An appeal to voters to elect honest gram pradhans and panchayat members in local body elections.


प्रिय
ग्रामवासियो आप से सादर सप्रेम अनुरोध –

जैसा की सर्व
विदित है कि ग्राम प्रधान व अन्य पदों के लिए चुनावी अधिसूचना जारी हो गई और बहुत
से प्रत्यासी आप के सम्मुख आ रहे हैं किन्तु चुनाव आप को करना है
| अनुरोध है की
आप निम्न विन्दुओं पर मंथन करे
|
क्या आप ऐसे
व्यक्ति को या उसके सम्बन्धी को चुनाव जिताना चाहेगे जो
१० वर्सो से ग्राम विकास के नाम पर अपनी झोली भर रहा हो |
जिला स्तरीय अधिकारिओं
द्वारा जांच में ग्राम विकास के पैसे के गमन का दोसी है
| जिस व्यक्ति ने दो दो आवास पास करके एक आवास का
पैसा अ
पने जेब में रख लिया हो
कृपया ऐसे व्यक्ति को पुनः मौका मत दीजिये
|
आप उसी को
मौक़ा दी जिए जो आप से कंधे से कंधा मिला कर चल सके जो आप के सम्मान की रक्षा कर
सके सोचिये बगल के गाव के लोग क्या कहेंगे
एक प्रधान जिसके ऊपर गमन का आरोप
सिद्ध हो चुका है उसी के प्रतिनिधि को पता नहीं क्यों पुनः प्रधान बना दिए
|
आप को खुद
आश्चर्य हो रहा होगा की जिन्होंने
१० वर्षों तक आप का शोषण देख कर मूक दर्शक रहे आज आप से मत की
अपेक्षा कर रहे हैं क्या इतने कमजोर लोग आप के हितों की रक्षा कर पाएंगे आप

का प्रतिनिधि ऐसा हो जिस पर आप गर्व करे
|

धर्म और अनुशाशन व्यक्ति के विकास ,ग्राम के विकास, जिला ,प्रदेश  और देश के विकास की धुरी है
यदि चुना गया व्यक्ति धार्मिक नहीं होगा तो वह ग्राम के बजाय ग्राम के पैसे से खुद
का विकास करेगा और हम लोगो का संघर्स इस बात का साक्षी है
| १० वर्षों में आज भी वरसात में बस्तियों में  घुटना
भर कीचड रहता हैं
| खुद फोर व्हीलर खरीदे जा रहे हैं |

2 comments on An appeal to voters to elect honest gram pradhans and panchayat members in local body elections.

  1. धर्म और अनुशाशन व्यक्ति के विकास ,ग्राम के विकास, जिला ,प्रदेश और देश के विकास की धुरी है यदि चुना गया व्यक्ति धार्मिक नहीं होगा तो वह ग्राम के बजाय ग्राम के पैसे से खुद का विकास करेगा और हम लोगो का संघर्स इस बात का साक्षी है | १० वर्षों में आज भी वरसात में बस्तियों में घुटना भर कीचड रहता हैं | खुद फोर व्हीलर खरीदे जा रहे हैं

  2. Undoubtedly praiseworthy step by villagers must be welcomed from all corners. A corrupt gram pradhan only misuse the public fund meant to poor and downtrodden section. All the fund meant to development of village panchayat is used to purchase luxurious items by corrupt public functionaries. Since our system is overdominant by corrupt elements so no action is feasible against wrongdoings.

Leave a Reply

%d bloggers like this: