Arbitrary action of D.S.O. card was cancelled and in making new card six month passed

संदर्भ संख्या : 40019919032166 , दिनांक – 18 Oct 2019 तक की स्थिति

आवेदनकर्ता का विवरण : शिकायत संख्या:- –40019919032166

आवेदक का नाम
-Yogi M P Singh

विषयशिकायत संख्या40019919024704 आवेदक कर्ता का नामYogi M P Singh 2आख्या जिलाधिकारी मिर्ज़ापुर10 Aug 2019 जिला पूर्ति अधिकारीमिर्ज़ापुर,खाद्य एवं रसद विभागकृपया प्रकरण का गंभीरता से पुनः
परीक्षण कर नियमानुसार कार्यवाही करते
हुए 15 दिवस में आख्या उपलब्ध कराए जाने
की अपेक्षा की गई है कार्यालय स्तर
पर लंबित Whether
it is not mockery of the law of land that District Supply Officer Mirzapur was
given only 15 days time to submit the report on 10August2019 and today is 10Sept2019
moreover it took place when the chief minister office categorised the grievance
into CCategory. Detail is attached to the grievance.
शिकायत संख्या-60000190113674 आवेदक कर्ता का नाम-Yogi M. P. Singh  आवेदक कर्ता का मोबाइल न०7379105911, विषय-Matter is concerned with the district supply officer Mirzapur
district who submitted forged affidavit of the applicant to manage the
grievance disposed submitted by the applicant on the august portal of the
government of Uttar Pradesh. Complaint number40019919024704. For more detail,
vide attached document to the grievance.
नियत तिथि24 Aug 2019 शिकायत की स्थिति निस्तारित फीडबैक दिनांक 30082019को फीडबैक श्री मान जी प्राकृतिक न्याय सिद्धांत कहता
है कि आरोपी अर्थात जिस पर आरोप लगा हो खुद के आरोपों की जांच
करके अपने
आप को दोष मुक्त नहीं
करता है या अपने अधीनस्थों के माध्यम से भी खुद को दोष मुक्त नहींकर सकता
है | किसी भीलोक प्राधिकारी के विरुद्ध जांच तो वरिष्ठ अधिकारिओं के निगरानी में ही की जा सकती
है और जिला पुर्ति अधिकारी ने तो सभी को बीच से निकाल फेका
एक झटके
में। श्री
मान जी जब प्रार्थी को न्याय मिला ही नहीं तो शिकायत का निस्तारण कैसा | क्या ऐसा निस्तारण किसी
मानक को पूरा करते है जिसमे ब्यथा निवारण हो ही और ब्यथा को निस्तारित मान लिया
जाय | आयुक्त खाद्य 09 Aug 2019
जिला पूर्ति अधिकारीमिर्ज़ापुर,खाद्य एवं रसद विभाग कृपया जॉंचोपरान्त आवश्‍यक कार्यवाही करने का कष्ट करें 28082019 कृपया पीजी पोर्टल संदर्भ संख्या 60000190113674 का सन्दर्भ ग्रहण करने
का कष्ट
करें जिसकी जांच पूर्ति निरीक्षक के द्वारा करायी जा रही है पूर्ति निरीक्षक की जांच आख्या कार्यालय को उपलब्ध होते ही शिकायतकर्ता को अवगत
करा दिया
जायेगा। निस्तारित नियत तिथि24 Aug 2019 शिकायत की स्थितिनिस्तारित श्री
मान जी जब नियत तिथि
२४अगस्त२०१९ था तो उपरोक्त आख्या २८०८ २०१९
क्यों प्रस्तुत गयी क्या जिला पूर्ति
अधिकारीमिर्ज़ापुर
,खाद्य एवं रसद विभाग को समय का
महत्व नहीं मालूम है। निस्संदेह स्वच्छंदता पूर्ण रवैया उपरोक्त अधिकारी महोदय
अनुशासन हीन की श्रेणी में खड़ा करता है
| इनके कनिष्ठ जनसुनवाई पोर्टल के शिकायतों का बिना
परिशीलन किये
ही निस्तारण करते है और उपरोक्त अधिकारी महोदय मूकदर्शक बने रहते
है सदा | फीडबैक की स्थितिफीडबैक प्राप्त

विभाग खाद्य एवं रसद विभाग

शिकायत श्रेणी  
नियोजित तारीख– –10-10-2019

शिकायत की स्थिति

स्तर तहसील स्तर  पद पूर्ति निरीक्षक

Reminder-  Feedback – 
फीडबैक की स्थिति

संलग्नक देखें Click here

नोटअंतिम कॉलम में वर्णित सन्दर्भ की स्थिति कॉलम-5 में अंकित अधिकारी के स्तर पर हुयी कार्यवाही दर्शाता है!


