्या उपलब्ध कराए जाने की अपेक्षा की गई है
अनमार्क

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
3 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Mahesh Pratap Singh Yogi M P Singh

दिनांक 19/10/2018को फीडबैक:- श्री मान जी राज्य सरकार द्वारा शिकायत निस्तारण की निर्धारित तिथि २६-सितम्बर -२०१८ जांच अधिकारी द्वारा किये गये जांच की तिथि -२७/०९/२०१८ प्रार्थी से कोई संपर्क नही साधा गया क्यों की प्रधान को क्लीन चिट जो देनी थी | श्री मान जी सहायक विकास अधिकारी छानवे मिर्ज़ापुर द्वारा प्रस्तुत आख्या अपठनीय अतः उस आख्या के आधार पर जो जांच शिकायत कर्ता के अनुपस्थिति में की गई और अपठनीय है स्वीकार्य नही हो सकता और यह मात्र प्रयास है अपने गलत कार्यो को छिपाने का वहा पर कोई शौचालय नही बना है सभी शौचालय पूर्व में बने थे और उनके नाम पर सरकारी खजाने पैसा निकाला गया है |चुकी प्रार्थी द्वारा पूर्व में शिकायत किया जा चुका था ग्राम प्रधान व अन्य की कार्यशैली पर प्रश्न चिन्ह उठाया जा चुका है जिसका ये खुन्नस खाए हुए है और प्रार्थी के परिवार को सरकारी सहायता से वंचित करते रहते है |

Arun Pratap Singh
1 year ago

Where is the report which was approved by D. M. Mirzapur on 07/12/2018?
फीडबैक की स्थिति: जिलाधिकारी द्वारा दिनाक 07/12/2018 को प्राप्त आख्या अनुमोदित कर दी गयी है
आवेदन का संलग्नक
अग्रसारित विवरण-
क्र.स. सन्दर्भ का प्रकार आदेश देने वाले अधिकारी आदेश दिनांक अधिकारी को प्रेषित आदेश आख्या दिनांक आख्या स्थिति आख्या रिपोर्ट
1 अंतरित ऑनलाइन सन्दर्भ 11 – Sep – 2018 जिलाधिकारी-मिर्ज़ापुर, — 28/09/2018 अनुमोदित निस्तारित
2 अंतरित जिलाधिकारी ( ) 11 – Sep – 2018 जिला पंचायत राज अधिकारी-मिर्ज़ापुर,पंचायती राज विभाग नियमनुसार आवश्यक कार्यवाही करें 28/09/2018 refer to attach file(अवगत कराया गया कि आप का शौचालय निर्मित है ) C-श्रेणीकरण
3 आख्या जिलाधिकारी( मिर्ज़ापुर) 30 – Nov – 2018 जिला पंचायत राज अधिकारी-मिर्ज़ापुर,पंचायती राज विभाग कृपया प्रकरण का गंभीरता से पुनः परीक्षण कर नियमानुसार कार्यवाही करते हुए 15 दिवस में आख्या उपलब्ध कराए जाने की अपेक्षा की गई है अनुमोदित 06/12/2018 refer to attach file(पुनः जाच के बाद सहायक विकास अधिकारी को आवश्यक कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया है ) निस्तारित

Preeti Singh
1 year ago

refer to attach file(पुनः जाच के बाद सहायक विकास अधिकारी को आवश्यक कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया है | Where is the report of the A.D.O. Panchayat? Since A.D.O. did not take any action so report was not submitted by him