अधीनस्थ द्वारा प्राप्त आख्या :

क्र..
सन्दर्भ का प्रकार
आदेश देने वाले अधिकारी
आदेश/आपत्ति दिनांक
आदेश/आपत्ति
आख्या देने वाले अधिकारी
आख्या दिनांक
आख्या
स्थिति
संलगनक
1
अंतरित
ऑनलाइन
सन्दर्भ
10-09-2019
पूर्ति निरीक्षकसदर,जनपदमिर्ज़ापुर,खाद्य एवं रसद विभाग
08-10-2019
उक्त प्रकरण के
सम्बन्ध में अवगत कराना है कि
साधना पत्नी अरूण कुमार सिंह के
नाम से
ग्रामसभा में नया राशनकार्ड क्रमांक 219940805151 दिनांक 08 अक्टूबर 2019 को जारी कर दिया गया है। सुलभ सन्दर्भ हेतु राशन कार्ड की
छायाप्रति संलग्न है। आख्या सादर सेवा में प्रेषित है।
निस्तारित
 

 

 

4 comments on Arbitrary action of D.S.O. card was cancelled and in making new card six month passed

  1. Whether it is good governance as claimed by the concerned?
    शिकायत संख्या40019919024704 आवेदक कर्ता का नामYogi M P Singh 2आख्या जिलाधिकारी मिर्ज़ापुर10 Aug 2019 जिला पूर्ति अधिकारीमिर्ज़ापुर,खाद्य एवं रसद विभागकृपया प्रकरण का गंभीरता से पुनः परीक्षण कर नियमानुसार कार्यवाही करते हुए 15 दिवस में आख्या उपलब्ध कराए जाने की अपेक्षा की गई है कार्यालय स्तर पर लंबित Whether it is not mockery of the law of land that District Supply Officer Mirzapur was given only 15 days time to submit the report on 10August2019 and today is 10Sept2019 moreover it took place when the chief minister office categorised the grievance into CCategory.

  2. How the subordinate of district supply officer Mirzapur can submit the affidavit of public spirited person Yogi M P Singh and most surprising is that when that is staff never met Yogi M P Singh which implies that working of the district supply officer Mirzapur is full of Anarchy where there is no rule of law except anarchy. Undoubtedly it is mockery of the law of land but when the complaint was made to the competent authorities they only forwarded the matter to the district supply officer Mirzapur who itself a wrongdoer and promoting a group of wrongdoers. District supply officer informed the senior rank officers that enquiry in is being carried out and after the enquiry action would be taken against the wrongdoer but what this fateful day will never come in his life.

  3. Only motive is to redress the grievances without providing any kind of the reprieve to the complainant. Most surprising is that when the subordinates of district supply officer submit even fake affidavits of the complainants.
    कृपया पीजी पोर्टल संदर्भ संख्या 60000190113674 का सन्दर्भ ग्रहण करने का कष्ट करें जिसकी जांच पूर्ति निरीक्षक के द्वारा करायी जा रही है पूर्ति निरीक्षक की जांच आख्या कार्यालय को उपलब्ध होते ही शिकायतकर्ता को अवगत करा दिया जायेगा। निस्तारित नियत तिथि24 Aug 2019 शिकायत की स्थितिनिस्तारित श्री मान जी जब नियत तिथि २४अगस्त२०१९ था तो उपरोक्त आख्या २८०८ २०१९ क्यों प्रस्तुत गयी क्या जिला पूर्ति अधिकारीमिर्ज़ापुर,खाद्य एवं रसद विभाग को समय का महत्व नहीं मालूम है।

  4. Here most important question is that who submitted the affidavit in the name of applicant to manage the grievance disposed of because it is a forgery? Think about the gravity of situation that on this important issue accountable public functionaries of the Government of Uttar Pradesh are silent.

Leave a Reply

%d bloggers like this: